बीएफ पिक्चर सील पैक

छवि स्रोत,कॉलेज की लड़की के साथ सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन साड़ी वाली बीएफ: बीएफ पिक्चर सील पैक, तेरे साथ आऊँगा रूपा लेकिन मेरे वक्त की क्या कीमत देगी तू?पप्पू ने रूपा का हाथ कुछ ऐसे पकड़ा कि वो हाथ उसके लंड तो छू गया.

ब्लू पिक्चर नई

भाभी उस समय तक काफ़ी गर्म हो गई थी और बार बार बोल रही थी- संदीप अब मेरी चुत को चोद कर भोसड़ा बना दो. सेक्स फर्स्ट नाईटमोनिका को अन्दर ऑपरेशन थिएटर में बिठा कर वो लड़का बोल गया कि मैडम आएगी तब तक इंतजार करो.

वैसे तो मैं काफी बोल्ड थी पर पता नहीं क्यों मैं बॉयफ्रेंड बना कर उससे अपनी चूत चुदवाने में अपनी सहेलियों से पीछे रह गई. नंगी औरतों का डांसउसकी तुलना आप मैं हूँ ना” मूवी की अभिनेत्री सुष्मिता सेन के टीचर वाले रोल से कर सकते हैं.

शरीर अब भी कांप रहा था तो मौसी ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और हम सो गए.बीएफ पिक्चर सील पैक: अब माँ से रहा नहीं जा रहा था, वो रहमत को गाली देते हुए बोली- रुक क्यों गया हरामी, आजा ऊपर आ, अब चोद न मुझे!पर रहमत माँ को तड़पाना और चाहता था, उसने लंड को चूत पर रखा और रगड़ने लगा जिससे माँ बेचैन होने लगी.

जीभ को मैं धीरे-धीरे ऊपर-नीचे करने लगा और अपने हाथों से उसकी गांड मसलने लगा.चूंकि मैं बिस्तर पर बैठा था और वो ज़मीन पर खड़ी थीं, तो उनकी चूचियां मेरे मुँह के पास थीं.

ओपन सेक्सी गाना - बीएफ पिक्चर सील पैक

उसके बाद उन्होंने मुझे अपने साथ चलने को कहा, मैं उनकी गाड़ी में जा कर बैठ गई.ये टेबलेट रेग्यूलर लेनी होती है और पूजा तो नादान थी, उसको ये सब कहाँ याद रहता.

संजय- ठीक है पूजा डार्लिंग वैसे आज तेरी चुत भी चमक रही है, इसको ठोकने में भी बहुत मजा आएगा. बीएफ पिक्चर सील पैक मैंने उनके दोनों चूतड़ों को हाथ से फैला कर हल्का धक्का दिया तो इस बार मेरा लंड लगभग दो इंच उनकी गांड में घुस गया.

कुछ ही देर में मैं एक ब्लू फिल्म की मॉडल की तरह चाचाजी के लंड को अपने मुँह में लेके उन्हें भरपूर मजा दे रही थी.

बीएफ पिक्चर सील पैक?

फिर शुरू हुआ असली खेल… रहमत मेरी मां की चुत चोद रहा था और रहीम चाचा मेरी मां का मुंह चोद रहे थे। माँ भी एक ही मिनट में इस बात के लिए मान गई कि चलो कोई बात नहीं। चुदवाना तो है ही, जहां एक लंड, वह दूसरा भी सही।ऐसे ही दोनों ने मिल कर मेरी चुदासी मम्मी की जम कर चुदाई की. उधर बाहर साधु ने गोपाल को समझाया कि आगे क्या करना है और उनके जाने के बाद मोना का कैसे ख्याल रखना है. पानी लेने के बहाने मैंने वंदिता के हाथ को छू लिया तो वंदिता आँखों के इशारे से मुझे मना करने लगी.

बाहर काम करना या बिना इजाजत के बाहर घूमने जाना तो सपने में भी संभव नहीं… मेरे तो सपनों में भी बंदिश है, बंदिशों में बंधे हैं मेरे सपने…मैं दिखने में अच्छी हूँ, कम से कम मुझे तो यही लगता है. अगले दिन सुबह मैं जब बरामदे से होते हुए दूसरे कमरे में जा रहा था कि अचानक तभी अर्चना ने मुझे पीछे से पकड़ लिया, अपने सीने से चिपका कर मुझे खींचते हुए चूमा और जल्दी से दूसरे कमरे में चली गईं. रूपा की 5 फीट 4 इंच की लंबाई पे 36-28-36 का जिस्म बहुत अच्छा दिखता था.

