कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,मालिश के लाभ

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स साउथ: कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो, साथ ही मैंने दीदी की नाइटी निकाल कर उनको सिर्फ़ ब्रा और अंडरवियर में रहने दिया.

मराठवाड़ा सेक्स

पिछले भाग में आपने पढ़ा कि टीना ने अपनी पहली चुदाई की कहानी में बताया कि उसकी चुत की सील उसके पापा के दोस्त ने कैसे तोड़ी थी. आलिया भट्ट सेक्सी वीडियोअब आगे:ऐसा लगता था कि नीता को ज़रा भी शक नहीं हुआ कि पप्पू झूठ बोल रहा था.

दूसरे दिन मौक़ा निकाल कर हम दोनों को मेरे कमरे में नंगे बदन चिपक कर प्यार करने लगे. ईडीयन सेकसीउसके बाद रात को फिर जॉय ने दवा लगाई और इस बार फ्लॉरा थोड़ी खुल गई थी.

मैंने उसे चोदना चालू रखा, उसने स्पीड बढ़ाने के लिए कहा, बोली- थोड़ा जोर से करो, अब मजा आ रहा है.कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो: रूपा की उंगली पूरी चाट कर हल्के से चबाते हुए पप्पू बोला- क्या बोलती है यार? तेरी जैसी गर्म रंडी औरत को भीड़ में जाना पसंद नहीं? अरे तेरी जैसी औरत को ही तो मैं भीड़ में ढूँढ कर गर्म कर कर चोदता हूँ, तू मेरी ज़िंदगी में बस में मिली वैसे तीसरी चूत है.

मैं पकौड़े खाकर अपने रूम की तरफ चल दिया, तभी भाभी बोलीं- रामू, आज रात में यहीं खाना खा लेना, ओके!मैं बोला- हाँ ठीक है भाभी.मैं इसी पोजीशन में कुछ देर खड़ा रहा और एक हाथ नीचे करके उसकी चूत को मसलने लगा… ताकि उसको थोड़ा आराम मिले और वो दर्द को भूल जाए.

इंडियन आर्मी फौजी - कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो

करीब 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद गोपाल का लावा बह गया और उसने नीतू की चुत को रस से भर दिया.संजय- ये क्या बकवास कर रही है तू! वो किसी और से कैसे चुदवा सकती है हाँ?टीना- तू गुस्सा मत हो मेरी बात ध्यान से सुन.

फिर उसने मेरे लंड को बाहर निकाला तो उसे देख कर बोली- सर जी आज 5 साल के बाद मैं किसी लंड का प्यार करूँगी. कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो क्या मस्त लग रहा है तुम से चुदा कर, ऐसे ही मारते रहो मेरी गांड…”साली वाकई दमदार माल थी.

फिर उसने टाइम देखा तो 6 बज गए थे और उसके पति के आने का टाइम हो गया था.

कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो?

हाँ रेशमी चादर को भी जब बहुत ज़्यादा जरूरी हो, तभी इस्तेमाल करना था. आंटी ने कहा- तुम सिगरेट भी पीते हो?मैंने ‘हाँ’ में जवाब देते हुए कहा ड्रिंक भी करता हूँ. बहू रानी, तुमने अपने बाल तो कटवा लिए पर नाई की फीस तो दी ही नहीं?”सब कुछ तो ले लिया मेरा और मनमानी अब भी कर रहे हो.

मैं उसके चूचों को हाथ से मसलने लगा, उसके और होंठों पर किस करने लगा. ”बस थोड़ी सी और हिम्मत रखो बेटा, दर्द अभी ख़त्म हो जाएगा फिर तुझे एक नया मज़ा मिलेगा. वो लड़की भी बिल्कुल सिंपल रहती थी और हमेशा सूट के साथ चूड़ीदार पजामी या फिर पटियाला सलवार ही पहन कर आती थी.

मैंने भी हामी भरी, मैंने कहा- ये कौन सी दुनिया है रे रिया? ये 40-50 लोग तो मुझे किसी और ग्रह से आए हुए लग रहे हैं. तभी पीछे वाले ने रिया के गांड के छेद पे कुछ जेल लगाई और बिना कुछ कहे रिया की गांड में अपना लंड घुसा दिया।रिया कसमसाकर चिल्लाई- अह्ह ह्हह जानू आह्हह्ह! चोद मुझे मेरी जान! उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहनचोद मज़ा आ रहा है, आज से मैं तेरी रंडी बन गई। मेरी जान और जोर से चोद अहाहा! ए रंडी निकी, देख रही है? इसे कहते है असली चुदाई! अभी तो ये दो बचे हुए है. फिर मैंने हकलाते हुए भाभी को पूरी बात बताई कि कैसे क्या हुआ कि मैंने देख लिया.

