बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो

छवि स्रोत,सबसे गर्म तेल कौन सा है

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉलीवुड सेक्स व्हिडीओ: बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो, ऐसी कलाकारी से मार रहे हैं, मैं तो अपने को ही गांड मारने मरवाने का एक्सपर्ट समझता था, आपने मेरा घमण्ड तोड़ दिया.

हिंदी सेक्सी फिल्में दिखाएं

जब मेरा निकलने लगा, तो मैंने उसके मुँह में लंड का पानी खाली कर दिया. सेक्सी सेक्सी आंटीउसने विक्रम के लंड के कड़ापन को महसूस किया… वो बहुत ही ज्यादा सख्त था… काफी लम्बा भी था.

मैं जानू जानू कह रहा था और वो बार बार कह रही थीं- बेटा क्या हुआ, अरे बेटा, मैं हूँ. तुर्की की मुद्रा क्या हैतो मैं बोला- बोलिए ना अंकल, क्या काम है?वे बोले- देख विकी, मैं घर पर पूरा दिन रहता नहीं हूँ, और मेरे पास कार है.

मैं फिर से उसके होंठ चूसने लगा और उसे बिस्तर पर लिटा दिया और फिर उसकी गर्दन पर किस करने लगा.बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो: पापा कमाने के लिए मुंबई काम करने चले जाते हैं और आठ दस महीने बाद ही फिर वापिस आते हैं.

रात की चुदाई में सब कुछ भूल गई और जब सुबह तबस्सुम जाने को निकली तो मैंने उससे अपने दिल की बात कही.फिर उसने मेरे पैर पर मूव लगाई और पैर सहलाए, जिससे मेरा दर्द कुछ कम हुआ.

देसी सेक्सी लड़की - बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो

हम दोनों भाई बहन वातानुकूलित कमरे में पसीने से लथपथ एक दूसरे की बाहों में समा गए।मैं एक ही बार में इतना सेक्स कर लेता था। चाहते हुए भी दूसरी बार किसी औरत को चोदकर उसका बुरा हाल नहीं कर सकता था। रीना दीदी चीज ही ऐसी थी कि उन्हें रात भर चोदो तो भी कम पड़े किंतु एक बार में ही उनका बुरा हाल नहीं कर सकता था।और मुझे आज बहुत संतुष्टि का एहसास हुआ था इसलिए दूसरी बार सेक्स का ध्यान मैंने छोड़ दिया.वो मेरे ऊपर आकर मेरे होंठों को चूसने लगा और मैं अपनी आँखें बंद करके अपने होंठों को उससे चुसवा रही थी.

उसके बाद हमने फोन नंबर्स एक्सचेंज कर लिए और व्हाट्सएप्प पर बातें करने लगे. बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो दोगे न?मैंने सुनसान देख कर उसको अपनी बांहों में भर लिया और पूछा- उस आदमी से मजा नहीं आया था क्या?अरे उसने तो पेला ही था कि तुमने अपने लंड पर बिठा लिया था.

अब आगे का हाल संजू की जुबानी:राज जा चुका था, मैं वापस रूम में आया तो मंजू नाइटी पहन रही थी.

बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो?

जब बैरा खाना लेकर आया तो जूली को मैंने बाथरूम में भेज दिया था, उसकी यूनिफार्म को भी अलमारी में छिपा दिया था. अब पद्मिनी को समझ में आ रहा था कि उसकी जवानी उसके बाप को भी गरम कर रही है. मैंने कहा- मैं 2 मिनट में बाहर खींच लूँगा और अब और नहीं फाड़ूँगा!और धीरे से उन्हें सहलाने लगा और चूमने लगा और अपना लंड 2 इंच बाहर निकालकर फिर से एक ज़ोर का शॉट मारा तो मेरा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ चूत की जड़ में समा गया.

आप जो चाहे मुझको बोल सकती हैं, मैं आप से छोटी हूँ और आपका हुक्म मानना ही पड़ेगा. बकायदा उन्होंने मेकअप किया हुआ था, बालों का जूड़ा बांधा हुआ था, निचले हिस्से की लट पूंछ की शक्ल में जूड़े से लटक रही थी और भाभी के चलने पे इधर उधर को मटक रही थी. उस परिवार में सलमा, उसकी बड़ी बहन शमीम और छोटा भाई वसीम और उसके अम्मी अब्बू थे.

मगर ये भी सोच रहा था कि क्या वह पद्मिनी को चोद पाएगा? क्या पद्मिनी चोदने देगी? क्या वह इन्कार नहीं करेगी? अगर उसने इन्कार किया और शोर मचाया तो क्या करूँगा. उसका पूरी तरह तना मस्त लंड मुझे दिख रहा था, वह मेरे सहायक सुमेर से भी ज्यादा बड़ा मस्त लंड था. इसका मतलब ये हुआ कि निशा उसके लंड को अपनी चुत में लेकर लंड की सवारी गाँठ रही थी.

