बीएफ पिक्चर दे दो

छवि स्रोत,जोधपुरी सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो से बीएफ वीडियो: बीएफ पिक्चर दे दो, अंदरूनी बाल साफ़ करवाने के दौरान आपा ने नसरीन की चुत को गौर से देखा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ चुदाई चुदाई

लेकिन वही सेक्स समस्या सबसे ज्यादा परेशान करती है जो शर्मनाक हो और व्यावहारिक ना हो. बीएफ से ब्रेकअप कैसे करेंआज भी मेरी बहन को थोड़ा सा दर्द हुआ … मुझे भी हुआ क्योंकि चमड़ी का जख्म अभी भरा नहीं था.

मम्मी का बाहर रहने का प्रोग्राम चलता रहता था और अब हम भाई बहन भी खुल चुके थे. राज कुंद्रा का बीएफउसकी चूत से उसका और मेरा पानी बहकर बाहर आ रहा था।फिर हम दोनों उठ कर बाथरूम गए और खुद को साफ कर वापस बेडरूम में आ गए.

आखिरकर सैम ने मुझे डॉगी स्टाइल में सैट किया और अपने लौड़े से मेरी गांड पर थपकी मारने लगा.बीएफ पिक्चर दे दो: मैंने जल्दी से उसकी साड़ी उसके बदन से हटा दी और उसको बेड पर लिटा कर उसके ऊपर चढ़ गया.

कभी-कभी वे, जैसे कार वॉश करते हैं, ऐसे फव्वारे से मेरे जिस्म को रगड़ते हुए मुझे नहलाते हैं.फिर वो बोली- अब डाल दीजिए डैडी जी और मेरी चूत की को ठंडा कर दीजिये.

सौतेली मां बेटे की सेक्सी बीएफ - बीएफ पिक्चर दे दो

10 मिनट तक हम दोनों वहीं बाहर आंगन में एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे.मैं ससुर जी को बोल रही थी- पापा और चोदो मुझे … आह चोदो चोदो … ओह ओह माई गोड ऑय मां मर गई … कितने दिन बाद अन्दर गया है.

अब मुझे भी ये सब अच्छा लगने लगा था, तो मैंने भी कह दिया कि तेरा ही तो है … पकड़ ले. बीएफ पिक्चर दे दो अब मैंने भाभी को अपने सीने से सटाया और अपनी चादर को ठीक से ओढ़ लिया.

उसका साइज़ अब तक के मेरे एक्सपीरियंस के हिसाब से थोड़ा छोटा था, लेकिन उसका लंड गोरा था तो मुझे खुशी हुई.

बीएफ पिक्चर दे दो?

मेरी निगाह चुत पर गई, तो नीचे उसने चूत को बिल्कुल साफ किया हुआ था, एक भी बाल नहीं बचा था. 10 मिनट तक हम दोनों वहीं बाहर आंगन में एक दूसरे के होंठों को चूसते रहे. मैं टीचर की गांड का मजा भी लेना चाहता था तो …हाय दोस्तो, मैं करन एक बार फिर आप लोगों के लिए अपनी गर्म सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूं.

बस मुझे मौका मिल गया कि आज तो ये मेरे लण्ड के नीचे आनी ही थी।जब उसका पति चला गया तो उसने मुझे कहा- मैं नहाने जा रही हूं. जब मैं उसकी स्कर्ट उठाने लगा, तो जैसे लग रहा था किसी दुल्हन का घूंघट उठा रहा हूँ. दो मिनट के बाद मेरा वीर्य पूरे उबाल पर आ गया और अब किसी भी पल वो लावा बाहर फूट सकता था.

वो बस तड़प रही थी, कभी मजे में और कभी दर्द में।उसके बाद नीचे की ओर जाते हुए मैंने उसकी नंगी कमर को सहलाया. कुछ देर गांड चोदने के बाद मैंने लंड गांड से निकाला और एक ही झटके में आकांक्षा की चूत में डाल दिया. फ्रेश हो गये तो मैं आपके लिए नाश्ता लगा दूँ?मैंने कहा- नहीं बहू, मैं अभी नहीं करूँगा.

मेरे पापा भी बिल्कुल नंगे थे और मेरी मां ने मेरे पापा के मोटे लंड को मुंह में भर रखा था. मैंने अपने धक्के तेज कर दिए और रूबी भी गांड उठाकर मेरा पूरा साथ दे रही थी.