पाठको, अब मैं अपनी कहानी को विराम दे रही हूँ, अगली मॉर्निंग मेरी एक और चुदाई हुई पर उसमें कुछ नया नहीं था, बस मजा था. अब तुम्हारा आगे क्या करने का प्रयोजन है तथा मुझे बताओ कि मैं तुम्हारी सहायता कैसे कर सकता हूँ?मैं बोली- मुझे तो सिर्फ इतना पता है कि अब मुझे सिर्फ इस बच्चे के लिए ही जीना है लेकिन यह नहीं मालूम उसके लिए क्या करूँ.

तभी भाभी ने आवाज लगाई- अरे राजू, जरा पानी तो लाना!भाभी, अभी थोड़ी देर में लाता हूँ.

मेरी उम्र 22 साल की है, हाइट 5 फुट 10 इंच है, मैं सांवली रंगत लिए एक बॉडी बिल्डर टाइप का लड़का हूँ इसलिए लड़कियां मुझे देख कर जल्दी ही आकर्षित हो जाती हैं.

”वो बोलीं- तुमने किसी लड़की की चूत तो देखी नहीं होगी आओ पहले तुम्हें अपनी चूत और क्लिट दिखा दूँ. मामा जी का लंड ऊपर की ओर तना हुआ था, मामा जी ने मेरा दायाँ हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख लिया और बोले- ज़ोर से पकड़ कर ऊपर नीचा करो, जब मेरी मुँह से आह आह निकलने लगे तो एकदम से नीचे की ओर खींच कर रुक जाना!मैंने मामा जी के लंड को ज़ोर से पकड़ लिया, मामा जी ने अपने मुँह से ढेर सर थूक निकाल कर लंड पर लगाया. मैं भी काफी उत्तेजित हो रही थी, मेरा दिल करने लगा कि मैं अपने भैया के कमरे में जाकर उसके लंड को हाथ में लेकर मुंह में चूसूं और अपनी टाईट चूत में डाल के अपनी सील तुड़वाऊं.

सुमन- नहीं दीदी, पापा भी नहीं हैं और मैं घर पर अकेली बोर हो जाऊंगी, इससे अच्छा कॉलेज ही जाते है ना. थोड़ी देर बाद सैफिना और शहज़ाद दोनों ही एक ज़ोरदार कंपकपी के साथ छूट गए. मैंने पूछा कि कल ही क्यों?तो वो बोलीं कि कल रात या परसों सुबह तक उनके माता पिता लौट आएंगे फिर ये सब नहीं हो पाएगा.

मैं समझ गया कि चाची मेरे लैपटॉप की लाइट को जलते देख कर रूम में आ गई थीं.

फिर अपना लंड पेंट से बाहर निकाल लिया और साथ ही अपने बैग से एक ड्रॉप्स वाली बोतल भी निकाली, जिसमें पाइनॅएपल का रस था. मैं- मगर वो यहाँ पर कहाँ से निकलता है?अभी तक वो भूल गई थी कि हम दोनों पूरी तरह नंगे हैं. हमें कुर्सी पे बैठने को कह कर वो भी हमारे सामने एक कुर्सी पे बैठ गयी.

तो सविता भाभी ने अपनी सहेली की मदद करनी ही थी उसके प्रथम यौन-मिलन में, शोभा का कौमार्य-भंग में !कौन होगा वो भाग्यशाली नौजवान जिसे इस अक्षतयौवना को पहली बार भोगने का मौका मिलेगा? क्या वो ज़िम-ट्रेनर? या वो ब्रा सेल मैन? या कोई और?एक दिन शोभा सविता भाभी के घर जा रही थी. जब मेरा दर्द कुछ कम हुआ तो यश धीमे धीमे लंड अन्दर बाहर करके धक्के मारने लगा, मुझे चोदने लगा. मैंने अपनी पैंटी के अन्दर हाथ डाल के देखा तो वो इतनी गीली हो गई थी कि ऐसा लग रहा था जैसे मैंने सू सू कर दी हो.

मैंने माथे का पसीना पौंछा और उस लड़की के फोटो पर नज़रें गड़ गईं मेरी.

यूं तो सारे ही पहलवान मर्दाना जिस्म के मालिक थे लेकिन रवि उनमें सबसे अलग ही दिख रहा था. मैंने चाची को हग के दौरान अपना मुँह सीधा रखा और उनके मम्मों पर अपनी ठोड़ी रखी और अपने हाथ उनकी ब्रा की पतली पट्टी पे.

कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो मैं किचन की ओर चली गई, मैं रेफ्रिजरेटर से पानी की बॉटल निकालने के लिए थोड़ा सा झुकी ही थी कि तभी किसी ने मुझे पीछे से जोर से पकड़ लिया. मेरी हालत बर्दाश्त के बाहर थी, दिमाग में ब्लू फिल्मों के पोज़ एक एक करके याद आते गए.

कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो साधु- लो मोना, तुम्हारे पति ने सिंदूर की डिब्बी खोल दी, अब बहुत जल्द वो तुम्हारी माँग में आ जाएगा. फिर तीसरी बार उसके बोलने पर मैंने पूछा- मुझे क्या मिलेगा रोकने पर?उसने बोला- क्या चाहिए?मैंने बोला- मुझे तुमको बाथरूम करते देखना है.

मेरे हाथ उसकी पीठ पर घूम रहे थे, मैं अपने अन्दर जलती हुई आग को उसके जिस्म की आग से मिला रहा था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी एक्स एक्स

तो एक लड़के ने कहा- भाई मेरे से अब बर्दाश्त नहीं जो रहा, साली को यहीं चोद देते हैं. लेकिन उसने मेरी चीख पर कोई भी ध्यान नहीं दिया और ना ही मुझ पर कोई रहम ही किया. बातें करते हुए वह काफ़ी साधारण लगा, ना घमंड, ना ज्यादा नखरे और ना ही ज्यादा स्टाईल.

ये देख कर संगीता बहुत तेज़ रोने लगी और बोली- शेखर, ये क्या कर दिया तुमने?मैंने बोला- संगीता पता नहीं ये सब कब और कैसे हो गया, मुझे भी कुछ होश नहीं. तेरी जैसी गर्म औरत को कुतिया बना के चोदने में बड़ा मजा आता है मुझे… रूपा छिनाल! इससे मेरे लंड को ठंडक पहुँचती है. राज- रानी को क्या हुआ था?मैंने बताया- हाँ मैंने उससे पूछा कि मेहता ने उसके साथ ऐसा क्या कर दिया.

अब आगे की कहानी नीतू की जुबानी:हैलो मैं नीतू, मैं घर पर भाई के साथ दिन में हमेशा अकेली रहती थी.

इतना कह कर मैंने उनके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और उन्हें किस करने लगा. उनकी बातों से साफ़ लग रहा था कि जितना हम दोनों में हुआ, चाची उससे कहीं ज्यादा चाहती थीं. जैसे ही मैंने लंड को पकड़ कर हाथ नीचे की ओर सरकाया, मामा जी के लंड का पिंक टोपा चमड़ी से बाहर आ गया.

मैं उठी और लंड को बुर पे सेट किया और एक बारगी अनाड़ीपन से बैठ गई लंड पे…‘उई ईई ई ई माँ आ आ आ आ आह…’ दर्द की तीखी अनुभूति हुई… एकबारगी ऐसा लगा कि साँस ही रुक गई है. मैं कुछ बोलता, इससे पहले कंडक्टर आ गया, उसने बोला- मैडम सही कह रही हैं, साइड स्लीपर मैडम का है. मैंने जाकर देखा तो वो सही था, मतलब वो मुझे रोज नंगी नहाते हुए देखता था.

अपनी चूत में उंगली डालते हुए वो पप्पू से बोली- उफ्फ बहनचोद, मैं सही में अब उतावली हो गई हूँ तेरे लंड के लिए. मैंने अपना एक हाथ उसकी चूड़ीदार पाजामी के ऊपर से ही उसकी चुत पर रखा तो मैंने महसूस किया कि उसकी चुत में से कुछ निकला है और वो बहुत ही चिकना पदार्थ है.

अंकल- टीना शर्मा मत, ये देख इसको लंड कहते हैं, चल अब इसको चूस कर मुझे मजा दे. इसके अलावा आपने पहले की एक कड़ी में ये भी जाना था कि सविता भाभी अपने ऑफिस के बॉस मिश्रा जी के लंड को अपनी चुत से खूब तृप्ति देती थीं. फिर मैंने उसकी टांगें फैला दीं और अपना लंड उस की चूत पर रगड़ने लगा.

रूपा पप्पू की गांड फ़ैला कर उसे चाटने लगी और पप्पू उसके मम्मों को ज़ोर से मसलते हुए और निप्पलों को खींचने लगा.

