सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती

छवि स्रोत,ભાભિસેકસી વીડિયો

तस्वीर का शीर्षक ,

जंगल में चुदाई का वीडियो: सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती, उसने मेरा लंड फिर अपने मुँह में लेकर चूसने लगा मेरा लंड उसके गले की गहराई में जाकर वापस आ रहा था.

सेक्सी पिक्चर वीडियो सेक्सी फिल्म

मैंने दीदी से पूछा- ये कहां जा रहे हैं?वो बोली- उन्हें जरूरी काम से जाना है … सुबह ही वापस आएंगे. हैदराबादी ब्लू फिल्मउसका रंग बिल्कुल दूध सा सफेद था, उसका नाम नेहा था और वो 24 साल की थी.

मैंने कैसे उससे दोस्ती की और उसकी सील तोड़ी?हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम समीर है और मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है. सेक्सी फिल्में भेजो सेक्सी फिल्में भेजोउसने कहा- अरे ये तुमने क्या किया?मैंने कहा- ओह सॉरी मौसी, यह गलती से हो गया.

मुझे सुनकर बड़ा दुःख हुआ लेक़िन मैं कुछ भी नहीं कर सकता था क्योंकि उसकी शादी जो हो चुकी थी.सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती: रात की चुदाई के बाद दीदी की चूत काफी मस्त लग रही थी और वो अभी भी हल्की सूजी हुई थी.

जैसा कि मैं अपनी पिछली कहानीदोस्त को जन्मदिन पर दिया अद्वितीय उपहारमें पहले ही बता चुका हूँ कि हार्दिक को जन्मदिन पर मैंने अपनी गर्लफ़्रेंड शनाया चोदने के लिए दी थी और उसके बाद से हार्दिक उसे समय समय पर चोदता रहता है.ये सेक्स कहानी मेरी नहीं है बल्कि एक लड़की की है और उसी ने मुझे बताई है.

काजल अग्रवाल की नंगी तस्वीर - सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती

घर में जब संगो दीदी टाइट जींस में गांड मटकाती हुई चलती थी तो मेरा लंड मचल उठता था.”मैंने उसे एक हाथ से अपनी ओर खींच लिया तो सरिता के हाथ में पकड़ा हुआ मेरा लंड सीधे जाकर सरिता की चूत पर रगड़ खाने लगा.

मैंने झट से आंखें अधखुली कर लीं और सोने का ड्रामा करते हुए भाभी को निहारने लगा. सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती भैया के डॉक्टर होने की वजह से उन्हें किसी भी समय हॉस्पिटल जाना पड़ जाता था, कभी दिन में तो कभी नाइट में.

मैंने कहा- क्या आनन्द ने भी पीछे का स्वाद चख लिया है?ज्योति ने कहा- उससे आगे का किला ही तो मुश्किल से फतह होता है.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती?

मेरे वीर्य का टेस्ट करने का लेकर प्राची के दिमाग में क्या था, मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था. पहले ही तुम दोनों अपना बैग ऊपर रख दो, नहीं तो ओर मेहमान आएंगे, तो वो मेरे रूम में अपने सामान रखने के लिए बोलेंगे. अब तो दोनों की हालत बहुत खराब थी, हम दोनों सेक्स करना चाह रहे थे पर मौका नहीं मिल रहा था.

मैंने उसके कंधों पर दबाव बनाया और धीरे धीरे नीचे जाने का दवाब देने लगा. मैं- आप चिंता मत करो दीदी, अगर हमारा प्रेम मिलाप इसी तरह से चलता रहा तो तुम जरूर प्रेग्नेंट हो जाओगी. मैंने सरिता से पूछा- क्या छोटा है?सरिता बोली- बहुत बदमाश हो गए हो तुम.

कॉलेज में दोस्तों के साथ हर तरह की बातें होती हैं लेकिन अभी तक मैंने कभी अपनी मॉम को वासना की नजर से नहीं देखा था. मैंने कहा- एक रूम बुक करते हैं, वहां हम हग करेंगे और बहुत किस करेंगे. मैंने कैसे उससे दोस्ती की और उसकी सील तोड़ी?हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम समीर है और मेरी हाईट 5 फुट 10 इंच है.

