सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी

छवि स्रोत,जंगल में ले जाकर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ बीपी चुदाई: सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी, बापू अब तक उसकी पेंटी उतारने की कोशिश में लगा हुआ था, पर पद्मिनी ने तो अपने पैरों को मोड़ लिए थे और पैरों को पेट पर दबाये वो ज़ोरों से हंसी जा रही थी.

भाभी की सुहागरात वीडियो

मेरी बहन मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाती रही, मैं अपनी बहन की चूत में उंगली से सहलाता रहा. থ্রি এক্স এইচডি ভিডিওमगर उससे उस लौंडे का लंड ठंडा क्या होना था, वो तो खुद ही बहुत कामुक हो रही थी, जैसी उसकी आवाजें आ रही थीं.

तो हमने कहा- क्या शर्त है बोलो?पम्मी- एक तो सारे कपड़े नहीं उतारूंगी, मतलब ब्रा और पेंटी पहने रखूँगी और दूसरा जो चाहे करो, पर अन्दर नहीं लूँगी. इंग्लिश फिल्म ब्लू पिक्चरसुजाता की चीख से उन दोनों की कामक्रीड़ा में व्यवधान आया और वो दोनों हमारी ओर गौर और आश्चर्य से देखने लगे.

भाभी पहले से ही चुदासी थीं, सो वे मेरे सामने ज्यादा देर टिक ना पाईं और उन्होंने अपनी चूत से भलभला कर पानी छोड़ दिया.सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी: वो खुश हो गया और मेरी गर्दन आगे घुमाने से पहले ही एक धक्का आया और आधा लिंग मेरे अन्दर घुस गया.

मैं कुछ ज्यादा ही गर्म हो गई थी, तो मेरा हाथ भी उनके लंड पर चला गया था.अब मैंने खाला के कपड़े उतारने शुरू किये तो खाला बहुत उत्तेजित थी, कि आज वह पहली बार किसी मर्द के सामने बिना कपड़ों के होने वाली थी.

नंगी लड़कियों की फोटो - सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी

फिर भी मैं कुछ नहीं बोला तो उसने कुछ देर बाद मुझसे हय बोला और बात शुरू की.मैंने उसे पूछा- बॉडी मसाज जेंट्स करते हैं या लेडीज करती हैं?तो उसने बताया कि दोनों ही करते हैं.

कुछ समय बाद मैंने भाभी को अपना फोन नंबर और व्हाट्सैप नम्बर भी दे दिया. सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी अनुप्रिया बोली- आप सेक्स में सन्तुष्ट हो?मैंने कहा- नहीं यार… और तुम?वो बोली- मेरे पति भी सेक्स ठीक से नहीं कर पाते हैं.

उसने मुझे अपने से अलग किया, बोली- बैठो यहाँ… मैं तुम्हें एक जवान लड़की की खूबसूरत जिस्म का दीदार कराती हूँ सबसे पहले!हम बेसब्र सोफे पे बैठ गये.

सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी?

जैसे ही उसे पकड़ने को बढ़ी और पेटीकोट को उठाया, तभी मुझसे पेटीकोट चाचा ने छीन लिया और बोली- तू ऐसे ही खड़ी रह वन्द्या, अब मुझसे क्या छुपा रही है, मैंने तेरा सब कुछ देख लिया. तब तक इस कहानी की आपकी प्रतिक्रियाएं हमें[emailprotected]पर जरूर भेजिएगा. भाई का साला दो दिनों बाद ही आ गया और उसका बहुत अच्छी तरह से स्वागत किया गया.

आज तो दोपहर को सोने के वक्त भी उनके साथ सोने के लिए दो और आंटियां और आ गई थीं. मैंने डोर बंद नहीं किए थे और आँख बंद करके लंड से मूत की धार निकाल रहा था. हमने प्लान किया कि दोनों शादी में चलते हैं और रात को वहीं शादी अटेंड करके वहीं होटल ले लेंगे.

क्यों लेटी है… खाना नहीं बनाएगी क्या?मैं बोली- मम्मी मैं पानी भरने गई तो फिसल गई थी, मुझे हल्की चोट लगी है. उसके बाद कुछ लम्हों के बाद बापू ने प्यार से पद्मिनी के चेहरे को अपने हाथों में लिया और उसकी आँखों में अपनी में देखते हुए बोला- तू बापू से बहुत प्यार करती है ना?पद्मिनी ने बहुत ही नर्म धीमी आवाज़ में जवाब दिया- इसमें कोई शक है क्या बापू, दुनिया में सबसे ज़्यादा आपसे ही तो प्यार करती हूं. तब मैंने उसकी गीली चूत पर अपना लंड रखा और उसकी तरफ देख कर हल्का सा झटका दिया.

