बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ हिंदी चुदाई वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी रानी चटर्जी: बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ, हमने तो सोचा था आज तुम दोनों की ही चुत मिलेगी, मगर तुमने तो तीसरी चुत का बंदोबस्त करके पार्टी की रौनक बढ़ा दी.

सेक्सी व्हिडीओ भोजपुरी बीएफ

जीजू ने मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोला तो मैं अपने जीजू का लंड चूसने लगी. बीएफ बीएफ बीएफ सेक्सी सेक्सी सेक्सीदोनों जॉब करते थे और दोनों के दफ्तर पास पास थे, इसलिए दोनों भाई रोज़ एक ही कार से ऑफिस जाते थे.

मेरी हिम्मत और बढ़ी और मैंने खुद से अपना हाथ उठा कर अपना हाथ उनकी चुचियों पे रख दिया. ससुर बहू की बीएफ पिक्चर हिंदी मेंदारू के नशे की वजह से मुझ में हिम्मत आ गई और मैंने भाभी की तरफ देख कर एक स्माइल कर दी.

हालाँकि मैं जानता था कि मुझे जाना नहीं हैं और आज की रात विनीता के साथ ही बिस्तर गर्म करना है.बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ: फिर मैंने खाना खाया और अपने डैडी के लिए भी लेकर खेत में भी चला गया.

एक हफ्ते में मैंने मौसी की चूत का भोसड़ा बना डाला था और कई बार गांड भी मार चुका था.लंड के आजू बाजू में घनी झाँटें देख कर उसमें अपनी उंगलियाँ घुमाती हुई वो बोली- ओहह वाओ! क्या मस्त लंड है तेरा पप्पू.

हिंदी बीएफ शायरी वॉलपेपर सोंग डाउनलोड - बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ

उसने नीचे की ओर इशारा किया, मैं समझ गया और मैंने उसे खड़े होने को कहा.आप आराम से बैठ जाइए और आगे कुछ मत पूछिएगा कि आप कहाँ पे हैं, किस एरिया में हैं.

” अंकल ने मेरे गुलाबी सफ़ेद स्कर्ट में हाथ डालकर मेरी गोरी गोरी टांगें सहलाते हुए कहा. बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ उसके अपने दोनों छोटे भाई बहन आपस में प्यार करने में लगे हुए थे, पर ये प्यार भाई बहन के प्यार की तरह बिल्कुल नहीं था.

दीपक घुटनों पर बैठ मामी की चुत चपड़ चपड़ चाट रहा था और राम उनके चूचों पर जीभ फेर रहा था.

बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ?

उसके बाद उसने मेरे दोनों मम्मों को मसलते हुए अपने लंड के सुपारे को मेरी चुत पर रगड़ना शुरू कर दिया. मैं बहुत तेजी से रेखा की कुंवारी चूत चोद रहा था और उंगली से पिंकी की चूत को चोद रहा था. यही सोचते हुए पप्पू ने पीछे खड़े होते हुए हल्के से उस औरत की गांड को छूते हुए खुद बोला- उफ्फ साली कितनी भीड़ और गर्मी है, कितने लोग भरे हैं बस में.

दोस्तो, इस सेक्सी कहानी के पिछले भाग में सुमन की सुहागरात यानि सीधी सादी कॉलेज गर्ल की पहली चुत चुदाई कैसे हुई, आपके सामने लाकर आपकी इच्छा मैंने अच्छी तरह पूरी कर दी थी. रविवार को दोपहर 11 बजे हम दोनों इन्दौर के सरवटे बस स्टैंड में एक दूसरे से मिले. फिर मैं मम्मी के साथ अगले दिन पास के गांव जो हमारे गांव से करीब 7-8 किमी दूर था.

बहूरानी मुझसे बेचैन होकर लिपटने लगी; और अपनी चूत देर देर तक ऊपर उठाये रखते हुए लंड का मज़ा लेने लगी. सारिका मेम ने फ़ोन काट दिया और फिर जब मैं सुबह कोचिंग सेंटर गया तो क्लास अटेंड की. सामने का ये नजारा देखकर नवीन (शीला का पति) की हंसी छूटी- अरे यार, क्या तगड़ा है तुम्हारा लंड.