वरुण- माँ, कुछ और ड्रेसेस हैं, ट्राई कर लो, आज सारी शॉपिंग मेरी पसंद से करेंगे!सविता- ओके!मैंने ट्राई रूम से हाथ बहार निकाल कर वरुण से ब्रा पेंटी पकड़ ली!ब्रा पेंटी ट्रायल रूम में लेने के बाद माँ ने यानि मैंने मैसेज किया- ये मैं अपने आप ले लूंगी. फिर भी उसकी कराहें निकल रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो एकदम से अपने हाथों से बिस्तर की चादर को पकड़ कर खुद को ऐसे किए पड़ी थी मानो उसकी चूत में कोई धारदार गर्म चाकू घुसा पड़ा हो.

मगर आशा के विपरीत शाज़िया को देख कर वो दरवाज़े पर ठिठक गए और वापस जाने लगे।तभी शाज़िया ने मुझे इशारा किया तो मैंने आवाज़ लगाई- चाचा जी, कुछ काम था क्या? आइये ना वापस क्यों चल दिये?नहीं, काम तो कुछ नहीं था, यूँ ही देख रहा था, तुम्हारी मम्मी कह रही थी तुम्हारी तबियत ठीक नहीं है, देखने आया था! वैसे भी जब इंसान आंख बंद करके उंगली से मेहनत करता है तो थक तो जाता है.

जब मेरी चूत का दर्द थोड़ा सा कम हुआ तो वो अपना लंड मेरी चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने कहा- बाहर निकल के रिक्शा ले लेना, चार पांच मिनट में होटल आ जायगा. थोड़ी देर ऐसे ही खेलने के बाद विक्रम ने रजत से कहा- छोटे … तो तू तैयार है अपनी बड़ी बेहेन को चोदने के लिए?रजत- हाँ भैया… बिल्कुल…विक्रम- तो मैं इसकी चूत को थोड़ा गीला कर देता हूँ, जिससे तुम दोनों को परेशानी काम और मजा ज्यादा आये. उसको हँसते हुए देख कर बापू को भी हंसी आ गयी और हँसते हँसते उसने बोला- हटाओ अपना हाथ यार, उतारने दो ना, ज़रा देखूँ तो यह जगह कितनी मुलायम और नर्म है.

मैं पूरी मदहोशी में डूबी हुई थी, मुझमें हवस का मानो पागलपन सवार था. अभी तक शाज़िया ने चाचा आधा लण्ड ही मुँह में लिया था मगर अब चाचा और ज़बरदस्ती लण्ड अंदर कर रहे थे। इधर मेरी उंगली पूरी तेज़ी से चूत के अंदर बाहर हो रही थी उधर चाचा ने ज़ोर से लण्ड उसके मुंह में दबा कर रोक दिया शायद वो उसके मुंह में झड़ रहे थे. इस बीच मैं उसे बहुत किस करता, उसकी चूची को कपड़ों के ऊपर से दबा देता.

उसके बाद उन्होंने मेरा सर उठाया और एक लंबा किस करते हुए कहा कि मैं धन्य हो गई, आज तक किसी ने मेरी बुर नहीं चाटी थी.

पद्मिनी बापू की पेंट उतारने में जितनी देर लगा रही थी, बापू को उतना ही ज्यादा मज़ा आ रहा था. उसने ब्लैक कलर की साड़ी पहनी थी और झीने काले रंग के ब्लाउज के अन्दर सफ़ेद रंग की ब्रा पहनी थी, जोकि एकदम साफ़ झलक रही थी. मैं सोचने लगी कि पीयूष और लालजी लगता है घर के बाहर डर के मारे भाग गए.

’मैं- भाभी मेरे लैपटॉप में एक से बढ़कर एक वीडियो है, उसमें से आपको जो भी पसंद है, ले लो. मेरे घरवालों को शक नहीं हुआ क्योंकि मैं उनके सामने बिल्कुल भी नहीं चली. वो झाड़ू लगाने के बाद बोलीं- अगर अकेला फील कर रहे हो तो मेरे कमरे में आ जाओ।जैसा कि आप जानते हो मैं लेडीज से बातें करने में घबराता हूँ, इसलिए मैंने कहा- नहीं आंटी, मैं ठीक हूँ।नेहा आंटी एक कूल बिंदास और थोड़ी फन्नी किस्म की हैं। मेरे मना करते ही उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर खींचा और मुझे अपने कमरे में ले गईं।उनके घर पर कोई नहीं था.

फिर मैंने कोमल को बेड पर लेटाया और मैं खुद उसकी टांगों के बीच बैठ गया और अपने खड़े लंड से कोमल की चूत को कुरेदने करने लगा.

