शहर का बीएफ

छवि स्रोत,एक्स बीपी सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

अपनी मां को चोदा: शहर का बीएफ, मामा मामी से कुछ भागे भागे से रह रहे थे, बार बार किसी का फ़ोन आता और वो फोन पर बात करने लगते.

सेक्स वीडियो भेजो प्लीज

रात में कमरे में आने के बाद उत्सुकता के कारण मैंने रागिनी से पूछा- वसुंधरा भाभी मेरी तरफ बार-बार देखकर मुस्कुरा क्यों रही थीं. चूत वाली चुदाईअच्छा तुम ये बताओ कि तुम कब तक मुझे ऐसे ही चोदोगे?अनंग- फिक्र मत करो मेरी जान, आज तुम्हें मैं वो मज़ा दूंगा कि कोई मर्द तुम्हें ऐसा मज़ा नहीं दे पाएगा क्योंकि मैंने आज तुम्हें चोदने के लिए एक टेबलेट खाई है और मैं अभी एक घंटा तक थकूंगा ही नहीं.

अब मेरा लंड उसकी गुलाबी चूत के द्वार पर खड़ा था और अंदर जाने के लिए बेकरार था. देसी सेक्सी पोर्न वीडियोउसे दर्द तो हुआ और वो चिहुंकी भी मगर मैंने महसूस किया कि वो दर्द होने के डर से चिहुंकी थी, उसे ज्यादा दर्द नहीं हुआ था.

मुझे इतना मजा आ रहा था दोस्तो, कैसे बताऊं!उसने चाटकर मेरा पूरा लंड साफ कर दिया था.शहर का बीएफ: मुझे नाभि बहुत पसंद है और उसमें भी अगर मैं गहरी नाभि देख लूं, तो पागल हो जाता हूँ.

मैंने ऑटो वाले से कहा कि कोई अच्छी सी जगह ले चलो, खाना खाने जाना है.वो अन्दर जाकर हमारा सामान और अपने कपड़े ले आई और साथ ही उसने पीजी वाली आंटी को कह दिया कि वो कुछ दिन अपनी सहेली के हॉस्टल में रुकेगी.

फैमिली चुदाई वीडियो - शहर का बीएफ

मैंने पीछे से उसके बाल पकड़े और उसकी चूत में लंड घुसा कर उसे चोदने लगा.मैं उसका इशारा समझ गया और अपने लंड को पकड़ कर उसकी चूत पर ऊपर से नीचे तक लंड का सुपारा घुमाने लगा.

नंदा ने अपने शरीर को ढीला छोड़ कर आंखें बंद कर लीं और बूब्स से मिलने वाले आनन्द में खो गयी. शहर का बीएफ तब मैं बोली- मैंने तुम्हारी हरकतें देखी थीं कि तुम बाथरूम में मेरी पैंटी के साथ क्या करते थे और मुझे कैसे देखते थे.

बारिश पूरी तरह से बंद हो चुकी थी और हम लोग भी वापस पणजी पहुंच गए थे.

शहर का बीएफ?

फ्रेंड्स, मैं नव्या आपको अपनी सेक्स कहानी में फिर से मजा देने के लिए हाजिर हूँ. इसके लिए मैं कभी भी उसके सामने जाती और उससे लिपटने की कोशिश करने लगती. दूसरी बार मिस्टर इन्द्रेश का बेटा ईशान जब शराब के नशे में अपनी लाइफ बर्बाद कर रहा था, तब मेरे पापा ने ही उसे गाइड करके उसे अपनी तरह एक सफल बिजनेसमैन बना दिया था.

मैंने हंस दिया और कहा- क्या हरामीपन देख लिया भौजी?वो हंसी और उसने अपनी चूचियां हिला कर मुझे इशारा दिया कि कल क्या ताड़ रहे थे देवर जी?मैंने कहा- अब ताड़ने वाली चीज को ही न ताड़ूंगा भौजी तो किस काम की मर्दानगी?भाभी हंस दी और बोली- बड़े मर्द बने फिरते हो … कैसे मानूँ कि असली मर्द हो?मैंने कहा- मर्द को समझने के लिए तो औरत को ही खुलना पड़ता है भौजी. एक दिन भैया भाभी में जबरदस्त लड़ाई हुई और भैया घर से गुस्से में निकल गए. अब मेरे हाथ धीरे धीरे रसिका भाभी के ब्लाउज में बंद कबूतरों के साथ खेलने लगे.