सुमन जब घर गई तो उसका खिला-खिला चेहरा देख कर पापा जी ने उसे रोक लिया- आ गई मेरी राजकुमारी. फिर कैसे हो!”मैंने जवाब दिया- मैं पढ़ने जा रहा हूँ ना कि लड़कियां देखने!फिर मैंने फोन बाहर निकाला और इयर फोन गाने सुनने लगा. पप्पू भी झड़ने पे आया था, वो कस कर रूपा को पकड़ कर उसके निप्पल बेरहमी से चूसते चबाते और चूत चोदते हुए बोला- मैं भी झड़ने वाला हूँ तेरी गर्म चूत में, बहुत मजा आया जान, ले और ले रंडी.

तुझे इस खेल के बारे में क्या-क्या पता है?नीतू- नहीं दीदी मुझे कुछ नहीं पता. मेरे बाकी कपड़े उतरते चले गए, मेरा सहयोग आशीष को मिल रहा था, कभी वो मुझे सहलाते तो कभी मुझे प्यार करते, चूमते, कभी बेदर्द बन के मेरे जिस्म को रगड़ देते.

मुझे कोई कहानी खुद से बनाने नहीं आती है इसलिए अन्तर्वासना पर यह मेरी अंतिम कहानी होगी. मैंने रुस्लान से उसकी किसी xxx फिल्म को देखने की इच्छा प्रकट की तो उसने अपने मोबाइल में अपनी किसी क्सक्सक्स वीडियो क्लिप को ऑन कर दिया. फिर भाई की थोड़ी हिम्मत बढ़ी और उसने मेरे टॉप को मेरी चूची तक उठा दिया.

सेक्सि मराठी

ये कह कर मैंने एक ही झटके उसकी गीली चूत में अपना पूरा लंड पेल दिया.

संगीता का दर्द नॉर्मल होने के बाद मैंने अपने लंड को उस की चुत के अन्दर बाहर करना शुरू किया. जब राहुल को लगा कि उसका हथियार तैयार है तो उसने अनामिका जी को मोर्चा सम्भालने को कहा. सिंडी बार बार उन दोनों से धीरे धीरे चोदने की रिक्वेस्ट कर रही थी, पर वो दोनों हैं कि उसकी सुन ही नहीं रहे थे.

संजय को इतना मज़ा दूँगी कि वो टीना और फ्लॉरा को भूल जाएगा और उसके वो दोस्त. मैंने उससे कहा- जब तक तुम प्रेग्नेंट हो जाओ तो एक बार हस्बैंड से भी करवा लेना. सेक्सी मूड‘वो कौन है बता तो?’फिर उनके जोर देने पर मैंने उनसे कहा कि अब की बार सीकर आते ही पक्का बताऊंगा.

मैं चुत का सारा पानी पी गया और दोनों हाथों से नेहा की चूचियों को दबाने लगा. सुमन- हाँ पापा बोलो ना क्या बात है?पापा- रात को तेरी माँ तो जल्दी सो जाती है और मुझे नींद नहीं आती तो क्या मैं तेरे पास आ जाऊं, अगर तुझे कोई दिक्कत ना हो तो?सुमन- अरे इसमें पूछना क्या पापा.

मैंने उसके पैन्ट और अंडरवियर को निकाल दिया और उसके लंड से खेलती रही. सुमन ने थोड़ी देर सोचा, उसके बाद वो उठी और उसने अपनी नई ब्रा और पेंटी का सैट पहना, उसके बाद अपने रोज वाले नाइट के कपड़े पहन लिए और अपने पापा का इन्तजार करने लग गई. मैंने उसके होंठ चूमते चूमते एक हाथ उसकी नाभि पर रख दिया और उसकी नाभि को उंगली से सहलाया, वो हड़बड़ा गई.

दीदी ने कहा- चल जा जल्दी से फ्रेश हो जा, जब तक मुझे भी कपड़े बदलने हैं. अपनी जीभ से नीता की चूत चाट कर, नीता की चूत का पूरा पूरा मजा लेने के बाद नीता की चूत को उंगली से खोल कर अपनी जीभ नीता की चूत में डाल कर, पप्पू जीभ से नीता की चूत चोदने लगा. अपनी जीभ से नीता की चूत चाट कर, नीता की चूत का पूरा पूरा मजा लेने के बाद नीता की चूत को उंगली से खोल कर अपनी जीभ नीता की चूत में डाल कर, पप्पू जीभ से नीता की चूत चोदने लगा.

सांझ के समय तथा देर रात तक सरिता और मैं बातें करती रहतीं तथा अपने परिवार एवं अतीत के अनुभवों को भी साझा करती रहती.

दोस्तो, शावर के नीचे मुठ मारने का मजा ही अलग होता है और अगर चूत मिल जाये तो सोने पे सुहागा. फिर मैंने सोचा कि उनमें से एक लड़के को मैंने भी लाइन देनी शुरू कर दी.