हमने डिनर करना शुरू किया पर जेम्स की नजरें सिर्फ और सिर्फ रितु के बूब्स पर थी और उसकी पेंट में तम्बू बनाना शुरू हो चुका था. वह क्यों हुआ, अचानक हुआ, मुझे नहीं पता पर मुझे उसका अफसोस रहेगा कि यह क्यों हुआ… यह नहीं होना चाहिए था.

बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो उसने मेरी चूत को बहुत देर तक चाटा, जब तक कि मैं उसके सर के बालों को नोंचने नहीं लगी. मैंने उससे कहा- तुम दोनों मेरे कमरे पर आ जाओ, वो भी यहीं सो जाएगी और तुम मेरे साथ जाग कर अपना काम पूरा कर लेना.

बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो मेट्रो में बैठे और वो अपने स्टेशन पर बिना कुछ कहे ही उतर कर चली गई. पिता को पद्मिनी को अपने गोद में बैठाकर बात करने की आदत थी, तो उसको अपने गोद में बिठा लिया.

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम पुनीत वर्मा है और मैं 21 साल का हूँ और मेरा लन्ड 6.

मोम सेक्सी बीएफ

और मैं उसको तुम्हारे बारे में बोलता हूँ कि मेरी एक मौसी वन्द्या है. पहली थीएक लौड़े से दो चूतों की चुदाईजो 01-10-2015 को छपी थी और दूसरीथीसगी बहन की सौतन रेखा रानीजो 20-09-2017 को प्रकाशित हुई थी. इसी दौर में ऑडियो कैसेट्स भी मिलते थे जिन्हें कैसेट प्लेयर में चला कर लड़की लड़के की चुदाई की आवाजें और बातचीत सुन लेते थे.

मैंने फॉरन अपना लंड बाहर निकाल कर अपने हाथों में लिया और अपने मुँह से थोड़ा थूक निकाल कर अपने लंड में लगा दिया. अगर पूनम दीदी आ गईं तो क्या होगा?दीपक पिंकी को चोदते हुए बोला- अगर उसने कुछ कहा. अब उन्होंने मेरे सिर को दोनों हाथों से पकड़ा और तेजी से कमर को हिलाते हिलाते मेरा मुँह चुत समझ कर चोदने लगे.

बापू ने उसके हाथों को खींच कर अपने लंड पर रखा और अंडरवियर उतारने की जिद की.

मगर मेरा दिन नहीं मान रहा था कि इसको किसी कसाई के आगे बकरी की तरह कटने के लिए दे दूं. लंबे टाइम तक मैं उन्हें किस करता रहा, किस करते करते उनकी चूची को भी दबाता रहा. उन्होंने मेरे दोनों हाथ पीछे करके पकड़ लिए और ज़ोर ज़ोर से मेरी गांड में लंड के धक्के मारने लगे.

मैं बोला- आह, अब मैं छूटने वाला हूँ!रूबी ने धकेल के मुझे पीछे किया. पद्मिनी ने कहा- बापू टीचर के साथ कुछ ख़ास नहीं है… वह मुझको क्लास में बहुत देखता रहता था. मैंने कहा- कब तक वापिस आ जाओगी?वो बोली- जल्दी आ जाऊंगी मगर अगर देरी होगी तो मैं आपको फोन कर दूँगी.

और कभी-कभी रो-धोकर मम्मों को चूसने भी दे देती, पर उससे आगे हाथ भी नहीं लगाने देती. करीब 15 मिनट की ताबड़तोड़ और जबरदस्त चुदाई के बाद अर्चना का शरीर अकड़ने लगा और वो अपने चरम पे पहुँच कर झड़ने लगी और उसके कुछ ही देर धक्के लगाने के बाद मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने अपना लन्ड बाहर निकाल लिया और सारा माल अर्चना के पेट के ऊपर गिरा दिया।कुछ देर बाद वो उठी फर अपना पेट और चूत एक कपड़े से साफ किया और बाथरूम की तरफ चल दी.

गीता ने उससे कहा कि मुझे माहवारी हुई है या नहीं, मैं नहीं कह सकती क्योंकि खून तो आया था मगर बहुत कम. चुदाई करते समय दूसरे को चुदाई करते देखना भी हम चारों को एक अलग सी उत्तेजना दे रहा था. मैंने कहा- बोलो?मुझे लगा कि वो अपने बच्चे के बारे में कोई बात करना चाहता होगा.

तब उसकी कुर्ती में से उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे और मेरा लंड जो बडी मुश्किल से शान्त हुआ था फ़िर हलचल करने लगा.