वैसे तो मैं पेपर में विज्ञापन आदि देकर किसी अच्छी पेशेवर लड़की को मेरे ऑफिस में रखना चाहता था. मेरे बहुत पूछने पर उन्होंने बताया कि भैया को शराब की बहुत गन्दी लत है और कल मुझे यह पता चला कि भैया का गांव की किसी और औरत से चक्कर है. रेशमा के झड़ने के बाद भी हम दोनों ने उसकी चूत और गांड का भुर्ता बनाना नहीं रोका.

जब मैं बीस साल की हुई, तभी मेरे मामा ने मेरी शादी एक अच्छा सा लड़का देखकर कर दी. अब मैंने उसके हाथ पकड़ कर उसे खड़ा किया और एक ग्रिल के सहारे टिका दिया.

मैंने कुणाल से कहा- डियर … स्नेहा तुम्हारे सामने है, जाओ जो करना है, करो और मजे लो.

फिर भी मैं डरा हुआ था क्योंकि मैंने अभी तक ये सब पोर्न में ही देखा था.

अदिति झूठा विरोध करती हुई बोली- ये क्या कर रहे हो हर्षद!मैंने उसकी ब्रा और पैंटी भी निकाल दी. मोहिनी ने अपनी जीभ अर्णव के मुँह में डाल दी और वो मोहिनी की जीभ चूसने लगा. कहानी के दूसरे भागबाईसेक्सुअल पति की बीवी की चूत में लंडमें अब तक आपने पढ़ा था कि रीना की चूत मेरे लंड से चुदने में लज्जत महसूस करने लगी थी.

फिर घर पहुंच कर मैंने ड्रैस के रंग वाले कपड़े का बहुत सेक्सी सूट सिल लिया. कुछ देर के बाद मेरा पानी निकलने वाला था, तो मैंने स्नेहा की गांड में ही सारा पानी निकाल दिया और लंड निकाल लिया. उसका चूतरस मेरे लौड़े को नहलाता हुआ बाहर की तरफ छलक पड़ा और मेरा पेट, लौड़ा और टट्टे भिगोते हुए पॉल का चेहरा भी गीला करता हुआ नीचे टपकने लगा.

मैंने भी सोचा कि भाभी का टेस्ट लिया जाए, अगर बात बन जाती है, तो मेरे लिए भी फायदा हो जाएगा.

मैं अब कुछ हद तक उसके बारे में सोचने लगी और वो अहसास मेरे लिए नया था तो वो मुझे उस अकेलेपन की आदत लगने लगी. मैंने उसे थोड़ा एडजस्ट करके सोफे पर लेटाया और देखा तो ईशा रूम में नहीं थी. मैंने अदिति से कहा- अब एक शॉट हो जाए अदिति!अदिति बोली- अभी नहीं, फिर किसी दिन … आज के लिए इतना काफी है.

मैंने कहा- क्यों सही नहीं है? इतनी खूबसूरत है, मुझे तो अच्छी लगती है. उन्होंने कहा कि हमारी मुलाकातें सिर्फ और सिर्फ, मेरे मनोरंजन के लिए होंगी। वो अपना सारा समय सिर्फ मुझे चरम सुख दिलाने के लिए बिताएंगे. पर फिर भी मैंने राकेश का हाथ झटक दिया और उन तीनों को गालियां देने लगी.

उसने मेरी तरफ देखा, फिर मेरे लोअर को देखकर कहा- ये कौन बोल रहा है?फिर आंख मारकर बोली- ठीक है, लेकिन कुछ गड़बड़ मत करना.

[emailprotected]पोर्न स्टूडेंट सेक्स कहानी का अगला भाग:मनचली गर्म लड़की की सेक्सी चुदाई यात्रा- 3. आज सिलते समय वो मेरे साथ बैठे और बोले- ये सब कपड़े जो तुमने सिले हैं, इन सबकी कल प्रदर्शनी लगेगी और अगर तुम ही चल कर अपना काउंटर सजाओ, तो ज्यादा अच्छा रहेगा.

शहर का बीएफ उसके सीने की तरफ देखा तो तने हुए दूध की लाइन गाउन के बाहर से ही झलक रही थी. वह मुझे ऐसे देख रहे थे कि मैं उनकी कोई शिकार हूं और वे कोई शिकारी भेड़िये हों, जो मेरे जिस्म के हर एक हिस्से को नौच नौच कर आज पूरी तरह से चबा जाने वाले हों, बर्बाद कर देने वाले हों.