मैंने जवाब दिया- तुम्हें तो मजा आया पर मेरा क्या, मेरी तो जान निकल गई थी एक बार तो… मेरी तो फट गई ना…वो बोला- ये दर्द तो एक ना एक दिन होना ही था… आज हो गया तो अब आगे दोबारा तो नहीं होगा. तभी बॉस ने कहा कि ये मुझे सारा काम समझा देंगी और बॉस वहां से चले गए. मैंने उसे देखा और उसके सरपंच पापा के साइन के लिए अपने कागजात उसे दे दिए और सो गया.

इतनी सी बात के लिए वापस जाएगी क्या और मॉंटी बाथरूम में है, आता ही होगा. मुझे पहली बार उससे गांड मरवाने में बहुत दर्द हुआ और मैं खूब चीखी भी लेकिन बाद में मुझे खूब मजा भी आया. घर पहुंचकर मैंने कपड़े निकाले और शराब का गिलास लेकर जकूज़ी में घुस गयी.

कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो इस बार वो डर गया और मेरे कपड़े ठीक करके अपने बिस्तर पे जाकर लेट गया. मुझे एक्सरसाइज करने का शौक है, जिसकी वजह से मेरा शरीर काफी हट्टा-कट्टा है.

सेक्सी ब्लू पिक्चर एचडी में

मालती मुझे दूसरे कमरे में ले गई और वहां पर मुझे बेड के तरफ धकेल दिया. मैंने यहां वहां नज़र घुमाई तो बेड के पास ही शो-केस में कुछ फोटो रखी हुई थीं जिसमें रवि के मम्मी पापा के साथ एक लड़की और थी. मैंने कहा- नहीं मेरी माँ, तू यहीं हम दोनों के सामने मूत, नहीं जाना बाथरूम में !मॉम ने कहा- यहां कहां करूँ पागल लड़की?मैंने कहा- मेरे मुख में मूतो, भर दो मेरा मुंह अपने पेशाब से; मुझे सेक्स में हर तरह का मजा चाहिए.

तेरी जैसी गर्म और हर बात में साथ देने वाली चूत नसीब वाले मर्द को ही मिलती है रंडी. अब मैंने उसे बेड पर चित लिटाया और उसकी दोनों टांगें खोल कर अपना लंड अपने हाथ में पकड़ कर उसकी चुत के मुँह पर टिका दिया. फौजी को कैसे मारेशायद मौसी को मेरा लंड देखने का नशा हो गया था तो जब भी मौका मिलता, मौसी मुझे मेरा पेंट उतरवा कर लंड दिखाने को कहती थीं.

या सबको दिखा दूँ?वह वीडियो देखते ही मैं शांत हो गई और बोली- अगर तुमने मेरी चुदाई ही करनी थी तो अकेले कर लेते इस सब के साथ क्यों!सुरेश बोला- मुझे तुम्हारे साथ ग्रुप सेक्स करना था.

मॉर्निंग में मैं जब उठी तो गांड का शेप ही बदल गया था… वो और मैं न्यूड ही सो रहे थे. हुआ यूं कि हमें कॉलेज की तरफ से गाँव गाँव जाकर गाँव की कुछ डिटेल जानना था, तो हम सब को एक-एक गाँव में जाना था.

आज तक अन्तर्वासना पर सफर में सेक्स की बहुत कहानी पढ़ी हैं, पर ये सब मेरे साथ कभी होगा, सोचा नहीं था. उसके बाद उन्होंने मुझे साफ साफ बता दिया कि मेरी माँ को कुछ पता नहीं है. और सबसे बड़ी बात ये थी की वो खुद को बड़ी अच्छे तरीके से मेंटेन करती थी.

कभी कभी मैं उसके मम्मे को जीभ से गोल गोल घुमा कर चाटता, कभी निप्पल मुँह में भर के चूसता.

काकू भी अब रीना के सर की ओर ओर खड़ा होकर उसके मम्मों से नीचे तक की मालिश कर रहा था. अब सब आपके जैसे सीधे तो है नहीं जो मुझे ऐसे आधी नंगी देख कर आँखें झुका लेंगे. उसने मुझे देखा और बोली- अरे भैया, अबके तो तुम बला(बहुत) दिनान में(दिनों में) आए हो, का गामें (गाँव को) भूल गए का?अरे नाएं(नहीं).

प्रियंका चोपड़ा क्सक्सक्सअनुराधा- इतनी आसानी से नहीं भैया… अभी तो शुरूआत है… तुम्हें मेरे लिए भी कुछ करना होगा. नमस्कार दोस्तो, एक बार फिर मैं एक बार फिर अपने साथ घटी एक रसीली सी घटना का जिक्र एक कहानी के रूप में कर रहा हूँ.