लेकिन तुम्हारे पति को जो भी नौकरी मिल सकती है, उन सब में कुछ ना कुछ अशुद्धियाँ हैं. मुझे सैमी ने आकर पकड़ लिया, उसने कहा- तुमको चोट तो नहीं लगी?यह कहते हुए उसने मुझे पैरों पर खड़ा करने की कोशिश की. इस पर भाभी बोलीं कि जब मेरा दिल होगा तब मैं व्हाट्सैप पर बात करूँगी.

अभी ऐसा लग रहा है जैसे मेरे बदन की पूरी गर्मी उतर गई, मेरे जिस्म की हर ख्वाहिश पूरी हो गई, मैं बहुत ही कम उम्र की लड़की हूं. मेरा लंड बेकाबू हो गया था, मैंने पैंट की ज़िप नीचे करके अपना लंड आज़ाद किया.

बाकी फिर कभी फ़ुर्सत में लिखूंगी कि आगे मेरी और राहुल को कितनी बार चुदाई की कोशिश हुई या चुदाई हो भी पाई या नहीं हो सकी. मैंने खाना खाकर उससे जाने के लिये बोला तो उसने कहा- क्या तुम एक दिन यहां नहीं रूक सकते?मैं बोला- कल सोमवार है मैडम. उसकी सफाचट चूत देख कर लगता ही नहीं था कि वो एक भी बार चुदी हो, अभी भी एकदम टाइट और गीली हुई पड़ी थी.

लड़कियों का बीएफ पिक्चर

”अगर आप कहें तो मैं हेल्प करूँ?”नहीं रे, मैं ऐसे ही किसी के साथ कुछ नहीं करना चाहती.

मैं उससे और खुलते हुए बोला- मेरी रितु से ज्यादा सेक्सी कोई नहीं!और जेम्स को भी इसमें बोलने का मौका मिला कि वह बहुत सेक्सी है, रितु के हिप्स, उसकी चाल और उस के बूब्स!खाना बहुत स्वादिष्ट था और हमने मजे से खाया. अब सुरेश और मैं एक ही रूम में होने के कारण हर रोज सोने से पहले हम दोनों देर रात तक बातें करते थे. तभी 4-5 कर्मचारी बड़ी तेजी से चलते हुए आगे आ रहे थे, मैं देखकर वहीं खड़ा रहा.

जूली ऊपर से देखने में कमसिन सी लग रही थी, परन्तु कपड़े उतारने के बाद देखा तो वह एकदम से गुदाज़ और मस्त लड़की लग थी. मैं उनको जाते हुए देखता रहा और जब वो चली गईं, तो हाल में आकर सोफे पे बैठ गया और अभी के हालातों के बारे में सोचने लगा. देहाती सेक्सी दिखाओफिर मैंने उनके गालों पर अपनी जीभ फेरनी चालू कर दी और फिर उनके ऊपर के होठों को चूमता हुआ, उनके नाक पर अपनी जीभ से चाट लिया.

मैंने अपने लंड को उसकी बुर पे सैट किया और एक झटके के साथ आधा लंड उसकी बुर में उतार दिया, जिससे वो झेल नहीं पाई और रोने लगी. मगर मैं धक्के पे धक्का दिए जा रहा था और वह ‘ऊह आह ओह्ह फ़क मी कम ऑन फ़क मी माई राजा …’ बोल रही थी.

मैं मक्खन नहीं लगा रहा और बुरा न मानें तो नमकीन भी।मैं- अरे यार, नमकीन का कुछ खास मतलब होता है. इसी कारण रवि के घर वालों ने रवि की शादी उसकी भाभी से कराने की सोची, लेकिन भाभी की उम्र 35 साल की थी, इसलिए रवि ये शादी करने से मना कर रहा था. पहले दिन फिर उसने किसी हकीम से दवा ले कर मेरा कुँवारापन मुझसे छीना.

सतीश, तुम मेरे बारे में कल क्या कह रहे थे झूठ मूट ही सब कहते रहते हो. तबस्सुम बोल रही थी कि वो बेचारी चुदाई देख देख कर गरम होती है, उसका भी कोई इलाज तो करना है ना. चाचा शाज़िया की ब्रा को अपनी जेब में रखते हुए बोले- अब दो दिन तक ये मेरे पास रहेगी!और शाज़िया की तरफ आँख मार कर कर बाहर चले गए।कमीनी, तू तो यहीं शुरु हो गयी? कम से कम मेरा तो ख्याल कर लेती!” मैंने बनावटी गुस्से से शाज़िया से कहा.

पर क्या करूं रोज सेक्स किए बिना भी रहा नहीं जाता।मैं- समझ नहीं आ रहा है यह समस्या है या खुशी की बात… किंतु यह इतना भी बुरा नहीं है क्योंकि सेक्स में तुम मजे तो ले रहे हो। अच्छा यह बताओ सीमा इस पर क्या कहती है?श्लोक- सीमा अभी तक समझ नहीं पाई है कि वह खुश हो या दुखी। शुरुआत के आधे घंटे तक वह जमकर मजा लेती है और जमकर मजा देती है.