शहर का बीएफ इतने में सनी बोला- यार ये क्या करवा कर आई है?मैं कुछ बोलती, इससे पहले में सनी ने मेरी मिडी को नीचे सरका दिया. वो एकदम ठंड से ठिठुरने लगी थी, जिस वजह से उसने मेरे बदन से अपने बदन को चिपका लिया था.

मेरा वीर्य इतना सारा निकला था कि उसकी नाक से निकल आया, पर मैंने देखा ही नहीं, बस लगा रहा.

मोटी आंटी का सेक्सी फोटो

शाम को मैंने अपने भाई से कहा- मैं अपने दोस्त के गांव उसे मिलने जा रहा हूँ. वह मुझे ऐसे चूस रहा था कि उसने आज तक किसी के होंठों से मजा ही ना लिया हो … और आज यह दुनिया का आखिरी दिन है, इसके बाद मैं उसको कभी नहीं मिलने वाली हूं. इस समय रास्ता पूरा सुनसान हो गया था, तो मैंने अपने पैंट की चैन खोल कर अपना लंड उसके हाथों में दे दिया.

मेरा लंड पूरी तरह तन चुका था लेकिन मैं चाहता था कि करिश्मा के मुँह में लंड देकर लॉलीपॉप के तरह चुसवा लूं. कहानी के पिछले भागजवान लड़की की बढ़ती अन्तर्वासनामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपने बाजू में रहने वाले समीर भैया की मम्मी के पास खीर का कटोरा लेकर गई थी. यहां तक कि वर्णिका भी मुझे अपना बॉयफ्रेंड मानती थी और उसने काफ़ी बार मेरे साथ बिना कपड़ों के वक्त गुजारा था.

मैं डॉक्टर को पहले भी चोद चुका था। कई महीने बाद हमें दोबारा मिलने का मौका मिला।अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को हर्षद का प्यार भरा नमस्कार।मैं फिर से आप लोगों के लिए एक नयी कहानी लेकर आया हूं; आशा है इससे आपका मनोरंजन खूब होगा।मैं डॉ.

एक दिन भैया भाभी में जबरदस्त लड़ाई हुई और भैया घर से गुस्से में निकल गए. वह पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी और मेरे लंड को अपनी चूत में लेने के लिए तड़पने लगी थी. मैं उसके मुकाबले फेयर कलर का था, वह गेंहुए से रंग का था या कहिए कम सांवला था.

मेरी मां भी पूरी झड़ गई थीं और अब हम दोनों एक दूसरे की बांहों में हाथ डाल कर लेट गए थे. हालांकि ज्योति चुदी चुदाई माल थी मगर तब भी उसने भी बहुत दिनों बाद किसी का लंड लिया था इसलिए उसे भी दर्द हो रहा था. जब आप ऑफिस में रहते हो तब दिन में कुणाल आता और शालिनी को जम कर पेल कर जाता है.

उसके नर्म नर्म होंठों को चूमते हुए मैं उसको मेरे बिस्तर की ओर ले गया और बिस्तर पर लिटाते हुए उसके बदन को सहलाने लगा. मेरा बहुत मन है, पर दीदी से डर लगता है तो प्लीज़ आज थोड़ी सी पीने का मन हो गया है.

पर मुझे मालूम था कि वह झूठ बोल रही थी क्योंकि उसे डर था कि कहीं मैं उसके लेटर उसके पापा को ना दिखा दूँ. यह ऐसा शायद मैं जिंदगी भर कभी भी नहीं भुला पाऊंगी और ना ही इस अहसास को मैं शब्दों में बयान कर सकती हूं कि वह मजा कैसे होता है. जैसा कि मैंने आपको अपनी रूचि बताई कि मुझे शादीशुदा लड़कियां ज्यादा पसन्द आती हैं इसलिए ये फॅमिली फक़ स्टोरी भी मेरी सगी मामी की चुदाई की कहानी है.

मैंने दो मिनट तक उसके एक निप्पल को चूसा, फिर दूसरे की तरफ गया तो वह तो जैसे एक बटन बन गया था.