गांव की चाची

तो यह थी मेरी पहली चुदाई की देसी कहानी, आप लोगों को कैसी लगी, प्लीज मुझे मेल करके ज़रूर बताएं. अब मैं उसे चाहता था, तो मैंने उसकी बात मान कर उस लड़की को ना बोल दिया. वो चाय बनाते हुए चोर निगाहों से मेरी तरफ देखने लगा और मैं भी एक तरफ साइड से बिस्किट खाते हुए उसे देख लेती.

सुबह 10 बजे गुलशन जी की आँख खुली तो सुमन उनसे चिपकी हुई मज़े से सो रही थी और गुलशन जी का लंड उसकी जाँघों में फंसा हुआ था. मैंने उसे बोला कि वो थोड़ा इंतज़ार करे, मैं तब तक बाथरूम से हो कर आती हूँ. उसके बाद मैंने तबेले में बंधी गाय का दूध निकाला, तरुण को चाय-नाश्ता करा कर खेतों में भेजा और उसके बाद पूरी हवेली की सफाई करी, वरुण को नहलाया तथा खुद भी नहाई.

भले कुछ समय लग जाए लेकिन उसकी जवानी पूरी निखरने के बाद ही गांड मारी जाएगी. नेहा बोली- क्यों साली, मेरी तो जब फटेगी तब फटेगी, तेरी अभी हमें देख कर ही फट गई, अब तू हम दोनों से जल रही है. मैं वहाँ उसके भाई के कमरे में जाकर बैठ गया और उसके फोन पर कॉल की कि मैं आ गया, तुम आ जाओ.

मैंने पूछा- क्या हुआ मॉम?तो वो बोलीं- कुछ नहीं दीनू, तेल का डिब्बा उतार रही थी कि हाथ से फिसल गया. मैंने फिर पूछा कि क्या हुआ है तो उन्होंने बताया कि उनका पति 20 दिन से घर नहीं आया था, और अब कल आया तो उनके साथ लव नहीं किया.

मैंने तुरंत बेटे को तरुण से ले कर चुप कराने की कोशिश करी लेकिन असफल रही तब मैंने तरुण की ओर पीठ कर के पेटीकोट के नाड़े को ढीला करके अपने एक स्तन को बाहर निकल कर उसे दूध पिलाने लगी.

फाड़ दे मेरी फुद्दी…मैंने भी फटाफट कंडोम निकाला और लंड पर चढ़ा कर चूत के ऊपर रख कर एक जोर का झटका दिया तो मेरा आधा लंड दीदी की चूत में घुस गया. चोदा चोदी फिल्म हिंदीगीले होंठों के स्पर्श से और फिर मेरे गालों को दोनों हाथों से पकड़ कर मेरे लरज़ते होंठों पे अपने होंठ रख दिए; उफ्फ्फ… कितना गर्म स्पर्श!कितनी देर हम ऐसे ही रहे, मुझे पता नहीं… पर जब हम दोनों अलग हुए तो हम दोनों की सांसें बेकाबू थी. गर्ल्स की पिकमुझे मस्ती चढ़ने लगी और मैंने भी नीचे से अपनी गांड उठा कर कमर से पैरों को जकड़ कर चुत में लंड ठुकवा रही थी. तभी साधु ने गोपाल को भी नंगा होने को कहा और दोनों की चुत चाटने का कहा.

राहुल ने उनका एक पैर अपने कंधे पर रखा और अपने लंड को उनकी रसीली चूत के द्वार पर लगा कर धीरे धीरे अन्दर सरकाने लगा.

लेकिन मुझे उसका टेस्ट अच्छा नहीं लगा तो मैंने मुँह से निकाल दिया और हाथ से लंड हिलाती रही. कंट्रोल नहीं हुआ तो रवि को बोल दिया। अब टीचर जी जैसा सिखाएं।रवि ने हम दोनों को बिस्तर पर लेटने को कहा। उसने डॉली से कहा कि वो सेक्स के बारे में सोचे. आज तो हम दोनों की सारी मुरादें पूरी होने वाली हैं शायद।तभी मेरी हाथ में दो गिलास लेकर आ गयी.