उसकी गांड का सुराख पूरी तरह से खुला हुआ था और उसके नीचे मेरा मोटा सख़्त लंड मेरी बेटी की चूत में जड़ तक फँसा हुआ था. लंड अन्दर जाते ही मॉंटी को लंड पे अजीब सा गर्म गर्म अहसास हुआ उसकी आँखें मज़े से बंद हो गईं.

लेकिन अभी ये फोन मुझे दे दे।वो नशे में था और मेरी बात सुन ही नहीं रहा था- चल साले गंडवे, फोन तो अब मेरा है.

मैंने ‘सरदार जी पापड़ वाले’ के यहाँ से अपना सामान खरीद लिया और फिर हम लोग ‘गड़बड़ झाला’ गए, जहाँ उन तीनों ने काफी सारी खरीदारी की.

मैंने उस का पूरा माल अपने हाथ में इकठ्ठा कर लिया, जिसे समीर पी गया. हाँ पापा जी, आज जब हम डिनर करके उठ गए तो मैं भी घर का काम समेट कर, मन को पक्का करके लेट गयी थी कि अब आपके साथ वो सम्भोग का रिश्ता फिर से बिल्कुल नहीं बनाना है. मैं अर्चना की चूत को चूसने लगा और अपनी जीभ को उसकी चूत के बीच डाल कर काम रस को चाटने लगा.

और आप यहाँ कैसे?तो वो बोलीं- यार आज मैंने एक बहुत ही ख़राब सपना देखा और मैं बहुत डर गई हूँ, इसीलिए यहाँ तुम्हारे पास सो गई. जहां तक मुझे याद है सबके 7 और 8″ के ही लंड थे और सब बस मजा ले रहे थे. यह सब देख कर पप्पू ने रूपा के मम्मे मसलते हुए उसका मुँह चोदना शुरू किया.

मैंने समझते हुए अपने लंड पर हाथ फेरा और कहा- ओह्ह्ह ये वाला?तभी कविता ने पास आकर मेरा लंड पकड़ लिया.

मैंने मामी को डॉगी स्टाइल में आने को बोला तो वो तुरंत कुतिया बन गईं. घर के सब लोग बाहर बाजार जाने वाले थे, मुझे जैसे ही पता चला कि नेहा दी नहीं जा रही हैं, सो मैंने भी जाने से मना कर दिया. बीस मिनट की लम्बी चुदाई के बाद मैंने अपने लंड का वीर्य उस की चूत में छोड़ दिया.

नीता को नहाते देखने के ख्याल से और रूपा द्वारा लंड चूसने से वो यह सोच कर गर्म हुआ कि है तो साली बीस साल की, पर जिस्म एक भरी हुई औरत जैसा है. दोस्तो, आप जितने भी पाठक हैं सभी अच्छे से जानते हैं कि शायद आज की दुनिया में जो चीज़ सबसे सुलभ है, वो है सेक्स. मैं अपनी भावनाओं को अंदर ही रोकते हुए उसकी हां में हां मिलाता हुआ मुंडी हिलाता रहा.

सुमन- आप तो कितनी बार बाहर रहती हो, फिर क्या प्राब्लम है… आप उनको बता दो.

[emailprotected]ये मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, मैं आपके कमेंट का वेट करूँगा. जब मुझे लगा कि वो शांत है, तब मैंने हाथ उसके मुँह से हटाया तो वो रोते हुए बोली- हट जाओ पापा.

बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ मुझे तो लगता था कि मेरी दुनिया पीटर तक ही सिमटकर खत्म ही जाएगी। मगर तेरी वजह से आज इतने सारे मजे कर रही हूँ. मेरी तो जैसे लॉटरी निकल गई हो, मैं बहुत खुश था कि ये तो अब मेरी है.

बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ इसके बाद जब भी जीजू को मौका मिलता था, वो मेरी चूची दबा देते थे और मैं अपने जीजू को सेक्सी वाली स्माइल देती थी. उस वक्त मुझे सेक्स के बारे में ज़्यादा कुछ नहीं पता था, पर मेरे दोस्त ने एक दिन बताया कि लड़के ने मुझे मुठ मारने के बारे में बताया.

जब मैं उनको पीछे से चोद रहा था तब उनकी भारी गांड देख कर मैंने उसी वक्त सोच लिया था कि उनकी गांड ज़रूर मारूंगा.

