नंगी देसी बीएफ

छवि स्रोत,शुद्ध देसी चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ ब्लू बीएफ ब्लू बीएफ: नंगी देसी बीएफ, मैंने बाजी की चूत ने लंड घुसा दिया और उनको बांहों में भर लिया।मैं जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

एक्स एक्स एक्स हिंदी मारवाड़ी

उधर लंड चुसवाने से मस्त होकर मेरा गर्म अक्षय मादक सिसकारियां लेने लगा- ओहहह टीना … आहहहह … तुम लंड कितना मस्त चूसती हो … आह मजा आ गया. সেক্সি ভিডিও বিপিकई दिन से मनमीत की बुर में जाने की आस लगाया लण्ड फनफनाये नाग की तरह फुफकारने लगा.

मैंने उसको बोला- मनजीत तुमने मेरे साथ तब दिया था … जब मुझे एक चूत की बहुत ज्यादा जरूरत थी. ಕನ್ನಡ ಬಿಎಫ್उसने सिर्फ अंडीज पहनी हुई थी और वो अपनी बाल्कनी में खड़े होकर मेरी बीवी को अपनी बॉडी दिखा रहा था.

वो न केवल चुत को लूट लेगा बल्कि ऐसा लूटेगा कि उसे भी सारे जीवन भर याद रहेगा कि किसके लंड से उसका शरीर खिल गया था.नंगी देसी बीएफ: मैं हरजिंदर सिंह, रोपड़ पंजाब से एक बार फिर आप सभी का स्वागत करता हूं.

बच्चे के रोने से आसपास के लोग उस महिला को अजीब सी शिकायत भरी नज़रों से देखते थे.अब वह अपने लंड को मेरी मम्मी की चुत के ऊपर रख कर बोला- रेडी हो मेरी जान … अब मैं अन्दर डाल रहा हूँ.

सुंदर भाभी की चुदाई - नंगी देसी बीएफ

उसका नाम रूबी (बदला हुआ) था और उसके पति फ़ौज में एक उच्च अधिकारी के पद पर कार्यरत थे।भाभी का फिगर 36-32-38 का था.[emailprotected]देसी चूत सेक्स कहानी का अगला भाग:जमींदार के लंड की ताकत- 3.

काम वासना से जुड़ी यादें साझा करने के लिए अन्तर्वासना से बेहतर मंच मुझे नहीं मिला. नंगी देसी बीएफ रजक लाल ने जैसे रोहन को देखा, तुरंत ही उसको पकड़कर नीचे बिठा दिया और अपने पैंट की चैन खोल कर लंड तो बाहर कर दिया.

आपको ये चुदाई की गर्म कहानी कैसी लगी इस बारे में अपनी राय जरूर दें.

नंगी देसी बीएफ?

चार पैग के बाद संजय टल्ली हो गया और बोला कि मां जी एक बात बोलूं कि आपकी बेटी, आप पर तो बिल्कुल नहीं गयी है. फिर एक दिन मेरे पास मेरी मौसी डिम्पी का फोन आया- हैलो सौरभ, कैसे हो?मैं- ठीक हूं मौसी. मेरे हाथ से उसकी चूत को रगड़ने पर ही उसकी चूत ने पानी निकाल दिया।फिर मैं उसके बूब्स को दबाने लगा जिससे उसको और मजा आने लगा। मैंने उसके ब्लाउज के बटन खोल दिये.

मन कर रहा था कि उसकी चड्डी को उतार कर उसकी चूत में लंड को घुसा दूं लेकिन मैं जल्दबाजी नहीं करना चाह रहा था. तो हमने क्या किया?दोस्तो, मैं आपको नंगी लड़की की चुदाई के पहले भागजवान बहन की चिकनी चूत का मजामें बता रहा था कि कैसे मैंने मंझली बहन की चूत मारी और बाद में पता चला कि छोटी बहन राबिया भी हम भाई बहन की चुदाई देख चुकी थी. उसने चुपके से कमरे का दरवाजा बंद किया और जाकर बेड के पास पहुंच गया.