मुझे लगता है कि तुम सीधे ऑफिस से ही आ रहे हो, अन्दर आओ मैं तुम्हारे लिए चाय बनाती हूँ. मेरे घर में एक सुनीता नाम की काम वाली काम करती है, वो शादीशुदा है उसकी उम्र 26-27 साल के लगभग होगी.

इससे वो और अधिक बेचैन हो गईं और मुझसे लंड अन्दर डालने को कहने लगीं.

मैं तो तेरे लंड का आज पूरा पानी निकाल दूँगी ताकि पूरे हफ्ता तेरा चुन्नू ठंडा रहे.

हुआ ऐसा था कि जब मैं मेरी बीवी की ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा था, तभी उसके मुँह से किसी महेश नाम के आदमी का नाम निकला, तो मैं अचानक से चौंक गया और चुदाई को भूल कर मैं उसके बारे में पूछने लगा. जब वो बाहर जाने लगी तो मैंने उसे फिर से बुलाया और बोली- देखो कल से यहाँ कुछ तड़क भड़क वाले कपड़े डाल कर आना क्योंकि यहाँ हमारा बिज़नेस ऊँचे लोगों से होता है और वो नहीं चाहते कि कोई रोती हुई सूरत उन्हें नज़र आए. मैं अपने काम पर आने जाने लगा, दरअसल मैं एक मल्टीनेशनल कम्पनी में काम करता हूँ और मेरा आफिस लोअर परेल में है.

कहां निकालूं?वो बोली- मेरे अन्दर ही निकाल दो और मेरी चुत को अपने माल से भर दो. मैंने गांड भी मराई जब कमसिन था, तब तीस चालीस साल के जबरदस्त मर्दों के भयंकर लंड गांड पर झेले, टक्करें सहीं, कई बार गांड फट गई, दर्द करती… पर सहा! कई लौंडों की गांड मारी अपने से बड़ी उमर के मर्दों की मारी! अपने मजे के लिए नहीं, उन्हें तृप्त करने को! अभी मसाज करता हूं तो कई बड़ी उमर की सेठानियां चोदता हूं. अब ऐसी तपस्या करना सबके बस का तो है नहीं तो बिंदास लाइफ आजकल का ट्रेंड बन चुकी है.

जब लंड नहीं घुसा तो मैंने अपने लंड पर क्रीम लगाई और फिर अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया.

मैं- ठीक है बड़ी दीदी, आज के बाद बड़ी दीदी कहूँगा, नाम तो नहीं ले सकता. फिर कुछ फैमिली आ रही थी तो हम दोनों को अपना मन तोड़ के जबरदस्ती अलग होना पड़ा. इसलिए मैं अक्सर अपनी गांड की खुजली मिटाने के लिए पेन्सिल का इस्तेमाल करता था.

और कुछ धक्कों के बाद उसने एक जोर से धक्का मारा और पूरा लंड चूत में चला गया. कुछ ही देर चूसने के बाद उसने मेरे लन्ड को बाहर निकाल दिया और बोली- मुझसे न होगा!तो मैंने भी जोर नहीं दिया।अब बारी मेरी बहन की चूत चुदाई की थी तो कुछ देर उसे चूमने और फिर से गर्म करने के बाद मैंने थोड़ा सा थूक अपने लन्ड और उसकी चूत पे लगाया और लन्ड का सुपारा पकड़ कर उसकी चूत पे रगड़ने लगा. मैं दर्द से तड़फ रही थी, मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मेरी बुर में कोई चाकू घुसेड़ दिया हो.

परंतु मैं उन्हें मजे से चूस रहा था तो वह मुझे ‘रमनजीत आई लव यू… रमनदीप आई लव यू…’ बोल रही थी.

वो फड़फड़ा रही थी, मैंने उसकी गांड में धीरे धीरे धक्का देना चालू किया. पर फिर सोचा, जाने दो चोदने पे ध्यान लगाओ और वापस मम्मों से खेलने लगा.

सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी मैंने हल्के से अपना हाथ आगे करके उसके एक चूचे को दबाने लगा और अगले ही पल उसके होंठों को अपने होंठों में दबा कर जोर जोर से चूसने लगा. कोमल की चूत थोड़ा टाइट थी क्योंकि कोमल ने अभी तक ज्यादा नहीं चुदवाया था.

सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी चूंकि अब मैं उस स्कूल से तो निकल चुका था, तो अब कोच सर से मुलाकात ज्यादा नहीं हो पाती थी. थोड़ी देर में हम दोनों फ़िर तैयार हो गए और इस बार चोदने के लिए लंड बेताब था.

आपको मेरी रियल सेक्स कहानी कैसी लगी, आप मुझे ईमेल करके या फेसबुक पर मैसेज करके प्लीज जरूर बताना.