जिम हिन्दी xxx वीडियो हिन्दी में

मैं दीदी से सॉरी बोल रहा था तो दीदी ने कहा- मैं यहाँ अपना पर्स भूल गई थी, वो लेने आई थी. वो भी मेरे लंड के ऊपर फिदा हो गई थी और बाद में उसने अपनी बहुत सी सहेलियों को मुझसे चुदवाया. जिस तरह पप्पू उसकी चूत चाट रहा था, उससे रूपा मदहोश हो कर पप्पू का सिर चूत पे दबाते हुई बोली- आहहह चोद जैसे मर्ज़ी आए वैसे चोद.

फिर मैं उसके पास से बोतल लेकर आ गया और एक शॉप से अच्छा सा छोटा टेडीबियर का गिफ्ट पैक करवाया. मैं पागल हुआ जा रहा था, मैं मामी को बोला- मामी, मेरा निकलने वाला है. अब जब इनके लंड को तेरी कुँवारी बुर की जरूरत है तो नखरे करती है? अब चलो और जिस लंड से तुम पैदा हुई हो, उस लंड का पानी अपनी बुर में ले लो.

चाची के पैरों को समेट कर एडजस्ट किया, जिससे उनकी गांड पूरी तरह से खुल गई.

मैं भी अपनी गुलाबी गर्म जीभ को उसके मुँह में डालकर चारों तरफ़ घुमाने लगी. पहले स्कूल में मेरा फिगर ऐसा नहीं था, पर हाईस्कूल में गई, तब मेरी सब सहेलियों की संगत के कारण ऐसी हो गई. अब बाथरूम के दरवाजे से लॉक निकल जाने से उस छेद से बाथरूम के अन्दर का सीन दिखने लगा था.

मैंने अंजलि को बेड के किनारे पर डॉगी स्टाइल में किया और एक पैर बेड पर. लेकिन वो कुतिया शायद यह नहीं जानती कि मेरा पति ने तो उस की छोटी बहिन को भी नहीं बक्शा, वह उन दोनों बहनों की चुदाई करता है, सारी सारी रात उनके पास रहता है, इसीलिए वह मेरी ओर ध्यान नहीं देता. दोस्तो, मैं दिनेश, मेरी पिछली कहानीमेरी मामी के साथ सहेलियों का लेस्बियन सेक्समेरी साली ममता की सहेली सुधा की थी, भूल गए तो बता दूँ कि मेरी साली ममता बड़ी नखरे वाली थी, उसे मैंने बड़ी मुश्किल से पटा कर चोदा था.

एक बार उन्होंने उंगली पर थूक लगाया और धीरे से चुत में थोड़ा घुसा दिया, जिससे सुमन तड़प उठी. लेकिन किस्मत मेहरबान तो गधा पहलवान, उसी वक़्त मामी का भी काम तमाम हो गया.

सुमन जल्दी बाहर आ गई उसके बाद नाश्ता किया और अपनी माँ का हाथ बंटाने लगी. बहूरानी की चूत से निकलती फच फचफच फचाफच फचा फच की आवाजें, नंगे फर्श पर गिरते उसके कूल्हों की थप थप और उसके मुंह से निकलती कामुक कराहें ड्राइंग रूम में गूंजने लगीं. तभी अर्चना एक मार्मिक चीख के साथ अपना कामरस छोड़ने लगी और मैंने गरम और नमकीन पानी चाट कर उसकी बुर को साफ कर दिया.

हमेशा की तरह पांच बजे मेरी नींद खुल गयी, बहूरानी का एक हाथ अभी भी मेरी गर्दन में लिपटा था और वो नींद में किसी अबोध शिशु की तरह गहरी गहरी सांसें लेती हुई निद्रामग्न थी.

भोर में मेरी बहन ने मुझे जगाकर मेरे चोदू दोस्तों को विदा करने को कहा, जो अभी भी मामी को चोद रहे थे. मैंने कहा- अगर तुम कहते हो तो मैं पकड़ लेती हूँ लेकिन तुम कुछ और तो नहीं करोगे ना?वो बोला- बिल्कुल नहीं. अपना इंट्रो तो दे दो, पता तो चले कि हमारे मेहमान कौन हैं?सबने एक-दूसरे को अपना नाम बताया और थोड़ी हल्की हँसी-मजाक भी की.

मैंने अन्तर्वासना पर और इंटरनेट पर कई बार भाई-बहन की चुदाई के किस्से पढ़े और देखे थे. वैशाली ने बीच में अपना हाथ डाला और मेरे लंड हो हाथ से पकड़ कर बाहर निकाल दिया और शिवानी की गांड और चूतड़ों पर फिराने लगी.