बताओ तो मुझे!टीना- देख फ्लॉरा के घर पर सब लोग रात को आएँगे, अभी उसमें बहुत टाइम बाकी है. रेखा तुम्हें छोड़ दे तो रात को मैं तुम्हें चोद सकता हूं लेकिन उसे अलग कैसे करोगी?वो बोली- कोई रास्ता निकालना होगा. उसने विनय की ओर मुँह किया तो विनय ने अपने होंठ मिला दिए उसके होंठों से.

indian సెక్స్ videos

वो भी आ उउहह कर रही थी और बदन को ऐंठते हुए मादक अंगड़ाई लेने लगी- आअहह. मैं बाहर निकालती हूँ…” यह कह कर उसने मेरी जिप में से लंड बाहर निकाला और उसे हाथों से हथियाने लगी. टीना को कुछ समझ नहीं आया तो संजय ने उसे कुछ बातें समझाईं कि अब आगे वो सुमन को क्या करने को कहेगी, जिसे सुनकर टीना की आँखों में चमक आ गई.

कुछ पल के लिए सब कुछ शांत सा हो गया, समझ में नहीं आया तो हल्की आँखों को खोल के देखा तो वो अपने वस्त्र उतार रहे थे.

उनकी शादी एक साल पूर्व 2012 में हुई थी और व्यापार के सिलसिले में वो लोग हैदराबाद आए थे.

फिर मैंने मेरे गाँव के एक लड़के जो मेरा पक्का यार था, से उससे कहलवाया कि प्रभाकर तुमसे बहुत प्यार करता है. हालाँकि रीना चुदासी हो रही थी, पर विनय ने उसके गाल थपथपा कर उसे कविता के पास जाने को कह दिया. khan सेक्सी‘ओह्ह अह्ह्ह आशीष… यस यस यस ओह्ह्ह यस आशीष ऐसे ही… ओह्ह ओह्ह अह्ह्ह अहह आह्हः उफ्फ!’ मेरी सिसकारियां उस शरीफ इंसान को हिंसक बना दे रही थी.

राहुल अपनी नाक से उनकी चूत के दाने को छेड़ रहा था और अपनी जीभ को उनकी चूत में जितनी अन्दर तक हो सकता था, घुसेड़ रहा था. मैंने उसकी टांगों को फैलाया और अपना पूरा वजन उसके ऊपर डाल दिया। उसकी गर्दन के दोनों तरफ अपनी दोनों कोहनियों को टिकाकर उसके चेहरे को अपने हाथों में ले लिया और अपने होंठ उसके होंठों पर टिका दिए। दो चार छोटे-छोटे झटके देने के बाद मैंने एक ही झटके में उसका कौमार्य भंग कर दिया मतलब उसे लड़की से औरत में तब्दील कर दिया।मेरे उस झटके से वह बिलबिला गई परंतु उसने धैर्य से काम लिया. सब उसे पाना चाहते थे, उसके गोरे बदन पर बड़े बड़े खरबूजे के साइज के चूचे किसी को पागल कर देने में सक्षम थे.

नीता के तड़पने पर ज़रा भी ध्यान ना देते हुए, पप्पू ने नीता की कमर कस कर पकड़ी और फिर आधा लंड बाहर निकाल कर पूरी ताकत से चूत में घुसा दिया. वह बैठ गई और बोली- आपका इतना बड़ा और मोटा लंड है, मेरी तो बिल्कुल ही फट जायेगी.

उसने अपनी दोनों टांगों मेरी मेरी टांगों में ऐसे फंसा दिया कि मैं ऊपर होऊं चोदने के लिए तो भी न होए.

बोल तूने कहाँ तक लिफ्ट दी है मर्दों को, जब उन्होंने तेरा जिस्म भीड़ में मसला… बोल रूपा रानी?कमर उछाल उछाल कर चुदवाने से रूपा के मम्मे उछल रहे थे और फचक-फचक की आवाज़ आने लगी जब पप्पू का लंड उसकी चूत में घुस कर बाहर निकलता क्योंकि दोनों बहुत गीले हुए पड़े थे. कभी-कभी मैं अपनी हाथों से उसके पैरों के बीच में ले जाकर उसकी चूत को टच कर देता था. उधर फ़ारुख मेरी चुत चाट-चाट कर मुझे पागल करने लगा और मेरे मम्मों को बुरी तरह दबाने लगा.

सेकसीबीडीयो आशा है आप भी मेरी इस ‘सफर की डुबकी’ में डूबे होंगे!मेरी फ्री सेक्स स्टोरी पर आपके विचारों का स्वागत है और अगर रश्मि, आप भी यह स्टोरी पढ़ रही हो तो प्लीज मुझे एक बार जरूर मेल करना. ये अन्तर्वासना पर मेरी पहली चुदाई की कहानी है, आप मुझे अपनी राय मेल कर सकते हैं.