इससे पहले कि वह कोई और बात करती, मैं बोला- अंजलि जी, हमारा रिश्ता कोई भी हो, लेकिन भाई बहन वाला कोई रिश्ता नहीं है और आज से हम दोस्त हैं. मैंने अपने होंठों से उसकी चूत की फांकों को फैलाया और अपनी जीभ उसकी चूत में डालकर अन्दर बाहर करने लगा. फिर वो मेरे निप्पलों से खिलवाड़ करने लगे और मुझे और ज़्यादा उत्तेजित करने लगे.

मैंने बाथरूम का दरवाजा जरा सा खोला और उसके आते ही मैंने उसे अन्दर खींच लिया. आज मुझे चुदाई करने में ज्यादा मजा आ रहा था और कुछ देर बाद वो भी नीचे से झटके देने लगी.

मैं उसके सामने जाकर रुका तो मैं उसकी सफेद गुलाबी चूत को देख कर दंग रह गया. एक बार बातों को विश्राम देकर दोनों ने कपड़े पहने और कमरे से बाहर निकल कर दरवाजा को लॉक कर दिया. लेकिन मैंने उंगली बाहर नहीं निकाली।एक तरफ उसके मुंह को लण्ड से और दूसरी और उसकी गांड को उंगली से चोद रहा था.

सेक्सी वीडियो में आजा

अब मैं खुद अपने पैरों पर उठ कर सीधे खड़ी और उनकी तरफ मुँह करके उनकी गोद में बैठ गयी.

यदि तुमको मेरे बारे में जानना है, तो यही पास में मेरे लिए एक चिट्ठी छोड़ देना और मेरा लंड लेना चाहती हो, तो यहां पर अपनी वीर्य वाली पैंटी रख देना और मुझे देखने मत आना. रीना का पूरा नंगा और भरा हुआ बदन देख कर मेरे अन्दर की हवस की आग भड़क कर शोला बन चुकी थी. उसने मुझसे वासना से देखते हुए कहा- चाची मैंने ऐसी मदद करने के लिए नहीं पूछा था.

मैं चिल्ला चिल्ला कर लंड ले रही थी- आह सालो, क्या चोदते हो … आज तो मजा आ गया … आह पेलो और पेलो. फ़ज़लू मियां हवस से भरा हुआ लम्बे मोटे ताज़े लंड का मालिक और पहलवान किस्म का मर्द था. बहु ससुर का सेक्स वीडियोमैं मन मसोस कर घर वापस आया और बाथरूम में जाकर वीडियो देख आकर मुठ मारी और आकर सो गया.

मैंने उसकी तरफ देखा, तो उसने धीमी आवाज में कहा- मैंने इतना बड़ा लौड़ा सिर्फ फिल्मों में देखा है. उस वक्त मुझे अपने बदन पर कपड़े ऐसे लग रहे थे कि जैसे मेरे पूरे बदन पर चुभ रहे हों.

मैं पापा को पकड़ कर बाथरूम से बाहर आ रही थी कि पापा की टॉवल निकल गई और पापा मेरे सामने नंगे हो गए. फिर मुझे कुछ फोटो खींचने की आवाज आई।मैंने उसे फोटो खींचने से मना किया, उसने शसश्ह … कहके मुझे चुप करा दिया और मुझे किस करने लगा. मैंने उसके हाथ साइड कर दिये और देखा तो उसकी छोटी सी लुल्ली थी।अब शर्त के मुताबिक उसको मेरा लण्ड चूसना था.

मैंने अनजान बनते हुए कहा- क्या पहली बार … किस बारे में बात कर रही हो तुम?दीदी ने कहा- बड़ी हूं तेरे से और तेरे से ज्यादा एक्सपीरियंस है मुझे … अब चल तुझे सुसु करवा लाऊं, तुझसे तो चला नहीं जाएगा. अनंग ने भी कहा- पता नहीं क्यों बुला रही है, सारा मजा किरकिरा कर दिया साली ने. मैंने उसके ऊपर झुककर उसके दोनों स्तन अपने दोनों हाथों से मसलते हुए कहा- नीता, मेरा शैतान पूरा तुम्हारे बिल में घुस चुका है.

मैंने अदिति से पूछा- अदिति क्या बात है?अदिति बोली- हर्षद, तुम्हें याद है हमारा पहली बार संभोग हुआ था.