मैंने बहू को दूर किया, मैंने कहा- बहू तुम यहाँ? पंकज आ गया है, तुम्हें यहाँ नहीं आना चाहिए था.

बस फिर क्या था, मैंने चाची को अपनी बांहों में ले लिया और उन्होंने भी मुझे कस लिया अपने आगोश में, हम दोनों एक दूसरे से लिपटने लगे और एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे.

मैंने फिर से गर्म करने के लिए उसके होंठों और मम्मों पर किस करना स्टार्ट किया, जिससे वो मुझे अपने ऊपर खींचने लगी. फिर मैंने अपने एक हाथ से रचना की चूत पर अपने लौड़े को सेट किया और फिर अपने दोनों हाथों से रचना के सिर को पकड़ लिया ताकि लौड़े का धक्का लगने के बाद रचना आगे की तरफ ना उछले. उसे देख कर मेरा मन कर रहा था कि अभी के अभी सीमा की चुत पर अपना मुँह लगा दूं और उसकी चुत का सारा जूस सारा पी जाऊं.

अन्तर्वासना पर कई लोगों की आपबीती कहानियां पढ़कर मैं भी अपनी आपबीती आप लोगों से शेयर करना चाहता हूँ. जैसे ही डोर बेल बजी, हम दोनों घबराए पर फिर उन्होंने गाउन पहना जल्दी से और बोली- मैं खाना लेकर आती हूं, तुम बेडरूम में चलो. अगर आपको मेरी स्टोरी पसंद आई हो तो मुझे अपनी प्रतिक्रियाओं के जरिये जरूर बतायें.

मैंने अंदाजा लगा लिया कि पापा मेरी मां की चुदाई 2 से 3 के बीच में ही करते होंगे.

यह कह कर कल्पना ने मेरे लंड को मुँह में भर लिया और मेरा लंड चूसने लगी. हम दोनों बाथरूम से कमरे में वापस आ गए और बेड पर जाने के बाद उसने पूछा- तुम चॉकलेट या आईसक्रीम लाए हो क्या?मैंने ना में सर हिलाया, तो कल्पना बोली- कोई बात नहीं … रूम सर्विस वाले को बोल दो, वो ला देगा. अब मैंने भाभी को अपने सीने से सटाया और अपनी चादर को ठीक से ओढ़ लिया.

मेरे होंठ दीपिका की चूत पर लगते ही उसके शरीर में सिरहन सी दौड़ गयी. दस मिनट बाद वापस आया तो सारिका सो रही थी, मेरा फोन वहीं रखा था लेकिन फोन का बदला हुआ स्थान बता रहा था कि उसे उठाया गया था. फिर पुष्पा आंटी बोली मॉम से- रेनू यार, मेरी चूत में खुजली हो रही है, चाट कर शांत कर दे!दोस्तो, मैं यह सुनकर दंग रह गया कि मेरी मॉम ये भी करती है.

जब पूरी तरह से डिस्चार्ज हो गया तो मैं निढाल होकर हनी के ऊपर लेट गया.

मैंने अपनी उंगलियों से उसकी शर्ट और सलवार पर पड़े माल को साफ़ किया और वही उंगलियां चाट कर साफ़ करने को उसके मुँह में दे दीं. मेरा मन उसके लंड को देखने का था मगर अँधेरा था और झिझक के कारण मैं लंड को देख न सकी.

बीएफ पिक्चर दे दो फिर मैंने उसके होंठों को हाथों से छूना स्टार्ट कर दिया और उसकी गर्दन पर अपनी उंगलियां फिराने लगा. अगले 30 सेकेंड में ही मेरा पूरा का पूरा लावा उसके मुँह में निकल गया.

बीएफ पिक्चर दे दो ’मेरी चीख को शिप्रा ने बाहर से सुना और तेज आवाज में बोली- अरे क्या हुआ?मैंने कहा- आह … मैं गिर गया. इसी बीच मैं तैयारी करने के लिए प्रयागराज आ गया और निधि वही कॉलेज में ग्रेजुएशन करती रही।ऐसे ही एक दिन मैं कोचिंग क्लास खत्म कर रूम पर आया.

मैंने अपनी कमर आगे पीछे करके झटके लगाने शुरू किए और उसकी जोरदार चुदाई करने लगा.