वैसे अब से पहले काजल के मन में सुरेश को लेकर कोई भी ऐसे-वैसे ख्याल नहीं थे, पर पता नहीं क्यों उसको शरारत सूझी, उसने अपने आपको ऐसे एडजस्ट किया कि अब वो सुरेश के लंड पर सीधा बैठ गई और थोड़ा और हिल-हिल के सुरेश को मसाज़ देने लगी, जिससे उसका लंड और उफान मारने लगा. चाचाजी ने अपनी पेन्ट की जिप खोलकर अपने तने हुए लंड को बाहर निकाल कर मेरे हाथ में थमा दिया. कुछ समय बाद जब वो सामान्य हुई तो मैंने लिंग को आगे-पीछे करना शुरू किया.

लड़के लड़कियां एक दूसरे को छेड़ रहे थे, सब तो नंगे थे- क्या हया… क्या शर्म!हम दोनों भी भीड़ में शामिल हुई. सुबह मेरी आंख तब खुली जब चाची ने मुझे जगाया और पूछा- क्या आज भी स्कूल नहीं जाना है?मैंने कहा- आज मेरा पूरा शरीर बहुत दर्द कर रहा है, मैं स्कूल नहीं जाऊँगा.

इस समय उसको ये सब बहुत ही अनुचित लग रहा था और ऐसा दृश्य देख के एकदम से रमेश को बहुत गुस्सा आया, पर वो इतने गुस्से की वजह से कुछ कह नहीं पाया.

मेरी अगली नयी कहानी के लिए मैं ऐसी लड़कियों से मित्रता करना करना चाहता हूँ जो मेरे साथ सेक्स चेट्स करते हुए मेरी कुछ जिज्ञासाओं का समाधान कर सकें.

एक हिन्दी ब्लू फिल्म देखते हुए मैंने अपनी पत्नी से कहा- जानू, एक बार मैं तुम्हारे साथ हिन्दी में सेक्स यानि चुदाई करना चाहता हूँ. तबियत तो ठीक है इनकी?जय बोला- मैं इनकी तबियत ही ठीक कर रहा था कि तुम आ गईं. मैंने उसे सीधा लेटाया, उस के पैर ऊपर किए और लंड उसकी चूत के मुँह पर टिका कर एक ज़ोर दार झटका लगा दिया.

उनके घर में उनके पति रमेश भैया, भाभी के सास-ससुर और एक 3 साल का बेटा था. वो ऐसे ही सीत्कार करने लगी कि मेरे मुँह में नियाग्रा फॉल आ जाएगा।मैं- मैं छूटने वाला हूँ. इसके 10-15 मिनट के बाद मैं धीरे से उठी और दरवाजा खोल कर हॉल में देखा तो मीना वहाँ नहीं थी.

भाई और यश ने कुछ देर अपना लंड मेरी चूत में ऐसे ही फंसाए रखे जैसे कुत्ते कुतिया की चूत में रखते हैं.

लेकिन अब जबसेक्स की ज़रूरतमुझे है तो कोई चुत, कोई मौसी नहीं मिल रही है. जय बहुत ही अच्छी तरह से निशा की चुदाई कर रहा था और उसकी गांड मार रहा था. आपको लड़की की पसंद का ख्याल रखना होता है और इस सब में मैं बहुत माहिर हूँ.

तभी वह उठा और मेरे मुँह से लंड निकाल कर मेरी टांगों के बीच आ गया, उसने मेरी जांघों को फैलाया और बीच में बैठ गया, उसने मेरे पैरों को अपने कंधे पर रख लिया, जिससे मेरी चुत उसके लंड से टच करने लगी. अर्चना को देखने के बाद मेरे मन में कसक उठने लगी थी, इसलिए उसको ढूँढते हुए मैं भाईयों के कमरे में गया परंतु मेरी चुदक्कड़ बहन वहां नहीं थी. आज मैं आपको अपनी तमाम सेक्स कहानियों में से एक और कहानी सुनाने जा रहा हूँ जो कि जयपुर में रहने वाली एक मस्त माल विनीता की है.

पापा के आने के बाद शौच के लिए मौसी के साथ जाना बंद हो गया था… और जाने के दिन बहुत पास आ गए थे.

मैं- क्या बोलने आई हो?जोशना- साले, पूरे दिन मुझे और मेरे जिस्म को ताड़ते रहते हो शर्ट के ऊपर से ही और अब पूछ रहो हो क्या?मैं- यू आर सेक्सी… सो यू नो…जोशना- यस आई नो… लेकिन मैं वर्जिन हूँ तुम्हारी तरह… लेकिन अब बड़े होने का टाइम आ गया है… सो लेट्स क्रेजी. यह सेक्सी स्टोरी है एक मध्यमवर्गीय खुश परिवार की…रमेश (26 साल) और सुरेश (24 साल) दो भाई थे.

बीएफ पिक्चर सील पैक उनके पति को नाइट ड्यूटी करनी थी और बच्चे तो छोटे थे तो उनका कोई उतना इश्यू नहीं था. मेरे दिए गए सुझाव से रागिनी जी संतुष्ट हो कर अपनी लड़की का ऑपरेशन करवाने को तैयार हो गईं.