मद्रासी सेक्सी पिक्चर दिखाएं

सुधा भाभी- इट्स ओके, वैसे भी बहुत दिनों बाद कोई बात करने के लिए मिला है. तो कोई ख़ास बात नहीं है, मैं उस टीचर को भगा दूँगा क्योंकि तू सिर्फ मेरी है. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:किरायेदार ने दोस्तों से मिल कर मुझे चोद डाला-2.

उसके बाद मामी ने मेरे लण्ड को चूसना शुरू किया और पूरा पूरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया. हमने डिनर करना शुरू किया पर जेम्स की नजरें सिर्फ और सिर्फ रितु के बूब्स पर थी और उसकी पेंट में तम्बू बनाना शुरू हो चुका था. भैया को आने दो, तुम्हें जेल में ना करवाया तो कहना, तुम्हें ज़रा भी शर्म नहीं आई, अपनी छोटी बहन से गंदा काम करते हुए?मैं बहुत डर गया था कि आज तो सब खत्म हो गया है, बस किसी तरह से जान बच जाए और मैं यहाँ से भागूं.

सपना ने मेरे पास आकर मेरी 34 साइज गांड को पानी के अंदर मसलना शुरू कर दिया। मैं उस जाटणी की हिम्मत देख कर हैरान रह गई। वो पानी के अंदर मेरे सेक्सी बदना को सहलाने लगी.

वो अपने ऩाम के उलट बड़ी सख्त मिजाज थीं और दिखने में कामदेवी लगती थीं. रोने की एक्टिंग कुछ ज्यादा ही करती हैं, डेथ पर रोते हैं तो कुछ लिमिट होती है, ये तो कुछ ज्यादा ही ओवर एक्टिंग कर रही थीं. मैंने पूछा कि बोलो क्या करना है?तो राहुल ने बोला कि तुम्हें मुझको किस करनी होगी.

लुंगी के नीचे कितने ज़ोरों से बापू हाथ चला रहा था और अचानक उसकी लुंगी भीग गयी थी. देखते ही देखते लन्ड ने फनफनाना शुरू कर दिया और जूही ने लन्ड पकड़ के चूसना शुरू कर दिया. मैं कभी कभी अपनी सहेलियों के साथ वर्कआउट करने के लिए एक फिटनेस ट्रेनर के पास जाती हूँ जो कि एक लेडी है.

अब हमारी परीक्षाएं नजदीक आ गई थीं और हम पढ़ाई भी साथ साथ करने लगे थे. धीरे धीरे उन्होंने अपनी उछलने की स्पीड बढ़ा दी और कुछ ही देर में अकड़ने लगीं.

हमारे यहाँ की रीतियों के अनुसार जब किसी की मृत्यु हो जाती है, तो 12 दिनों तक बेड पर सो नहीं सकते. तभी सर मेरी चूत में पूरी जीभ डाल दी और अपने दांतों से मेरे दाने को काटने से लगे. मैं जोर-जोर से आवाज करने लगी ‘ऊंहहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… वोहहहह…’मैं बोली- मनोहर और अन्दर लंड डाल कुत्ते भड़वे.

जब उसने मेरे हाथ उसके सीने पर रखे, तब मैं मेरे हाथ नहीं निकाल सकी और मेरे हाथ उसके छाती से खेलने लगे थे.

चाचा बोले- मेरा लौड़ा अब अकड़ रहा है इस वन्द्या कुतिया को और चोदना था, पर अब लगता है मैं खाली होने वाला हूं. फिर से एक बार ससुर को बाहर जाना हुआ तो वे मेरी बीवी के साथ मुझे अकेले छोड़ कर चले गए. थोड़ी देर तक मैं एक एक करके उनके दोनों स्तनों को मुँह में लेकर देर तक चूसता रहा.

और मेरी इस कथा श्रृंखला का नाम मेरी मालकिन क्यों है? मेरी गर्ल फ्रेंड मेरी मालकिन कैसे बनी? मालकिन बनने के बाद उसने मुझसे क्या क्या करवाया, मुझसे क्या क्या किया. मस्त पानी था उसकी चूत का… और फिर वह निढाल होकर मेरे ऊपर गिर गई, बोली- दीदी, आज तो चुदाई से ज्यादा मजा आपने लेस्बीयन सेक्स में दे दिया!और करीब 20 मिनट तक वह मेरे ऊपर लेटी रही.