और चुदाई देखने के लिए कल कुछ आईडिया कर लेना।सुबह हुई और उनके पति काम पर चला गए। आंटी ने मुझसे बात की और खाना खिलाया।मैं इंतज़ार करने लगा कि कब चूत रानी देखने को मिलेगी। जैसे ही वो नहाने गईं मैं जल्दी से दरवाज़े से झाँकने लगा। लेकिन मेरे किस्मत खराब निकली. तो थोड़ी देर में वो अपनी गाण्ड हिलाने लगी।मैंने उसकी हरी झण्डी समझ कर धक्के लगाना शुरू कर दिए, वो आह. कहानी का पहला भाग :मामी की चुदाई के बाद उनकी बेटी को चोदा-1नमस्कार खड़े लंडों को और गीली चुतों को दंडवत प्रणाम, मैं भगवानदास अन्तर्वासना का 4 साल पुराना पाठक हूँ.

ओपन सेक्सी मसाज

एक दिन मैं जाड़े का धूप सेंकने छत पर टहल रहा था, नीचे सभी औरतें आंगन में नहा रही थीं.

पिंकी बोली- हरामजादी तेरी बुर में ज्यादा आग लग रही है, चुदने को बड़ी बेताब हो रही है री कुतिया?रेखा- चुप कर हरामजादी, खुद तो मेरे पापा से अपनी बुर चुदवा कर मज़े ले चुकी. फिर उसने जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया और वो जोर से कराहने लगी- ओह्ह. मेरा मतलब कहीं किसी के साथ रासलीला तो नहीं करने जाते?सुमन- ऐसा कुछ नहीं है यार… अगर ऐसा ही होता तो रोज तड़पते नहीं, उनका अजगर हर वक़्त खड़ा ही रहता है.

मुझ पर नशा सवार होने लगा था और मेरा मूड बहुत ज्यादा सेक्सी हो गया था. फिर मैंने नागपुर में एक मॉल में जाकर उसके लिए जॉकी का ब्रा-पेंटी का सैट लिया. एक्स एक्स एक्स हिंदी में बीएफ वीडियोमामी को असीम आनन्द की अनुभूति हो रही थी जिससे उनकी आँखें बंद होने लगीं.

किसी महान व्यक्ति ने कहा है कि चाहे गोरी हो या काली हो, सीने से लगाने वाली हो. वो साला इतना बड़ा वेवड़ा था कि एक बोतल के लिए कुछ भी करने को तैयार रहता था.

मेरी सारी सहेलियों ने अपने अपने बॉयफ्रेंड्स बना लिए थे। वो बार बार मुझसे कहती थी- रीना! क्या तेरा चुदने का मन नहीं करता? अगर करता है तो कोई लड़का पटा ले और कोई बॉय फ्रेंड बना ले।सुन कर मेरे मन में भी गुदगुदी सी होती थी और मैं भी अपनी जवानी का मजा लेना चाहती थी. भाभी ने कहा- यार देखते ही रहोगे कि अन्दर भी आओगे, कोई देख लेगा जल्दी अन्दर आओ. मैंने उसकी आँखों में हैरत से झांका तो उसने कहा- तुम्हारा मुझको देख कर मुठ मारना मुझे अपने लिए कॉंप्लिमेंट सा लगा और मैं इस तरह से धन्यवाद कहना चाहती हूँ.

सुमन को जब गर्म अहसास हुआ वो समझ गई कि पापा जी ने लंड को कैसे फँसाया हुआ है मगर वो अनजान बनी रही. जीजाजी ने बुआ को स्टोर रूम में जगह के बारे में बताया, बुआ स्टोर रूम में बिस्तर लगाकर खाना खाने चली गयी. घर में जैसे उनसे बात करना सम्भव ही नहीं है क्योंकि उन्हें बात करना ही पसंद नहीं! घर में एक वीरान सी खामोशी और सन्नाटा छाया रहता है टीवी की आवाज के अलावा और कुछ सुनाई नहीं देता.

उधर पहुँच कर मैंने बाइक को खड़ा किया और आरती को देखा तो उसको देखते ही रह गया.