उसकी आंखों से आंसू बहते हुए बता रहे थे कि उसको कितना दर्द हो रहा है. फिर वो अपनी मर्ज़ी से मेरे लौड़े को ऐसे धक्के मारने लगी थी, जैसे वो किसी पागल घोड़े की सवारी कर रही हो.

लड़की-औरतों का नाप लेते वक्त फ़ज़लू मियां इधर-उधर हाथ लगा लेता था और इस कारण कई लड़कियों-औरतों जैसे रेखा, ममता, अल्का, नरगिस, आयशा, शबाना, हिना को फ़ज़लू मियां सैट करके दुकान के अन्दर ही थूक लगा चोद चुका था और कई बार इन सबके कारण कुछ औरतों से पिट भी चुका था. मैंने कहा- ठीक है जब तुम्हारा मन ओरल करने का हो, तभी हम दोनों चुदाई करेंगे. कम समय में सबका रिप्लाई करना संभव नहीं होता है लेकिन मैं कोशिश करता हूँ कि सबको रिप्लाई करूं.

फिर मैं उनके पैरों की तरफ आ गया, उनकी जांघों पर किस करने लगा और चाटने लगा. मेरे जबाव पर वो उदास भी हो गया था, पर मैंने उस पर ध्यान नहीं दिया था. ये सब करने का बहुत शौक है ना … तो चलो ठीक है, अब आप मेरे सामने शालिनी को चोदो.

शहर का बीएफ अगर इस वक्त कोई देख लेता तो मैं दिक्कत में आ जाती, ये सब भूलकर मैं अपनी चूत की गर्मी शांत करवाने में लगी थी. आप मुझे कमेंट्स करके पुसी फिंगरिंग सेक्स कहानी पर अपने विचार मुझे बताएं.

इंग्लिश सेक्सी इंग्लिश वीडियो

एक तो शराब का असर था, दूसरे अर्णव की गर्म सांसें मोहिनी को मदहोश कर रही थीं. कमरे में अन्दर पंखा खड़खड़ करके चल रहा था, तो उसकी धीमी आवाज स्पष्ट सुनाई में नहीं आ रही थी. वो मादक आवाजें निकलने लगी और अपनी गांड उठाकर अपनी गीली चूत मेरे लंड पर रगड़ने लगी.

परंतु उसकी आंखों से बहते आंसू लेकर जब मैंने उससे पूछा- अभी भी दर्द हो रहा है?उसने कहा- दर्द से ज्यादा मुझे इस चुदाई का अफसोस है, इसीलिए मैं रो रही हूँ. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम राजेश कुमार है और मैं दिल्ली में काम करता हूँ. ब्लू पिक्चर वीडियो भोजपुरीबेटी को भी अपने पापा की मंशा का आभास हो गया था और …कहानी के पहले भागबाप ने बेटी को बॉयफ्रेंड संग नंगी देखामें आपने पढ़ा कि विधुर राजेश की वासना से भरी निगाहें उसकी कमसिन जवान बेटी के सेक्सी जिस्म पर टिकने लगी थी.

फिर धीरे से मैं सरककर उसके सामने आ गया और एक हाथ से एक दूध को दबाता और दूसरे को चूसता था.

हां यह जरूर है कि वो कामुक खूब हैं और पापा का लंड खूब मजे से लेती हैं. फिर वो मुझे किस करने लगी और मेरी टी-शर्ट निकाल कर मेरी छाती को चूमने लगी.

जब वह सुदिति की चूत में झटके देने लगा तो मैंने देखा कि मेरी बीवी सुदिति को बहुत मजा आ रहा था. इसी तरह पहले तो उसने मुझे साथ में लेकर सारे झूले झुलाए और उसी में उसने मेरा खूब मजा लूटा. शोल्डर से उसकी गांड तक मेरे हाथ चलने लगे थे जिससे उसका लोअर थोड़ा थोड़ा नीचे आ रहा था.

मामी को ऐसा करते देख कर आग को और हवा देने के लिए मैंने उनके सामने अपनी शॉर्ट्स में हाथ डाल दिया और अपने लंड को सहलाने लगा.

उनका शरीर वासना की आग में जल रहा था, उनकी मादक आहें निकल रही थीं- ऊह उन्ह उँहा अई अहह!मैंने भी उनको कई जगह लव बाईट दिए. उस दिन मम्मी तो सारे दिन से अपनी चाहत दिखाती ही रहती थीं कि उनकी मस्त चुदाई हो. रेशमा हम तीनों को देख कर किरण को बड़ी गन्दी गन्दी गालियां दे रही थी और अपना एक हाथ किरण की चूत पर ले जाकर उसको रगड़ रही थी.