वो बोला- साली रंडी, अगर ज्यादा बोली तो तुझे रंडीपने के जुर्म में अंदर करवा दूंगा. एकदम निखरा रंग था और वो बहुत ही खूबसूरत जिस्म की रानी थी।यह इंडियन हॉट गर्ल सेक्स कहानी 3 साल पुरानी है. उसका लन्ड काफी लम्बा और मोटा था।मैंने उसको मना कर दिया- मैं तुमसे गांड नहीं मरवा सकती क्योंकि इतना मोटा मेरे अंदर लेने की क्षमता नहीं है।इस पर सागर थोड़ा नाराज़ हो गया और कपड़े पहनने लगा।अभी मुझे चुदास चढ़ी थी और वो बीच में ही मुझे छोड़ कर जाने लगा तो मैंने उसको बहुत मनाया.

उसकी हल्की सी आवाज़ निकली बाबू जी आराम से करो ना और मेरा लंड उसकी चूत में अंदर बाहर होने लगा. वो धीरे से बेड पर लेट गया और सेठानी के मोटे मोटे चूतड़ों पर हाथ फिराने लगा.

मौसी ने पीछे हाथ लाकर मेरे तने हुए लंड को मेरी पैंट के ऊपर से ही अपने हाथ में पकड़ लिया.

वो टी टी से बोले- जहां जाने की बात कर रही है उसमें अभी 12 घण्टे हैं.

इस देसी हिंदी Xxx कहानी की नायिका मनजीत कौर मेरी बीवी के सबसे छोटे मामा जी की पत्नी है. लंड अन्दर घुसते ही मम्मी ने आह की आवाज निकाली और उसके बाद धकापेल चुदाई शुरू हो गई. वो बोली- आंह जय … मेरा होने वाला …मैं- हे … रुक साली … मैं तेरा पूरा माल पियूंगा … एक बूंद भी बाहर मत गिराना साली रांड!मैंने उसकी चुत का सारा माल पी लिया और चाट चाट कर उसकी चूत साफ कर दी.

मैंने फिर भी अपनी गलती मानते हुए कहा- सॉरी भाभी, वो … वो … मेरी नजर थोड़ा फिसल गयी थी. जब वो फिर से गर्म हो गयी तो उसने मुझे दोबारा से लंड डालने के लिए कहा. मुझे अजीब सा नशा होने लगा लेकिन साथ ही हल्की सी गुदगुदी भी हो रही थी.

बहुत कोशिश की उसको उसकसाने की लेकिन वो अपनी तरफ से शायद पहल नहीं कर पा रहा था.

वो मुझे बेड पर लेकर आराम से लेटी रही और हम दोनों एक दूसरे को चूमते रहे. मुझे पहली बार चूत चुदवा कर इतना मजा मिला कि मेरा मन बार बार चूत चुदवाने के लिए करने लगा. बात अब से 5 साल पहले उस वक्त की है, जब मैं किसी काम से मेरे मामा जी के घर गया हुआ था.

मैं उसके बदन के हर एक अंग को कपड़ों के बाहर से ही नापने की कोशिश करने लगता था. अब मैं पूरा नंगा हुआ और पोजीशन बना कर अपना मोटा लंड चुत में डालकर एक झटका दे मारा. इस बार मैंने उसे अपने लंड पर बिठा लिया और धीरे धीरे करके पूरा लंड उसकी चुत में ठांस दिया.

रफ़ीक़ जीजू की अच्छी नौकरी की वज़ह से अब्बू ने उनके साथ ज़ोहरा आपा का निकाह करवा दिया था.

मैंने कहा- क्या वो वो लगा रखा है, साफ साफ बोल, मुझे समझ नहीं आ रहा. मैंने रसोई से थोड़ा अलग होकर उनके कान में पूछा- नजमा दीदी ने क्या करने के लिए बोला था तुम्हें?इस सवाल पर वो शर्मा गयी.

नंगी देसी बीएफ अब जो रास्ता था, वो हाईवे से हटकर गांव वाले सिंगल रोड वाला रास्ता था. वो दर्द से बिलबिलाई पर लंड सह गयी, उसका पूरा जिस्म पसीने से नहा उठा था.

नंगी देसी बीएफ अबकी बार आकांक्षा के हाथ मेरे सिर पर थे और मेरे सर को अपनी तरफ खींच रहे थे. कुछ देर बाद बस आगे ढाबे पर खाना खाने के लिए रुकी … तो मैंने उसे उठाया कि खाना खा लो.