बीएफ पिक्चर सील पैक आंटी थोड़ा चिल्लाईं और बोलीं- आराम से नहीं डाल सकते थे क्या?मैंने उनकी बात ना सुनते हुए उनको चोदने लगा. क्या हुआ माया हम नया मकान बनाएं?मुझे काफी अच्छा फील हुआ, खुद पर गर्व भी हुआ.

उसी वक्त आरती का एक हाथ पकड़ कर उस से मैंने कहा- मुझ से फ्रेंडशिप करोगी?तो उसने तुरंत हाँ कर दी.

करीना का सेक्स

आज पप्पू अगर कुछ करना चाहे तो नीता ने फ़ैसला किया था कि वो झूठा नाटक करेगी पर उसे सब करने देगी. जैसे ही लंड खड़ा हुआ तो उसने मैंने उसे बिस्तर पे लेटने को कहा और उसकी दोनों टांगों को ऊँचा कर दिया और नीचे तकिया रख कर उसकी गांड को बाहर को निकाल दिया. फिर मैंने कहा- मुझे नैना ने तुम्हारे बारे में कुछ बातें बताई हैं, क्या वो सच हैं?आरती आँसू पोंछते हुए बोली- नैना ने तुमको क्या बताया है?मैंने कहा- ज़्यादा चालाक बनने की ज़रूरत नहीं है.

अब जब भी उस फोटो को देखता हूँ तो उसका वह सेक्सी देसी अंदाज़ मुझे खुश कर देता है. चुदाई के जोश में कई बार वो प्रेग्नेंट हुई मैं उसे टेबलेट्स दे देता और हम बच्चा गिरा देते. गुलशन- सुमन बेटा तू पेट के बाल लेट जा, तेरी पीठ पे भी तेल लगा देता हूँ.

”इन सेक्सी बातों से वो फिर गर्म होती जा रही थी, उसकी चूत भी पानी छोड़ रही थी; मैंने उसकी चूत पर अपनी नाक रख दी, उसकी महक मुझे पागल कर रही थी.

दोनों चूचियों को दो लड़कियाँ ऐसे पी रही थीं मानो कुतिया के दो पिल्ले दूध पी रहे हों. अब मैं अपने लंड को चूतड़ों को ज़ोर से हिलाते हुए शीतल की चूत में पेल रहा था और वो भी अपने चूतड़ हिला कर मुझे पूरा साथ दे रही थी. अब मैं अपना हाथ उसकी जांघों पर फिराता रहा और वो भी धीरे धीरे गरम हो रही थी, क्योंकि उसकी साँसें तेज हो रही थीं.

वाह वाह भाभी, आज कुछ ज्यादा ही मस्ती में है।” मैंने फुसफुसा कर कहा और अपना हाथ भाभी के ब्लाउज में अंदर डाल मखमली चूची को दबाने लगा।उई… उई… सी… उह्ह्ह… यस राजू… यस दबा दे! सच में आज कुछ ज्यादा ही मस्ती चढ़ रही है… ओह… हूँ… उह… तेरा माल भी तो खड़ा हो रहा है. पानी में फिसल जाने से उनके घुटने में मोच आ गई थी, वो उठ नहीं पा रही थीं. यश मम्मी की कमर पर हाथ रख कर नाचने लगा और मैं अपने भाई को बाँहों में लेकर नाचने लगी.

वो सब जाने दो, देखो अब टीवी ऑन करो नहीं तो मैं आप से नहीं बोलूँगी और रूम में चली जाऊँगी अंकल. संजय- अब ये नहीं तो क्या है, बता ना?पूजा- ऐसे नहीं, पहले आप जल्दी से अपने कपड़े निकालो.

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया और उसके मम्मे सहलाने लगा. फिर उन्होंने मेरे होंठों पर किस की और जाने लगी, तब मैंने उनको अपनी तरफ खींच कर एक जोरदार चुम्मी जड़ दी. मैं क्या बताऊं 7 समुन्दर, 7 आसमान, 7 वचन, 7 बंधन और पता नहीं क्या क्या 7 हैं.

अर्चना ने मेरे पूरे लंड को चचोर कर ऐसा चूसा, जैसे लगता था कि चबा जाएगी.

वो ऊपर पहुँच गई और मैं भी बाईक खड़ी करके ऊपर आ गया और दरवाजा बंद करते ही मैंने आयशा को बांहों में भर लिया और उसे जोरदार किस किया और मेरे मन में खामोशी द म्यूजिकल का गाना बजने लगा ‘बांहों के दरमियाँ, दो प्यार मिल रहे हैं. कुछ ही समय बाद हम दोनों ससुर बहू बहूरानी के बेडरूम में मादरजात नंगे एक दूसरे की बांहों में लिपटे पड़े थे. मैं अपनी जीभ से उस गुलाबी चुत को चाटने लगा और अपनी जीभ को सुरैया भाभी की चुत में गहरे तक डालने लगा.