सेक्सी mom

इधर मैंने भी मन ही मन ठान लिया था कि रात में इनका लेस्बियन सेक्स देखने के बाद आज मैं भी कुछ ना कुछ तो सुख ले सकता हूँ. ये कह कर वो हंसते हुए मेरे कपड़े खोलने लगी और बोली- तुम भी मेरे कपड़े उतारो. अंधेरा होने की वजह से उसने फोन की लाईट जला रखी थी, जिस वजह से मुझे उसका लंड दिखाई दे रहा था.

फिर जब शाम को पंकज और मैं चाय के लिए मिले, तो उसने मुझसे पूछा कि आर्यन तूने उससे बात की या नहीं? क्या कहा उसने? और तू कब जा रहा है उसके पास?मैंने उससे कहा- यार उससे बात करने की मेरी हिम्मत ही नहीं हुई. फिर वो बोली- मेरी पीठ पर झुक जा और मेरी चूचियों को दबाते हुए मेरी चूत को चोद. पापा बाथरूम से क्रीम लेकर आ गए और बोले- तुम तैयार तो हो न!मैंने कहा- मैं तैयार हूं पापा … अब हो भी क्या सकता है, मम्मी भी नहीं हैं … अब तो आपको ही करना पड़ेगा.

बेड पर लिटा कर मैं उसके होंठों को चूसने लगा और उसके दूधों को दबाने लगा.

पर शायद उसकी उंगली बिजली के सॉकेट में चली गयी … और एक चीख के साथ रीना फर्श पर गिर कर बेहोश हो गयी. जैसे ही मुझे पूरा मजा आया, मैंने अपना दांत हल्के से उनके कंधे पर गड़ा दिए और तेज तेज धक्के मारने लगी।फिर उनको भी एकदम से मजा आ गया, हम दोनों एक साथ झड़ गए. बहू ने मेरे हाथ पकड़ के अपने बूब्स पर रख दिए और मैं उसके बूब्स जोर जोर से दबाने लगा, उसके बूब्स के निप्पल को खींचने लगा.

आपको मेरी टेलर मास्टर से चुत चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें. पर चिन्ना की नजर करोना के सीने पर टिकी थी और आँखों में हवस के डोरे तैर रहे थे। परन्तु शायद किसी झिझक की वजह से चिन्ना मेरे साथ कोई शुरुआत नहीं कर पा रहा था।इसी बीच अटेंडेंट बस में आ गया और बोला- साहब, आज हम दूर दराज़ के इलाके में हैं. बीच बीच में कुछ पल के लिए अपनी पकड़ को ढीली छोड़ देता था और वो हौले-हौले मेरे लंड को चूसने लग जाती थी.

वो बोली- मैं कैसे पेलूं … लंड तो आपके पास है?तब मैंने कहा- बेटू मैं लेटता हूँ, तू मेरे ऊपर बैठ कर ऊपर नीचे आगे पीछे करके अपनी बुर लंड पर रगड़ कर मजा ले. लेकिन मेरे दिल में उसके लिए जो फीलिंग थी, वही फीलिंग उसके भी दिल में थी.

उसको चुदाई के लिए तैयार करके मैंने नंगी टीचर की चूत मस्त तरीके से चोदी. आपको जल्दी ही हाज़िर मिलूंगा नई कहानी के साथ।कहानी कैसी लगी बताये जरूर मेरी मेल आईडी[emailprotected]पर!. बेड को उसने गुलाब के फूलों और गेंदे के फूलों से सजाया हुआ था, जो उसने शायद अपने ही बगीचे से तोड़े थे.

मैंने निधि से कहा- पागल, मैं उसको थोड़े ही पसन्द करता हूँ, मैं तो तुम्हें पसन्द करता हूँ।इसे संयोग कहिये या हड़बड़ाहट … जल्दबाज़ी में मेरे मुख से निकल गया कि मैं निधि को पसन्द करता हूँ।यह सुनकर निधि मेरी तरफ देखती हुई बोली- अब आज मुझे ही बेवक़ूफ़ बनाओगे?मैंने निधि से कहा- सच में मैं तुमको पसन्द करता हूँ.

इसलिये होटल के कमरे में जाते समय मैंने सारिका के लिए दो पेप्सी ले लीं. अगले दिन वो पति-पत्नी की चुदाई के बारे में मुझे बताया करता था कि कैसे उसने अपनी बीवी की चूत मारी. सफलता की ऊंचाइयां छूने के लिए सेजल ने अपने बदन का खूब इस्तेमाल किया.

लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और उसको टेबल पर फिर से झुका कर थोड़ा और जोर लगा अपना एक इंच लंड और अन्दर डाल दिया. उसने देखा और बोला- हां भैया ये तो बहुत अच्छी दिखने लगी … सुन्दर भी दिखने लगी है.

मैंने कहा- लेकिन मुझे अब कण्ट्रोल नहीं हो रहा, तुम आज कल वाली जगह पर मिलो. रास्ते में निधि ने कहा कि आज प्रपोज़ डे है, किसी को प्रपोज़ करना है या नहीं?मैंने उसकी बात काटते हुए कहा- पहले तुम बताओ।निधि ने कहा- हाँ, आज मुझे किसी को प्रपोज़ करना है अगर वो मुझे नहीं करता है तो!तब मैंने उससे कहा- ऐसे ही जाकर किसी भी लड़के को प्रपोज़ कर दोगी?निधि ने कहा- इशारा तो उसे बहुत करती हूँ पर वो मेरी बात ही नहीं समझता है. जैसे ही उसके हाथ का स्पर्श मेरे लंड को लगा तो ऐसा महसूस हुआ कि मेरा लंड तो आज फट ही जायेगा.

दुखी शायरी मराठी

मैं देरी ना करते हुए उसके कपड़े उतारने लगा और उसके दूध बाहर निकाल कर चूसने लगा.

फिर उसकी नाभि में अपनी जीभ से किस करो … और फिर नीचे उसकी चूत के दाने को जीभ से छेड़ो. और फिर उनको मैंने पलट दिया और फिर उनकी पूरी पीठ पर मैं किस करने लगा, काटने लगा. बच्चा जैसे पहली बार किसी चीज को देखता है, ठीक उसी तरह निशु मेरे लंड को आगे पीछे करके देख रही थी.

फिर मुझे दीवार से टिका कर मेरा एक पैर अपने साथ से पकड़ कर ऊपर कर दिया, जिससे मेरी चूत का मुँह खुल गया. शिफॉन की झीनी सी साड़ी पहने भीगी हुई‘काटे नहीं कटते ये दिन ये रात’गाती श्री देवी को देखकर मैंने मम्मी से कहा- मॉम, श्री देवी भी आपकी तरह हॉट है. सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियोइतना कह कर मैंने फिर से उसके मुंह को अपने लंड पर दबा दिया और उसके सिर को पकड़ कर जोर जोर से अपने लंड की मुखमैथुन उससे करवाता रहा.

उसके मुंह से मस्त सेक्सी आवाजें आ रही थी- आह्ह … आह्ह … अम्म … ओह्ह. दीदी ने भी काफी दिनों से लंड चूत में नहीं लिया था इसलिए उनकी चूत कुछ ज्यादा ही गर्म हो गयी थी और काफी सारा पानी निकल रहा था दीदी की चूत से.

होंठों से होंठ लड़ रहे थे और हमारी एक दूसरे की बांहें आपस में एक दूसरे को जकड़ रही थीं. मैंने कहा- दोनों?उसने कहा- तुमने ही कहा था कि तुम्हें चूची से निकलने वाला दूध पीना है, तुम्हारी ये इच्छा है. वो दर्द से बोली- आह मर गई … बहुत दर्द हो रहा है … यहां से निकालो … बहुत दर्द हो रहा है.

अब शादी के बाद अगर दो बच्चे हो जाएं तो एक औरत की चुदाई की भूख क्या शांत हो जाती है?नहीं ना?लेकिन ये बात मेरे पति को कौन समझाए. इतने में बस चल पड़ी।रास्ते भर मीनू अपने कूल्हों को इधर उधर कर रही थी, इस दौरान मेरी नजर उसकी पैंट पर गयी और मुझे उसकी कच्छी के दर्शन हो गए जो पिंक कलर की थी।कुछ देर बाद मीनू सो गयी और मेरे कंधे पर अपना सर रख लिया. तो बोली- वाह … जियो मेरे राजा … तेरे जैसे लड़के से चुदवाने में बहुत मजा आ रहा है। भला हो उस छोटी सी खिड़की का जिसकी वजह से ये मस्त लंड मुझे अपनी चूत में डलवाने का मौका मिला।मैं भी मजे के साथ लंड को उसकी चूत में अंदर बाहर कर रहा था। मैंने उसकी टांगों को पकड़ लिया और अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में जा रहा था.