जब कुछ देर तक मैंने कोई भी हरकत नहीं की, तो अब उसने मेरे एक चुचे को हल्के हल्के से सहलाना शुरू कर दिया.

દેશી સેક્સ ગુજરાતી વીડિયો

जब मुझसे रुका न गया तो मैंने हाथ को आगे की ओर लाकर उसकी चूत को छूने की कोशिश की. उसके बाद हमने ये तय किया कि अगली बार कोई लड़का फंसेगा तो साथ में ही करेंगी उसके साथ ताकि लंड की कमी भी पूरी हो जाये. मैंने उसको बोला कि इतनी दूर गाड़ी चला कर आये हो … थोड़ी देर तुम भी अपनी कमर सीधी कर लो.

कुछ देर के बाद जब उसका दर्द कुछ कम हुआ … तो मैंने अपने लंड को अन्दर बाहर करना शुरू किया. आयज़ा- और तुम्हारा पानी इतनी देर में क्यों निकलता है?मैं- वो तो मैं योगा करता हूं, इसलिए देर से निकलता है. रूम को भी थोड़ा साफ किया और सिगरेट जला कर आराम से बैठ कर जो हुआ, उसके बारे में सोचने लगा.

पांच मिनट तक लंड के झटके लगे, तो उसकी चुत ने रस छोड़ दिया और वो झड़ चुकी थी.

उसके कुछ दिन बाद फिर श्वेता भी जान गयी कि उसकी मां की चुदाई भी मैं ही करता हूं. रात के 3 बजे मुझे कुछ महसूस हुआ, तो देखा कि निधि मेरा लंड चूस रही थी. फिर मैंने बोतल से पानी पिया और मंजुला ने भी उसी बोतल से कुछ घूंट भर लिए.

दीपू के मुंह से बस आह्ह … आई … आह्ह … ऊह्ह … की आवाजें निकल रही थीं. वो एक मजबूत देह का मालिक है जो 6 फुट का कद वाला और अपनी भुजाओं में एक बैल की ताकत रखने वाला मर्द है. लपलप करती जुबान से चुत का द्वार और भीतरी हिस्सा पानी से गीला हो चुका था.

सर जी आपके चले जाने के बाद मैं भी अपने ऑफिस जाने लगी थी और शिवांश को मकान मालकिन भट्टाचार्य जी आंटी के साथ छोड़ जाती थी. आकांक्षा ने अपनी आंखें बंद की हुई थीं और बहुत धीरे धीरे से सिसकारियां ले रही थी- आह हह उईई ईईई ओह … हहह!इतने में इंटरवल हो गया.

कुछ ही दिनों में मैंने उसकी मम्मी से अपनी शहर की कोचिंग के बारे में बताया. एक बार लंड का सुपारा चुत में फिट हुआ तो मैंने बड़े ही तेज़ झटके से पूरा लौड़ा चुत में पेवस्त कर दिया. मैंने पूछा- तुम भी जाओगी मेले में?वो बोली- नहीं, मैं यहीं रुक जाऊंगी.

मेरी कहानी के पहले भागएयरपोर्ट पर मिली भाभी से दोस्तीमें आपने पढ़ा कि दिल्ली से गुवाहाटी जाने के समय हवाई अड्डे पर ही मेरी मुलाक़ात एक भाभी से हुई.

कुछ देर बाद बड़े पापा भी उनकी चुत में ही झड़ गए और लंबी लंबी सांसें लेने लगे. वहां शादी में फिर और क्या क्या हुआ वो सब मैं आपको अपनी आने वाली कहानियों में बताता रहूंगा. फिर ठाकुर ने मंजू के एक दूध को अपने होंठों में दबा कर उसका दूध पीना शुरू कर दिया.

मैं उस समय नई नई जवान हुई थी और जवानी की आग ने मुझे बेहद झुलसा दिया था. मैंने अपनी बड़ी बहन को दिन में खुल कर कैसे चोदा?भाई बहन सेक्स स्टोरी के पिछले भागमेरी आपा की औलाद की ख्वाहिश-3में आपने पढ़ा कि मैं गलती से अपनी बहन की चुदाई कर चुका था.

