घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,नेपाल बीएफ सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

बफ नेपाली: घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ, कुछ पल चूत लंड पर रगड़ने के बाद डॉली उठी, ड्रेसिंग टेबल पर रखी क्रीम की शीशी लाई और ढेर सी क्रीम मेरे लण्ड पर चुपड़ कर उस पर बैठ गई और पूरा लण्ड अपनी गुफा में ले गई और उचकने लगी.

सेक्सी पिक्चर वीडियो में चोदी चोदा

मैंने उससे कहा- पहले कुछ ड्रिंक चलेगी?वो बोली- ओह्ह श्योर!मैंने बैग से व्हिस्की की बोतल निकाली और दो डिस्पोजेबल गिलास में व्हिस्की डाल कर ठंडा पानी डाला और उसको गिलास उठाने का इशारा किया. बीएफ सेक्सी हिंदी आवाज वालीमैंने शराब पीने से इंकार किया, पर उन्होंने मुझे मना लिया और कुछ ड्रिंक्स पिला दी.

उसने हल्के से मेरी चूत पर एक किस जड़ा तो मेरा रोम रोम मचल गया।आह … भाभी … कितनी सेक्सी हो आप …” अमित मेरे पैरों को अपनी बाँहों में जकड़ते हुए बोला।अमित का शरीर भी कसरती था, उसके सीने पर और पीठ पर घने काले बाल थे।मैं उन दोनों नंगे पुरुषों के बीच में नंगी खड़ी थी. ब्लू सेक्सी हिंदी बीएफयार तू नखरे बहुत करता है!और लौंडे की कमर को अपनी बांह से जकड़ लिया, एक जोरदार धक्का दिया.

इस तरह से कभी मेरे लंड को चूत चोदने में भी इतना मजा नहीं आया जितना कि इसके मुंह को चोदने में आया.घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ: मैंने श्वेता से कहा कि वो मेरे नंगे हो चुके लंड को पकड़ कर एक बार सहला दे.

कुछ लोगों को ये बात अटपटी लगे लेकिन हम दोनों भाई-बहन ने तो ऐसा ही किया.उसे घर पहुंचा कर जब वो जाने लगा, तो शिवानी ने कहा- नहीं सागर, मैं इतनी बेगैरत नहीं हूँ कि कोई मुझसे इतना करे और मैं उसको चाय कॉफी भी ना पूछूँ.

भाभी का गुलाम - घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ

मैं मन ही मन हंस रहा था कि पहले तो चाची को तो लंड चूसना बिल्कुल पसंद नहीं था.उनका इशारा समझ कर मैं रुक गया, पर वो अपने होंठों को भींचती ‘ओह इंद्र …’ बोल कर अपनी गांड हिलाने लगीं, तो मैंने उनकी कमर पकड़के लंड और अन्दर ठूँस दिया.

मेरे पति ने तुरंत फोन करके बोल दिया- अंकल मैं आज ही सीमा को वहां छोड़ जाता हूँ. घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ कुछ देर बाद हम दोनों अलग हुए … तो वो मुझे देख कर और भी ज्यादा शरमाने लगी.

मैं आज भी रीतिका को वैसे ही चोदता हूँ, जैसे उसे पहली रात को चोदा था.

घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ?

उसकी चूत की चुदाई करते हुए ऐसा लग रहा था कि मैं किसी टाइट कुंवारी चूत की चुदाई कर रहा हूं. उनकी ये बात सुनकर मुझे समझ आया कि ये किस प्रोग्राम की बात कर रहे थे. वो बोला- तो फिर आज भी वैसा ही करें क्या?मैं कुछ नहीं बोली और उसने मेरे दूधों पर हाथ रख लिया.

अब नीता ने बोतल जल्दी से घुमाई, वो चाहती थी कि कोई और भी नंगी हो … अबकी बार बोतल का मुंह अनीता के सामने आया और पीछे का हिस्सा सीमा के सामने. तभी पिंकी की आवाज आई- अगर सब कम्फर्ट जोन में हो तो क्या लाईट ऑन कर दें?सब जोर से बोले- हाँ …पिंकी ने हँसते हुए लाईट ऑन कर दी और एक शेम्पेन चियर्स बोलते हुए खोल दी. इसके बाद मेरे कई और लड़कियों औरतों, तवायफों के साथ सम्बन्ध बने, उनकी कहानियां मैं आने वाले संस्करण में बताऊंगा.

इस पोजीशन में मेरी गांड उठकर पति के सामने आ गई और वो अपने लंड को हिलाते हुए मेरे पैरों के बीच में आकर खड़े हो गये. सोनम आंटी ने पूरा लंड अपनी चूत में उतरवा लिया और अपने चूचों को दबाने लगी. सुधीर के साथ तो मैंने सेक्स इसलिए किया था ताकि मेरा तेरे घर आने का रास्ता हमेशा खुला रहे।यह कहकर वो दोनों हंसने लगी.