उसने मेरी गांड पर एक जोरदार थप्पड़ मार कर बोला- कहाँ चली मेरी जानेमन. मैं वादा करता हूँ कि आज के बाद इस तरह की गल्ती कभी नहीं होगी और हम पहले जैसे थे.

पर मेरी चूत मारी नहीं थी, आज आप पहले व्यक्ति हो जिसने मेरी चूत का सील तोड़ा, देखो खून निकल आया होगा!एडल्ट स्टोरी जारी रहेगी. सागर ने पूछा- तुम्हारे दिमाग़ में क्या प्लान है?तब मैं कुछ देर सोच कर बोली- अगर तुम तुम्हारी बड़ी बहन से सेक्स करते हो तो…मैंने अभी अपनी बात पूरी भी नहीं की थी कि तब तक सागर मुझ पर चिल्लाया- क्या पागलों जैसी बातें कर रही हो पल्लवी. फिर कुछ देर बाद विया दीदी ने मुझे आवाज़ लगाई और बोलीं- मेरा एक काम कर दे.

टीना- घर वालों की बात जाने दो, पुलिस तक गई तो वो पूछेगी और बार बार बुलाएगी. अमित ने बाल खींच कर माया का सर ऊपर किया और उसकी गांड पे एक चपत लगाई. अगले दिन जब मैं वहां पहुँचा तो मेरी आँखें सिर्फ़ अनुराधा को ही तलाश रही थीं.

बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ यह बात भी मैंने उन लड़कियों से बोली, पर पता नहीं उनको कुंवारे लड़कों के साथ क्या प्रॉब्लम होती थी … किसी ने मुझे घास ही नहीं डाली. शमशेर के हटने के साथ ही भोला ने मम्मी के दोनों पैरों को अपने कंधे पर रख लिया, जिससे अब मम्मी के दोनों पैर आसमान की तरफ हो गए और चूत उभर कर ऊपर हो गई.

हिंदी पोर्न सेक्स

लगभग दस मिनट में मेरी चूत बहुत गीली हो गई और अब मुझे कुछ नहीं याद कि क्या मैं करूं, क्या नहीं! कौन मेरी बगल से बैठा है और क्या ठीक है. साथ ही एक हाथ से उसकी चुत सहलाता और कभी उंगली को उसकी चुत में डाल देता. लेकिन एकदम से उसने बहुत तेज झटका मारा और पूरा लंड मेरी गांड में चला गया.

[emailprotected]कहानी का दूसरा भाग :रिश्तेदारी में आई लड़की को पटा कर चोदा-2. पार्क क्या था मोटे मोटे शीशम के पेड़ और नदी किनारे बहुत दूर तक जंगल सा फैला हुआ था. सेक्सी बीएफ फुल वीडियो एचडीइस चुदाई की कहानी में मैं बता रहा हूँ कि मैंने अपनी मौसी को कैसे चोदा हूँ और उसकी 18 साल की लड़की को चोदने की मेरी लालसा का क्या हुआ.

गुलशन- देखो फ्लॉरा मैं तो पहले ही बहुत तड़प रहा हूँ… क्यों मुझे और तड़पा रही हो.

ये तो बाद में पता चलेगा कि ममता ने वो पायजामा क्यों पहना, पर पहना तो था ही. अमित कुछ बोलता, इसके पहले ही माया अपनी ब्रा और पेंटी उतार के अपने ड्रावर में छुपा चुकी थी.

कुछ देर लंड चूसने के बाद अर्चना बेड पर लेट गई और उसने अपने दोनों पैर फैला लिए और मुझे चूत चोदने के लिए बुलाने लगी. वो सिसकारियाँ भरने लगी, उसने मेरे मुँह को पकड़ कर अपनी चुत में दबा दिया. कुछ देर बाद उस अजनबी ने अपना लंड शिशिर की गांड से बाहर किया तो शिशिर भी मुझसे अलग हुआ.

मैं अगर लड़कों की भाषा में अपने बारे में कहूँ तो मैं एक अच्छा ख़ासा माल हूँ.

अब उसने मेरा ब्लाउज पेटीकोट सब उतार दिया और खुद भी सिर्फ़ अंडरवियर में आ गया. उसने बोला कि आप दो मिनट रुकिये मैं आपके पास आ रहा हूँ और उसने फोन काट दिया. मैंने दर्द से तड़फते हुए कहा- बाहर निकाल लो अपना लंड, बहुत दर्द हो रहा है.

