बीएफ 2019 का

छवि स्रोत,गुजराती बीपी वीडियो भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स डांस वीडियो: बीएफ 2019 का, अब मैं उनकी इतनी जोर से चुदाई कर रहा था कि मेरे हर धक्के में उनकी आह निकल रही थी.

बीएफ दिखाइए सेक्सी बीएफ

मैं मॉम के पास गया औऱ प्यारी रंडी मॉम ये कहते हुए उनके प्यारे होंठों को चूम लिया. ट्रिपल सेक्स बीएफ वीडियोपूजा आगे बोली- अब मेरा अरमान है कि मैं 5 दिन के लिए तुम्हारे साथ छुट्टी पर किसी बड़े शहर में जाऊं और जमकर अपनी जिंदगी जी लूं.

उसके बाद उसके घर वाले जब भी घर में रहते थे … उस समय सिर्फ उसको किस कर पाता था. सेक्सी देहाती बीपीकरीब 10 मिनट बाद मेरा बदन अकड़ने लगा और मैं झड़ गयी।लेकिन भाई का अभी नहीं हुआ था तो उन्होंने अपना लन्ड बाहर निकाला जो खून से सना हुआ था और जब मैने अपनी बुर को देखा तो उसमें भी खून था।तो भाई मुझसे बोले- तू पहली बार चुदी है ना इसलिए तेरी सील टूट गयी है, इस वजह से खून निकल रहा है।फिर मैं घोड़ी बन गयी.

दोपहर सुरेश ने फ़ोन किया और मुझसे माफी मांगी, मैंने भी पुरानी बात कह कर और अपना दोस्त समझ माफ कर दिया.बीएफ 2019 का: मैंने आंटी को बोला- अरे आंटी ऐसी कोई बात नहीं है, ये तो मेरा फर्ज़ था.

उसके बाद वो दोनों अंदर वाले रूम में चली गईं और आंटी ने हमें भी अंदर आने के लिए कह दिया.वो विद्यालय में तो साड़ी पहन कर आती थीं, लेकिन मेरे घर पर वो सलवार कुर्ती और दुपट्टा … कभी लेगी कुर्ती, तो कभी जींस टी-शर्ट पहन कर आती थीं.

बीएफ में सेक्सी - बीएफ 2019 का

कल्पना ने कहा- मंगल को बाहर भेज दिया जाना चाहिए!सभी एक सुर में चिल्लाई- नहीं नहीं … यह कहीं नहीं जाएगा.वो मेरे चूचों को पीने लगा और धीरे धीरे नीचे से अपनी कमर को भी चलाने लगा.

कुछ देर तक चूचों को दबाने के बाद उन्होंने मेरी कमीज को निकलवा दिया. बीएफ 2019 का ठीक वैसे ही आकार का लम्बा और मस्त मोटा मलंग किस्म का मेरा लंड फुंफकार मारने लगा था.

चूंकि ये उसका ही शहर था और वहां सब जान पहचान वाले भी थे, इसलिए उसका डरना लाजिमी था.

बीएफ 2019 का?

एक बच्चे की मां होने के बाद भी उसके स्तनों में ऐसा तनाव था जैसा किसी 22-23 साल की जवान लड़की के चूचों में कसाव होता है. हम लोगों ने ओरल सेक्स के बाद थोड़ी देर आराम किया और उसके बाद विभोर मेरी चूत में अपना लंड डालने लगा. भैया की अनुपस्थिति में उनके घर में उनकी माता जी और पिता जी और एक छोटी बहन और उनकी बीवी ही रहते थे.

अगली सुबह जल्दी ही मेरी नींद खुल गयी, जब कि मैं रात में देरी से सोई थी फिर भी. उनकी चूत को देख कर मुझसे भी रहा न गया और मैंने अपने लंड को अपनी पैंट से बाहर निकाल कर उसकी मुठ मारनी शुरू कर दी. उनकी बिना दुपट्टे वाली चूचियां मुझे दिखने लगीं और मुंह में फिर से लार आने लगी.