इंग्लिश सेक्सी आंटीकुछ देर बाद मैं भी पूरे जोश में आ गई थी तो उसका पूरा साथ दे रही थी. उसके और मेरे पानी की महक हम दोनों के मुँह से आ रही थी जो हमें और बेकाबू कर रही थी.

सनी लियोनी सेक्सी व्हिडिओ फुल एचडी

अंकित बोला- अच्छा जी, मजा आया!मैंने उससे झैंपते हुए पूछा- भाई तुम तो ये सब बिल्कुल प्रोफेशनल की तरह कर रहे थे. मैंने पैरों को अच्छे से रखने की कोशिश की लेकिन थोड़ा बहुत बदलाव रहता ही है और मैं जैसे तैसे कमरे तक पहुंच गई. यह देखकर हम दोनों को और जोश भर गया, हमने भी रेशमा को पूरे ताकत से चोदना जारी कर दिया और कमरे में रेशमा की मादक सिसकारियां गूंजने लगीं.

बिना कपड़ों के सुहानी इतनी प्यारी लग रही थी कि जैसे बटर नान … वाह मज़ा आ रहा था. उस दिन मम्मी तो सारे दिन से अपनी चाहत दिखाती ही रहती थीं कि उनकी मस्त चुदाई हो. उसी दिन रात को चाची को सारे बदन में किसी वजह से खुजली होने लगी, या उन्होंने खुद से ड्रामा किया था.

थोड़ी देर बाद मेरे आंड को अपने मुँह में लेकर हल्के हल्के से दांतों से चबाने लगीं. इससे पहले मैं कुछ बोलती, अंकित खुद ही बोल पड़ा कि उसे मेरे साथ भी ऐसी ही एक वीडियो बनानी है. लड़की-औरतों का नाप लेते वक्त फ़ज़लू मियां इधर-उधर हाथ लगा लेता था और इस कारण कई लड़कियों-औरतों जैसे रेखा, ममता, अल्का, नरगिस, आयशा, शबाना, हिना को फ़ज़लू मियां सैट करके दुकान के अन्दर ही थूक लगा चोद चुका था और कई बार इन सबके कारण कुछ औरतों से पिट भी चुका था.

फिर सर ने मुझे टीचर वाली टेबल पर झुका कर मेरी साड़ी उठा कर मेरी गांड में लंड पेल दिया. उन्होंने मुझे बताया कि अजय आज इतने महीनों में मैं पहली बार इतना खुश हुई हूँ.

उसकी सिसकारियों को सुनकर मैं और जोश में आ गया और उसकी चूत में धक्कों की स्पीड को तेज करके लंड अन्दर बाहर करने लगा.

फ्री सेक्स स्टोरीज साईट पर पढ़ें एक लड़के के उसकी सौतेली माँ के साथ यौन सम्बन्धों पर आधारित चुदाई कहानी. सपना भाभी xxxमेरा जो ब्वॉयफ्रेंड है, वह मेरी गांड चाटने का बहुत बड़ा वाला शौकीन है. मुसलमानी एक्स एक्स एक्सवो बोली- नहीं यार मेरा तो मीनोपॉज आ गया था … साला वो मेरा बॉस, उसने मुझे किसी डॉक्टर से मेरा इलाज करवाया. नीता मेरी तरफ देखकर बोली- हर्षद, तुम बार बार मुझे ऐसे क्यों देख रहे हो?मैंने कहा- तुम आगे से पूरी तरह से भीग गयी हो नीता.

उसका लंड काफी बड़ा और मोटा था, मेरी चूत उसके लंड को लेने के लिए मचल उठी.

अभी हमें दस मिनट ही लेटे हुए थे कि मैंने उससे कहा- अनंग अब मुझे तुम्हारा लंड मेरी चूत में चाहिए. मैंने उसको ज्यादा इसलिए नहीं बोला कि आज मना कर रही है, कल को यही लपक लपक कर लंड चूसेगी. मैंने दोनों हाथों से उसकी चड्डी को पकड़ा और एक झटके में नीचे सरकाते हुए उतार दिया.