साउथ की चुदाई बीएफमैं आगे से सोनिया की चूत में अपना लौड़ा दौड़ाते हुए उसके होंठों को भी अपने होंठों से चूस रहा था. उधर मेरे मामा भी फुल स्पीड से मेरी मामी की चुदाई कर रहे थे। लगातार फच्च फच्च की आवाज गूँज रही थी, लग रहा था कि मामी को खूब मजा आ रहा था, उनकी ऊँ-आँ ऊँ-आँ लगातार जारी था। मामा की भी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल रही थी.

क्सक्सक्स+विडिओ

मैंने साली के तलवे भी चाटे और उसके पैरों के अंगूठों को भी मुँह में ले कर चूसा. मैंने भी एक नारी का सम्मान रखते हुए उसके साथ उसकी इच्छा के विरुद्ध कुछ नहीं किया. जड़ तक लंड जाते ही मामी चिहुंक उठीं और ताबड़तोड़ लंड की सवारी करने लगीं.

एक दिन जब मौसी की लड़की पिंकी कॉलेज गई हुई थी और मैं छत पर था तब मौसी आँगन में नहा रही थीं. जींस को निकालने के बाद मेरे और उसकी चूत के बीच में केवल एक पैंटी ही रह गई थी. मगर दूसरे ही पल मैं सोचने लगी कि जो भी हुआ, इन सबने मेरी पहली चुदाई को यादगार बना दिया था.

वो मज़े लेने लगी तभी उसने अपनी जाँघों के बीच में मेरा सिर जकड़ लिया और एकदम से झड़ गई. दो दिन में बुआजी के घर रुका और इन 2 दिनों में मैंने अपनी जिंदगी को बहुत ही खूबसूरत तरीके से जिया. मैं समझ गया कि साली अब गरम होना शुरू हो गई है, बस मौके की तलाश में था.

कुछ देर तक नेहा ही वाशरूम से वापिस आई और उसने भी बताया कि उसने अपने बीएफ़ से चुदाई तो पहले भी की है, लेकिन इतना मजा कभी नहीं आया. मैंने भी देर न करते हुए अपनी पोजीशन ले ली, मुझे भी निपटने की जल्दी थी, आधी रात कब की गुजर चुकी थी मेरे पास बस यही रात थी.

आत्मा- देख तू सच से भाग नहीं सकता, आज वो जिस तरह तेरे लंड को चूस रही थी, उससे तुझे लगता है वो चीज को पहचानने की कोशिश कर रही थी और तो और वो गिरी घुटनों तक थी तो जाँघ और कमर पर कहाँ चोट लग गई.

तेरी जैसी गर्म औरत आज तक मेरे लौड़े ने नहीं देखी… इसलिए मेरा लंड ऐसे फुँफकार रहा है. सनी लियोन की बीएफ पिक्चर चुदाईबेटी इसे जवानी का खेल बोलते हैं, हम जैसे मर्द तेरी जैसी गर्म सैक्सी मस्त लड़की के साथ यह खेल खेल कर सिखाते हैं. बीएफ सेक्सी जापानमेरे पति ने मेरे दोनों बच्चों को हॉस्टल में भेज दिया है पढ़ाने के लिए और मेरे पति कभी भि मुझे वक्त नहीं देते. साथ ही वो काफ़ी ताकत भी लगा रहा था, जिससे मेरे लिए भी झटकों को सहन करना मुश्किल हो रहा था.

मैं अपनी जीभ को धीरे धीरे नीचे लाते हुए उसकी गहरी नाभि को नापने लगा.

तब मैं सकुचाते हुए पूछ ही बैठा तो मामा जी से पता चला कि अर्चना बाजार गई है, अभी आ जाएगी. मामी की चूत रेणु चाट रही थी, रेणु की बुर रितु, तो रितु की चुत पर अर्पणा ने हमला कर दिया था. तभी उसने एक ज़ोर की आह भरी और अपना पूरा वजन मेरे मुँह पर देते हुए लंड गले के टाँसिल तक घुसा दिया.

मैं उस के ऊपर चढ़ गया, मैंने उस की योनि की फांकों को खोल दिया और मेरे लंड का सुपारा उस में फिट कर दिया. मैं अपना लंड हिला रहा था और मेरी सिसकारियां शुरू हो गईं, वो दूसरी तरफ लेटी थी और मैं उसकी साड़ी में से उसकी गांड को इमेजिन करने लगा. कुछ देर के बाद हम दोनों अलग हुए लेकिन अभी पांच मिनट भी नहीं हुए थे कि मेरे लंड ने पुनः अकड़ना शुरू कर दिया.