आगे इस सेक्स कहानी में मैं आपको सुरेश की मस्ती और सेक्स को लेकर आगे लिखूँगी. अब मैंने धीरे से पूजा की जांघों पर अपना हाथ रख दिया और उसके कान में बोला- अपना नाड़ा खोल … नो एंट्री में उंगली करनी है. हम दोनों किस में ऐसे खोये कि 10 मिनट तक किस ही करते रहे।उसके बाद उसने अपना मुंह हटा लिया और कहने लगी- बहुत ज़िद्दी हो … हो गयी इच्छा पूरी? अब मैं जाऊँ?मैंने कहा- अभी कहाँ … अभी तो बहुत कुछ बाकी है.

जब मैं होश में आयी, तब देखा कि सुनील फर्श पर लेटा था और मेरी चूत ने उसका मुँह पूरी तरह से ढंक दिया था. यार एक बनियान पहनने के बावजूद भी क्या गोल चूचियां थीं … मतलब गज़ब की गोल और नर्म.

माँ के उभार तो बहुत बड़े थे, मगर दीदी के भी छोटे छोटे समोसे से बन गए थे.

एक दो दिन बाद पता चला कि उस परिवार में एक भैया हैं, जो कि फील्ड वर्क का काम करते है.

हुआ यूं कि उसने कोई परीक्षा फॉर्म भरा हुआ था, जिसका सेन्टर कानपुर था. मैडम ने मुझे घूरते हुए देखा तो उन्होंने खांस कर ताना मार कर कहा- अगर देख लिया हो तो जरा कार भी चला लो!घबराहट के मारे कार स्टार्ट तो हो गई लेकिन एक दो झटके खाकर ही फिर से रुक गई. मेरी मोसी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सेक्सी मोसी की वासना को पहचाना फिर मौक़ा देख कर मैंने अपनी मोसी की चूत की चुदाई कर डाली.

तो आंटी ने कहा- डोगी स्टाइल से करें अब?मैंने कहा- ठीक है!वो अब डोगी पोजिशन में आ गयी. उसकी चूत गीली होने की वजह से लंड सट से अन्दर चला गया, जिससे उसकी चीख निकल गई. वो मॉम की चूचियां मसलता हुआ चिल्ला रहा था- आह … मेरी शालिनी रंडी … तुझे चोदने की तमन्ना आज पूरी हो गयी … बड़ी मस्त गांड है तेरी आंटी.

मैंने कहा- भाभी आप खुश तो हो न!भाभी बोलीं- हाँ मैं आज बहुत खुश हूं, लेकिन मुझे एक बात का अफसोस है.

उसने अपना हाथ बाहर निकाल लिया और फिर मेरे कान में धीरे फुसफुसाते हुए बोली- घर पहुंच कर रात को आपका इंतजार करूंगी. जैसे जैसे ही मैं झड़ने के करीब आ रही थी, वैसे वैसे मैं अपनी कमर ज़ोरों से हिला रही थी. मोनिषा आंटी ने कहा- नवीन मेरी चूत में जल्दी से अपने इस मूसल लंड को उतार दो … मैं चाहती हूं कि तुम्हारा लंड मेरी चूत की गहराई को नापे.

मैंने कहा- क्यों नहीं 3 साल साथ बिताये हैं … तीन महीने में क्या चेंज हो गया होगा. मैंने एक बात नोटिस की कि वो अपने आपसे उठी और थोड़ा सा भी नहीं लड़खड़ाई. भाभी की चुदाई करते हुए मुझे कुछ समय ही हुआ होगा कि उसका बदन फिर से अकड़ने लगा.

रोनिता की आँखों में आँसू थे, वो ज़ोर से चिल्ला रही थी- निकालो प्लीज … बाहर निकालो … मुझे नहीं चुदवाना प्लीज निकालो …रोनिता को उस समय बहुत तेज दर्द हो रहा था.

शाम को जब भाभी बच्चों को लेने आईं, तो मैंने उन्हें छत पर आने का इशारा किया. कार में मेरे साथ बैठी थी और उसके बड़े बड़े स्तनों को देख कर मेरे लंड ने मुझे परेशान कर दिया.