इसके बाद कपड़े पहनने के लिए अपनी ब्रा पैंटी उठाई, तो उसने कहा- अपनी ब्रा और कच्छी मुझको दे दे और भाग जा.

अब मैं कभी पीछे से अपना लंड कभी उसकी चुत में डालता, तो कभी उसकी गांड में डालता. मेरे बालों में उंगलियां चलाते हुए मम्मी बोलीं- सोनू, मेरे राजा, मेरी जान मुझे रेनू कहकर बुलाओ, मैं तुम्हारी रेनू हूँ.

मेरे होंठ लगते ही उसने अपनी जिस्म को एक बहुत तेज सिहरन से थरथरा दिया. उसने भी मस्ती के चक्कर में हां कर दी और बोला- तुम बाहर रूम में जाओ … मैं आती हूँ. तभी मैंने उसे अपने बीच में किया और अपने लंड को उसकी गांड सेट किया और मालिश करते हुए आगे पीछे होने लगा.

उनकी गांड इतनी मोटी थी कि जब वो मटक कर चलती थीं, तो अच्छों अच्छों का लंड पैंट में खड़ा हो जाता था. मौका देख कर वो मेरे लंड को पकड़ लेती थी और मैं उसको जमकर चोदने लगा. उसने मेरी तरफ देख कर कहा- सिर्फ देखोगे या कुछ करोगे भी?मैंने उससे कहा- मुझे कुछ नहीं आता, ये मेरा फर्स्ट टाइम है.

बीएफ पिक्चर दे दो )मैंने कहा- कोमल, अगर सच्ची में मैं तुम्हें अच्छा लगता हूं और तुम मेरी परेशानी को समझ रही हो तो तुम मेरी मदद कर सकती हो. शिप्रा ने मुझे सहारा देने की कोशिश की और मैंने अपना हाथ उसके कंधे पर रख लियाउसके साथ दो कदम चलने के बाद मैंने अपना तौलिया गिरा दिया.

एक आंख मारु तो पर्दा हट जाए

दीदी अपनी चुत में उंगली डालने लगीं, जिससे उनकी उंगली मेरे वीर्य से सन गई. दोस्त- कुणाल तू एक काम कर … तू पहले वाले कमरे पर आ जा, मैंने पास में ही दूसरा कमरा लिया है. उसकी चूत का रस निकल कर मेरे मुंह में जाने लगा और उसकी जांघों से बहने लगा.

मम्मी से नजर मिलाने की हिम्मत नहीं हो रही थी और मम्मी भी नजरें चुरा रही थी. उसने मेरी लोअर को उतार दिया और मेरे लंड को बिना पल भर की देरी के अपने मुंह में भर लिया. मेला पिक्चर बीएफमेरे लंड के छेद से वीर्य निकल कर अम्मी की गांड के छेद पर गिरने लगा.

तनु बोली- इससे पहले तुमने किसी ठकुराइन की चूत चोदी है क्या?मैंने कहा- नहीं, तुम पहली हो.

सेक्सी औरत की चूत मुझे पहली बार मिलने वाली थी, ये सोच कर ही मेरा लंड अंडरवियर में ही करवट बदलने लगा था. इधर करोना अब अपनी दोनों टांगों को चिन्ना के कन्धों से उतर कर उसके कमर के इर्द गिर्द लपेट कर चिन्ना को अपने से दूर जाने से रोकने का प्रयास करने लगी और अपनी चूत को ऊपर की और उछाल कर चिन्ना के लण्ड से स्पर्श न टूटने देने की नाकाम कोशिश करने लगी.

दिन में जब मैं और दीदी बाहर होते थे तो वो उस समय में चुदाई करते होंगे ऐसा मुझे लगने लगा था. मैंने उनसे पूछा- आपको क्या पसंद है?तो उन्होंने कहा- मुझे सब कुछ पसंद है, बस बहुत देर तक चोदना मुझे. मेरा 6 इंच का लंड चूसते हुए चाची मजा ले रही थी और दस मिनट के अंदर फिर मैं भी चाची के मुंह में ही झड़ गया.

आते ही मैंने रेजर और वीट क्रीम उसको दे दी, तो वो बड़े हैरान होकर पहले देखने लगी.