वर्जिन चुत फोटो

यह सुन कर दीदी जोर जोर से हंसने लगीं और मुझसे पूछने लगीं- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने बोला- नहीं आज तक नहीं बनी. तू उसे अब खूब चोद और उसे भी जवानी का मज़ा दे!रूपा को नीचे बिठा कर अपना लंड उसके होंठों पे रख कर पप्पू बोला- तू अब उसकी चिंता मत कर मेरी रंडी, उसे तो खूब मस्ती से चोदूँगा मैं. अब मैंने धीरे से कविता की चुत में अपना लंड पेला तो उसके मुँह से हल्की सी आवाज निकली, तो मैंने उसका मुँह ख़ुशी की चूत को दबा दिया और वो उसकी चुत चाटने लगी.

कसम से, मेरी हवस इतनी बढ़ी कि मैंने दोनों लंड एक साथ मुँह में लिए! भले मेरा मुँह दोनों लंड एक साथ लेने जितना बड़ा नहीं था मगर उत्तेजनावश मैं उन्हें खा जाने की कोशिश करती रही.

मैं उससे बोला कि बोलिए क्या लोगी?तो उसने कहा- कुछ नहीं!मैंने कहा- ये भी क्या बात हुई.

क्या कमाल कासेक्सी माललग रही थीं भाभी यारो… भाभी ने मेरून कलर की साड़ी मेरून ब्लाउज. तो ये सबसे अच्छा मौका था मौसी और मेरे लिए… मौसी झट से मुझे अपने साथ दूसरे कमरे में ले गईं और अन्दर से कमरे को बंद कर लिया. सेक्सी बीएफ आ जाएहम दोनों ने निश्चित किया कि हम अगले रविवार को इन्दौर में एक लॉज में मिलेंगे.

मुझे देखना है आपने मेरी चुत का क्या हाल किया है?पापा- हट तो जाऊंगा बेटा. वो उसे हाथ में लेकर सहलाने लगीं और फिर अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं. उस की सहेली पायल घर आई और उस के बारे में पूछने लगी।जब मैंने उसे उस के जाने के बारे में बताया और उस को कहा- अगर तुम चाहो.

हम सभी फ्लैट से निकले और एक रेस्टोरेंट में गए जहाँ मनोज ने लंच करवाया क्योंकि उसने कहा कि आज की पार्टी मेरी तरफ से. मैं उसे बेड के एकदम नज़दीक ले आया, मेरी वाइफ ने अनजान बनते हुए पूछा- कहां चले गए थे? और अब ये लाइट बंद करो प्लीज़!मैंने कहा- करता हूँ यार… तुम बहुत मस्त लग रही हो, रोशनी में तुम्हें इस तरह पूरी नंगी देखने का मज़ा ही कुछ अलग ही है.

बहूरानी की चूत बहुत गीली होकर रस बहा रही थी यहाँ तक कि उसकी झांटें भी भीग गईं थीं.

मैंने भी इरफान को संभालते हुए उसकी पीठ में हाथ डाला, चाचाजी ने मेरा हाथ थाम लिया. इतना गोरा बदन देख कर तो मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था।मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था. अच्छे से कुचल दो मेरी चूत… आह… आह… क्या मस्त लंड है आपका…” बहूरानी अपनी ही धुन में बहक रही थी अब.

बीएफ बीएफ सेक्सी मराठी मैं उन दोनों से मिल कर बहुत खुश था और वो दोनों भी बहुत खुश लग रही थीं. उसके बाद मैंने अपने होंठ उसके होंठ से लगा दिए और उसकी गुलाब की पंखुरियों जैसे होंठों का रस पीने लगा.

रात डिनर लेने के बाद मामा मामी अपने कमरे में और मैं बहन के कमरे में सोने आ गया. लेकिन रिश्तों से दूर और आपसी सहमति से ही चुदाई करना मुझे ठीक लगता है।दिन बीतते गए और मेरा ग्रेजुएशन में एड्मिशन हुआ. मैं आपकी शॉर्ट्स और बनियान पहनूँ?नीता के पास जा कर पप्पू बोला- हाँ, क्यों? कोई प्राब्लम है तुझे? या तुझे इस टावल में ही रहना है नीता?नीता ज़रा सोच कर बोली- पर अंकल… वो मैं… ठीक है दे दो अपनी शॉर्ट्स और बनियान मुझे.