बीएफ 2019 का आज मामा जी के प्रेशर में वो मेरी गांड मारने में पूरा दम लगा रहा था, जल्दी जल्दी धक्के दे रहा था. उस वक्त भी मैं मौके से नहीं चूकता था और उसके उरोजों को कुहनी से दबा देता था.

बीएफ 2019 का पांच मिनट के बाद उसका दर्द कुछ कम हुआ तो मैंने अपना लन्ड अंदर बाहर करना चालू कर दिया। थोड़ी देर बाद उसे भी मजा आने लगा और वो भी सिसकारियों के साथ मजे लेने लगी. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उसके एक निप्पल को मुँह में लेकर चूसा और दूसरे को मसला.

‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह … आई … याह …’करते हुए वो चूचे दबवाने का मजा ले रही थी.

सेक्सी डॉट कॉम वीडियो

मैंने कई बार देखा था कि मेरा भाई मेरी ब्रा और पैंटी को लेकर छत पर चला जाता था. मैं उनकी तरफ अपना हाथ बढ़ाया तो इस पर भाभी बोलीं- यहां नहीं … छत पर चलते हैं. इधर मेरी योनि ने भी सब स्वीकार लिया था और अपना रस छोड़ते हुए अपनी स्वीकृति दे दी.

दो मिनट बाद मैंने लंड की स्पीड बढ़ा दी और गांड की तेज़ तेज़ चुदाई करने लगा. उसने कहा- कुछ हेल्प करूं तुम्हारी?मुझे अजीब लग रहा था और दर्द भी हो रहा था. अब आगे:शाम वो करीब 7 बजे आया, हम चाय पीते हुए बात करने लगे और 8 बज गए.

मुझे भी शॉपिंग करने के लिए बाहर जाना था इसलिए मैं भी घर का काम निपटा कर तैयार हो गई.

”नहीं नहीं … तुम्हारा बहुत बड़ा है … मुझसे नहीं होगा और अब वक्त भी कम है … प्लीज जल्दी करो न. मैं अपने एक केमिस्ट मित्र से नींद की दवाइयां लाकर अपनी कामुक बहन के खाने में मिलाकर खिला देता. बस फिर मैंने उसकी टांगें चौड़ी करके अपने लंड पे थोड़ा सा थूक लगा के उसकी चुत पे लंड लगा के एक धक्का लगाया.

मैंने कहा- तू तो रहने ही दे … कहीं लंड काट दिया … तो बस ताली बजाने लायक रह जाऊंगा. इंसान को तो मुठ मार के भी राहत मिल जाती है … बात तो संतुष्टि और पसंद की है. अब तो मैंने जांघें इतनी खोल दी थीं कि राजशेखर को मेरी योनि से अपने लिंग को घुसाने में जरा भी परेशानी नहीं हो रही थी.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने मेरी चूत में कोई मोटी रॉड फंसा दी हो. इतना साफ साफ़ सुन कर मैंने उसे खींच कर बेड पर लिटा लिया और उसकी जुल्फों से खेलते हुए कहा- तब इतना क्यों तड़पा रही हो रानी?उसने टांगें खोल दीं और बोली- तड़फा तो तुम रहे हो डियर.

उसने दीदी की चूत पर लंड को रखा और एक झटके में ही पूरा लंड उसकी चूत में फंसा दिया. मैंने उसकी कुवारी चूत में जीभ को अंदर तक डाल दिया तो वो तड़पने लगी. मैंने उससे कहा- साली हिल मत … अभी तो कुछ नहीं है मैं साबुन लगा रहा हूँ … बाद में रेजर चलाऊंगा, यदि उस वक्त ज्यादा गांड हिलाई, तो चुत का ऑपरेशन हो जाएगा.

मामी भी पहले तो शरमाती रही लेकिन फिर उन्होंने मामा को अपनी बांहों में भर लिया मामा के होंठों को चूसने लगी.