मेरी चाची की चूत चुदाई की कहानी के पहले भागकामुकता के घोड़े पर सवार चाची को चोदा-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी चाची को उसके बॉयफ्रेंड के साथ रेस्तराँ में देखा. मेरी बहुत दिनों से इच्छा थी कि बीवी को दिन में पूरी नंगी करके चुदाई करूँ लेकिन कुछ जम नहीं रहा था.

मेरी गांड पर उसका लंड ऐसे घिसा जा रहा था, जैसे प्लाजो फाड़ कर अन्दर चला जाएगा. उसके बाद मैंने पेटिकोट का नाड़ा खींच कर खोल दिया और उसे नीचे खिसका दिया, इस दौरान मेरे हाथ उसकी जांघों से टकराये तो लगा कि शायद उसकी मां ने उसके पूरे शरीर की वैक्सिंग कर दी थी. अरुण ने चूत को देखा तो देखता रह गया क्योंकि चूत के बालों एकदम डिज़ाइन से दिल का आकार देकर काटा गया था, जिससे वह और भी खिल उठी थी.

शाम को जब मैं चारा लाने के लिए खेत में गया था तो रास्ते में क्रिकेट का खेल चल रहा था, तो मैं खेल देखने लगा. फिर वो चला गया, उसके बाद मैंने उसकी नाइटी को निकाल दिया और उसको लिटा कर उसकी एक चूची को मुँह में लेकर चूसने लगा. मैंने जैसे ही अपनी उंगली उसकी चुत जरा अन्दर को डाली, वो बोली कि आह.

बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो मैं भी कसमसा रही थी कि ये जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दे और मुझे चोद दे. इस चीज़ में पहली बाधाएनल सेक्सथा जो मैं पार कर ही चुकी थी और दूसरी बाधा दोनों से उस तरह का रिलेशन होना था जो कि आलरेडी था।”अब अगर मान लीजिये आपको इसके लिये जाना पड़े जहाँ एक हाफ अजनबी हो, यानि मैं और एक फुल अजनबी यानि मेरा कोई दोस्त.

हिंदी सेक्सी बीएफ फिल्म एचडी में

जैसे ही वो मेरी चुत पर पहुँच कर अपना मुँह मारने को हुआ, तो मैंने उससे कहा- यह कहाँ का इंसाफ़ है. हम दोनों वहीं पर किस करने लगे, उस वक़्त मेरा लन्ड खड़ा हो कर टाइट हो गया. फिर मैंने उनके ब्लाउज के सारे हुक खोले और उन्हें अपने सामने बिठा लिया.

तीनों जल्दी जल्दी उठे और कपड़े पहन कर मुझसे बोले- चलो वन्द्या फिर मौका मिलते ही तुझे मिलेंगे. फिर हम दोनों नंगे ही छत पर बने बाथरूम में जाकर मैंने अपनी चुत और उनका लंड पानी से साफ कर दिया. हेलो गूगल फौजी को कैसे काबू में करेंमैं- वाह, क्या गोल गोल चूतड़ हैं मामी जी आपके… इनकी संगत में आपकी गांड चुदाई में बहुत मजा आएगा.

उस महिला के मुँह से सुनकर मुझे अन्दर से बड़ी खुशी मिली कि 7 घंटे ये माल मेरे साथ ही रहेगी.

मैं बोला- आह, अब मैं छूटने वाला हूँ!रूबी ने धकेल के मुझे पीछे किया. )स्मिता- चल तेरी माँ को चोदने का प्लान बनाते हैं। ये बता तेरी माँ के साइज क्या हैं?वरुण- वो तो नहीं पता, बस यह पता है कि बहुत बड़े हैं।स्मिता- सबसे पहले वही पता करते हैं।वरुण- कैसे?स्मिता- तेरी माँ कैसे कपड़े पहनती है पारंपरिक जैसे साड़ी सलवार कुर्ता या आधुनिक जैसे जींस टॉप, स्कर्ट आदि?वरुण- दोनों तरह के ही पहनती है लेकिन आधुनिक ज्यादा पहनती है.

मैंने अभिलाषा से कहा- इस लड़की से बात करो और मैं इसी से मसाज करवाऊंगा. कुछ देर लेटे रहने के बाद वह बाथरूम गई और नहा धोकर, अपनी यूनिफार्म पहन कर जाने लगी. अब सुरेश और मैं एक ही रूम में होने के कारण हर रोज सोने से पहले हम दोनों देर रात तक बातें करते थे.

चूंकि उसने लैगीज और टॉप पहना हुआ था तो मुझे हाथ डालने में कोई दिक्कत नहीं हुई.