मैंने पहली बार कोई सेक्स कहानी लिखी है, अगर कोई गलती हुई हो, तो मुझे माफ़ करना. वो भी मुझे जिस तरीके से देखती थीं, उससे मुझे लगता कि उनके मन में मेरे लिए भी कुछ है.

हम दोनों मियां बीवी अपना एक हफ्ते का समान बाँध कर उनके यहां रहने चले गए.

मैं उसकी चूचियों को चूसकर और मसलकर लाल कर रहा था और वो अपनी चूत से मेरा लण्ड रगड़ रही थी.

भाभी डार्लिंग शब्द पढ़ कर खुश हो गईं और बोलीं- वाह मेरे राजा … अब देख तेरी भाभी तुझे कैसे खुश करती है. वे सेक्सी सिसकारियां ले रही थीं और धीमी आवाज में बोल रही थीं- चोद दे मादरचोद … अपनी मॉम को चोद दे … और जोर से चोद … साले रंडी बना कर चोद … आह अपनी मॉम की चूत को फाड़ दे … आह मेरी चूत को बना दे भोसड़ा. फिर मैं उनके लंड को मुँह में लेके चूसने लगा और वो निढाल होकर लेट गए.

” समीर ने गुस्से से कहा और अपने कमरे से निकलकर अपनी बहन के कमरे में आ गया।नीलम ने भी अपने पति के जाते ही सुख का साँस लिया और वह लेटे हुए ही अपने ससुर का इंतज़ार करने लगी।समीर अपनी बहन के कमरे में जाते ही सीधा होकर बेड पर लेट गया. थोड़ी देर में मैंने उसके मम्मों को सहलाया और चूसा तो उसको राहत मिली. उसने अपनी छाती के पल्लू को ठीक करते हुए पूछा- बताइये, क्या लेंगे, चाय या कॉफी.

लग रहा था कि कहीं उन्होंने अपनी बेटी से सब कुछ सच सच न बता दिया हो.

बात तीन साल पहले की है जब मैं 18 साल का था और दीदी 22 साल की थी। उन दिनों मैं 12वीं की पढ़ाई खत्म करके कामाचलाऊ नौकरी ढूंढ रहा था। रोज काम की तलाश में जाता था और घर वापस आ जाता था. आंटी ने अपने हाथों को मेरे सिर पर लगा लिया और मेरे सिर को अपनी चूत की पंखुड़ियों पर दबा दिया. उस वक़्त मुझे एहसास हुआ कि अगर दुनिया में कहीं जन्नत है, तो यहीं है … यहीं है … यहीं है.

फिर बाइक चलाने वाले बन्दे से उसने थोड़ी बात की और बाइक चलाने वाला बाइक मोड़ कर वापस चला गया और बैग वाला आदमी स्टेशन पर आ गया. मक्खन देख कर महेश के दिमाग में नीलम की मस्त गांड मारने का ख्याल आया। वह धीरे से मक्खन का डिब्बा अपनी तरफ खींच कर और मक्खन निकाल कर नीलम की टाइट गांड के गोरे छेद पर मक्खन लगाने लगा. करन ने मुस्कुरा कर मुझ कमर से पकड़ के उठा कर घोड़ी बना दिया। मैं समझ चुकी थी कि करन गांड में चोद के ही झड़ेगा.

इस तरह से हम तीनों ने ही एक दूसरे को शांत किया और फिर हम शाम तक ऐसे ही नंगे पड़े रहे.

उसकी टांगों के बीच आकर मैंने लण्ड का सुपारा डॉली की चूत के लबों पर रखकर धक्का लगाया और ट्रेन चला दी. ” महेश ने अपनी बहू की चूत के पास ज़ोर से अपनी साँसें खींचते हुए कहा।नीलम को भी अपने ससुर की साँसें अपनी चूत से टकराती हुई महसूस हो रही थी। उसका पूरा जिस्म कांप रहा था और उसकी चूत से ढ़ेर सारा पानी निकल रहा था।आह्ह्ह हल्के भूरे बाल तुम्हारी चूत को और ख़ूबसूरत बना रहे हैं, ओह्ह्हह बेटी, तुम्हारी चूत से तो पानी निकल रहा है … हाय रे किस्मत मैं अपनी बहू के क़ीमती रस को चख भी नहीं सकता.

घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ उसने लंड मेरी गांड पर टिकाया, तो मैंने कहा- यह क्या?वो बोला- तुझे नया अनुभव देता हूँ. मैं उसकी गांड में अपना लंड रस निकालने के बाद बिस्तर पर निढाल पड़ा था.

घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ मेरा खुद को दोनों पैरों पे संभालना मुश्किल हो गया, तो मैंने बाइक का सहारा ले लिया. मैंने अपना लंड काजल के हाथ में दे दिया जिसे वो अपने हाथ में पकड़ कर उसकी मुट्ठ मारने लगी.

जब ये पुख्ता हो गया कि मुझे किसी ने भी नहीं देखा, तो फिर मैंने उसे पकड़ लिया और किस करने लगा.

सेक्सी पिक्चर वीडियो हिंदी देखने वाली

कई मिनट तक मैंने चाची की गांड की जोरदार तरीके से चुदाई की तो मेरा माल भी झड़ने को आ गया. दस मिनट बाद मैं झड़ने के करीब थी, नीचे से चूतड़ उठा उठा चुदवाते हुए मैं झड़ने लगी और मेरी चूत की गर्मी से कुछ देर बाद प्रिंस ने चूत में पिचकारी मार दी. वैसे वो रास्ता दो-ढाई किलोमीटर का था इसलिए हम पैदल चल कर ही उस तक पहुंच गये.

लंड को तो हिला कर मैंने खुश कर दिया था लेकिन मन में एक अधूरापन सा था. उसके ऊपर आकर उसके होंठों को, फिर गर्दन को, फिर धीरे धीरे उसके मम्मों को चूसने लगा. उसकी चूत को देखने के बाद उस मेरा मन किया कि आज इसकी चूत को चाटने का स्वाद भी ले लेता हूँ.

उसने पूछा- तुम ये बात कैसे कह सकते हो??अब मैंने उसको समझाया कि देखो लड़कियों के चूतड़ इसलिए बड़े होते हैं, ताकि उनको दोनों तरफ से बजाया जा सके.

उन्होंने मेरे मुँह को ऊपर किया और मेरे होंठों पर किस कर दिया … मैं शर्मा गया. ऐसा सुनते ही मुझे उस पर प्यार आ गया और मैंने उसे चूमते हुए तेज तेज धक्कों से चोदना चालू कर दिया. अगर तुमने ज्यादा देर की तो मेरा इरादा बदल जायेगा और फिर मैं तुमको अपनी गांड नहीं चोदने दूंगी.

लेकिन मैं जबसे उन चार अफ्रीकन लौड़ों से चुद चुकी थी उसके बाद से ही मैंने अपनी चुदास मिटाने के लिए एक अफ्रीकन साइज़ का डिल्डो ऑनलाइन मंगा लिया था, जिससे मैं अधिकतर अपनी गांड मारती रहती थी. मैंने पूछा- और भाभी क्या हाल हैं?भाभी ने इधर उधर देखा और धीरे से कह दिया- तुमको तो सब हाल चाल मालूम ही हैं. जब रीतिका आ गयी थी और थ्री सम सेक्स का क्या मजा हुआ, वो मैं आपको बाद में बताऊंगा.

जल्दी से डाल दे लंड को मेरी चूत के अन्दर और मिटा दे इस चूत की गर्मी. हम दोनों एक बार सेक्स करने के लिए उनके घर पर ही नंगे हो गए थे लेकिन सेक्स नहीं कर पाए क्योंकि विवान भैया की मम्मी पता नहीं कब घर में आ गयी.

जब ज्योति नजर अपने पिता पर पड़ी तो उसने बदन को ढक लिया लेकिन महेश ने उसके पास आकर अपना लंड अपनी बेटी के हाथ में दे दिया और ज्योति उसके मोटे लंड को देख कर मुट्ठ मारने लगी और दोनों ही वहीं पर खड़े हुए झड़ गये. वो भी मुझसे इतनीगर्मागर्म बातेंकरने के बाद मिलने को बड़ी बेताब हो उठी थीं. आज सुबह ही मैंने उसको मॉडर्न ड्रेस में देखा था और अब जब मेरी आंखों के सामने उसकी पैंटी थी तो मुझे बिल्कुल यकीन हो गया था कि जितनी सीधी ये दिख रही है उतनी असल में है नहीं.

बस मुझे चुत की खुशबू आने लगी और फिर सोमवार को शाम के 5 बजे मैं रोहतक से दिल्ली के चल पड़ा.

” समीर अपना लंड बहुत तेज़ी के साथ अपनी बहन की चूत में अंदर बाहर करता हुआ झड़ने लगा।ओहहह स्स्स … भैया आप बहुत अच्छे हो, आह्ह्ह्ह मैं भी आई. स्मायरा बोली- कोई बात नहीं … दीपक को कुछ काम भी था मुंबई … तो उनके साथ मेरा बेटा भी चला गया. झड़ने के बाद मैं उनके ऊपर ही गिर गया और उनके मम्मों के ऊपर सर रखकर लेट गया.