उस घर वाले ने एक लड़के को रखा हुआ था जो रूम की सफाई भी करता, चाय, दूध, नाश्ता भी लाता और घूमते समय हमारे साथ गाइड बन के भी चला जाता तो उस से अच्छी दोस्ती जैसी हो गयी. फिर हम दोनों बाथरूम में जा कर साथ में नहाए और रात भर साथ में नंगे सोए थे.

मुझे पता था कि बिजली आने की कोई गुंजाईश नहीं है… तो मैंने मामी को यही बोला कि लाइट नहीं आने वाली, आप अपना शर्ट उतार दो. दोस्तो, मेरी इन्सेस्ट स्टोरी यानि रिश्तों में चुदाई के सोलहवें भाग में आपने पढ़ा कि कैसे मेरे चाचू ने अपनी कमसिन बेटी की चूत चुदाई की. जब तेरी माँ की शादी फिक्स होने की खबर मिली तो उस बात पे हमने उसे छेड़ा.

गेम लोड करो

मैंने भी उसके लंड की मालिश की और फिर समीर ने मेरी गांड को निशाना बनाया.

पहले तो उसने गुलशन जी को आवाज़ दी कि वो सोए या नहीं, मगर कोई जवाब नहीं आया तो उनको थोड़ा हिलाया मगर वो वैसे ही बेसुध पड़े रहे. मैं राज गर्ग एक बार फिर से हाज़िर हूँ दोस्तो, माफी चाहूँगा स्टोरी देर से लिखने के लिए!आप सभी जानते हो कि मैं वाइफ स्वैपिंग क्लब चलाता हूँ जिसमें बहुत सारे कपल सदस्य हैं जो बीवियों और पतियों की अदला बदली का मज़ा लेते हैं. पहली बार पूर्णतया: विकसित चुचियों का आभास पाकर मेरा लंड तो अपना होश खो चुका था.

अब उसने अपने हाथ मेरे पीछे की दीवार पर टिका दिए और मेरी ओर थोड़ा झुक गया, जिससे उसका खीरे जैसा झटके मारता हुआ लंड मेरे होंठों के सामने आ गया. 36डी की चूची, 28 इच की कमर और चूतड़ 34 इंच के तो होंगे ही!पायल ज्यादातर पूरे दिन हमारे घर पर ही रहती है. लड़की की चूत में लंड डालते हुएउधर कॉलेज में टीना ने संजय को बता दिया कि सुमन क्यों नहीं आई उसके अलावा वहां कुछ खास हुआ भी नहीं… बस टीना ने फ्लॉरा को अपने साथ आने का बोल दिया और दोपहर को वो दोनों घर आ गईं.

मैं उसे अपनी बांहों में भरकर बिल्कुल पागल कुत्ते की तरह चूमने और काटने लगा. अंजलि का मोबाइल नम्बर भी मेरी बीवी के पास था तो मुझे उसका नम्बर पाने में कोई परेशानी नहीं हुई.

अमित ने बाल खींच कर माया का सर ऊपर किया और उसकी गांड पे एक चपत लगाई. खैर वो दोनों उठ कर नीचे चली गईं और मैं भी अपने घर के अन्दर चला आया. जब मैंने पूछा कि जब हस्बैंड चूचियों पर निशान देखेगा तो?तो वह बोली- उस को तो मैं नजदीक ही नहीं आने देती, वह तो देखता भी नहीं है, उस के लंड में दम ही नहीं है.

मैंने उस भाभी को देखा तो आदमी ने उस भाभी को आगे अपनी गोद में बिठा लिया और उसकी चूचियां दबाने लगा. मैं अपने एक हाथ को धीरे से उनके मम्मों के पास लाया और भाभी के मम्मों को हल्के-हल्के से दबाने लगा. मैंने अपनी कमर हिला कर लंड निकाल दिया और अपनी चूत पर हाथ फेरने लगी.

थोड़ी देर बाद मौसी नहा कर अन्दर चली गईं और मैंने भी अपना पानी हाथ से मुठ मार कर झाड़ लिया.

मैंने उस का पूरा माल अपने हाथ में इकठ्ठा कर लिया, जिसे समीर पी गया. ”अरे बता तो सही, कैसे चिपका ली अपनी चूत तूने?”पापा जी, आपको क्या लेना देना इससे… आपने मुझे जीत लिया अब जैसे चाहो चोदो मुझे… ऍम हॉर्नी नाउ… फाड़ दो इसको!”नहीं, पहले बता तू, तभी चोदूँगा तेरे को!” मैंने भी जिद की और अपना लंड उसकी चूत से निकाल लिया.