अब मैंने आंटी की कामवासना की कद्र करते हुए अपना लंड आंटी की चूत में घुसा ही दिया. फटाफट से हम दोनों ने अपने कपड़े उतारे और दीदी मेरे लंड को चूसने लगीं. कहानी का पहला भाग:दोनों ने बड़ी आत्मीयता से हम लोगों के पाँव छूकर आर्शीवाद लिया.

अन्तर्वासना मामैं- तो क्या तुम्हें भी चाहिए मज़ा तो खुल के बोलो न?निक्की- अब चाय पिलाओ, यह गर्म हो गया है. खैर जब इसकी बात हो ही गयी तो मैं अपनी वर्जिनिटी लूज़िंग की कहानी से शुरू करता हूँ.

हिंदी में मेवाती बीएफ

लौड़े को बाहर निकालकर विकी मेरे पास बैठ गया और फिर हमारे होंठ एक दूसरे से मिल गए. फिर मैंने उसे विश किया और पार्टी देने के लिए बोला, तो वो भी पार्टी देने के लिए राजी हो गई. जितना मैं चूसता, उतने जोर से वह अपनी चूची मेरे मुँह में ठेल रही थी.

मेरा बेटा बहुत तेज आहें भर रहा था, वो बोला- आह मॉम, आज से पहले किसी ने मेरा लंड ऐसे नहीं चूसा।अब वरुण ने मुझे अपने नीचे पटका और झटके से मेरे सारे कपड़े फाड़ दिए, मैं समझ चुकी थी कि आज मेरी जोरदार चुदाई होने वाली है।वरुण ने मुझे उल्टा किया और मेरे चूतड़ों को जोर-2 से दबाने लगा और अपने होंठों को मेरे चूतड़ पे लगा कर चूसने लगा। मैं मस्त होती जा रही थी. मैं नीचे की तरफ आ गया और अपने मुँह को उसकी चुत पे रख दिया, जिसको देख कर वो बोली- ये अच्छी जगह नहीं है, अपना मुँह हटा दो. पहले तो उसने इनकार किया, परंतु मैंने उससे कहा कि सभी लड़कियां इसको मुंह में चूसती हैं तो वह कहने लगी- पहले इसको धो कर आओ.

आपको बता दूँ मैं उन्हें पहले से ही चोदना चाहता था लेकिन वो मुझसे बड़ी थी उम्र में भी और रिश्ते में भी तो इस कारण डरता था. तुम्हें भी पता है कि कुछ समय पहले हम दोनों एक दूसरे को किन नज़रों से देखा करते थे. मैं मादक कराहें तेज स्वर में निकालते हुए उसके सर को अपनी चूत में दबाने लगी.

जब मैं उठा तो बहुत ही झल्लाहट में था, लेकिन भाभी को साड़ी और बैकलेस ब्लाउज में देखते ही मेरा सारा झल्लाहट और गुस्सा गायब हो गया. (हाँ, मैं चुदक्कड़ गन्दी कुतिया हूँ, मुखे सजा दो!)वो बिल्ली के जैसे फर्श पे रेंगती हुई मेरी ओर आई, उसकी पतली कमर के पीछे उसकी चौड़े चूतड़ मैं उपर नीचे होते देख पा रहा था.

कुछ देर बाद आंटी उठ गईं, मुझे देखकर बोलीं- अरे सोये नहीं क्या?मैं बोला- नींद नहीं आई.

मैंने वैसा ही किया, अपने होंठ उसके होंठ से लगा कर एक तेज़ झटका दिया औरपूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया. नौकर मालिक सेक्स वीडियोजब वो तीन दिन चूत लाल झंडी दिखाती थी, तो वो मेरे मम्मों के बीच में अपना लंड को डाल कर चुदाई करता था. बेस्ट फ्रेंड डे कब हैफिर मैंने अपना लंड हाथ में पकड़ कर बीवी की चुत के छेद पर सैट करके हल्का सा धक्का मारा. अतः मैंने अपनी हरकतें तेज कर दी, उसकी गर्दन पे काटते हुए मैं कान में फुसफसाया- सोचो, राज तुम्हारी चुत में उंगली डाल रहा है ऐसे!और अगले ही पल मेरा हाथ मंजू की चुत की तरफ बढ़ चला.

सर ने मेरे दोनों हाथ अपनी कांख में दबा लिए, जिससे मैं कुछ कर ना पाऊं.

मेरे लिए भी रुकना मुश्किल हो रहा था, फिर मैंने कस कर जोर लगाया और लंड दो इंच अंदर चला गया. रूबी अब अपनी गर्दन घुमा के मेरे होंठों को चूमे जा रही थी, उसके होंठ और चेहरा गरम हुए जा रहे थे. मैंने कहा- कंडोम लगा कर चुदाई करूं या बिना कंडोम के?उसने कहा- कंडोम पहन लो!मैंने कंडोम का पैकेट उसके हाथ में दिया.