तभी से तुम्हारे बूब्स को चूसने, तुम्हारी गांड को मसलने और चूत में अपना लंड डाल कर तुम्हें चोदने को तड़प रहा हूँ. अब सोहल मैसेज पर मैसेज कर रहा था कि मिलने के लिए जल्दी आ जाओ, तो हनी कैसे रुक सकता था.

बस एक गाली देती हुई बोली- भैनचोद, थोड़ा आराम से पेल … मनीष के आने तक तुझे ही चढ़ना है मेरे ऊपर, मैं कहीं नहीं जा रही!उसके मुँह से गाली सुनते ही मेरा लंड उसकी गांड में ही फूल गया और उसकी टाईट गांड मुझे और ज्यादा टाईट लगने लगी.

मैं अपने लंड से झटके देने लगा तो वो एकदम जोर जोर से कामुक सिसकारियां लेने लगी.

मुझे यकीन नहीं हुआ तो मैंने पूछा कि तुम इतनी ब्यूटीफुल हो तो किसी ने अब तक तुम्हें प्रपोज़ क्यों नहीं किया?इस पर उसने बोला कि उसके डैड से लोग डरते हैं. मुझे उदासी तो हुई मगर उसका ये कहना कि फिर कभी चलूंगी … मुझे काफी सुखद लगा. वो बोली- चाट इसे … अब बहुत देर हो गई तुझे तड़पाते हुए … अब नहीं रहा जाता.

हसित ने रीना का पेटीकोट ऊपर करना शुरू किया तो रीना ने अपने एक हाथ से पेटीकोट नीचे कर दिया. मैं जिया दीदी की स्टाइलिश जिंदगी को तो ही जानता हूं बल्कि उनकी पर्सनल लाईफ के बारे में भी काफी कुछ जानता हूं. मेरी सास ने मेरी साली को हमारे साथ रहने और अपने काम में रोजी की मदद के लिए भेजा.

वो बोली- ये तो तुम्हारी है ना हर्षद?मैंने उठकर शर्माते हुए कहा- हां सरिता ये मेरी ही है.

ये मेरे लिए एक अच्छा मौका था क्योंकि भैया पिछले एक महीने से बाहर थे, तो मैं समझ रहा था कि भाभी जरूर ही लंड की प्यासी होंगी. कुछ देर बाद मैंने पोजीशन बदल दी और उसको अपनी कुतिया बना कर उसको पीछे से चोदने लगा. डाक्टर ने बोला टायफाइड हो गया है, कुछ दिन इन्हें आराम की जरूरत है।मैंने दीदी से बोला- बेचारी मौसी मां इतना काम अकेले करती हैं, आप लोग भी हेल्प करा दिया करो।वो मुझपे चिल्लाने लगी, बोली- हमें पढ़ना रहता है और मौसी मां के लाडले … तू क्यूं कुछ नहीं करता?झगड़े की आवाज से मौसी मां जग गयी, बोली- क्या हुआ? क्यों झगड़ रहे हो?मैं तुरंत भागकर मौसी मां के पास गया और उनसे पूरा हाल पूछा.

फिर भी एक बार शनाया से पूछ लेता हूँ, यदि उसे कोई दिक्कत नहीं होगी तो इसे भी शनाया की चूत का मजा लेने की कह दूंगा. पापा ने पहले ही पता कर लिया था, इसलिए उन्होंने मुझे गर्ल्स हॉस्टल में रूम दिलवा दिया ताकि आने जाने की दिक्कत ही ना रहे. उनका हाथ अब कंधे की सीध में था।जाने अंजाने उनका हाथ मेरे लंड पर रख गया। मेरा लंड फिर से फुफकारने लगा.

मैंने कहा- हां भाभी मैं डरता था कि कहीं आपको मेरी किसी बात का बुरा न लग जाए.

जैसे ही उसकी टी-शर्ट को उतारा, उसकी ब्रा में दबी चूचियां एकदम कसी हुई ऐसे दिखीं, जैसे फटने को हों. मैंने पूछा- मुन्ना कहां है?भाभी बोलीं- उसकी टेंशन न ले, वो सो गया है.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती जैसे ही उसने मेरे बूब्स को अपने हाथ में भरा, मेरी चूत ने जवाब दे दिया, मेरी चूत का रस बहता हुआ मेरी टांगों तक जा पहुंचा. फिर वो बोली- अपनी पैंट उतार कर मेरे पास आओ न!हसित ने अपनी पैंट उतार दी और रीना के बगल में लेट गया और होंठों को किस करने लगा.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती अब तो वो अपनी उंगलियां मेरी गांड के छेद पर भी फिराने लगा था, तो मैं कामुकता से सीत्कार उठता था. माँ बेटे की चुदाई हिंदी में पढ़ें इस कहानी में! मेरी माँ मेरे ताऊ के बेटे से चुदवाती थी.