पायल मेरी जिन्दगी में पहली लड़की थी जिसको मैंने होंठों पर किस किया था. कुछ ही पलों में मेरी हालत अब इतनी बुरी हो गई थी कि मैंने राजशेखर के बांहों को जोर से पकड़ रखा था और बीच बीच में खुद से अपने चूतड़ों को उठा कर उसे चोदने का न्यौता दे रही थी. अब मैं उसके मम्मों को चूसने लगा और वो ‘आह आआअहह आआ…’ करते हुए सिसकारियां लेने लगी.

मामा जी ने उसे मेरी जांघों पर बिठा दिया- नखरे नहीं … पेल दे … ये तैयार है और तू बहाने कर रहा है?उसने तेल की शीशी उठाई, लंड पर चुपड़ा और लंड को मेरी तड़पती गांड पर टिका दिया. इंसान को तो मुठ मार के भी राहत मिल जाती है … बात तो संतुष्टि और पसंद की है.

जिस घटना के बारे में आपको बताने जा रही हूं उसको पढ़ कर आपको भी मेरी बात का यकीन हो जायेगा. पांच-सात मिनट तक चुदाई करने के बाद मैंने मामी को घोड़ी बनने के लिए कह दिया. इसलिए जैसे जैसे उसका बड़ा मूसल सा लंड मेरी चूत में घुस रहा था, मुझे जोर का दर्द हो रहा था.

लड़कियों की सेटिंग

विद्या- ओह ओह यस यस … जान बहुत मज़ा आ रहा है … आह और ज़ोर से करते रहो … आह यस आह आह.

रंजन अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को बड़ी मस्ती से चोद रहा था. मैंने कहा- भाभी आप तो मेरी बेस्ट फ्रेंड हो ना … आप मुझे भी नहीं बता सकतीं क्या?भाभी बोलीं- तुम्हारे भैया एक महीने के लिए मुंबई जा रहे हैं, तो मुझे अच्छा नहीं लग रहा है. उसने नीचे से पैंटी पहनी हुई थी लेकिन उसके चूतड़ बहुत ही गद्देदार थे जिनको दबाने में मुझे गजब का मजा आ रहा था.

यह मेरी पहली गंदी कहानी है, तो गलती हो सकती है, उसे प्लीज नजरअंदाज कर दीजिएगा. मैंने उस दिन से पहले कभी अपने बदन पर इतना ध्यान नहीं दिया था क्योंकि मैं पढ़ाई और काम में ही व्यस्त रहती थी. एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफ जबरदस्तीदोस्त मैं आपको एक बात बताना भूल गया कि आंटी की उम्र 45 साल की रही होगी लेकिन वो देखने में 30-32 से ज्यादा की नहीं लग रही थीं.

बुआ ने बोला- नहीं, आज हम एक साथ ही सोएंगे … रात में मुझे कुछ हो गया, तो में क्या करूंगी … तू साथ रहेगा, तो मुझे संभाल तो लेगा. मेरे लंड से वीर्य निकल कर मेरी जांघों पर टिकी मेरी गोलियों तक बहने लगा.

दो मिनट के बाद ही उसके मुंह से मादक सिसकारियां उम्म्ह … अहह … हय … ओह … निकलनी शुरू हो गईं. वो बोली- क्या?मैंने कहा- बातों में लगे हुए होगे आप दोनों इसलिए नहीं किया. फिर जॉयश ने मंगल को इशारा किया और जॉयश का इशारा मिलते ही मंगल आगे बढ़ा और लाइन में सबसे पहले खड़ी हुई अलका को अपने आलिंगन में ले लिया और उसके समूचे नंगे जिस्म को सहलाने लगा, उसके चेहरे पर चुम्बन उसके दोनों दूध पर चुम्बन और फिर नीचे खिसकते हुए उसकी चूत पर एक गहरा चुम्बन लिया.

तो उसने अपने लंड पर तेल लगाया और उसके बाद उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा. मन कर रहा था कि मैं भी अभी के अभी कमरे में घुस जाऊं और मामी की चूत को चाट लूं. अब लंड को मैंने मैडम के मुंह से निकाला और उसको अपनी छाती से चिपका लिया.