मैं अपनी बीवी के चूतड़ पकड़ कर अपना लंड बीवी की चुत में अन्दर बाहर करके चोदने लगा. मेरी आवाज़ मेरे गले में ही अटक गयी क्योंकि उसके लिप्स से मेरे लिप्स लॉक थे. इससे वो और अधिक बेचैन हो गईं और मुझसे लंड अन्दर डालने को कहने लगीं.

हॉट बीएफ हॉट सेक्सी

कई काम करता हूं!वहां कैसे पहुँचे?”मेरे एक मामा वहां हैं, उन्होंने फौज में भर्ती करवाने बुलाया था, भर्ती हो गया, दो साल काम किया, फिर छोड़ दिया, दुबई रहा… अब बंगलोर में हूं, कई तरह के काम किए, अब काफी कमा लेता हूं. उनकी इतनी बिंदास बात सुनकर मैं भी खुलने लगा था, मैंने कहा- अरे कहाँ बुआ जी, दिल्ली आ कर ही पता लगा कि लड़के लड़कियां आपस में दोस्ती करते हैं. पहले तो मैं डर गया कि आंटी ने कुछ बताया क्या?तो मैंने एक बार फोन नहीं उठाया.

फिर बाबा ने वल्लिका के हाथों में अपने लंड को पकड़ाते हुए कहा- तुम इसे वही फूल समझो, जो मैंने तुम्हें दिया था.

फिर 6 महीने बाद मैंने उससे अपने प्यार का इज़हार कर दिया, तो उसने कोई जवाब नहीं दिया.

जैसे ही मुझे उनके उठने की आहट हुई, मैं फिर से वैसे ही धीरे धीरे जानू जानू बड़बड़ाने लगा और अपने दोनों हाथों से अपने शरीर को सहलाने लगा. कल तुम किसी बहाने से सुबह दस बजे यहाँ से निकल कर आना, मैं रास्ते में मिल जाऊंगा. दादा पोती की शायरीहम दोनों धीरे धीरे गर्म होने लगे और कब हम दोनों के होंठ एक दूसरे से मिल गए, पता ही नहीं चला और हम एक दूसरे को किस करते हुए एक दूसरे में खो गए! हम भूल गए थे कि हम सिनेमा हॉल में हैं.

मेरा बस चले तो …”रहने दो पापा जी, यहां कोई बस वस नहीं चलने वाला आपका … बस तो बस स्टैंड से चलती है वहीं चले जाओ. बारिश की वजह से घर भी नहीं जा सकती थी और स्कूल का टॉयलेट मैं इस्तेमाल नहीं करती थी. उस वक्त एक उसकी चाचा की लड़की निकिता है, उसके बारे में वह मुझे चुदाई के लिए बोलता है.

तब मैंने अनुप्रिया से कहा कि तुम भी बहुत चूत में उंगली पेलती हो अपने?बोली- हाँ दीदी, ये तो है!और फिर 10 मिनट बाद फिर ट्रेन चल दी और हम लोग फिर अन्दर पैक हो गये. मेरा मोटा लंड देख कर उसकी गांड फट गयी क्यूंकि इससे पहले उसने लंड के दर्शन नहीं किये थे। फिर मैंने अपना लंड उसे अपने मुँह में लेने को कहा.

थोड़ी देर बाद निशा की चुत ने पानी छोड़ दिया, जिसने मेरे लंड को भिगो दिया.

वैसे मैं अंतर्वासना की नियमित पाठक तो नहीं हूँ, पर कभी कभी मन करता है, तो पढ़ लेती हूं. मामी जी ने और मैंने, हमारे ख़ुद के पास वाले फार्म हाउस में सुहागरात मनाने का प्लान बनाया. यह मेरा पहला सेक्स अनुभव था कि करीब 48 घंटे तक मैं पूरी तरह नंगा किसी औरत के साथ चुदाई का खेल खेलता रहा.

गांव की सेक्स एक दिन मुझे रवि के घर किसी काम से जाना पड़ा तो स्वाति ने कहा कि वो तो घर पर नहीं है. यह कह कर मैंने अपना मुँह दूसरी तरफ कर लिया ताकि वो यह ना समझे कि मैं उसके लंड को देख रही हूँ.

फिर एक प्लान तैयार करके मैंने होटल में एक रूम बुक करवाया और मुस्कान को लेने के लिए हर बार की तरह मेट्रो स्टेशन पहुंच गया. मैंने उसके हाथों पे किस कर दिया, वो थोड़ा सोच में पड़ गयी कि ये सब क्या हो रहा है. एकदम से चल देने के कारण मेरे पैर लड़खड़ाए और मैं सीधा बृजेश के ऊपर जा गिरी.