उसके हाथ पैरों में रेड नेल पेंट बहुत ही खूबसूरत लग रहा था और उसे एक सेक्सी लुक दे रहा था. अगले दिन मैं अनिल के ऑफिस में बाकी की फॉर्मेलिटी पूरी करने के लिए चला गया.

मैं चुपके से उसके कमरे के पास जाकर अंदर झांकने लगी तो मैंने देखा कि वो बेड पर बैठा हुआ था और उसकी आंखें बंद थीं और उसके हाथ में उसका लंड था. बहू जल बिन मछली की तरह महेश से अपने आप को छुड़ाने की कोशिश कर रही थी … उसे डर लग रहा था कि किसी ने अपनी छत से उन्हें इस तरह देख लिया तो क्या होगा? लेकिन चारों तरफ छत पर बाउंड्री भी बनी हुई थी और शायद महेश इसी बात का फायदा उठा रहा था।महेश ने नीलम की गांड को अपने हाथों से थामते हुए उस पर एक चुटकी काट ली. रिश्ते वो ही असली होते हैं, जो समय पर काम आएं … ना कि वो, जो हम खून के रिश्तों के लिए सोचा करते हैं.

सेक्सी पिक्चर आदावासी सेक्सी

मैंने उसके लिए 3-4 दिन तक रूम ढूंढा, लेकिन कोई अच्छा रूम नहीं मिल रहा था.

तभी उन्होंने एक लम्बी सांस ली और मेरे हाथ को अपने हाथों से भींच लिया. सीमा ने नीचे घुटनों पर बैठकर मुश्ताक का लंड मुख में ले लिया और पूरी ताकत से उसे चूसने लगी. इस बात को लेकर मैं थोड़ा सा उत्साहित हो रहा था क्योंकि कहीं न कहीं मेरे मन में भी इस बात को लेकर एक जिज्ञासा थी कि जब एक जवान लड़की घर में साथ में रहने के लिए आ रही है तो फिर थोड़ा सा टाइम पास तो मेरा भी हो ही जाने वाला था.

उसने बेमन से मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया और फिर मेरे लंड को चूसने लगी. वो जींस शर्ट पहने हुए होंठों पर लिपस्टिक लगाए हुए रूम के दरवाजे पर खड़ी थी. सेक्सी बीएफ सेक्सी गर्ल्सउसको छूते ही उसने मुझे मना कर दिया और धीरे से बोली कि सीमा (मेरी साली) बगल में सो रही है.

फिर दो मिनट बाद ही मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया और पति के लंड ने भी अपना वीर्य मेरे मुंह में छोड़ दिया. मुकुल राय धीरे धीरे परीशा के कपड़े निकालने लगता है। वह अपनी बेटी परीशा को पूरी नंगी कर देता है.

मौसी की लड़की की चुदाई की कहानी के आगे के भाग के लिए आप सभी भाई अपना लंड हाथ में पकड़ लें और भाभी आंटी लड़कियां अपनी चूत में उंगली डाल लें. अभी पूरा अंधेरा नहीं हुआ था तो वह मुझसे बात करने लग गया।हर्ष- आज काफी दिनों बाद बहुत अच्छा लगा।मैंने गुस्से में कहा- तुम्हारा तो हो गया था पर मेरा क्या?हर्ष बात को काटते हुए बोला- दीदी, आज आपकी सारी ख्वाहिश पूरी कर दूँगा।मैंने उसकी तरफ देखते हुए कहा- देखते हैं … तुम क्या कर सकते हो।बातों बातों में अंधेरा भी हो गया था. कभी मेरी जीभ उसके मुँह में, कभी उसकी जीभ मेरे मुँह में मजा लेने लगती.

उसने मुझसे भींचते हुए जवाब दिया- मैं तुमको महसूस करना चाहती हूँ … प्लीज मेरे अन्दर ही रस छोड़ दो. जिन पाठकों को यह कहानी पसंद नहीं आ रही है, जो भद्दे मेल या कमेंट्स कर रहे हैं, वे कृपया इस कहानी को मत पढ़ें. वो आशा को भी तो बोल सकती थी चाय बनाने के लिए? मगर वो तो उस मुच्छड़ को देख कर ऐसे खुश हो रही थी कि पता नहीं किसी सुपर स्टार को देख लिया हो उसने।खैर, उसके जाने के बाद मैंने सुमिना से उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि ये काजल का भाई था कुणाल।हॉट गर्ल की सेक्स कहानी अगले भाग में जारी रहेगी।.