इतने में सनी मेरी चूत के पास आया और मेरी गीली चूत में उंगली करते हुए बोला- क्या बात है जीजू ने गाड़ी में भी दीदी की चूत से पानी निकाल दिया. दस पन्द्रह मिनट के बाद मेरा भी वीर्य निकलने वाला था और मैंने आखिरी झटके के सतह ही लंड चूत से बाहर निकाल लिया और सारा वीर्य उसकी चूत के ऊपर खाली कर दिया. मैंने मां के माथे पर हाथ लगा कर देखा, तो उन्हें बहुत तेज बुखार चढ़ा था.

बिहारी सेक्सी हद

मैंने पलट कर देखा तो रीना, पॉल के ऊपर से हटते हुए नीचे उतर गयी और वैसे ही नंगी मेरे तरफ आ गयी. मैंने उन्हें मना किया और उनसे पूछा- आप आज तक मेरे अलावा कितने मर्दों से चुदवा चुकी हो?उन्होंने कहा- चार. मेरा कमरा मेरे जेठ और जेठानी की कमरे के पास ही था इसीलिए जेठानी की चुदाई के वक्त मैं भी अपनी चूत में उंगली डाल लेती और पानी आने तक अन्दर बाहर करती रहती थी.

इस पर उन्होंने तुरंत मुझसे पूछा- तो तुम अकेले घर पर क्या कर रहे हो?मैंने जवाब में कहा- बाहर काफी तेज लू चल रही है इसलिये मैं आराम कर रहा था.

मैंने कहा- ठीक है, जल्दी से एक बार पेल लो और आगे पीछे करके निकाल लेना, ताकि मेरी चूत की आग जलती रहे.

फिर जैसे ही अमित ने मुझे देखा कि मैं उन तीनों को देख चुकी हूं, वे तीनों कमरे के अन्दर आ गए और उन्होंने दरवाजा बंद कर दिया. अगले दिन मैं तैयार होकर ब्लैक पैंट और एक काली सफेद टी-शर्ट पहनकर 4:30 बजे शाम को अंकल की दुकान की तरफ चला गया. सोनी एक्स एक्स एक्स वीडियोसुहानी को अपने ऊपर से उठा कर मैंने उसको घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी चूत में लौड़ा पेल कर उसको शॉट मारने लगा.

ऑफिस पहुंचते ही मोहिनी मीटिंग में व्यस्त हो गयी और लंच तक फ्री हो पायी. अंकल ने हमेशा की तरह कागज में लपेट कर छुपाकर मुझे एक नई किताब दे दी. अब इतना सब आपके आस पास हो रहा हो तो किसी का भी मन आउट ऑफ कंट्रोल हो जाएगा.

तभी मेरी मम्मी ने मुझको पुकारा तो हम दोनों को होश आया और हम दोनों ने जल्दी जल्दी कपड़े ठीक किए. उस बारिश में हम लोग लगभग आधे गीले हो गए थे पर कोई रुकने की जगह ही नहीं मिल रही थी.

मैंने अपने होंठों से उसकी चूत की फांकों को फैलाया और अपनी जीभ उसकी चूत में डालकर अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने अदिति से कहा- अब एक शॉट हो जाए अदिति!अदिति बोली- अभी नहीं, फिर किसी दिन … आज के लिए इतना काफी है. मैंने कहा- क्यों तेरा मर्द कुछ नहीं करता है?वो बोली- करता होता तो गैरमर्द को देखती भी न!मैंने कहा- अब मर्द को खा ले. मैंने उसकी पीठ को सहलाते हुए आगे खींचा और मेरा हाथ उसकी भरी हुई गांड पर घूमने लगा.

देवर भाभी की चुदाई की उस दौरान वो मेरे कंधे पर अपना मुँह रखे हुई थी और उसकी गर्म सांसें मुझे मेरी गर्दन पर महसूस हो रही थीं. एक उंगली के बाद अब मैंने एक और उंगली उसकी चूत में डाल दी और उसे 2 उंगलियों से जोर जोर से चोदने लगा.

उसकी बात सुनते ही मैंने उसकी कमर को कसके पकड़ा और एक जोरदार धक्का दे मारा. मैं उनको कुछ बोल भी नहीं सकती थी और ना ही मेरे मुँह से कोई आवाज निकल रही थी. लेकिन यह सब एकदम से हो गया तो मैं थोड़ा घबरा गई और मुझे लगा कि कहीं मैं इस सबसे जग में तमाशा ना बन जाऊं.