अब उससे भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था, उसने झट से अपने बेल्ट को अपने दोनों हाथों से खोल दिया.

ब्लू पिक्चर नंगी ब्लू

सोहल ने उसकी आंखों में देखते हुए एक स्पेशल क्रीम उठाई और हनी की गांड के छेद में अपनी एक उंगली से लगाने लगा. हालांकि मिलते समय हम दोनों ही इस बात का ख्याल रखते थे कि कोई हमें देख कर गलत मतलब न निकाले. मैं फटाफट चूड़ियाँ उतारने लगी तो उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर कहा- अरे मेरी रानी … रहने दो, मैं तुम्हारा पड़ोसी चाचा ही तो हूँ.

तो भाभी ने कहा- ठीक है, मैं मैगी बनाकर वहीं ले आती हूं।मैंने कहा- ठीक है. पिछली बार आपने पढ़ा था कि सरिता भाभी को मैंने पहली बार चोदकर उसे कली से फूल बना दिया और हम दोनों साथ में नहाकर तैयार हो गए थे. तुम्हें बुरा नहीं लगेगा?जयदीप- यार अभी ही टाइम है जिंदगी के मजे लेने का … बूढ़े होकर तो बस कहीं पड़ा रहना है.

अब सरिता अपने एक हाथ से अपनी चूत को गाउन के ऊपर से ही सहला रही थी और दूसरे हाथ से अपनी चूचियां सहला रही थी.

अब रवि ने अपने दोनों हाथ मेरी पीठ पर ले जाकर ब्रा का हुक खोल दिया और अपने दांतों से पकड़ कर ब्रा को हटा दिया. भाभी चुदाई हिंदी कहानी के पिछले भागदोस्त की कुंवारी बीवी की सील तोड़ीमें अब तक आपने पढ़ा था कि सरिता भाभी अपनी चुत में हाथ लगा कर देखने लगीं. अब तक जमीला को उसका सामान मिल चुका था, वो जाने लगी और उसने मुझे भी चलने का इशारा किया.

मैं जोर जोर से उन्हें मसलने लगा और दोनों मम्मों का बारी बारी से दूध पीने लगा. मेरे दिमाग में पहले से ही स्कीम बन गई थी कि इस दिन का फायदा उठाया जाए. अगले दिन भी हम लोगों की काफ़ी बातें हुईं और रात गहराने के समय मैंने प्रिया से चैट में पानी की बोतल के लिए कहा.

भाभी की मम्मी से अच्छी बांडिंग हो गई थी तो अब जब भी भाभी अकेली होती थीं तो वो फ्री होकर अपना टाइम पास करने मम्मी के पास आ जाती थीं. मेरी जिया दीदी स्टाइलिश हॉट लड़की होने के साथ साथ मॉडर्न ख्यालत वाली हैं तो मैं उनके साथ खुलकर बात कर लेता था.

मैं- आप चिंता मत करो दीदी, अगर हमारा प्रेम मिलाप इसी तरह से चलता रहा तो तुम जरूर प्रेग्नेंट हो जाओगी. मैं अपने घर आकर बेड पर लेटकर सोचने लगा कि नियाज किस तरह का लड़का है जो अपनी अम्मी को चोद रहा है … और उसकी अम्मी भी आने बेटे के लंड से चुदवा रही थी. उसकी तनी हुई चूचियां मुझे पागल करने लगीं; आंखों का नशीलापन मेरे नशे को बढ़ाने लगा.

मैंने महसूस किया कि दीदी ने बिना ग़ुस्सा के ये बात कही है तो मैं समझ गया कि मेरे लंड से चुदवाने का मन तो दीदी का भी है.