देवर भाभी की रोमांटिक बीएफ

बाद में हम किस को तोड़ते हुए एक दूसरे की आंखों में डालकर हंसने लगे क्योंकि हम दोनों ने लास्ट नाइट को ही छत पे सब प्लानिंग कर रखी थी. इस बात को सुनके मैं चौंक गया क्योंकि नार्मली या तो वो खुद बाजार जाती थीं या मुझे सामान लाने के लिए कह देती थीं. मेरे अचानक इस हमले से वो एकदम से घबरा गई और अपने आपको मुझसे छुड़वाने की कशमकश करने लगी थी.

बाबा ने अचानक से वल्लिका को अपनी गोद में उठा लिया और बिस्तर पे लिटा दिया. रीना दीदी जोर-जोर से चिल्लाने लगी- फक मी फक मी हार्ड… उम्म्ह… अहह… हय… याह… बहनचोद सिस्टर फकर!मैंने कभी नहीं सोचा था कि रीना दीदी का एक ऐसा भी रूप होगा, इतने जोरदार धक्कों के बावजूद भी वे इतनी बेचैनी से चिल्ला रही थी, उन्हें पूर्णतया वाइल्ड सेक्स चाहिए था और मैंने उनके मंसूबों को पूरा किया.

अगर तुम्हें कोई प्राब्लम हो, तो उसके लिए एक कमरा किसी अच्छे होटल में बुक कर देना.

फिर वो हल्के से मुस्कुरायी और अपने भाइयों से बोली- अभी तुम दोनों सो जाओ… कल जल्दी जागना है. कुछ देर की चुसाई के बाद मैंने उनको बेड पर लिटाया और हम दोनों एक दूसरे को बांहों में कस कर बेड पर किस कर रहे थे. वो थोड़ा हिली… पता नहीं मुझे क्या हुआ, मैं अपने ऊपर कंट्रोल खो बैठा और मैं मौसी के ऊपर चढ़ गया.

इसी बीच उसने मेरी टांगें उठाईं और अपना लंड मेरी फटी हुई चूत में डाल दिया. पाठकों को सलाह है कि यह पूरा गीत यू ट्यूब पर ज़रूर देखें अपनी माशूका के साथ नंगे लेट करऔर उसे कहेंकियह गाना मैं तेरे लिए गाना चाहता था लेकिन मेरी आवाज़ इतनी अच्छी नहीं है, इसलिए मोहम्मद रफ़ी की मस्त आवाज़ में यह तेरी नज़र करता हूँ. देर रात को मेरी नींद खुली तो मैंने देखा कि रचना मेरे लंड को अपने हाथों में लेकर सहला रही थी.

उसने मेरी चूत को ऊपर से ही सहला कर इतना गीला कर दिया था कि अब मेरी चड्डी भी पूरी तरह से गीली हो चुकी थी.

बीएफ पिक्चर चुदाई वाली वीडियो: ” करके उसको यह बता रही थी। पर उसको समझ नहीं आ रहा था, तो मैंने लंड चुसाई चालू रखी और उसके सिर को अपनी जांघों में भींच लिया। उसका दम घुटने से उसने अपना सिर मेरी जांघों से छुड़ा लिया और अपना लंड मेरे मुँह से निकाल लिया।मेमसाब अब ठीक से लेट जाओ… हम तोहार ऊपर आवत हैं. मंजू बोल उठी- ओह्ह… राज क्या कर रहे हो तुम?ऐसा सुनते ही मेरे मन में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, मैं खुश हो गया.

मैंने फिर उसको किस करना चालू किया और ऐसे ही थोड़ी देर लंड डाल कर बैठा रहा. वो मुझे जोर से चूम कर चला गया जाते जाते मैंने उसके लंड को पकड़ कर उसे जरूर आने का इशारा किया, तो उसने भी मेरे दूध दबा कर मुझे चोदने की हामी भर दी. मैंने उसे पूछा- बॉडी मसाज जेंट्स करते हैं या लेडीज करती हैं?तो उसने बताया कि दोनों ही करते हैं.

कुछ ही देर में चाची ने अपने शरीर को ऐंठ लिया और जोर जोर से चिंघाड़ने सी लगीं.

लंड फंसते ही मैंने उसे अपनी ओर खींच लिया, जिससे एक ही झटके में मेरा पूरा लंड उसकी बुर में समा गया. आज से पहले सिर्फ अपनी गर्लफ्रेंड के इतने नजदीक आया था और वो भी सिर्फ किस और कभी-कभी जिद करने पर मम्मों को दबाने देती थी. उनको मेर बात पसंद आ गई, फिर उन्होंने मेरा नंबर मांगा और अपना नंबर भी मुझे दिया.