तो बोली- वाह … जियो मेरे राजा … तेरे जैसे लड़के से चुदवाने में बहुत मजा आ रहा है। भला हो उस छोटी सी खिड़की का जिसकी वजह से ये मस्त लंड मुझे अपनी चूत में डलवाने का मौका मिला।मैं भी मजे के साथ लंड को उसकी चूत में अंदर बाहर कर रहा था। मैंने उसकी टांगों को पकड़ लिया और अब मेरा पूरा लंड उसकी चूत में जा रहा था. मैंने उसकी गांड पर हाथ फेरते हुए उसकी एक टांग को मोड़ कर अपनी कमर पर रख लिया … और फिर उँगलियाँ उसकी गांड की दरार से ले जाते हुए चूत पर फेरने लगा. कुछ ही देर में मेरी योनि ने पानी छोड़ दिया और इतना सारा कि वह बह कर निकल रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो अंग्रेजआखिर में सुप्रिया दीदी बोली कि हां आप चाहो तो इसे आज का खाना नहीं मिलेगा पनिशमेंट के लिए. लंड का सुपारा घुसवाते ही उसे हल्का दर्द हुआ, मैंने घी टपकाते हुए गांड की चिकनाई बढ़ा दी.

लड़कियों के मोबाइल नंबर चाहिए

मैंने जब तनु की ओर देखा तो वह अपने होंठों पर एक कातिल सी मुस्कान लिये मेरी तरफ देखते हुए मुस्करा रही थी. बड़ी मुश्किल से जाकर लगभग 15 मिनट के बाद मेरे पापा का लंड खड़ा हुआ. मैंने लंड की ओर इशारा करते हुए कहा- इसको अपनी बुर में लेना चाहोगी?वो बोली- ये तो बहुत बड़ा है.

फोन काटने के बाद मैंने नसरीन को देखा और उससे बोली- चल अब अच्छे से तैयार हो जा … अपनी चूत के बाल साफ कर ले और वैक्सिंग कर ले. इसलिए हो सकता है कि आपको कहीं चूक दिखे, आप लोग अपने विचार मुझे ईमेल कर सकते हैं. अगली बार रवि का हाथ जैसे ही जाँघों पर आया तो उसके हाथ मेरी नग्न जाँघों पर पडे़.

हम दोनों खेलने के साथ बात कर रहे थे, तो उन्होंने अपने बारे में बताया था कि वो दिल्ली पेपर देने आई थीं और उनके पति हलवाई की शॉप चलाते हैं. मैंने भाभी की चुत में उंगली डाल दी और उनकी चुत के दाने को सहलाने लगा. उसने फ़ोन का कैमरा और पास किया जिससे मुझे उसकी पूरी चूत अच्छे से दिखने लगी.

अपने दोनों हाथों से मैंने उनके गोरे गोरे चूतड़ों को अपने हाथों से फैलाया और भाभी का एकदम काला छेद दिखाई दिया. उसने मेरे ब्लाउज को खींच कर फाड़ दिया क्योंकि अंधेरे में ब्लाउज खोलना पॉसीबल नहीं था.

फिर वो जब भी मेरे पास बैठतीं या मेरे पास से गुजरतीं, मैं अपना लंड खड़ा करके उन्हें दिखाने लगता.

वो कुछ देर पहले ही चूत की सील तुड़वा चुकी थी इसलिए उसकी चूत में जलन होने लगी और चीखने लगी. बीएफ एचडी चलने वालीचूचियों पर हाथ फिराते- 2 चिन्ना बीच- 2 में अपनी चुटकियों में करोना के नाजुक निप्पलों को हल्के से दबा देता था जिससे करोना के मुँह से मस्ती भरी सिसकारी निकल जाती थी. लंगा बीएफ वीडियोगोलाकार ऊपर को उठे हुए प्राकृतिक मम्मे और उन पर भूरे रंग के बड़े से निप्पल … आह लाजवाब सीन था. हनी के होंठ चूसते चूसते मैंने लण्ड का दबाव बढ़ाया तो मेरे लण्ड का सुपारा हनी की चूत के अन्दर हो गया.

किसी तरह से मेरी अन्दर एंट्री हुई, तो मैंने देखा वहां लड़के लड़कियां मस्ती कर रहे हैं, यूँ कहो कि शराब और शबाब का सैलाब दोनों एक साथ बह रहा था.

ऐसा कहते हुए वो नाखून मेरी पीठ पर जोर से गड़ाते हुए झड़ गई और एकदम से शांत हो गई. ’अभी मुझे कल्पना की चुत चूसते हुए दो मिनट ही हुए होंगे कि उसकी चूत से मुझे कुछ खट्टा खट्टा सा लगने लगा. सारिका के आँखें बंद करते ही मैंने अपना मोबाइल निकाला और पोर्न वीडियो देखने लगा.