थोड़ी देर तक संजय उंगली से ही पूजा की गांड मारता रहा, जब उसको लगा अब गांड चिकनी हो गई तो उसने दोबारा लंड पर थूक लगाया और लंड को हाथ से पकड़ कर गांड के छेद पर दबाने लगा. हम दोनों सहेलियाँ क्लब में थी, तभी मेरी हमारे लिए ड्रिंक लेकर आई, दोनों ड्रिंक हमारे हाथ में थामकर उसने कहा- मैडम, अब मेरी बात ध्यान से सुनिये, आप अभी भी यहां से वापिस लौट सकती हैं, अंदर जाने के बाद भी आपको जब चाहे आप बाहर आ सकती हैं. मुझे उसको चोदते हुए लगभग 20 मिनट बीत चुके थे और मैं भी झड़ने के कगार पर पहुँच गया और उसके चौथी बार झड़ने की बारी मैं भी झड़ गया और भरपूर झड़ा.

मेरी चुत से शिशिर के लंड का रस बाहर आने लगा और उसकी गांड से भी रस बाहर गिरने लगा. रात को मेरे पति को मैंने यह किस्सा बताया, तब वो बोले तू एक नम्बर की नौटंकीबाज़ है. कुछ देर बाद लंड को चुत के छेद पर लगाकर दबाया तो उसका 1/4 लंड मेरी गीली चुत के अन्दर चला गया.

बीएफ पिक्चर सील पैक मगर मेरे मन में ये भावना बहुत भीतर तक घर गई थी कि मैं अपना पहला सेक्स किसी शादीशुदा औरत के साथ ही करूंगा, तभी मजा आएगा. अपना खड़ा लंड उसकी चुत के छेद पर रख कर धक्का मार लंड पूरा अन्दर पेल दिया.

जुदाई करने वाला सेक्सी वीडियो

उस टाइट ब्रा में कसे रूपा के मम्मे देख कर पागल जैसे उनको चूसने, मसलने और हल्के-हल्के काटते हुए पप्पू बोला- आहह साली क्या मस्त चूचियाँ हैं, तेरा वो चूतिया पति ज्यादा चोदता या ज्यादा मसलता नहीं क्या तुझे… जो अब तक तेरा जिस्म इतना मस्त है? साली तू एकदम गर्म माल है जान, खूब मजा आएगा तुझे चोदने में. मेरी हालत अब खराब होने लगी पर मुझे लगा कि कुछ हो न जाए इसलिए बोली- अंकल, ये सब ठीक नहीं, आप लोग बहुत बड़े हैं, मैं आप लोगों से बहुत छोटी हूं, प्लीज छोड़ दीजिए।अंकल ने कहा- तुम बेवजह परेशान हो रही हो आरती, शायद तुम्हें डर लग रहा है कि हम चार लोग हैं, तुम्हारा डर अभी दूर करता हूं और अपना बड़ा सा स्मार्टफोन निकाला और तुरंत उसमें कुछ चालू किया और मुझे दिखाने लगे. इस दौरान जब मैं मूतने लगा तो समीर बोला कि यह पेशाब मेरे मुंह में छोड़ो.

मैं उसकी नन्ही सी अनचुदी चूत को मसलने लगी तो उसकी सांसें तेज हो गईं. टाइम निकलता गया और मैं बस भाभी के नाम की मुठ मारता रहता, सोचता कब इनके नग्न बदन के दर्शन होंगे. बुर चुदाई वाला वीडियोजब उसे लगा गोपाल बहुत ज़्यादा गर्म हो गया है, तब उसने नीतू को आवाज़ लगाई थी.

अब उस से रहा नहीं गया और उसने मुझे दबाते हुए नीचे बिठा दिया और मेरा मुँह अपनी जींस के ऊपर से ही ज़ोर से दबा दिया.

ऋतु- कितने मतलबी हो यार, जब खुद को चाहिए होता है, तो मुझे कसके पकड़ के करते हो और अब. तो मैं जल्दी से तुमसे मिलने तुम्हारे घर गई मगर वहां पता लगा कि तुम यहाँ आई हो तो मैं यहाँ आ गई और तुम दोनों की बातें सुनकर बाहर ही रुक गई.

सुमन- नहीं दीदी, बहुत देर कर दी आपने, जो वो चाहता था वो तो हो गया है, मैं कब की रंडी बन चुकी हूँ. दोस्तो, मैं माया फिर से एक नई और रियल सेक्स कहानी लेकर आपकी समक्ष हाजिर हूं. लगभग बीस मिनट में मामी की गति तेज हो गई और हर धक्के के साथ वे चीखकर गरम लावा छोड़ने लगीं.

करीब आधा घंटा तक खूब जम के चुदाई हुई… बीच में यश ने मुझे और भाई ने मम्मी को भी चोदा.