मैंने कहा- जब मैं आऊंगा तो मुझे आप कैसे मिल सकती हैं?अभिलाषा ने बताया कि वह बुकिंग मैनेजर है और होटल के सारे इंतजाम व गेस्ट रिलेशन देखने की जिम्मेदारी मेरी ही है, आप जब आएंगे तो आपको कोई तकलीफ नहीं होगी. ड्राइवर ने कहा- तुम अपनी बहन को अपनी टांगों पर बिठा लो, मैं एक और सवारी को आगे भेज रहा हूं. मैंने गांड भी मराई जब कमसिन था, तब तीस चालीस साल के जबरदस्त मर्दों के भयंकर लंड गांड पर झेले, टक्करें सहीं, कई बार गांड फट गई, दर्द करती… पर सहा! कई लौंडों की गांड मारी अपने से बड़ी उमर के मर्दों की मारी! अपने मजे के लिए नहीं, उन्हें तृप्त करने को! अभी मसाज करता हूं तो कई बड़ी उमर की सेठानियां चोदता हूं.

हिंदी सेक्सी वीडियो देहात का

उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसका लंड पकड़ कर अपनी चुत पर टिका लिया और उसे धक्का देने का इशारा किया.

आगे क्या क्या हुआ? क्या विकी ने मुझे वहीं चोद दिया या कुछ और घटित हुआ? बाद में हमने क्या क्या जंगलीपन किया, ये सब आगे के भाग में आप पढ़ सकेंगे. जैसे ही उसके बूब्स बाहर आए, मैंने उसे एक हाथ से दबाना शुरू किया, आदतन मुझे बूब्स को जोर से दबाने की आदत है तो उसके एक बूब को जोर से दबाने लगा और दूसरे बूब को मुंह में लेकर चूसने लगा. वो ब्रेक में जब क्लास में सभी स्टूडेंट्स बाहर होते, तो मुझको अपने पास बुलाता.

मैं थोड़ा रुक गया और बड़े प्यार से उनकी पीठ को सहलाता हुआ चूमने लगा. मैंने भी ज़्यादा देर नहीं लगाई क्योंकि स्कूल का टाइम था कोई भी बच्चा आ सकता था. मां नरेगामेरी सेक्स कहानी के पिछले भागमेरा नौकर राजू और मैं-2में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने कामवासना के वशीभूत होकर अपने नौकर को अपने कमरे में बुलाया और मैं उसके जिस्म से चिपक गई, उसके लंड को पकड़ लिया.

मैं भी उसको मना नहीं कर पाया क्योंकि वो साली थी ही इतनी सेक्सी कि कोई बेवकूफ ही होगा जो उसे चोदने से मना कर देता. तब मैंने अनुप्रिया से कहा कि तुम भी बहुत चूत में उंगली पेलती हो अपने?बोली- हाँ दीदी, ये तो है!और फिर 10 मिनट बाद फिर ट्रेन चल दी और हम लोग फिर अन्दर पैक हो गये.

मैंने फिर से उसके चुचे दबाने शुरू कर दिए और थोड़ी देर के बाद फिर से उंगली डालने की कोशिश की. तब चाचा बोले कि यह छोटी नहीं है बहुत खेली खाई है, जब मैं अभी अन्दर आया था तो यह अपनी मौसी के लड़के और बहन के लड़के से चुदाई करवा रही थी. मामी जी की गांड और मेरे लंड पर तेल लगाने से गांड बहुत ही चिकनी हो गयी थी, जिस कारण गांड लंड आसानी से घुस रहा था.

मेरी नंगी पीठ पर चुभते उसके नाखून, अब ये बता रहे थे कि वो भी अब पिघलने लगी है. उसने मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर महसूस किया और फिर उसे बड़े ध्यान से देखने लगी, वो कहने लगी- आज पहली बार किसी का हाथ में पकड़ा है. मैंने ऑफिस से छुट्टी ली और अपने दोस्त को बोल दिया कि मैं उसके रूम पर आ रहा हूँ.

पापा के न रहने का फायदा पापा के दोस्त उठाते थे, साथ में और भी कुछ लोग थे, वे सब मम्मी की मदद करने के बहाने मेरे घर आते-जाते रहे हैं.

चूंकि उसका कॉलेज में पहला दिन था तो मैंने उससे पूछ लिया- न्यू एडमिशन?तो उसने हाँ में जवाब दिया. (हाँ हाँ… हे भगवान्… जोर से जोर से!)मेरा जोश भी बढ़ता जा रहा था, मैं दनादन अपनी बहन की चूत चुदाई करने लगा.

धन्यवाद मित्रो! आप सभी को, अन्तर्वासना के सभी रचनाकारों को प्यार औरमेरे सबसे प्रिय रचनाकार जूजाजीको भी प्यार जिनके मार्गदर्शन के कारण मैं अपनी कहानियों को लिख पाया. इसी बीच सैमी ने मेरी पेंटी भी उतार दी और मेरी कुंवारी चूत एक काले नीग्रो आदमी के लंड सामने चुदने तैयार थी. दीपक ने कहा- ठीक है मैं ही नासमझ था, जिसने बेकार में आपको तंग किया.