मैंने भाभी से कहा- भाभी मैं आपकी समस्या दूर कर सकता हूं, पर उसके लिए आपको एक काम करना पड़ेगा.

पेशाब करने के बाद कजरी एक उंगली चुत के अन्दर डाल कर चुत को ठंडा करने लगी. हम लोग सेक्स के लिए गर्म हो गए थे और विभोर बहुत अच्छे से मेरी चूत को चाट रहा था.

मैंने अपना लोअर और अंडरवियर एक साथ ही उतार दिया और उसका हाथ पकड़ कर फिर से अपने लंड पर रखा. दो मिनट तक वो ऐसे ही मेरी चूत में लंड को धकेलते हुए हिलाता रहा तो मेरी चूत में मजा आने लगा. फिर तुरंत वो अपने घुटनों में बैठकर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

मैंने अपने दांतों से उसकी पैंटी को भी नीचे सरका कर बाहर निकाल दिया. वो मुझसे कहने लगी- आह … चोदो … मुझे चोद दो … आह हां ऐसे ही … मम्मी रे … मम्मी मर गई रे. फिर मैं उठा प्रमिला आंटी के बगल में लेट गया और उनके बूब्ज़ दबाने लगा।मैंने प्रमिला आंटी को कहा- आप खुश हैं अब?वो मेरे गालों पर हाथ फेरते हुए बोली- बहुत … बहुत ज्यादा खुश हूं। तुम्हें पता नहीं है कि तुमने मुझे कितनी खुशी दी है।हम दोनों ने एक दूसरे को बांहों में भर लिया। प्रमिला आंटी थोड़ी भावुक हो गयी थी और मेरी आँखों में देख कर रोने लग गयी.

बीएफ 2019 का एक बार मुझे एक ट्रक में लिफ्ट लेनी पड़ी तो मैंने ट्रक ड्राईवर से गांड मरवाई. गर्लफ्रेंड के पास जा रहा है क्या?वो बोला- नहीं अम्मा, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

सेक्सी वीडियो गार्डन

सरस्वती- झूठ मत बोल कुछ देर पहले ही बात हुई है … और अब कह रही कि नहीं आया. मैंने घर उतर कर उनसे कहा- मास्टर साहब, आप में बड़ा स्टेमिना है … मैं तो थक गया था … जाने आपको कैसा लगा होगा. बेशक मम्मी का कोई न कोई यार हर हफ्ते हमारे घर रात को छुप छुपा कर आता था, मगर लाला भी महीने में एक दो बार ज़रूर आता था.

इसने दोस्ती में मेरी मार ली तो कोई बात नहीं।मामा जी उखड़ गए- वाह … कोई बात कैसे नहीं … तुमने दो लोगों से कराई, मजा दिया, वह क्यों नहीं कराएगा. उसकी आंखों में हवस का वो तूफान उठा कि उसने पैंटी के ऊपर से मेरी बीवी की योनि को प्यार से चूम लिया. बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो मेंउसने हाथ को वापस खींचना चाहा लेकिन मैंने उसके हाथ को अपने लंड पर चलवाना शुरू कर दिया.

मैं बोला- सोच लो भाभी, मैं अपनी दोस्तों के साथ बहुत मस्करी करता हूं.

पापा के लिए नाश्ता बनाने के बाद वो काम पर निकल गये और मैंने किचन में ही चाची को पकड़ लिया. वो बोली- हां मेरे राजा, मैंने भी तुम्हारी प्यास बुझाने के लिए पूरी तैयारी कर रखी है.

उबकाई इस बार भी आयी, लेकिन उसने चूसना बंद नहीं किया और बड़े प्यार से मेरे लंड के सुपारे पर जीभ फिराने लगी. मैंने देखा, तो वहां ज्योति की फ्रेंड को समझ आ गया कि मैं क्यों आया हूँ. मैं उसके विरोध में चिल्लाती कि उसने अपने होंठों से मेरे मुँह को बंद कर दिया.