कहीं मेरे अब्बू मुझसे पहले घर पहुंच गए तो मेरी शामत आ जाएगी।मैंने उसको ढांढस बंधाया और इसी बीच आधे घुसे लंड से ही आगे पीछे करता रहा। मैंने उसको कहा कि वो अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को बाँध ले.

सारिका पंकज के बेडरूम में एक बड़ा सा टीवी लगा था जिस पर सारिका ने बेबाकी से बताया कि पंकज को बेड पर लेट कर उलटी सीधी क्लिपिंग्स देखने का बहुत शौक है. उसने मेरी गर्दन पर होंठ रगड़ते हुए कहा- मेरी रानी, आस-पास कोई भी नहीं है.

मैंने चाची की गांड कैसे मारी … और उनकी बहनों को कैसे चोदा, ये सब अगले भाग में जानिए. मैंने मजाक में स्मायरा से कहा- आपको मेरे साथ डर तो नहीं लग रहा?वो बोली- मुझे आप मत बोला करो. मुझसे तो रहा नहीं गया और बड़े ही प्यार से मैं बारी-बारी दोनों ही निप्पलों को चूसने लगा.

अब हम दोनों चुदाई करने का मौका ढूंढ रहे थे कि कब हमें मौका मिले और कब हमको चुदाई का मजा मिले. मेरा एक हाथ मॉम की चूची पर था और दूसरा हाथ उनकी कमर को सहला रहा था. उसके साथ एक सफ़ेद ब्रा भी थी और एक जी स्ट्रिंग स्टाइल की चड्डी भी थी.

घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ आंटी के चूचे इतने बड़े थे कि मेरे दो हाथों की पकड़ में ही नहीं आ रहे थे. अभी तक आपने पढ़ा था कि हिना आंटी की हसरतों की माँ चोदते हुए मैंने उन्हें शांत कर दिया था.

सेक्सी वीडियो ऑडियो वाली

वो पूछने लगी- हम कहां मिलेंगे?मैंने उससे बोला- तुम अपने मायके आ जाओ, आगे का कार्यक्रम मैं बाद में बता दूंगा. मुझे तो जैसे जन्नत का मज़ा मिल रहा था, लेकिन जो मज़ा लंड चूसने में था, वो चुसवाने में नहीं आ रहा था. बंगलो किसी शौक़ीन जमींदार का है इसलिए बेहतरीन सोफे भी उसी हॉल में पड़े थे.

फिर मैं भी उस कमरे में चला गया, जहां से में भैया भाभी की सुहागरात देख सकता था. तब मैंने कहा कि देखती हूं, अगर किसी तरह कोई जुगाड़ बनता है तो मैं आऊंगी. नेपाल की देसी बीएफइस वजह से मुझे किसी ऐसी चूत की तलाश थी जिसके साथ मैं खुल कर मजे ले सकूं.

उसका रंग दूध सा गोरा, मानो संगमरमर हो, आंखें हिरणी जैसी, लम्बे बाल कमर तक, होंठों पर गुलाबी लिपस्टिक, पतली कमर, उस पर लाल लहंगा चुनरी, ब्लाउज़ डीप कट वाला, उस पर सर से पांव तक सोने के गहनों से लदी मेरे सामने मानो एक अप्सरा खड़ी थी.

मैं आपके बच्चे की मां बनना चाहती हूं, आप बेखौफ मेरे अन्दर ही निकालो. मेरा एक हाथ अभी भी उसकी पीठ और गांड पर धीरे धीरे घूम रहा था, लेकिन मेरी चारू तो अभी भी दुनिया से बेखबर होकर चैन की चुदाई वाली नींद में सो रही थी.

चूंकि वो घर पर अक्सर अकेली होती थीं तो उनका भी समय कट जाता था और इस दोनों ही काफी घुल-मिल गये थे. कभी नज़र किसी के चूचों के बीच में तने हुए भूरे निप्पलों पर जाती तो कभी किसी प्यारी सी चिकनी चूत पर. मैंने जैसे ही दबाव बढ़ाया, तो सासू माँ बोली- दामाद जी, धीरे से डालना कई सालों से चुत में लंड नहीं गया, तो दर्द होगा.

मैंने पूछा- हां फिर क्या कहा सर ने?वो बोला- चिंता करने की कोई बात नहीं … मैंने सब सैट कर दिया है.