सुमित मोटरसाइकिल से उतरा और अपने दोस्तों को जो पीछे बैठे थे उनसे बोला- अरे यार वो तो उतर जायेंगे तुम हां तो बोलो पहले. मैंने अपने लंड को उसकी चूत की फांकों में घिस कर दरार में रखा और घुसेड़ दिया. हमें तेज नींद आ रही थी, लेकिन मेरा एग्जाम 10 बजे से था … मानवी का एग्जाम दो बजे से था.

नेपालन सेक्स वीडियो

अपने मूसल जैसे लंड को मैंने उसकी चूत पर सुपारे से रगड़ा तो वो मचल गयी. मैं जैसे जैसे उसकी चूचियों को पीता और मसलता, उसकी सिसकारियां बढ़ती जातीं. उस टाइम बहू ने सिर्फ एक टॉप पहना था जो उसके बड़े बूब्स पे अटका हुआ था.

कुछ देर किस करने के बाद मैं खड़ा हुआ और मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए.

क्योंकि कम्बल ज्यादा बडा़ नहीं था इसलिए हम सब काफी पास पास बैठे थे.

क्योंकि उसका ससुर उसके बदन को किसी आटे की तरह गूंथ रहा था, इतने ताकतवर मर्दाना हाथ से अपने बदन को मसलवाते हुए सेजल को बहुत मजा आ रहा था. दही भल्ले के लिए तीन-चार लोग पहले से खड़े थे उसके पीछे रचना भाभी खड़ी हो गई और रचना भाभी के पीछे खड़ा हो गया. बीएफ हिंदी में बीएफ ब्लूआप तो जिसे चाहते होंगे उसके अपना बना ही लेते होंगे!उसकी बातें सुन कर मुझे हंसी आ गयी.

ब्रा के ऊपर से उसकी चुचियों का उभार काफी मस्त लग रहा था।मैं इंतजार नहीं कर सकता था तो ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा।मैंने अपना हाथ उसके अंदर डाल दिया. मैं सीधा टॉयलेट में गया और पेंट उतार कर देखा, तो लंड की त्वचा छिल गयी थी. उसके बाद मैंने भाभी से जाकर बोल दिया कि आज रात को अपने ससुर का लंड लेने के लिए तैयार रहना.

मैं समझ गया कि लड़की गर्म हो गई है।मैंने उसके लोवर को उतार दिया और नीचे की तरफ से रखकर उसकी चुत में जीभ डालकर चाटने लगा. मैंने पूजा से पूछा- वो कहाँ गयी?तो उसने कहा कि आपके लिए सरप्राइज है।वो लाल कलर की साड़ी पहन कर मेरे सामने आई, उस साड़ी में वो बहुत ही खूबसूरत लग रही थी.

जिससे उसके ब्रैस्ट का कोई भी भाग नहीं दिख रहा था। मगर उसकी दोनों अंडरआर्म्स पसीने से भीगी थी।शायद उसने अपनी अंडरआर्म्स शेव नहीं की थीं.

मैंने उसकी टांगों को पकड़ लिया और जोर जोर से उसकी चूत में धक्के लगाने लगा. मैं बोला- नहीं मम्मी अभी मेरे में एनर्जी नहीं बची और मेरी भी बहनों के भी आने का टाइम भी हो गया है. आपकी याद तो बहुत आती थी लेकिन मुझे यहां पर आने के लिए समय ही नहीं मिल पा रहा था.

चुदाई वाली सेक्सी बीएफ हिंदी उसने करोना की दोनों टांगें अपने कन्धों पर चढ़ा ली और उसकी गुस्से से भरी आँखों में बेशर्मी से झांकते हुए अपने खरतनाक लण्ड के सुपारे को करोना की नाजुक और अभी तक कुंवारी चूत के मुँह पर भिड़ा कर हल्का हल्का रगड़ा लगाना शुरू कर दिया. मैंने धीरे से उसकी चूत को छुआ जो कि बिल्कुल गीली हो चुकी थी। वर्षा पूरी तरह से चुदासी हो चुकी थी.