मेरी चुदाई हिंदी स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मुझे मेरी गर्लफ्रेंड ने दगा दिया.

इस वक्त रंजन की कसरती जिस्म को देख कर मेरी चूत बड़ा रश्क कर रही थी कि आज एक पहलवान किस्म के मर्द के लंड से चुत चुदवाने का मौका मिला है. उस लड़के ने मुझसे दो मिनट वहीं सोफे पर बैठने को कहा और दोनों मियां बीवी एक रूम में चले गए. [emailprotected]भतीजी की जवानी की कहानी का अगला भाग:भतीजी और उसकी सहेली की चुदाई-2.

देसी सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदीवासना की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने भाभी की वासना शांत की? भाई की शादी हुई तो भाभी से मेरी दोस्ती हो गयी. हम दोनों भी सामने वाले सोफे पर बैठ गये और आंटी अंदर किचन की तरफ चली गई.

इंडियन सेक्स फुल

वे बोले- अच्छा आपको एक बढ़िया लौंडिया दिलवाऊं … चलेगी? जैसी आप कहें … बस न मत कहें. शाम को तो माँ सूट पहनती थीं, मगर सुबह वो हमेशा नाईटी में ही होती थीं. अब सुरेश ने एक हाथ से मेरे एक कंधे को पकड़ा और एक हाथ से मेरी कमर को थामा.

ब्लाउज के तीन हूक खोल कर चूची की चुसाई हो जाती थी। हम लोग समय बर्बाद नहीं करते थे. ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं अपनी चाची के दूध की बनी चाय ही पी रहा होऊं. मैं क्या तारीफ करूं उसके मम्मों की, बेहद सफेद … काले और उभरे हुए निप्पल मुझे एकदम रसीले लग रहे थे.

थोड़ी देर के बाद सौम्या कमरे में आई, उसने साड़ी चेंज करके सेक्सी पारदर्शी नाइटी पहनी हुई थी. मैंने अपने चूतड़ों को थोड़ा उठाया और उसके सख्त लिंग को पकड़ कर उसे अपने छेद का रास्ता दिखा दिया. इतना करने से मेरा आधा लंड मेरे दोस्त की बहन की चूत में घुस गया था।इतने में ही मुझे अच्छा लग रहा था लेकिन सुशी को तकलीफ हो रही थी.

उसकी ब्रा से उसके गोल-गोल स्तनों के नुकीले दूध साफ़ दिखाई दे रहे थे. चलिए अगले भाग में आपको लिखता हूँ कि मेरी भतीजी ने मेरे लंड को सुकून दिया या नहीं.

मैं दर्द से कराहते हुए बोली- मैं क्या करूँ … आह … तुम्हारा लंड है ही इतना बड़ा … ये मेरे पति से काफी बड़ा है.

मैंने मोनिषा आंटी को चोद चोद कर एक हसीन हॉट सेक्सी आंटी बना दिया था, उनके दूध अब पुराने ब्लाउज़ में फिट ही नहीं आते थे. देसी क्सक्सक्स सेक्समैंने सोनू के चूचों के बारे में सोचते हुए लंड को हिलाना शुरू कर दिया और तीन-चार मिनट में ही मेरा वीर्य निकल गया. हिंदी में बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सीसाड़ी का पल्लू मेरे स्तनों से हट गया और उसकी गांठ मेरे कमर से खुल गयी. मगर मैंने उसके हाथों को हटा दिया और अपनी गांड का पूरा भार उसकी चूत पर डालते हुए उसकी चूत में लंड को उतारने लगा.

अत्यधिक उत्तेजना के कारण भाभी को दस मिनट चोदने के बाद मैंने उनकी बुर में ही अपना पानी गिरा दिया.