उनकी आँखें थोड़ा बड़ी हुई पर वो एकटक मुझे देखती रही और मेरे टट्टे को सहलाते हुए फुल स्पीड में लंड हिलाने लगी।उनके हाथों के कंगन भी उसी तेजी से आवाज़ करने लगे. मैं चाहता तो सुमिना से बहाना बनाकर काजल के बारे में पूछ सकता था लेकिन एक बड़ी बहन और उसके छोटे भाई के बीच मर्यादा की दीवार सी थी जिसको लांघने के लिए अभी आकर्षण के और अधिक प्रबल वेग की आवश्यकता थी. आनन्द भारी चीख निकल गई मेरी बीवी की!यह सब करतब देख कर डॉक्टर वाइफ भी आहें भरने लगी.

सेक्स वीडियो देसी देहातीउसकी जांघों के बीच में उसका लंड का उठाव भी दिख रहा था जिसको देख कर मेरी चूत गीली होने लगी. ” महेश ने अपनी बहू की हल्के बालों वाली भूरी चूत को घूरते हुए कहा।पिता जी, जल्दी से देख लो। मैं ज्यादा देर तक आपके सामने नंगी नहीं रह सकती.

सेक्सी बीपी नंगे व्हिडिओ

हर्ष मेरी हालत देखकर बोला- कोई नहीं दीदी, रात को छत पर आ जाना!यह कहकर उसने अपना नंबर मुझे दिया और अब मैं रात का इंतज़ार करने लगी।हल्का-हल्का अंधेरा होने लगा था. मैंने अपने हाथों से अपनी फुद्दी छुपा ली और अपनी टाँगें भींच ली।मगर अरविंद सर ने अपनी ताकत से मेरे हाथ हटा दिये, और मेरी टांगें भी पूरी खोल दी. लेकिन यह सब जानने के बाद भी जीजा ने मुझे फोन देने से मना नहीं किया.

पहले पहले तो उसने अपना हाथ धीरे धीरे फेरना शुरू किया, लेकिन थोड़ी देर बाद ही उसके होंठ मेरे लंड पर मुझे महसूस हुए. मैंने डॉली को कॉल करके आने को कहा तो बोली- आज मैं नहीं आऊंगी, आप आयेंगे, वो भी अभी नहीं, रात को आठ बजे. इस भाई-बहन के रिश्ते की आड़ में मैं दीदी को कई बार मूवी दिखाने भी लेकर चला जाता था.

मैं अपनी स्पीड बढ़ाते हुए 10-12 झटकों के बाद भाभी के मुँह में झड़ गया. हम दोनों ही एक दूसरे को ऐसे पकड़े हुए थे, जैसे दोनों एक दूसरे में घुस जाना कि चाहते हों. अब बोलो मैं तुमको क्या कपड़े दे दूँ?मैं शरमाई, लेकिन बोली- अंकल नाइटवियर में से कुछ भी दे दीजिए.

आंटी की चूत में अब मेरा लौड़ा ने जगह बना ली थी और धीरे धीरे आंटी भी अब अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई का मजा ले रही थीं ‘आह आह … उम्म्म … उफ़फ्फ़ … फक फक … ऊऊऊईइ माँ … आहह्ह्ह ऊह्ह्ह स्सस्सीई … आज तो मज़ा आ गया. फिर काम में क्या हसरत, मैंने दबे मन से हां कह दी और उन्हें मसाज के लिए एक दरी और लहसुन की पोथी डाल कर गर्म तेल मंगवा लिया.

लगभग बीस मिनट तक मैंने नेहा की चूत को चोदा और फिर मैं उसकी चूत में झड़ने को हुआ तो मैंने लंड को बाहर निकाल लिया.

अब तो मुझे भी कोई ऐतराज नहीं है कि इसकी चूत को कोई भी आकर चोद सकता है. ब्लू सेक्सी फिल्म चोदा चोदीफिर मैंने अपने अंडरवियर को निकाल दिया और मेरा तना हुआ लौड़ा बाहर निकल आया. सेक्सी भोजपुरिया गानामैंने ऊपर वाले कमरे में जाकर देखा, तो मेरी आंखें फटी की फटी रह गयीं. ’रेशमा चाची की आवाज तो मेरे कानों में गूँज रही थी- आह … उम्म … ओहह.

फिर एक दिन जब मैं प्रशांत और सुमन के साथ फोन सेक्स करते हुए जोर-जोर से कामुक आवाजें कर रही थी तो अचानक से मेरा सगा भाई सुनील मेरे कमरे में आ गया.

मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए अपने दोनों हाथ उसकी चूचियों पर रख दिये और उसकी चूचियों को दबा दिया. इसी बहाने तुम्हें भी इधर के बारे में कुछ पता चल जाएगा और खाना भी खा लेंगे. राहुल ने पहले तो अपनी स्वीमिंग से सबको प्रभावित किया, फिर उसने बच्चों को टिप्स भी दिये.