फिर उसने मुझे उठाया और बोली- मिस्टर संदेश चलिए मैं आपको छोड़ देती हूँ. एक बार तो मम्मी छटपटाईं, लेकिन दूसरे झटके में आधे से भी ज्यादा लंड अन्दर समा गया. मैं उससे बोला कि बोलिए क्या लोगी?तो उसने कहा- कुछ नहीं!मैंने कहा- ये भी क्या बात हुई.

चोदा चोदी इंग्लिश पिक्चरगुलशन जी तो बस मज़े लेने में लगे हुए थे और सुमन की उत्तेजना अब चरम पर पहुँच गई थी- आह. ये बस तुम्हारी ही है।फिर हम दोनों 69 में आ गए। मैंने एक उंगली डाल कर उस की चूत के छेद को चूसना शुरू किया.

अन्तर्वासना सेक्सी कहानी

मैंने अपना अगूँठा उसकी गांड में डाल दिया… तभी एकदम से उसके शरीर में कंपकंपी सी उठी और वो झड़ गई. पर ये समझ में नहीं आया कि घर पर तो मेरी तरफ देखती नहीं थीं और आज कपड़े फाड़ कर चुदवा रही हो?मैं बोली- जब लड़की की चूत को कोई भी चिपचिपा बना दे तो वो उस बंदे से वो चुद कर ही रहेगी, चाहे कोई भी हो. मम्मी उनके तेवर समझ गई थीं, मम्मी बोलीं- हम तो पास के गांव जा रहे हैं.

तुम चलते हो क्या मेरे साथ… मुझे राम टेकरी छोड़ने पप्पू?रूपा ने आखिरी शब्द आँख मारते हुए कहे. वो मेरे निप्पलों को मसल रहा था, मेरी कमर को अपने हाथों में जकड़े हुए गर्दन को चूम रहा था, उसकी हर एक हरकत मुझे पागल कर रही थी. फिर हम सब घर आये रात को, खाना बनाया एक बार फिर से चुदाई की और सो गये.

फिर वो दिन आ गया जब मैंने मोनिका के लिए मंगलसूत्र खरीदा, सिंदूर लिया साड़ी ली. जल्द ही हम दोनों नंगे हो गए थे और भाभी जी ने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया था. इस भाई बहन की चुदाई की कहानी के पिछले भागदीदी का सेक्सी जिस्म और हमारी कामुकता-1में आपने पढ़ा था कि दीदी ने फोन पर जीजा जी से बात की और उदास हो गईं.

मुझे पता है तेरी बेटी है तो वो गर्म चूत तो होगी ही!बाथरूम के दरवाजे के बाहर नीचे बैठ कर रूपा पप्पू कालंड चूसने लगीऔर पप्पू की होल से बाथरूम में नीता को देखने लगा. वो शादी शुदा था और उसकी बीवी सुरैया ख़ातून जो मेरी भाभी थी, वो भी एकदम मस्त माल थी.

शिवानी ने एक टाइट प्लाजो पहन रखा था जिसमें उस के पट और चूतड़ तो फंसे हुए थे परंतु उस का प्लाजो नीचे से खुला था.

मैंने मम्मी से पूछा- नींद क्यूँ नहीं आ रही थी?तो मम्मी कहने लगी- आज मेरा लेस्बियन सेक्स करने का मन है!मेरा मन नहीं था मगर मैं कुछ बोली नहीं क्योंकि थोड़ी देर पहले ही मुझे मेरे छोटे भाई ने चोद लिया था. नादिया अली सेक्सी वीडियोमुझे पता है तेरी बेटी है तो वो गर्म चूत तो होगी ही!बाथरूम के दरवाजे के बाहर नीचे बैठ कर रूपा पप्पू कालंड चूसने लगीऔर पप्पू की होल से बाथरूम में नीता को देखने लगा. योगा की सेक्सीसबने सेक्स पॉवर की गोली खा ली, उसके बाद अतुल ने टीना और फ्लॉरा को अपने दाएं बाएं बैठा लिया और अपना लंड बाहर निकाल लिया. तभी मुझे अपने अन्दर कुछ कटता सा महसूस हुआ शायद मेरा स्खलन हुआ था, इसी के साथ विजय की पिचकारी ही छूट गई.

खैर कुछ ज्यादा जोर ना देकर मैं घर में आ गया और खाना खाकर सोने लगा, लेकिन आज तो नींद मेरी आँखें के नजदीक भी नहीं आ रही थी.

मेरा लंड तो पहले से ही खड़ा था, क्योंकि रास्ते भर तो वो लंड को मसलती रही थी और उसके मुँह में जाते ही वो और अकड़ गया. रोज की तरह सुबह गोपाल आया तो मोना ने उसको बताया कि आज साधु बाबा आने वाले हैं और उसकी नीतू को चोदने की मुराद पूरी होने वाली है. उसको भी धीरे धीरे पता चलने लगा कि उसकी गाण्ड पर कुछ टकरा रहा है।एक और धक्का आया और वो फिर पीछे की ओर आई.

लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद हम दोनों पूरी तरह से पसीने में हो गए थे. फिर बस 7:00 पर रवाना हुई, थोड़ी देर बाद मैंने पीछे से महसूस किया कि किशोर एकदम से मेरे से टच होते हुए खड़ा था. मैंने उसके डोलों को भी ऊपर नीचे करते हुए चाटा, साथ ही उसके हाथ को ऊपर उठा कर उसकी बगल से आती मदहोश खुशबू का भी आनन्द लिया.

ब्लू नंगी फोटो

दोस्तो, मैं अवि आप लोगों को अपनी रियल चुदाई कहानी बताने जा रहा हूँ मेरी उम्र 24 साल है. हालांकि पप्पू खुद शराब नहीं पीता था पर उसने रूपा को शराब पीने की आदत डाल दी. मैंने उसकी सलवार के फटे स्थान से उंगली अन्दर ले जाते हुए फांक में दो उंगलियां घुसा दीं.

इधर रागिनी भी कामुक सीत्कारें लेने लगी- आआह हहह ओहहहह सर बहुत अच्छा लग रहा है आहहह.

तो चारपाई के नीचे पहले से छुप जाता था, मैं दीदी की चूत को देखना चाहता था.

मेरा चूमना क्या हुआ कि रीना तो अपनी छाती उठा उठा कर सिसकारियाँ भरने लगी- स्स्स्स्श उह्ह्ह्हा. मैंने उसको ऊपर होकर अपनी चूत पर थूक लगाया और चूत टिका कर बैठ गई और अपनी गांड हिलाने लगी. काजोल की सेक्स वीडियोहुआ यूँ कि देर रात हम रूम में थे, मुझे खिड़की पे कुछ आहट सी सुनाई दी, मैंने बाहर जा कर देखा तो वही लड़का था जो खिडकी से झाँक रहा था.

मैंने एक बार कैंप की ओर देखा। रात के तीन बज रहे होंगे। सब सो रहे थे। किसे पता था कि अंधेरे जंगल में आग लगी हुई है।तभी मैंने महसूस किया कि सलोनी मेरे बालों में हाथ फिरा रही है. खाने का बिल देने के लिए जब अंशु पर्स खोलने लगी तो रवि ने उसे मना किया और खुद भुगतान कर दिया. मैंने जब माही के कमरे की खिड़की से देखा तो मैं अन्दर का नज़ारा देख कर दंग रह गया.

तुम्हारी बुर भी पानी छोड़ रही होगी ना?अपनी भानजी के मुख से मेरी बेटी के सामने ऎसी खुली अश्लील बातें सुन कर मुझे विश्वास हो गया था कि पिन्की तो आज ही मुझे मेरी बेटी की बुर दिलवा देगी. नीता के कंधे पर हाथ रख कर नज़र उसकी चूत और मम्मों पर बारी बारी घुमाते हुए पप्पू बोला- अरे इतनी क्या जल्दी है बेटा, सब होने के बाद बता दूँगा.

अचानक उसको याद आया कि परसों उसके पति बाहर जा रहे हैं और बच्चे मामा के घर जाएंगे, वो उस दिन घर में अकली रहेगी.

रूम के नाम पर दो ही थे, पर इतने बड़े थे कि शहर के चार रूम आ जाएं… फिर भी जगह खाली रह जाए. उसके बाद मैंने भाभी की चुत पर अपना लंड का सुपारा रख कर जोर से धक्का दिया. नीता ने घूम कर रिमोट छुपाया और पप्पू पीछे से उसे दबोचते हुए रिमोट लेने की कोशिश करने लगा.

एक्स एक्स सी ओ एम अब मेरे सामने थे-मेरी चूत की भूख और भाई का लंडमुझे भाई का लंड लेना था. मैंने किशोर की तरफ गुस्से से देखा तो उसने अपने कान पकड़े और सॉरी जैसा मुँह बनाया.

उन दोनों ने बियर के गिलास ख़त्म किये थे और खाना खाने की तैयारी कर रहे थे. उसने शादी के बाद मुझसे बात करने का वादा किया था, उससे जैसे ही बात होगी. हमने फिर हिंदी में बात शुरू की, मैंने कहा- रिया क्या करें?तो उसने कहा- यार, मेरी भी समझ नहीं आ रहा है.

नींद की टेबलेट

मैं बस उन की छाती में समा जाना चाह रही थी।वो धीरे धीरे नीचे जाने लगे। अभी बारिश भी थोड़ी तेज होने लगी थी, मैंने जीजू से कहा- जीजू, बारिश तेज हो गई है, अब क्या करें?तो उन्होंने कहा- मेरी जान, बारिश में ही तो चुदाई का असली मजा है, तुम तो बस अपनी चूत की चुदाई के मजे लो और मुझे चोदने दो. उसने कहा- क्या आप किसी विवाहित महिला के साथ सेक्स करना चाहते हो?मैंने कहा- मैं विवाहित महिला के साथ सेक्स करना नहीं चाहता हूँ. रिया ने मेरा हाथ अपने हाथ में लिया और कहा- जान, मजा आ गया यार! आज तो हम दोनों बाजारू औरतों से भी कुछ ज्यादा ही इस्तेमाल हो रही हैं.