मैं कामुक आवाजें निकलने लगी पर मैं उससे बोली कि मैं ये सब नहीं कर सकती. अब मौका मिलते ही मैं उनकी तरफ देखता, पर शायद वो मेरी छिप कर फोन सुन लेने की बात से कुछ नाराज सी हो गई थीं, इसलिए वो मुझे देख कर भी एक बार नहीं मुस्कुराई. खैर, इसी तरह शीतल अगले कुछ देर तक विक्रम को कभी अपनी चूचियां तो कभी अपनी गांड का दर्शन और स्पर्श कराती रही.

सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी कुछ देर बाद मैंने झटके तेज कर दिए तो कोहनी लगने से बाजू में बैठा हुआ एक आदमी जग गया. वो बेड पर बैठ गया, मुझे इसका पता नहीं था क्योंकि मैं नहा कर अपने बदन पर सिर्फ तौलिया ही डालती हूँ.

सेक्सी हिंदी में वीडियो सेक्स

रितु ने हम दोनों के सर अपनी छाती पर दबा रखे थे और हमारे दूसरे हाठों ने रितु के शोर्ट को उतार दिया था. इसे आप यहाँ से download करें!सेक्स से भरपूर मुम्बई की सेक्सी लड़की ऋचा से हिंदी और देसी अंग्रेजी में सेक्स चैट, वीडियो सेक्स करने के लियेदिल्ली सेक्स चैट गर्ल ऋचापर आयें और सेक्स की मजेदार बातें और वीडियो सेक्स करके मजा लें!आप मुझे इमेल करें।[emailprotected]. हेलो दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का कई सालों से पाठक रहा हूँ मैंने इस सेक्स कहानी साइट की लगभग सभी कहानियाँ पढ़ी हैं तो मैंने भी सभी की तरह सोचा कि मैं भी अपनी चुदाई की कहानी भेजूँ!मेरा नाम सरताज है, कानपुर में रहता हूँ। मैं 19 साल का लंबा गोरा और खूबसूरत लड़का हूँ, मैं दिखने काफी खूबसूरत भी हूँ क्योंकि मेरे चेहरा बिल्कुल साफ है, मेरी लंबाई 5 फुट 9 इंच है जिससे आप मेरे लंड का साइज़ समझ सकते हैं.

तुम्हें भी पता है कि कुछ समय पहले हम दोनों एक दूसरे को किन नज़रों से देखा करते थे. उसने टाइट स्कर्ट और टॉप पहन रखा था, उसके बूब्स लटक रहे थे और उस सफ़ेद टॉप से निप्पल दिखाई दे रहे थे. समधन की चुदाईउसने अपने लंड को मुझे पकड़ा कर बोला- पूछो यह क्या मांग रहा है?मैंने कहा- मुझे नहीं पता मगर मेरी चुत इसको अभी भी मांग रही है.

हमारे पैंट में तने लन्ड देख के वो हँसी, बोली- लड़को… इतने में यह हाल, पूरा देख लिया तो पैंट ना फट जाए?वो अपनी पीठ हमारी तरफ करके खड़ी हो गयी.

जब हम फौजियों की परेड देखने लगे तो मेरी बहन मुझसे आगे खड़ी हुई थी उसने बहुत ही अच्छा पंजाबी सूट डाल रखा था जिससे वह बहुत ही खूबसूरत लग रही थी और उसकी सफ़ेद रंग की ब्रा साफ साफ दिखाई दे रही थी. उसे कुछ देर बाद एक उसी के नाम की एक प्रोफाइल दिखी, जिसमें उस औरत ने अपना खुद की इमेज को लगाया हुआ था.

मैं ऊपर गया तो वो नाइटी में थीं और अपने कमरे की अलमारी से कुछ तलाश कर रही थीं. फिर अपने जिस्म को उसके पीछे के जिस्म से चिपकाते हुए अपने गालों को पद्मिनी के गालों से सहलाते हुए कहा- तुम बिल्कुल अपनी माँ की तरह दिख रही हो बिटिया. उसने मेरे भाई के साथ पढ़ाई की और उसके सो जाने के बाद वो नीचे मेरे कमरे में आ गया.

”अरे नहीं दीदी, मैं किसी और की नहीं अपनी बात कर रहा हूँ, आप कहें तो मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ.

आगे क्या क्या हुआ? क्या विकी ने मुझे वहीं चोद दिया या कुछ और घटित हुआ? बाद में हमने क्या क्या जंगलीपन किया, ये सब आगे के भाग में आप पढ़ सकेंगे. तब थोड़ा बाहर निकाला और फिर अन्दर बाहर करके मेरे मुँह को दिनेश चोदने लगा. फिर मैंने अपने पैरों की उंगलियां उनकी पेंटी के ऊपर से ही चूत पे रख दीं.