मैंने स्मायरा को बोला- जान, मैं झड़ने वाला हूँ … और कंडोम लगाना तो भूल ही गए. उस दिन उसने काले रंग की मैच की साड़ी गहरे गले के ब्लाउज के साथ पहनी थी. मैंने कहा- तो तुम ही मुझे बताओ कि मुझे क्या करना चाहिए?उसने कहा- इंटरनल मार्क्स क्लास टीचर के हाथ में होते हैं … बराबर.

हिंदी सेक्सी चुदाई नई

इस पर मैंने उनका हाथ थाम कर उनसे कहा- क्यों दामाद दोस्त नहीं हो सकता क्या? दोस्ती का रिश्ता हर रिश्ते से बड़ा होता है और अच्छे दोस्त का फर्ज एक दूसरे के काम आना भी होता है. मैं- तो फिर आप ही सोच लो कि क्या हुआ होगा … इस रंडी ने भी तो मुझे चाबुक से मारा था, मेरा बदन पूरा काट दिया था. मैंने कहा- सच में आंटी, नहीं है … कोई आप जैसी मिली ही नहीं, जिसे मैं अपनी गर्लफ्रैंड बना लेता.

राहुल को अपनी ओर घूरते देख सारिका ने एक कातिल मुस्कराहट उस पर डाली और लाईट बंद करके एक मद्धिम रोशनी जला दी और रिमोट से टीवी भी बंद कर दिया.

ओह … दीदी ता फोन तो नहीं आ गया?” गौरी मेरी बांहों से छिटक कर दूर हो गई और उसने झट से अपने कपड़े उठाए और स्टडी रूम में भाग गई।मेरा दिल जोर-जोर से किसी अनहोनी की आशंका से धड़कने लगा था। इस समय किसका फोन हो सकता है? मैंने कांपते से हाथों से मोबाइल उठाकर देखा, यह तो ऑफिस से फ़ोन था।जैसे ही मैंने हेलो कहा उधर से आवाज आई- प्रेम जी सर … मैं बहादुर बोल रहा हूँ अपने गोडाउन में आग लग गई है आप जल्दी आ जायें.

मैंने सब कुछ वैसा का वैसा ही लिखा है जैसा मेरे साथ हुआ है।आप सभी अन्तर्वासना के पाठकों को दिल से प्यार और शुक्रिया. उनके कामुक अंग उनके शरीर में बड़ी खूबसूरती से पल्लवित थे, भाभी के ये कामुक जैसे उनकी खूबसूरत देह में चार चाँद लगा रहे थे. पंजाबी आंटी की बीएफभाबी बार बार बोल रही थीं- चोद मुझे शिवा … चोदो मुझे … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता … तुम अपना लंड मेरी चूत में डालो.

रास्ते में मैंने सागर से कहा- आज तो तुमने मेरी चूत को अपनी पूरी मर्दानगी दिखा दी. मैं अपनी चूत में फंसे उस मूसल से निजात पाने की सोच ही रही थी कि तभी उसने मेरे मम्मों को भंभोड़ना शुरू कर दिया. इससे पहले कि वो अंदर जाती … मैंने उनका हाथ पकड़ कर खींचा और सीढ़ी के नीचे ले गया और उनको वहीं दिवार पर टिका कर उनकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा। उन्होंने गुर्राते हुए मुझे डांटा … पर मैं नहीं माना और उनके बूब्स जोर से दबाने लग गया।उन्होंने अपनी पूरी ताक़त से मुझे धकेला और ‘तुझे समझ में नहीं आता बेशर्म … और अगर फिर से ऐसी कोई भी हरकत करी तो तेरे घर वालों के सामने ही तेरा सारा भूत उतार दूंगी.

इस पोज़ में उसने मुझे 5 मिनट चोदा और मेरी चूचियों को चूस चूस कर लाल कर दिया. सेक्स का ऐसा जोश चढ़ा हुआ था कि पांच मिनट से कम समय में ही मेरा वीर्य छूटने को हो गया.

आंटी की चूत गर्म भी थी और मेरे ठंडे होंठों के लगने से और भी ज्यादा गर्म हो गई थी.

कहानी के पिछले भाग में बहू ने अपने ससुर को अपनी चूत चुदाई से मना कर दिया तो वह सीधा अपनी बेटी कमरे में चला गया. जब भैया ने भाभी के मम्मों पर हाथ रखा, तो वो उनके हाथों में भी आ नहीं पा रहे थे. मैं उसको लेकर बहुत ही ज्यादा उत्साहित था क्योंकि मैंने बहुत सी ब्लू फिल्म में नाइजीरियन लड़कियों को चुदते हुए देखा था.