गुलशन जी बड़बड़ा रहे थे मगर अबकी बार सुमन ने एकदम ध्यान दिया तो उसे सब समझ आ गया. अभी बापू आता ही होगा हुक्का पीने।इतने में उसके पापा कमरे में दाखिल हुए, मैंने उनको नमस्ते की।रवि बोला- चल, हम साथ वाले कमरे में बैठते हैं. अंकल समझ गए कि अब लंड महाराज बुर में सैट हो चुके हैं और टीना का पानी कभी भी निकल सकता है.

सेक्सी बीपी साडीवाली

नहीं तो पछताएगी कुंवारी चुत में चुदाने में जो मजा है वो शादी के बाद कहाँ है और एक बच्चा आ जाएगा तो हो गया काम. मैं दोनों हाथ ऊपर करके चाची के मम्मों को दबाने लगा और चूत के छेद में जीभ डाल के चूत चाटने लगा. मैंने एक उंगली उसकी फुद्दी में डाली तो वो तिलमिला उठी और बोली- बहुत आग लग गई है.

अब मेरे सामने 19 साल का एक नया राजपूती राजकुमार अपने मस्त कसरती जिस्म के साथ सोफे पर आराम से बैठा था और उसका लण्ड लोवर के अंदर तना हुआ किसी की मस्त चुदाई के लिए तैयार था।मैं ठंड का बहाना बनाते हुए उसके और नज़दीक हुआ और मैंने रज़ाई को और दबोच लिया. हमने नाश्ता किया उसके बाद मैं फिर परीक्षित को किस करने लगी, हम दोनों एक दूसरे को किस झरने में इतने व्यस्त हो गए कि हमें ध्यान ही नहीं रहा के कब चिंटू और रोस्टन ने दूसरा राउंड शुरू कर दिया.

पर चाची शायद इसके लिए तैयार नहीं नहीं थीं, उन्हें एक झटका सा लगा और उन्होंने मुझे अलग किया और बोलीं- ये क्या कर रहे हो?पर उस वक़्त मैं उनकी किसी बात को सुनने में मूड में नहीं था.

फिर मैंने अपनी तौलिया बिछाई और उसको उस पर लिटा कर उसकी समीज और ब्रा निकाल दिए. फिर भाई की थोड़ी हिम्मत बढ़ी और उसने मेरे टॉप को मेरी चूची तक उठा दिया. लड़का भी रिया के बदन को मालिश करते करते अपना लंड रिया के मुँह के अंदर बाहर करने लगा.

मैंने उसके दोनों पैर अपनी कमर के ऊपर लिए, जिससे उसकी चुत ऊपर की तरफ हो गई. मेरी जाने कब से उसे चोदने की इच्छा है, पर कोई तरकीब समझ में नहीं आई. अच्छा ठीक से बता कि कैसे और क्या हुआ था?सुमन ने थोड़ी बहुत बातें बताईं, जो रात को हुई थीं.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मुंबई की शनाया की कुंवारी बुर की चुदाई-2.

कोलकाता सोनागाछी का बीएफ वीडियो: फिर क्या था, मैं उनके मम्मों को एक हाथ से दबा रहा था और किस किए जा रहा था, दूसरा हाथ चाची की चुत में डाल रखा था. अरे आप पूरी कहानी मुझसे मेरी सेक्सी आवाज में सुनिए ना…अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है.

मैं ना-नकुर करने लगा क्योंकि मुझे वहां उंगली करने में बहुत ही गंदा लग रहा था. मेरी प्रेम कहानी पर अगर आप अपने विचार मुझे बताना चाहते हैं तो मेरा ईमेल आईडी है. तो उसमें ऐसा क्या खास है?संजय- यार उसकी मासूमियत और भोलापन देख कर मन में ख्याल आया कि अगर ये शराफत का नकाब उतार दे तो हम सभी को कितना मज़ा देगी.

मैं जब अपने घर रहता था, तब मैं अपनी चाची से व्हाट्सैप पर कई बार चैट किया करता था.

मैंने उसके मस्तक पर एक किस की और उसके बाद उसे चूमता हुआ नीचे की तरफ आने लगा, फिर उसके कानों को चूसता हुआ उसके दोनों कानों के पास गर्म गर्म साँसें छोड़ता हुआ और चूमता हुआ उसके होंठों पे आ गया, होंठों का एक गहरा चुम्बन लिया, फिर उसकी जीभ को अपने होंठों में लेकर चूसा. अब वह चाहती थी कि मैं उसको अलग अलग आसनों से चोदूँ, जैसे डॉगी स्टाइल में, बैठ के, खड़े होकर…उसकी ये बेताबी देखकर मुझे मेरी औरत ध्यान आई. वो अपने रूम में चली गई और कुछ देर के बाद जब आई तो मैंने देखा वो नाइटी पहने हुए थी.