उस महिला का ध्यान मेरे तने हुए लंड पर न पड़े इसके लिए मैंने धीरे से अपने लिंग महाराज को हाथ से एडजस्ट भी किया मगर सामने वाली की नजर भी तेज थी. उसने अपना हाथ बाहर निकाल लिया और फिर मेरे कान में धीरे फुसफुसाते हुए बोली- घर पहुंच कर रात को आपका इंतजार करूंगी. मामी के लाल रंग के ब्लाउज में भरे हुए उनके मोटे और बड़े स्तन दिखने लगे.

हाय क्या मस्त चूत थी उसकी … उसने चूत को साफ़ भी किया हुआ था, इससे तो वो ज्यादा चमक रही थी. जैसे जैसे ही मैं झड़ने के करीब आ रही थी, वैसे वैसे मैं अपनी कमर ज़ोरों से हिला रही थी. आपने मुझे धमकाया भी नहीं; छूत का रोग बता कर उन लौंडों का भी इलाज कर दिया.

भतीजी पर शायरी

आप जिस महिला से सम्पर्क में रहे हैं, उस ले आएं … तो उसका भी इलाज कर दें. उन्होंने मेरी पीठ के पीछे से अपनी दोनों बांहें कन्धों के नीचे से निकाल कर मेरे कन्धे पकड़ लिए. मोनिषा आंटी ने लंबी सांस लेते हुए कहा- बहुत दिनों बाद किसी ने मेरी चूत को चूसा है.

पूजा के चेहरे पर हल्के से दर्द के साथ आनन्द के भाव दिखाई दिए- आह अमित घुस गया … उईईईई …मैंने एक झटका और देकर आधा लंड चुत के अन्दर कर दिया.

तीसरे दिन ऑफिस से पापा का फ़ोन आया कि वो 3 दिन के लिए दोस्तों के साथ टूर पर जाने वाले हैं.

फिर मैंने उस पर रहम करते हुए उसकी चूत को ऊपर लेकर 69 की पोज़िशन बना ली और जीभ से उसकी चूत और गांड चाटने लगा. मैंने उनके आगे से उनके कंधे को पकड़ा और तुरंत ही एक हाथ से उनकी चूची को टच करके दबा दिया. मोटी भाभी की सेक्स वीडियोजब हमें पढ़ाई करते हुए काफी देर हो गई तो वो कहने लगी कि अब मुझे नींद आ रही है.

अगली सुबह जल्दी ही मेरी नींद खुल गयी, जब कि मैं रात में देरी से सोई थी फिर भी. मैंने अपनी टांगों को उसकी पीठ पर रख लिया और वो तेजी के साथ पूरे लंड को मेरी चूत में पेलने लगा. मैं रुका नहीं, उसने मुझे हल्का पीछे धक्का देना चाहा … लेकिन मैंने उसे जकड़ लिया और तेजी से उसकी चूत मारने लगा.

मैं सोच रहा था कि अगर कोई दिक्कत होगी तो मैं बाद में कहीं और शिफ्ट कर लूंगा लेकिन फिलहाल सामान रखने के लिए एक रूम की तो मुझे तत्काल आवश्यकता है. अनु ने मेरे तने हुए लौड़े पर हाथ रख दिया और उसको पैंट के ऊपर से ही प्यार देने लगी.

मैं इस बीच उसके ऊपर ही दो बार फिर से झड़ गयी और थक कर उसके सीने पर गिर पड़ी.

मैं आंखें बंद कर वैसे ही लेटी रही और थोड़ी ही देर बाद वह स्पर्श और नीचे चला गया, बिल्कुल पैंटी के इलास्टिक के पास. लंड को बाहर निकालने के बाद मैंने स्लैब पर मामी को झुका लिया और उसकी चूत में उंगली करने लगा. आह्ह … ओह्ह… ऊह्हह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ह्यया … करके वो दोनों चुदाई का मजा लेने लगे.

बीएफ इंग्लिश में चोदा चोदी अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ते-पढ़ते मैंने भी सोचा कि मैं भी अपनी जिंदगी की एक सेक्स कहानी आपके साथ शेयर करूँ. एक बार मैंने उसके निप्पल को काट लिया, तो वो ‘आउच …’ बोल कर बोली- आराम से चूसो … ये अब सिर्फ़ तुम्हारे ही हैं.