सारा माल उसने मेरी चूत के मुंह पर निकाल दिया।अब मैंने उठकर एक पैग और खींचा. उसने अपने ऊपर वाले होंठ को अपने दांतों में दबा रखा था ताकि मुँह से आवाज़ न निकले. इस सारे नज़ारे को देख मुझे गुस्सा आने की बजाय अच्छा लगा और मैं थोड़ा एक्साइटेड हो गया.

ভারতীয় সেক্স ভিডিও

तभी मैंने दूसरा धक्का मारकर पूरा लन्ड बहन की बुर में डाल दिया।मुझे ऐसा लगा जैसे मेरा लन्ड कुछ चीरते हुए आग की भट्टी में चला गया है।नीचे मेरी बहन छटपटाकर रह गयी.

मैंने आकांक्षा को धीरे से पीछे बेड पर लेटा दिया और खुद उसके ऊपर आकर उसे किस करने लगा. वो रोने लगी और छोड़ने को बोलने लगी।मैं फिर थोड़ी देर नार्मल होने का इंतजार करने लगा. वो बोली- अच्छा, क्या देखना चाहते हो?मैंने कहा- आपके बदन को बिना कपड़ों के देखना चाहता हूं.

थोड़ी देर उसकी चूत की चुसाई होने के बाद ही जैसे ही वह गिरने को हुई, तो बलविंदर ने उसे संभाला और उससे बाथटब के किनारे पर बैठा दिया. ”कोई लड़की जब कहती है कि ‘कोई देख लेगा’ तो इसका सीधा मतलब होता है कि वो चुदने को तैयार है बस दिखावे का नाटक कर रही है. आदिवासी ओपन सेक्स वीडियोबुर चुदाई के बाद उसने एकदम से लंड को बाहर किया और मेरी मां के मुंह में डाल दिया.

फिर मुझे ध्यान आया कि इसके अंदर तो बहुत चुदास होगी; तभी तो इसने अपने जीजा से ही शादी कर ली. वहां कोई मिली नहीं तुझे चोदने के लिये?”मैं बोला- अरे यार, वहां कैसे चोदूँ? बहू घर में ही रहती है.

मैंने बुआ की पैंटी को खोला तो देखा कि बुआ की चिकनी रसीली चूत पूरी नमकीन पानी से भरी हुई थी. मैं उठा, गुरप्रीत का दुपट्टा उतारकर बेड पर रख दिया और उसे अपने सीने से सटा लिया. मेरी मम्मी का नाम ज्याना है, प्यार से सभी उन्हें ज्यानु पुकारते हैं.

एक शुक्रवार सुबह किरण ने बताया- आज मेरा भाई आयेगा और दो तीन दिन के लिये शुभम को ले जायेगा. मैंने उसकी हल्की सी चिपचिप करती बुर को देखा और उसी में खो जाने का मन बनाने लगा. फिर मैंने जल्दी से अपने कपड़े भी उतारे और मैं उसके सामने नंगा हो गया.

हालॉंकि मेरी पैंटी तो रोजाना ही गीली होती थी तो सबसे पहले मैं अपनी चूत को शान्त करती उसके बाद कहानी में दिए गए मेल आई डी मेल करना; ये मेरा रूटीन वर्क बन गया।जब मैंने कोमलप्रीत कौर को मैंने उनकी कहानी में दी हुई आईडी पर मैंने मेल किया तो मेरे पास मेल का जवाब मेल पर ही आया.

उस वक्त तो मुझे समझ नहीं आया लेकिन वो दिन मुझे अच्छी तरह याद है जब तीन महीने के अंदर ही घर का काम करते हुए मां ने एक टच स्क्रीन वाला फोन ले लिया था. एक दो से मिला भी, क्योंकि मुझे किसी भी भाभी से मिलना ज्यादा अच्छा लगता है.

उसने मुझसे पूछा- कभी तुमने उसके साथ सेक्स किया था?मुझे इतना मालूम नहीं था कि वो ये सब पूछना पसंद भी कर सकती है … लेकिन दिल खुश हुआ कि आज इसके साथ कुछ हो सकता है. बाजी बोली- इमरान अब इसको कुर्सी पर बैठा दे।मैंने बैठा दिया और बाजी ने कमरे की दीवार पर हाथ लगाए और झुक गई. बहन ने कहा- दरवाजा खुला रखना।मैं भी उसके जाने के बाद अपने कमरे में आकर आराम करने लगा। मुझे नींद नहीं आ रही थी.