গুদ মারার ভিডিওअगले दिन में पूरी सेक्सी ड्रेस डाल कर इंटरव्यू लेने के लिए पहुँच गई और जब मेरे पति की बहन को बुलाया गया. बात उन दिनों की है, जब 5 साल पहले मैं अपनी पढ़ाई पूरी करके हैदराबाद की एक कंपनी मैंने एक ट्रेनी की तरह ज्वाइन किया हुआ था.

हिंदी सेक्सी वीडियो फिल्म नंगी

तभी उसने मेरे हाथों को पकड़ लिया और मेरी नजरों में नजरें डाल कर मेरी तारीफ करने लगा. घर से निकलने के बाद दिन भर ऑफिस में मुझे ये डर लगा रहा कि कहीं वो रात वाली बात अपनी बेटी को ना बता दें. तभी विक्की की आवाज़ से मेरा ध्यान टूटा, उसने कहा कि मैं स्पा से आया हूँ.

काफी देर के बाद हम उठे, देखा तो खून निकला हुआ था, कुँवारी चूत की सील भंग हो गई थी. मेरे बदन में न जाने क्या हुआ कि मैं भी यह भूल गई कि वह उम्रदराज मर्द हैं. मैंने फॉरन अपना लंड बाहर निकाल कर अपने हाथों में लिया और अपने मुँह से थोड़ा थूक निकाल कर अपने लंड में लगा दिया.

मैं अल्फाज भोपाल मध्य प्रदेश से हूँ, वैसे मूल निवास इटारसी मध्य प्रदेश है. फिर मेरे कुछ दोस्तों ने उससे बात की और कुछ क्लास की लड़कियों ने भी तब जाकर उसने मुझसे बात की. लगभग बीस मिनट के बाद वो आयी और मुझे कॉल करके पार्किंग एरिया में बुलाया.

गोद में बैठा कर अपनी सास की चुदाई करने के बाद मैंने सीधे लेट कर उन्हें अपने ऊपर ले लिया. यह बात मैंने अपनी बुआ के लड़के को बताई कि मैं मम्मी से फ़ोन पर बात की थी तो वो बोलीं कि वो और बुआ दोनों लोग कल सुबह तक ही आ पाएंगी.

दो तीन दिनों बाद मुझे मेरी भाभी का फोन आया और उन्होंने पूछा- क्या मैं तुम्हें अपनी भाभी अब बोल सकती हूँ?मैंने कहा- मैं क्या कह सकती हूँ.

इस तरह वो पागल हो कर मेरा साथ देने लगी और बोलने लगी- ऐसा मेरे साथ कोई ने नहीं किया है, न ही कर सकता है. सेक्सी ब्लू पिक्चरेंमैं मेरा मोटा लंबा लंड आंखें बंद करके हिला रहा था, उसने देख लिया तो उसके मन में भी मुझसे चुदने की इच्छा जागृत हो गयी … तभी उसने मेरे पास दबे पांव आकर मेरे लंड को पकड़ लिया और उसे सहलाने लगी।मैंने एकदम घबराकर आंखें खोलकर देखा तो सीमा ने मेरे लंड को पकड़ा हुआ था।मैं समझ गया कि साली की कामवासना उठान पर है, आज तो ये चुद कर ही जायेगी. 4 साल की लड़की सेक्सीकम से कम मम्मी तो घर में जरूर होती है… दिन में भी!मयूरी सोचने लगी कि अगर अपनी चुदाई में माँ को भी शामिल कर लिया जाये तो यह समस्या ख़त्म हो सकती है. तभी उन्होंने एक जोर का धक्का मारा और मेरी गांड में अपने लंड की पिचकारियों की बारिश करनी शुरू कर दी थी.

वो लेट गया, मैंने लोशन अपने लंड पे लगाया और उसकी गांड के छेद पर भी लगा दिया.

वो तभी मेरा एक दोस्त आ गया और हम वहीं सड़क पे ही खड़े खड़े बात करने लगे. फिर 6 महीने बाद मैंने उससे अपने प्यार का इज़हार कर दिया, तो उसने कोई जवाब नहीं दिया. अपने दोनों हाथों से मैंने अपने दूध नोच डाले और शरीर की सारी मांसपेशियाँ अकड़ गयीं। ऐसा लगा जैसे कोई ठाठें मारता लावा किनारे तोड़ कर बह चला हो।दिमाग में इतनी गहरी सनसनाहट भर गयी कि दिमाग ही सुन्न हो गया.