करोना हिचकिचाते हुए काम्पते हाथों से चिन्ना की छाती की मालिश में जुट गई. एकदम सभी लोगों ने करोना को देखा और करोना इस अचानक मिली तवज्जो से गदगद हो गई. अपने दोनों हाथों से मैंने उनके गोरे गोरे चूतड़ों को अपने हाथों से फैलाया और भाभी का एकदम काला छेद दिखाई दिया.

डॉगी लड़की सेक्स वीडियो

सीमा ने मेरे लंड को अपनी हाथ से पकड़ा और अपनी चूत पर सैट करके एक झटके में सारा लंड चुत के अन्दर ले लिया. फिर मैं कुछ देर बैठ गया और मैं उसके गले लगा कर उसके पास में लेट गया. कुछ देर की छेड़खानी करने के बाद ही वह मस्त होकर सिसकारियां लेते हुए अपनी बंद आंखें बंद करने लगी कुछ ही देर में उसकी चूत से चिकनाई निकलने लगी।मेरा लंड भी काफी देर से खड़ा था.

पापा पक्के चोदू निकले, उन्होंने मेरी चुदाई काफी देर तक की और अपना रस मेरी चुत में ही छोड़ दिया. इतने में सैम ने झटके देना तेज कर दिए और मेरी चूत के अन्दर ही सारा माल निकाल दिया.

खूब चुदती थी उनसे! पर शादी के बाद तो एक ही लण्ड से गुजारा करना पड़ रहा था। जब तुम रूम मांगने आये तो तुमसे चुदने की उसी दिन सोच के बैठी थी.

मैं और जोर से चुदाई करने लगा और एक मिनट बाद मैं भी उसी की चुत में झड़ गया. मैंने कहा- वैसे मुझे वहां के सिलेबस, क्लासेज और टीचर्स के बारे में जानना था. ह!और साथ में हाथ के घर्षण के करना मेरा लंड भी शुष्क हो गया और मुझ तकलीफ होने लगी.

धीरे उसके जिस्म के हर हिस्से को सहलाते और रगड़ते हुए मैंने उसको पूरी तरह नंगा कर दिया. मेरा लण्ड ठोकर मारकर नीलम की चूत के अन्दर जाने को तैयार था, तभी डोरबेल बजी. मेरी तरफ से हरी झंडी मिलते ही नवीन जी ने मेरा ब्लाउज खोल दिया और मेरी साड़ी पेटीकोट भी खींच कर अलग कर दिया.

मैंने उसकी चूत में उंगली दे दी और तेजी के साथ उसकी चूत में उंगली करने लगा.

बीएफ पिक्चर दे दो: दीदी- राज, तुम मेरे भाई के साथ अच्छे दोस्त भी हो, इसलिए तुम्हें शर्माने की जरूर नहीं हैं. अब मैंने खुद ही उसकी पैंटी और लोवर को ऊपर कर दिया और बोला कि इसको साफ कर लिया करो … यहां के बाल को काट लिया करो … या रेज़र से साफ कर लिया करो.

इसी बीच मेरे हाथ की उंगलियां उसकी चूत के दाने को रगड़ रही थीं, जिससे वो और भी पागल होती जा रही थी. वो किचन में आया और बोला- आज आप ऑफिस नहीं जा रही क्या?मैंने कहा- नहीं, आज नहीं जा रही हूं. चूत पर लंड की अहसास होते ही बहू ने अपनी टाँगें और ज्यादा फैला दी जिससे बहू की चूत का मुँह खुल गया.

मैंने चुत से मुँह हटाते हुए उससे कहा- चलो अब तुम घोड़ी बन जाओ … मैं पीछे से तुम्हारी चुदाई करता हूँ.

जो इस बात का सबूत था कि वह आज तक कुंवारी थी और उसकी सील को मैंने ही अपने लंड से तोड़ा था।उसकी चूत बहुत ही टाइट थी तो मुझे उसे चोदने में बहुत ज्यादा मजा आ रहा था. उसके बाद मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर सटा दिया और जोर लगाते हुए उसकी चूत में लंड को घुसाने के लिए एक धक्का मारा. मैं घर पर ही हूँ।मैं सीधा भाभी के घर पहुंचा तो देखा कि वो घर में अकेली थी।मैंने पूछा- भाभी कहाँ है?तो उसने कहा- दीदी अपने काम से गई है।फिर उसने मुझसे कहा- तो क्या सोचा है तुमने मेरे और तुम्हारे रिश्ते के बारे में?तो मैंने कहा- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है.