फिर वो थकने लगा तो मैंने उसको नीचे लेटा दिया और मैं उसके लंड पर बैठकर आगे पीछे होने लगी. जब मैंने उसे चोदा तो …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम जीत है और मैं दिल्ली एन. मुझे बस एक बेटी ही पैदा हुई … और गांव में इतना ज्यादा कोई खुलापन नहीं है कि मैं किसी और से चुद जाती.

नंगी देसी बीएफ मैंने शरारत भरी नज़र से उसे देखते हुए पूछा- क्यों?तो उसने स्माइल किया और शर्मा गई. अंजलि ने आंखें बंद करके आह्ह … की आवाज के साथ मेरे लंड का अपनी चूत में स्वागत किया.

मोटी मोटी औरतों की सेक्सी वीडियो

जब संजय की नज़र मेरी पैंटी पर पड़ी, तो पहले उसने बाथरूम के दरवाजे को देख कर ये अंदाज़ा लगाया कि मुझे अभी बाहर निकलने में देर लगेगी. पहले मैं सहेलियों के साथ शादी वाले घर गई और रात आठ बजे राहुल मुझे लेने के लिए आ गया. मेरे दोस्तों ने सच ही कहा था कि जमींदारनी को चोदने का मजा ही कुछ और है.

संजय बोला- अरे मम्मी वो मैं पीता नहीं हूँ … बस आज पी ली … प्लीज आप नीरजा को मत बोलिएगा. जैसे ही उसने लंड को अंदर से बाहर निकाला वो देखते ही बोली- हाय रे … इसके लिए ही तो मैं मरी जा रही थी. سیکسی ویڈیو ایچ ڈیइतना ख्याल आते ही मेरे पसीने छुट गये पर अब क्या हो सकता था, बर्दाशत तो करना ही पडे़गा.

हम दोनों पसीने से तरबतर थे और गिरने के बाद हम दोनों को ही अपने नंगे बदन पर ठंडा फर्श बहुत ही अच्छा लग रहा था.

मैंने और उसके पति ने चौथा पैग खत्म करने के बाद अपनी अपनी पैंट निकाल दी थी. उन्होंने मुझसे कहा- लड़के तो तुम मुझे अच्छे लगते हो लेकिन ऐसी अश्लील बातें क्यो करते हो?तो मैंने उनसे कहा- सॉरी आँटी, आज के बाद नहीं करूँगा।वो बोली- मैं तो उसके पापा को सब बताने वाली हूँ.

मैंने मौसी के पैरों को फैला दिया और उनकी बड़ी सी चूत मेरे सामने थी. पर मुझे मेरेबॉयफ्रेंड से चुदाईमें भी इतना मजा नहीं आता था जितना भाई के लंड से चुदवाने में आता था. इसके बाद में मैंने उसकी दीदी की पेंटी भी निकाल दी और उसकी चूत में उंगली करने लगा.

मैंने मॉम से फ्लर्टिंग करते हुए कहा- मॉम, आप बहुत सेक्सी लग रही हो.

प्रिंसीपल बोला- यार, ऐसे गदराये हुए जिस्म की जवानी को लूटने में बहुत मजा आता है. मैंने निधि को ये बताया, तो उसने भी अपने घर पर बोल दिया कि मैं अपनी दोस्त के यहां पार्टी में जा रही हूँ. और ये सुनते ही हम 69 की पोजिशन में आ गए। मैं संगीता की चूत चाटने लगा जिस पर एक भी बाल नहीं था.

ब्लू फिल्म दिखाएं वीडियो मेंतब मेरी बीवी अमित के लंड को सहलाते हुए नीचे बैठ गयी और अपनी आंखों को बंद करके अमित का बरमूदा निकाल दिया. फिर भी मासूम बनते हुए मैंने अपना सवाल दोहराया- बाबूजी, ये आपने क्या कर दिया? आप तो मेरे पिता तुल्य हैं.