लेकिन वो करने देगी नहीं न!नीलम- तू चिंता ना कर, मैं तेरी हेल्प करुँगी इसमें, अगर ठीक से मान गयी तो ठीक … वरना तेरी माँ का सम्बन्ध और मर्दों के साथ भी है तो उसकी एक वीडियो बना लेंगे. उसको उसके पार्लर से थोड़ा दूर छोड़ा क्योंकि वो नहीं चाहती थी कि कोई हमें साथ देखे ओर कुछ गलत समझे. अब तक आपने पढ़ा था कि पद्मिनी ने बापू को बता रही थी कि टीचर ने उसके साथ क्या क्या किया था.

देसी चाची की चुदाई सेक्सी वीडियो

मैंने उन्हें देखा तो देखता ही रह गया लेकिन मैंने उन्हें अनदेखा किया. उसके बाद अब उसने अपने लंड पे लोशन लगाया और मेरी गांड के छेद पर भी लगा कर अपना लंड मेरी गांड के छेद पर फिट कर दिया. मैंने उसे अगले दिन के किसी होटल में जाकर बात करने के लिए बोला तो उसने कोई जवाब नहीं दिया, मतलब वो तैयार थी.

मौका मिलते ही मैंने उसको बोल दिया कि होटल विजय बार बिलकुल पास में है वहां ग्यारह बजे मिलेंगे, दिल खोल के बहुत सी बातें करेंगे.

बाथरूम में जाते ही मैंने सुरेश जी का तना हुआ लंड अपने मुँह में भर लिया और अपने सिर आगे पीछे करके उनके लंड को जोरों से चूसना शुरू कर दिया.

जब वो मेरी चुत का रस पी चुका तो फिर से अपना लंड डाल कर मेरी चुदाई करने लगा. हमारा घर भी आमने सामने ही था और मुझे पढ़ाई में कोई हेल्प चाहिए होती थी तो मैं बेहिचक उससे हेल्प ले लेती थी. खिचड़ी कब हैजैसे ही उसने मेरी बॉडी पे तेल डाला मेरे शरीर में अजीब सी लहर उठी और उसके बाद जैसे ही उसने मसाज़ शुरू की, मैं तो जैसे जन्नत में पहुँच गयी.

उसे सम्भालने के चक्कर में मेरा हाथ उसके चूचों पर चला गया और मैंने भी मौके का फ़ायदा उठा कर उनको मसल दिया. अब फिर से उन्होंने अपने हाथ धीरे धीरे मेरे सीने पे चलाना शुरू किए और कुछ ही पल बाद वो उठ कर मेरे सीने पे बैठ गईं और मेरे निप्पल को किस करने लगीं. वे मेरे लंड को चूसना चाह रही थी लेकिन मैंने उन्हें ऊपर किया ऊपर करके उनको अपने सीने से लगाया.

एक दिन बातों ही बातों में मैंने उसे पूरी एक रात के लिए अपने रूम में आने का ऑफर किया. पूछते पुछाते किसी तरह मैं उनके घर तक पहुंचा।डोरबेल बजाने पर सामना आरिफ भाई के वालिद से हुआ, मैंने उन्हें सलाम किया तो जवाब देते हुए उन्होंने अन्दर बुला लिया। शायद आरिफ भाई उन्हें बता चुके थे।ड्राइंगरूम में बिठा कर वे मेरे बारे में पूछने लगे.

वो मुझे खूब शॉपिंग करवाती थी और घर में डर रहता था, तो होटल में रूम बुक करके बहुत मस्त लंड लेती थी.

तब तक पद्मिनी के दोनों हाथ बापू को अपने आप से अलग करने में लगी हुई थी, पर जब उसने अपने बापू के हाथ को अपने स्कर्ट के नीचे पेंटी पर महसूस किया. उसने अपना चेहरा हटाया- वाह रे, किस पे प्रैक्टिस की तूने?कीकु बोला- क्यूँ बे प्रभु, तू इसका रूमी है ना?हम सब हँसने लगे. इस तरह पूरा खाली होकर मेरे ऊपर मनोहर बेहोश की तरह लेट गया, जैसे उसे कुछ होश ही ना हो.

मोनालिसा की सेक्स वीडियो चूंकि मैंने अपनी सीट ऑन लाइन बुक कर दी थी इसलिए मैं बस में अपनी रिजर्व सीट देखने लगा. कुछ देर बाद उसने मुझे लेटा दिया और वह मेरे पैरों के बीच आकर बैठ गया.

उस दिन हम दोनों में चुदाई को लेकर बात, ढके छिपे रूप में साफ़ हो गई थी. रितु ने सिसकारी भरना शुरू कर दिया था, वह बोल रही थी- जेम्स प्लीज फ़क मी, जल्दी से अपना मूसल लंड मेरी चूत में डाल दो. मयूरी एक बात तो समझ चुकी थी कि आज उसको अपने हुस्न का रंग अपने सगे पिता पर चलाना था.