सविता भाभी की सेक्सी हिंदी में

उसकी चूत के गर्म रस के अहसास से मेरा लंड भी अपने गर्म वीर्य की पिचकारियां मारकर गीता की चूत वीर्य से भरने लगा था. थोड़ी ही देर में सोनी अपने हाथ मेरी कमर पर रख कर मेरी कमर की रफ्तार को बढ़ाने लगी. मैंने तुरंत मन बना लिया कि इस न्यू चूत की सील तो मैं ही तोड़ूँगा चाहे कुछ भी करना पड़े.

अब आप देसी माल लड़की Xxx कहानी में आगे पढ़िए कि किस तरह से मुझे एक मौका मिल गया, जिससे लच्छो को मैंने चोद लिया और वो मुझे हर तरह का सुख देने लगी. क्योंकि मेरे अन्दर से जितना पानी रिस रहा था, उतना ही मेरे अन्दर की आग और ज्यादा भड़क रही थी.

मेरे पैर नीचे की तरफ थे और थोड़े से फैले हुए थे, जिसमें अमित और राकेश अपने हाथ चला रहे थे.

रेशमा के झड़ने के बाद भी हम दोनों ने उसकी चूत और गांड का भुर्ता बनाना नहीं रोका. एक तो मैं कमर के नीचे पूरा भीग गया था, मेरा लंड पूरी तरह से सिकुड़ गया था. मैंने भी पहली बार का ख्याल करते हुए ज्यादा जोर नहीं दिया और उसके होंठों को चूमने लगा, अपने हाथों से उसकी चूची जोर जोर से दबाने लगा.

ऐसे हमारी जान पहचान बढ़ने लगी और इंस्टाग्राम के जरिए हम बात करने लगे. वो मेरे पास आयी और मेरे गाल पर प्यार से एक चपत लगा कर बोली- चलोगे भी या ऐसे ही घूरते रहोगे?मेरा ध्यान भंग हुआ और मैं थोड़ा शर्मिंदा हो गया. बल्कि यूं कहूँ कि मैं अपने स्कूल का ब्लू-फिल्म की सीडी का किंग कहलाता था.

उसे मेरे घर आये पांच महीने हो गए थे और इस बीच मैंने एक बार भी चुदाई नहीं की थी.

शहर का बीएफ: मैंने उससे कराहते हुए कहा- उई मां मर गई … जरा धीरे कर न!ये सुनते ही वो तीनों भी समझ गये कि नव्या चुदने को राजी हो गई है. मगर मैंने ताकत लगा कर लंड अन्दर पेल दिया, मेरा आधा लंड अन्दर चला गया.

पानी छोड़ते समय रसिका भाभी जिस अदा से अपनी बॉडी को अकड़ाती थी और जो मस्त आवाज और चेहरे के हावभाव बनाती थी, उसे देख कर दिल खुश हो जाता था. मैंने कहा- क्यों ऐसा क्यों … क्या आपको मुझसे शर्म आती है क्या?भाभी बोली- हां अभी नई नई बहू हूँ न … तो कोई देख कर कुछ कहने न लगे. भैया ने अपना लंड मेरी गांड की दरार में घुसा दिया और अपना हाथ मेरे पेट पर रख दिया.

फिर मैंने उसे सुहागरात की चूत चुदाई की याद दिलाई कि दर्द तो वहां भी हुआ था, लेकिन अब मजा आता है ना.

पॉल और उसकी रंडी बीवी रीना भूखे कुत्ते कुतिया की तरह मेरे लौड़े को चूसने में मग्न थे और मैं दोनों हाथों से उनके सर मेरे लंड और टट्टों पर दबाते हुए उनके चूसने का मज़ा ले रहा था. हल्का सा मेकअप किया हुआ था और होंठों पर सुर्ख लाल लिपस्टिक लगाई हुई थी. कुछ दिन तक ऐसे ही हम दोनों एक दूसरे के लण्ड मसलने के मजे लेते रहे।फिर एक दिन मैंने उसका लण्ड और गांड देखने की जिद कर ली तो उसने बोला- भैया, पहले आप दिखाओ।मैंने उससे पूछा- अगर मैंने अपना लण्ड दिखाया तो तुम्हें एक बार किस करना पड़ेगा मेरे लण्ड को और उसे चूसना भी होगा.