क्सक्सक्स+हद

रजक लाल ने आह करते हुए अपना लंड मुँह में खाली किया और अपने लंड को बाहर निकाल लिया. मैंने कहा- हां जान, पागल तो उसी दिन हो गया था जिस दिन तुमने मुझे मेरा लंड हिलाते हुए देख लिया था. तो अम्मी और आपा दोनों ने अपनी झोली फैला कर मजार में औलाद के लिए दुआ मांगी.

बारिश में भीगता उसका गोरा जिस्म और उसके उभार देख कर मेरा लंड पानी के अंदर ही तंबू बना रहा था. मैंने श्वेता की दोनों टांगों को कस कर पकड़ा और उसकी चूत पर अपना मुंह लगा दिया। उसकी चूत की खुशबू मेरी नाक में जाने लगी. वो दर्द से रोने लगी, तो मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसके मम्मे दबाने लगा.

मैंने मामी को घोड़ी बनाया और साड़ी ऊपर करके अपना लंड मामी की चूत पर सैट कर दिया. तो वो हँसती हुई बोली- नहीं भैय्या, मैं नहीं दूंगी।मैंने अपने हाथों का दबाब उसकी चूचियों पर थोड़ा और बढ़ाते हुए, जिससे उसे पता चल जाये कि मैं उसकी चूचियाँ दबा रहा हूँ, और अपने होंठों को उसके गर्दन से सटाते हुए बोला- ज्योति दे दो।ज्योति हँसती हुई बोली- भइया, मैं नहीं दूंगी. मैंने आकांक्षा को धीरे से पीछे बेड पर लेटा दिया और खुद उसके ऊपर आकर उसे किस करने लगा.

हालांकि अब तो मेरा उन लोगों से कोई कांटेक्ट नहीं है … लेकिन मैं बहुत दिनों से दुविधा में था कि ये कहानी लिखूं या ना लिखूं. नीचे देखा तो मॉम का हाथ उसकी पैंट पर था और वो उसके लंड को हाथ से सहला रही थी.

उन्हीं में से एक कुंवारी लड़की की कहानी है यह!हैलो फ़्रेंड्स, मैं अन्तर्वासना का बहुत पुराना पाठक हूँ.

मेरी गांड बड़ी होने की वजह से जब मैं मटक कर चलती हूँ, तो पीछे से मैं और भी ज़्यादा सेक्सी दिखती हूँ. सेक्स खपाखपशायद उन्हें ये अजीब लगा हो या पहली बार करने में डर लग रहा हो, तो मैंने धीरे से बाजी की चूत में लंड का सुपारा डाल दिया. সেক্স ভিডিও লোকালफिर उसके होंठों को चूसने लगा, उसकी चूचियां मसलने लगा।वो भी गर्म हो गई और लंड को सहलाने लगी।उसके हाथ से मेरे लौड़े को जोश आ गया।अब मैं खड़ा हो गया और लन्ड को राखी के मुंह के सामने कर दिया. अब मैंने समर को चेक करने का सोचा कि देखती हूं कि ये क्या सोचता है मेरे बारे में?जब मैं नहाने के लिए गयी तो मैं जानबूझकर अपने कपड़े वहीं बाहर ही छोड़ गयी.

हमारी चुदाई 8-10 मिनट तक चलती रही और फिर मैंने पोजीशन चेंज करने की सोची.

पिछले भागपड़ोसन चाची को वीर्य से नहलायामें आपने अब तक पढ़ा था कि मैंने चाची की चुत चाटकर उनको फिर से चुदाई के लिए गर्म कर दिया था. वह दिन मैंने उसे पहले ही बता दिया था कि उस दिन मेरे घर पर कोई नहीं होगा. बस तू थोड़ी सी हिम्मत रखना शुरू में!” मैंने उसके हिप्स पर चपत लगाते हुए कहा.

हेमा चाची ने मेरे लंड को देखा और कहा- आज तो तुमने मेरे साथ पूरा दम लगा कर सेक्स किया है … अब इसे क्यों हिला रहे हो?मैंने कहा- हां चाची सेक्स तो फुल स्पीड में किया है, लेकिन आप सच बताना मजा आया या नहीं!हेमा चाची हंस कर बोलीं- हां भास्कर आज तो तुमने मुझे खुश कर दिया है. मेरी तो हालत खराब हो रही थी, मुझे ऐसा लग रहा था कि दीदी के मुँह से लंड निकाल कर सीधा मॉम की चुत में पेल दूँ. लेकिन अब तक सागर का पूरा लन्ड मेरी गांड के आर पार हो गया था और वो मुझे चोदे जा रहा था।कुछ देर बाद सागर ने अपना लौड़ा मेरे अंदर से निकाल लिया और मुझे खोल दिया.