पुरानी वाली सेक्सी पिक्चर

करीब 15 मिनट वो बहुत ज्यादा गर्म हो गई और वह चिल्लाने लगी- डालो प्लीज… कुछ डालो मेरी चूत में!मैं और जोर से चाटने लगी और उसने मेरे सर को पकड़ लिया और अपनी चूत में धक्का मारने लगी और बहुत तेजी के साथ वह मेरे मुँह में अपनी चूत को ऊपर नीचे करते हुये झड़ गई और उसकी चूत का सारा पानी मेरे मुँह में चला गया. आज भी मैं उसे मिस करता हूँदोस्तो, मेरी ये ट्रेन सेक्स की कहानी कैसी लगी, जरूर बताएं. मैंने सोनम से घर चलने के लिए बोला तो सोनम ने बोला- रुको, मैं भी चल रही हूँ.

एक बार तो मनोरमा का दिल भी बेईमान हो गया था कि इससे चुद लूँ मगर उसने अपने मन को काबू में कर लिया. उसने चूत को सहलाते हुए खुद से कहा- लो बापू से भी बात करके भीग रही हूँ.

क्योंकि अब वो थोड़ा इंग्लिश भी जान चुकी थी और मेरे से कंप्यूटर भी चलाना सीख लिया था.

जो अब तक उसने छुपा कर रखा था और जिसे मैं सिर्फ़ ऊपर से ही सहला रही थी, उसको बाहर निकाला और मेरे मुँह में डालने लगा. क्या आपको मेरे इशारे समझ में ही नहीं आ रहे थे?मैंने कहा- देर से ही सही. वैसे मुझे उससे चुदवाने में बहुत मजा आ रहा था और हम दोनों लोग की चुदाई धीरे धीरे तेज होने लगी और मेरी सिस्कारियां भी तेज हो गईं.

रजत थोड़ी शैतानी से मुस्कुराते हुए- तो तुम कर दो गीला!विक्रम आश्चर्य के साथ- मतलब?रजत- अरे… जैसे तुमने दीदी की चूत को गीली किया, वैसे ही मेरा लंड अपने मुँह में लेकर इसको भी गीला कर दो…रजत के ऐसा कहने से मयूरी और रजत दोनों धीरे-धीरे मुस्कुराने लगते हैं. मेरी पिछली कहानीससुर और बहू की कामवासना और चुदाईके प्रकाशन के उपरान्त मुझे बहुत सारे ईमेल सन्देश मिले. तब मैंने उसकी गीली चूत पर अपना लंड रखा और उसकी तरफ देख कर हल्का सा झटका दिया.

मेरी गे सेक्स स्टोरी के तीसरे भागजवानी का ‘ज़हरीला’ जोश-3में अभी तक आपने पढ़ा कि मैंने अपने ऑफिस के कलीग भूषण का लंड भी चूस लिया था, उस दिन मेरी हवस तो पूरी हो गई लेकिन मैं सिर्फ हवस पूरी करना तो नहीं चाहता था न। मैं भूषण को पसंद भी करता था, इसलिए सोचा कि सुबह उससे इस बारे में बात करने की कोशिश करूंगा.

सेक्सी पिक्चर बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी: उसकी चुत पर हाथ रखा तो वो पूरी तरह गीली हो गई थी और भट्टी की तरह गर्म थी. मैंने अपनी सास के दूध चुसकते हुए धीरे धीरे अपने लंड को अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

वहां उसने मुझे पकड़ कर अपने पास खींच लिया और मेरे होंठों को चूसने लगा. शांत होने के बाद रमिता बोली- आप चिन्ता ना करो, आजकल में ही मैं आपको मेरी और अशोक की चुदाई का लाइव टेलीकास्ट दिखाती हूँ और फिर जल्दी ही आपकी चुत के लिए भी एक मोटे लम्बे लंड का इंतजाम करती हूँ. इतने में मुझे छेड़खानी करने का आइडिया आया और मैं उनकी बुर में उंगली करने लगा.

उसके बाद मैं वहीं बाहर उसका वेट करने लगा और वो जैसे ही आयी, तो उसका बच्चा मुझे देख कर हैलो बोला और मम्मी को रुकने के लिए बोलने लगा.

स्कर्ट के नीचे वाले हिस्से… कहीं पर गुलाबी रंग तो कहीं सफ़ेद रंग की जांघों को देखते हुए बापू अपने लंड को एक हाथ में थामे कुछ कुछ उसको हिलाने लगा. दरअसल मैंने जब कॉलेज में एडमिशन लिया था, तो वहां कुछ दिनों के बाद मैं एक दोस्त के रूम पर गया था. तब वो लड़का बोला- बोलिए अब क्या करना है और कहाँ पर चलना है?गीता ने कहा- जो करना है वो तो पता लग चुका है.