सेक्सी आंटी सेक्सी आंटी

मैंने उनके मम्मों को अपने हाथों में भर लिया और दीदी की गर्दन पर अपने होंठों को रख दिया. फ्रेश होकर नाश्ता किया और फिर आने का वादा कर अपने घर के लिए रवाना हो गया. जब भी उसे या उसकी सहेली को ऐसा समय मिलता तो वो एक दूसरे के घर एक रात आती जाती थीं, जिससे उनका समय पास हो सके.

धीरे से अपना हाथ मोनिका की चुत पर फेरा, जो मुझको आज भी फ्रेश लगती है. उसका लंड अभी भी उसके कच्छे में तना हुआ दिख रहा था लेकिन धीरे-धीरे नीचे बैठता जा रहा था.

इसलिए अब कोई शर्म लिहाज न करते हुए मेरे हाथ मामी के शर्ट में ऊपर की तरफ बढ़ने लगे.

अब मेरा सारा दिन रोमांच में बीत गया, एक ऐसी ख़ुशी का अहसास हो रहा था, जो कभी अनुभव ही नहीं किया था. बेटी इसे जवानी का खेल बोलते हैं, हम जैसे मर्द तेरी जैसी गर्म सैक्सी मस्त लड़की के साथ यह खेल खेल कर सिखाते हैं. उसके होंठ इतने गर्म हो रहे थे कि उनकी गर्मी मुझे मेरे होंठों पर महसूस हो रही थी.

संजय अभी भी स्पीड से गांड मारने में लगा हुआ था और पूजा बोले जा रही थी- आह… मामू सस्स आपका लंड बहुत अच्छा है… आह… चोदो… फाड़ दो मेरी गांड को… नहीं आह… ज़ोर से करो. मुझे तो लगता था कि मेरी दुनिया पीटर तक ही सिमटकर खत्म ही जाएगी। मगर तेरी वजह से आज इतने सारे मजे कर रही हूँ. उधर कुछ ही पल में अर्चना फिर से चुदासी हो गई और उसने भी चुदाई की मुद्रा में अपनी चूत खोल दी.

मैं अब चाचाजी से चुदना चाहती थी, चाचाजी के लिए मेरी फेन्टेसी अब बढ़ती ही जा रही थी और चाचाजी तरफ देखने का मेरा नजरिया ही बदल गया था, जिसे शायद चाचाजी ने भी महसूस किया था.

बीएफ पिक्चर नंगी पिक्चर बीएफ: सुमन ने फ्लॉरा को पूरा यकीन दिला दिया कि उसके पापा बहुत गहरी नींद में सोते हैं, तू जाकर लंड का मजा ले सकती है. अब मुझे तो ले लेने दे अपने बाप के लंड का स्वाद!मैं बोला- तुम दोनों लड़ो मत, तुम दोनों को मज़े दूंगा.

मामी के चेहरे से आत्म तृप्ति के भाव छलक रहे थे, भले ही उनकी गांड और चुत दोनों लहूलुहान हो चुकी थीं. टीना- अब पार्टी का मज़ा आ रहा है, जब तक नशा ना चढ़े, कुछ मज़ा ही नहीं आता. अरे उसकी शादी नहीं हुई होती तो मैं भगा कर ले जाता उसे और उस माल को तेरे बाप से भी ज्यादा चोदता रहता.

पहली रात में उसने मुझे ऐसा चोदा था कि चुत में से मेरा खून तक निकल आया था.

अब मैंने उसके होठों से यौवन का रस चूसते हुए अपने दायें हाथ से उसके गाउन को उसके जांघों तक सरका दिया और उसके केले के तने जैसी चिकनी और रेशमी जांघों को सहलाना शुरू कर दिया. यह कहते हुए चाचाजी खड़े से होते हुए अपनी सीट पर बैठ गए, जो आगे चाची ने भी देखा. सलमा उसके लंड को खाने के लिए कमर उछाल उछाल कर धक्के लगाने लगी, उसके नाज़ुक बदन का भार उस अजनबी के ऊपर था, जिससे उसकी बड़ी बड़ी चुचियां उसके मुँह से रगड़ खा रही थीं.