सनी लियोन ब्लू फोटो उसके ससुर का घोड़ा लन्ड अभी भी उसकी चूत में था लेकिन अब वो लंड नीलम को अपने ही बदन का हिस्सा लग रहा था. चूंकि ये सब अचानक ही हो रहा था तो कंडोम इस्तेमाल करने का तो कोई सवाल ही नहीं था.

बहुत मजा आ रहा था उन दोनों कपल्स को मेरी बीवी के नंगे जिस्म के ऊपर रेत डालते हुए. … ये इतना बड़ा कैसे है?मैं- इतना भी बड़ा नहीं है … पोर्न स्टार्स का तो 10 इंच होता है. मैं उसकी चूत को मस्ती से चोदता रहा और पांच मिनट के बाद उसने खुद ही अपनी टांगों को उठा कर मेरे कंधे पर रख दिया.

सेक्स पोर्न सेक्सी व्हिडिओ

अब मुझे असल में ही चुदाई करनी थी लेकिन मेरे पास चूत का कोई जुगाड़ नहीं था. ” मैंने शर्माने का नाटक किया।ओहो… प्लीज बताओ ना? इसमें शल्म ती त्या बात है?”वो… वो… शादी के बाद ठीक हो जायंगे तुम चिंता मत करो. वो पीछे हटने की कोशिश करने लगी तो मैंने अपने दूसरे हाथ को भी उसके कन्धे पर रख दिया.

तभी विशाल बोला- अबे अंकित, बर्दाश्त कर या आज सीमा से यहीं कबड्डी खेलेगा?सब चौकन्ने होकर हंस पड़े और संभल कर बैठ गए. मैं जानबूझकर दीदी के सामने बार-बार अपने खड़े हुए लंड को हाथ लगा रहा था.

इस बात के लिए मैंने उनसे माफ़ी भी मांगी और उनका सारा मुँह एक कपड़े से साफ कर दिया तो उन्होंने मुझे माफ़ कर दिया.

मैं बोला- कंडोम लगा कर डालूं … या बिना कंडोम के?वो बोली- बिना कंडोम के ही डाल दो. फिर उसने एकदम से मेरे हाथ को अपने हाथ में ले लिया और उसको सहलाने लगी. इस तरह से मेरे फोन में मेरे पास चुदाई वाले वीडियो का अच्छा कलेक्शन भी हो गया था.

जिम जाते हो क्या?मैंने कहा- हां, क्योंकि आजकल की लड़कियों को बॉडी वाले लड़के पसंद आते हैं. उसने धीरे से बोला- आज पहली बार मैंने वीर्य का स्वाद चखा है और वो भी तेरा!मैं खुश हो गया. धीरे-धीरे करके आंटी की मैक्सी पूरी पेट पर जाकर सिमट गई लेकिन आंटी ने अपनी मैक्सी को ऊपर नहीं किया और ऐसे ही उनके पेट पर पड़ी रहने दिया.

कई बार तो मुझे लगता है कि घर वाले भी हमारे इस रिश्ते को अपना लेते तो ज्यादा अच्छा होता लेकिन ये तो फिर संभव लगने वाली बात थी ही नहीं.

घड़ी बीएफ बीएफ बीएफ: मैंने उसकी पीठ पर हाथ रखा और उससे बहाने से छूते हुए कहा- ये बताओ पहले तुम क्या सीखना चाहती हो. वो मुझे एक मार्केट में दिख गयी, वो अकेली ही थी शायद और कुछ समान लेने आई थी.

उसकी स्कूल की छुट्टियां खत्म हो गईं और उसके विदा होने का दिन आ गया. उनकी चुदासी आवाजें सुनकर हिना आंटी और चाची अपनी ब्रा निकाल कर ऊपर आ गईं. दो मिनट तक मैंने खूब मस्ती से चाची के मुंह में लंड देकर चुसवाते हुए मजा लिया.

आज मैं आपको अपनी जिन्दगी की एक सच्ची और मेरे पहले सेक्स की कहानी सुनाने वाला हूँ.

”और तभी जैसी मुझे उम्मीद थी, उपिंदर ने शैली के पीछे जाकर उसकी चूत में लण्ड पेल दिया और धक्के मारने लगा।शानदार प्रोग्राम चल रहा था. मेरा इशारा समझते हुए उसने अपनी पैंट और अंडरवियर अपने कूल्हों के नीचे से उतारकर घुटनों के नीचे तक ले आया। उसकी पैंट अब कार की मैट पर थी और उसके पैर अभी भी उसके पैंट के अंदर ही थे. साथ ही इस बात का पूरा ख्याल रखते हैं कि ये बातें किसी और को पता नहीं चल सकें.