सेक्सी ब्लू फिल्म सेक्सी सेक्सी

दोस्तो, मैं भास्कर एक बार फिर से अपनी पड़ोसन हेमा चाची की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. उन्होंने तेज तेज धक्के मार कर मेरी चुत में ही अपना माल भर दिया और मेरे पास लेट गए. तभी पापा ने पूर्वी की समीज उतारकर उसे पूरी नंगी कर दिया और उसे हाथ पकड़कर सोफे बैठा दिया.

राजेश को सहानुभूति जताते हुए मैंने कहा- तो आपको अपनी पहली बीवी की बहुत याद आती है.

हॉट लेस्बो सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं और मेरी सहेली अस्पताल में काम करती हैं.

अर्चना रसोई में पानी लेने गई और मैंने रिया को जोर से हग कर लिया।इतने में अर्चना पानी लेकर आ गई और हमें देखते ही बोली- थोड़ा तो सब्र कर लो … इतनी भी क्या जल्दी है?हम शर्म से मुंह नीचे करके अलग हो गए।थोड़ी देर बातें करने के बाद अर्चना ने बोला- मैं ऊपर छत पर कपड़े डालने जा रही हूं. मेरी मां की आंखें अब खुल गई थीं और वो अपने ऊपर चढ़े उस गैर मर्द की ताकत के सामने पिसने का मजा लेने लगीं. ब्लू फिल्म दिखाइए ब्लू फिल्म ब्लू फिल्मफिर वो बोली- आज मेरी सुहागरात है।अब मैंने लंड निकाल लिया और उसे बिस्तर पर लिटा दिया.

मेरी देसी सेक्स कहानी के पिछले भागमेरे लंड की दीवानी गाँव की देसी बुर-2में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी चाची के घर में गांड की कमसिन देसी लड़की पूरी नंगी होकर अपनी बुर की चुदाई करवाने के लिए मचल रही थी. मैं मदहोश थी … और अमन का मुझे इस तरह बीच राह में छोड़ जाने से बहुत गुस्सा आ गया था. चूंकि थकान काफी हो गई थी तो मैं बड़ी मम्मी वाले रूम में जा कर बिस्तर पर लेट गया.

मेरे लंड में आज भी इतना दम है कि एक बार किसी औरत को चोद दिया तो वो अपने पति की चुदाई भूल जाती है. भाभी बोली- अच्छा, सच-सच बताओ कि क्या देख रहे थे?मैंने कहा- कुछ नहीं भाभी… वो … आपकी …वो बोली- मेरी क्या… इतना घबरा क्यों रहे हो, मैं तुम्हें खा थोड़ी न जाऊंगी?मैंने हिम्मत करके बोल दिया- भाभी आप बहुत सुंदर हो.

आर पी एफ के जवान ने टी टी के कान में कुछ कहा और टी टी मुझसे कहा- चल टाईलेट के गलियारे में चल.

वो अक्सर मुझे बुला लिया करते थे और हम लोग साथ में मिलकर काफी मजा किया करते थे. यदि देसी चुदाई कहानी पसंद आ रही हो तो प्रिय पाठकों से अनुरोध है कि कहानी पर अपने विचार प्रकट करने के लिए आप नीचे दिये गये कमेंट बॉक्स में अपना मैसेज छोड़ सकते हैं. मैं उलटे पैर वापस बाहर आ गया और सोचा पता नहीं वो क्या सोच रही होगी.

सेक्सी चुदाई आदिवासी मैं अर्चना से बोला- आप मुझसे क्या चाहती हैं?अर्चना- जो एक लड़की को लड़के से चाहिए होता है!मैं- अगर रिया को पता चल गया तो? नहीं मैं उसे धोखा नहीं दे सकता. फिर उसने कहा- मैंने कभी बियर के अलावा कुछ और नहीं पिया है … इसलिए ध्यान रखना कहीं कुछ उल्टा सीधा ना हो जाए और हम दोनों का दिन और मूड दोनों ही खराब हो जाए.