लेकिन आपका मुँह ऐसे क्यों हो गया?उसकी इस साफगोई से मुझे कुछ राहत मिली और मैंने कहा- क्या. 36डी की चूची, 28 इच की कमर और चूतड़ 34 इंच के तो होंगे ही!पायल ज्यादातर पूरे दिन हमारे घर पर ही रहती है.

एक उंगली अचानक उसकी गांड के छेद में गयी, तो उसने मुँह से लंड निकालते हुए मुझसे कहा- राजा अभी तो बहुत वक्त है.

मैंने भी बिना देर किए लौड़े को उसकी बुर के छेद पर रखा, एक हल्का धक्का दे मारा. यह सब देख कर पप्पू ने रूपा के मम्मे मसलते हुए उसका मुँह चोदना शुरू किया. इधर अमित से भी रहा नहीं गया और उसने माया की चुत पे अपनी जीभ लगा दी.

अब जब इनके लंड को तेरी कुँवारी बुर की जरूरत है तो नखरे करती है? अब चलो और जिस लंड से तुम पैदा हुई हो, उस लंड का पानी अपनी बुर में ले लो. अब ये आगे क्या गुल खिलाएगी ये तो आपको आगे आने वाले पार्ट में पता लगेगा. दूसरे बगल में जो एक अंकल मतलब चाचा के दोस्त बैठे थे, वे भी मुझ से सटे थे, उनको भी थोड़ी थोड़ी हरकत होने लगी थी, मुझसे पूछने लगे- आरती, कुछ परेशानी तो नहीं हो रही?मैं बोली- नहीं!अंकल बोले- तुम बहुत खूबसूरत दिख रही हो!मैंने बोला- थैंक्स!इधर मेरे रियल चाचा मेरी सलवार का नाड़ा खोलने लगे, मैं हाथ पकड़ने की कोशिश की पर मुंह से कुछ ना बोल पाई.

तो वो बोला- ना साले… जब लंड नै देखै था जब ना सोच्ची तन्नै अक गैंड भी मारी जावगी…(जब लंड की तरफ देख रहा था तब नहीं सोचा तूने कि गांड भी मारी जाएगी)यह कह कर उसने दूसरी उंगली भी गांड में डाल दी.

बीएफ पिक्चर सील पैक: मैं बिना किसी भूमिका के मामी की गंडासे जैसी धार दार गांड मारने लगा और अर्चना दीवार पकड़ कर खड़ी अवाक होकर ये गांड मराई का नजारा देखती रही. एक बात बता दूँ कि उस घर में आंटी और अंकल व उनके 4 बच्चे हैं, सबसे बड़ा लड़का जोकि मुझसे 2 साल बड़ा है राहुल, उससे छोटी लड़की नेहा, फिर लड़का और एक लड़की, जो अभी बच्चे हैं.

उसकी पूरी चूचियाँ चाट कर और निप्पल चूसते हुए पप्पू अब नीता के ऊपर बैठ गया. अब तो आंटी ने अपने गाउन के बाकी बटन भी खोल दिए और आंटी पूरी नंगी मेरे सामने लेटी हुईं, अपने मम्मे मुझसे चुसवा रही थीं. उसकी इस तरह की कामुक बातों से अब कहीं ना कहीं मैं भी उसकी बातों में खोने लगी क्योंकि मुझे भी पता था कि मैं क्या हूँ और लोग मुझे कैसे देखकर आहें भरते हैं.

ह्हह…” की आवाज करने लगी। ममता जी भी अब अपने कूल्हों को उचका उचका कर मेरा पूरा साथ दे रही थी। मैं भी अब पूरे जोश में आ गया और अपने कमर से ऊपर के भाग को ऊपर उठा कर धक्के लगाने लगा जिससे ममता जी और भी जोर से अआआ.

तभी मुझे अपनी चुत में कुछ गीलापन महसूस हुआ, तो मैं फ़ौरन बाथरूम में गई और अपनी सलवार उतार कर देखा तो मेरी चुत ने रस छोड़कर मेरी पेंटी को गीला कर दिया था. मैं सोचने लगा कि मामा का लंड क्या इतना बड़ा है जो मामी की चीख़ निकल आई. रात को जब हम बेड पर सेक्स के मूड में थे, तब मैंने सागर से कहा कि मेरे दिमाग़ में एक प्लान है, अगर वो सही से होता है तो फ्लैट सिर्फ हमारा हो सकता है.