आगे जाकर मैंने देखा कि तीनों लड़कों ने बारी-बारी से पारुल को अपनी बांहों में लिया, उसे किस किया, उसके मम्मे दबाए. उसी समय नियाज मेरे पास आया और पूछने लगा- अंसार, आंटी कहां हैं?मैं कुछ नहीं बोला. मैं चीखना चाहता था, पर नरपत का लंड मेरे मुँह में था और नरपत ने मेरे सर को पकड़ रखा था, जिससे मैं लंड बाहर भी नहीं निकाल सकता था.

पता नहीं उसकी बनावट कैसे इतनी मादक थी कि भले ही किसी का मूड न हो, पर उसको देखने के बाद लंडबाबू एकदम से सलामी देने लगता था. वहां जाकर देखा, तो चपरासी ने ऑफिस खोल दिया था … पर कोई और आया नहीं था.

उसने आंखों से पूछा- क्या देख रहे हो?मैंने भी आँखों से ही उसकी चूचियों को देख कर एक मुस्कान दे दी. दोस्तो, आज की हॉट वाइफ सेक्स कहानी बिलकुल ताज़ातरीन घटना पर आधारित है जिसे मेरे पाठक राजीव ने भेजा है।राजीव और नेहा की शादी लॉकडाउन से एक साल पहले ही हुई थी।उसके बाद थाईलैंड में हनीमून और फिर लॉकडाउन में डेढ़ साल के हनीमून ने उन्हें जरूरत से ज्यादा शरारती बना दिया।राजीव और नेहा की लव मेरिज है और दोनों पिछले दो साल से एक दूसरे से मोहब्बत करते थे. उसके आने के समय मैंने सारी लाइट्स बंद कर दी थीं और उसके आते ही मैं उसे ऊपर के रूम में ले आया था.

हरियाणा की चुदाई

सुबह मकान मालिक के उठने से पहले ही मैं उसको उसके रूम पर छोड़ दिया और एक चाय की टपरी पर बैठ कर टाइम पास करने लगा.

मेरा लंड पूरा गीला होने के कारण ताबड़तोड़ चल रहा था तो पचापच की आवाज निकलने लगी थी. मैं दोनों हाथों से उसके अंडरआर्म और कमर पर उसके पेट पर घुमा कर उस नाजुक मुलायम रेशमी मक्खन सी त्वचा को महसूस कर रहा था. कुछ देर बाद भाभी को राहत मिलनी शुरू हो गई और उन्होंने लंड का मजा लेना शुरू कर दिया.

पर मैंने अपने दोनों हाथ उसको कमर से पीछे गांड की तरफ ले जाते हुए उसकी जींस को पीछे से पकड़ कर नीचे खिसकाना शुरू कर दिया. इंडियन मेड पोर्न स्टोरी में 40 साल की कामवाली चाची को घर के मालिक के युवा बेटे ने अच्छे से चोद दिया. सबसे बड़ी योनि किसकी हैमैंने कुछ ही देर में अपनी दो उंगलियों से उसकी गांड में अन्दर तक तेल लगा दिया.

फिर उसने मेरे कान में सेक्स के लिए बोला तो मैंने उससे बोला- दर्द होगा … सह लोगे?क्योंकि मैं नहीं चाहता था कि मेरे प्यार को किसी तरह की कोई तकलीफ़ हो. मैंने भाभी से भी … और उन सबसे चुदते चुदते कहा- यार नहीं, मुझसे दोनों छेदों में एक साथ वाला सेक्स नहीं हो पाएगा.

मैंने अपना मुँह उसकी चूत में लगाना चाहा, तो उसने फौरन एक हाथ से अपनी चूत को ढक लिया. शायद मैं काफी हैंडसम लग रहा था क्योंकि क्लास की सारी लड़कियां मुझे देखे जा रही थीं. वो एक चूची को चूसते हुए अपने एक हाथ से उसकी दूसरी चूची को मसल भी रहा था.

जब भी मुझे मौका मिलता, अपने घर में मैं लड़कियों के कपड़े पहन कर देखा करता था. मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये इरोटिक सेक्स रिलेशन की कहानी भी पहले जैसी सभी सेक्स कहानी की तरह पसन्द आएगी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:बर्थडे पर स्पेशल गिफ्ट दीदी की चूत- 2.

रीना शैतानी करती हुई बोली- ऐसे कैसे झील दिखा दूँ आपको!हसित बोला- तो कैसे दिखाओगी?रीना बोली- मैं तो अपनी तरफ से बिल्कुल भी नहीं दिखाऊंगी.