मैं पानी पीकर आकर वापस उसके पास सो गया और उससे पूछा- नींद नहीं आ रही है क्या?तो वो बोली- हाँ भाई … नींद आ ही नहीं रही. मगर आजू बाजू की छत से सब कुछ खुला दिखता था, इसलिए मैं मनमसोस कर रह जाती थी. गांड ढीली कर … अब तो मान जा मेरा भैया! मेरा दोस्त!वह थोड़ा पिघला, उसने टांगें चौड़ी कर लीं.

मस्त जवानी तेरी मुझको पागल कर गई रे

कल्पना बेचारी सकुचा गई, वह बोली- मैं इस गेम से अपने आप को बाहर करती हूं, यह फर्स्ट प्राइज एकता को ही दे दो. शाम होते होते हमने एक होटल में डिनर किया और फिर हम रूम पर पहुंच गए. मेरी दीदी ने प्रिसींपल के लंड को पकड़ रखा था जो उसकी पैंट में तना हुआ दिखाई दे रहा था.

पर मैंने उसकी एक न सुनी और थोड़ी देर में एक और ज़ोरदार धक्का दे मारा, जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चुत को चीरता हुआ अन्दर चला गया. शिवानी बहुत खुश लग रही थी।मैंने उससे बात की तो उसने बताया कि उसे बहुत मजा आया और वो मेरे झड़ने से पहले ही झड़ चुकी थी.

जब वो मेरे पास आती, तो उसके बदन की खुशबू मेरे सांसों में बैठने लगती.

जिन्हें देखकर मेरा लण्ड मोसी को तुरंत चोदने के लिए उतावला हो रहा था. फिर धीरे धीरे ये बात भी उसको मालूम हो गई कि पूजा मेरे साथ मेरी बहन का रिश्ता बना कर रही थी. थोड़ी देर और चूसने के बाद सुरेश बोला- बस हो गया, तुम तो ऐसे चूस रही हो कि अभी ही मुझे झाड़ दोगी.

’ये अभी मेरे मन में चल ही रहा था कि अचानक उसने मुझसे पूछा कि तुम कहां से हो?मेरे मुँह से निकल गया- मस्त माल. सोनू का भी किसी के साथ चक्कर नहीं था और मैं तो जैसे सूखा था ही अभी तक. मेरी पत्नी का नाम उर्वशी है और वह एक बहुत ही ख़ूबसूरत जिस्म की मालकिन है.

मैंने उनको खूब हिलाया लेकिन वो गहरी नींद में सोने का नाटक कर रही थीं.

बीएफ 2019 का: मेरा भी दिल करता कि इसी बेड पर जैसे लाला मम्मी की टांगें ऊपर उठा कर, या मम्मी को घोड़ी बना कर, या अपने ऊपर बैठा कर चोदता है, मैं भी मम्मी को वैसे ही चोदूँ. भाभी ने मेरे पूरे लंड को अपने गले तक उतार लिया और 10 मिनट तक चूस चूस कर आगे पीछे करती रहीं.

मैंने उसे अपनी बांहों में भर कर उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया. मैंने कहा- कैसे मैम?उन्होंने कहा- अपना मोबाइल लाए हो?मैंने कहा- जी मैम. आंटी ने डरते हुए मेरे लंड को छुआ, तो लंड ने एकदम से फुंफकार मारी, जिससे आंटी ने घबरा कर लंड छोड़ दिया.

एक दिन अचानक मेरे नाना की तबियत खराब हो गई और सब लोग अस्पताल चले गये.

फिर पता नहीं क्या हुआ कि मुझे सारिका के रंडी परिवार की चूतों को चोदने का काम मिलना बंद हो गया. अभी मम्मी और बुआ गई नहीं थीं, वे लोग जाने वाली थीं, इसलिए हम दोनों को उनके चले जाने तक का इन्तजार करना बाकी था. मैंने कहा- इनको साफ क्यों नहीं करता है रे हरामी?वो बोला- आज कर लूंगा रंडी.