मेरी मां को राजेश मास्टर के लंड से बुर चुदवाने में कुछ ज्यादा ही मजा मिल रहा था. बहुत दिन तक सोचने के बाद जब कुछ समझ नहीं आया तो मैंने सोचा क्यों न ससुर जी को ही ट्राई किया जाये. शनाज़ मेरे चेहरे को चूमती हुई बोली- नाराज़ हो मेरे सरताज?मैं दुखी होकर बोला- बेगम साहिबा, पूरे एक हफ्ते से मेरा लंड फटने को हो रहा है.

ব্লু ফিল্ম চুদাচুদি ভিডিও

उन्होंने कहा- लगता है, मैं तुम्हें पंसद नहीं आई हूँ इसलिए तुम बहाने बना रहे हो. पर मेरा अभी हुआ नहीं था, तो मैं थोड़ी देर रुक गया और फिर शुरू हो गया. मेरा भी हो ही गया समझो, आह आह प्रियम … मजा आ गया तुमसे चुदने में, बस करारे करारे आठ दस धक्के और लगा दो राजा!” वो मुझे अपनी बांहों के घेरे में समेटती हुई बोल उठी.

उसकी चूत में से नमकीन स्वाद मिल रहा था जो शायद उसकी चूत में लगी पेशाब की बूंदों का था. लगभग दस मिनट तक वो दोनों मेरे स्तनों से खेलते रहे और मुझे छोड़कर वापस चले गये.

हम दोनों मूक भाषा में एक दूसरे की निगाहों से सेक्स के इस खेल को आगे बढ़ा रहे थे.

हम दोनों ने खाना खाया, किरण ने बर्तन रसोई में रखे, टेबल साफ किया और हम लोग बेडरूम में आ गये. धीरे धीरे मेरी गांड हिलने लगी और लंड उसकी चूत में अंदर बाहर होने लगा. अजय ने भी उसका हाथ पकड़ने की जगह उसको अपनी गोद में उठा लिया और वो दोनों किस करने लगे.

आप लोगों को कोई ऐतराज तो नहीं है?यही बातें हो रही थीं कि इतने में ही मां भी बाहर आ गयी. वो पूरी मेरे ऊपर सवार थीं और मैं माधवी भाभी को अपने ऊपर उठाए तेजी से चोद रहा था. हेमा चाची जोर जोर से चीख रही थीं, तो मैंने उनके मुँह पर अपना एक हाथ रख कर मुँह को बंद कर दिया और पीछे से दबादब लंड आगे पीछे करने लगा.

रजक लाल ने जैसे रोहन को देखा, तुरंत ही उसको पकड़कर नीचे बिठा दिया और अपने पैंट की चैन खोल कर लंड तो बाहर कर दिया.

नंगी देसी बीएफ: बॉयफ्रेंड ने कहा कि इस भिखारी को तेरे चूचे दिखाते हैं, बहुत मजा आयेगा. मैंने एक बार को तो सोचा कि बाथरूम की किसी झिरी में से बड़ी मम्मी को नंगी देखने की जुगाड़ करूं, मगर बाजू में ताऊ जी लेटे थे इसलिए चुपचाप लेटा रहा.

मैं बर्थ पर आ गया और अपने फ़ोन में फेसबुक फ़्रेंड्स के साथ लूडो खेलने लगा. उस भाभी का नाम सोनी था लेकिन सब लोग प्यार से उसको बिट्टो बुलाते थे. मैं अंजलि से बोला- पागल है क्या तू? यहां करेंगे हम? अगर मेघा जाग गयी तो?अंजलि कहने लगी- नहीं जागेगी, तुम अपना काम करो.

मैंने फिर से पैग बनाए और इसी तरह हम दोनों ने 2 बार और चुदाई का मजा लिया.

मेरी बीवी ने मामी (मनजीत कौर) को यह बोलकर रोक लिया कि शाम को मैं उनको इनसे छुड़वा दूंगी. मैं उसके पीछे आ गया और लंड को एक ही झटके में पूरा चुत में उतार दिया और बिना रुके उसको चोदने लगा. उसको भी अपनी सहेलियों की बातें याद आ जातीं कि एक लड़के से ज्यादा मस्त चुदाई एक सम्पूर्ण मर्द करता है.