मैं कैम्प के आगे से उसे पिक करके उसको काम पर छोड़ आता या उसके वापसी में लेट हो जाने पर उसको लेकर घर आ जाता. लेकिन कुछ समय बाद मुझे मॉम की गदरायी जवानी का अहसास गर्म करने लगा था और मैं उनकी इस मादक जवानी का दीवाना हो गया था.

मैंने उससे पूछा कि तू हंस क्यों रहा है?वो बोला- क्या तुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ शादी करनी थी?मैंने कहा- नहीं. फिर उन्होंने मुझसे पूछा- बेटा तुम्हें कोई बीमारी है क्या?मैं बोला- नहीं तो आंटी, ऐसे क्यों पूछ रही हैं आप!आंटी बोलीं- मुझे कुछ कुछ पता है. और जैसे ही इसका आभास वीरू को हुआ कि शबाना की गांड से उसके लौड़े का निकाह हो चुका है तो उसने भी शबाना को ऊपर उठा लिया.

मैंने भी धीमे धीमे से अपना पूरा लंड उसकी चूत में पेल दिया और जोर देकर उसे जड़ तक उसकी बच्चेदानी तक छुला दिया. क्या मस्त बदन की मालकिन थीं मेरी मोना भाभी … उनके जिस्म को देख कर दिल खुश हो गया. अब चोदते समय पच्च पच्च की आवाज आ रही थी तो ऐसा लग रहा था कि जो लड़का पारुल चोद रहा था, वो जल्दी में था … इसलिए उसकी अन्दर बाहर करने की गति बहुत तेज होती जा रही थी.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती मैंने घुटनों के बल आकर अपने दोनों हाथों से सरिता की चूचियां कसकर पकड़ लीं. मेरी सास ने मेरी साली को हमारे साथ रहने और अपने काम में रोजी की मदद के लिए भेजा.

अंग्रेजन की

प्रकाश ने सोनम को पीठ के बल लिटाकार उसके पैर उसकी छाती की तरफ किए और कहा कि अपने घुटनों को पकड़कर रखो. उनकी नाइटी घुटनों से थोड़ा ऊपर थी, उनकी जांघों का कुछ हिस्सा दिख रहा था पर भरी भरी जांघें गजब ढा रही थी. मैंने घुटनों के बल आकर अपने दोनों हाथों से सरिता की चूचियां कसकर पकड़ लीं.

मैंने सोचा कि साला अब ये सब जान चुका है और शनाया का भी दोस्त है तो इसे चोदने देने में कोई दिक़्क़त नहीं है. तब हसित बोला- रीना, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ मगर क्या करूँ तुम मेरे सबसे प्यारे दोस्त की पत्नी हो. इंडियन गे ब्वॉय सेक्सवो बोली- बाबू घर पर नहीं, पार्लर से फुल बॉडी वॅक्सिंग करवाई है तुम्हारे लिए.

मेरी इस दलील पर मेरी बीवी चुप रही और उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया.

मैं- हां मैंने देखा था कि तुम कैसे थक गयी हो और साइकिल चलाने तो क्या पैदल भी नहीं चल सकती हो. अब मेरे दिमाग़ में एक तरकीब आयी कि मैं बड़ी आसानी से दीदी को मेरे लंड की दीवानी बना सकता हूँ.

मोनू ने नीचे की तरफ इशारा किया, लेकिन कोमल ने लंड चूसने से साफ मना कर दिया. उन्होंने फोन पर कहा- हां, एक रांड चोद रहा हूँ … हां हां तुम्हें भी मिलवा दूंगा … पहले मैं तो मजे ले लूं. मुझे लगने लगा था कि मैंने अपने ब्वॉयफ्रेंड की बात न मानकर गलती कर दी है.

वो अपनी चूत से बहने वाले कामरस को देखकर बोली- इतना सारा कामरस! मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा है हर्षद.

मामी ने मुझे अपनी बांहों में खींचा और मेरे चुत चुदवाती हुई मेरे कान की लौ काटने लगीं. अब पति के साथ जब भी चुदाई करती अपनी आंखें बंद कर लेती थी ताकि विजय को महसूस कर सकूं!पति के साथ अब चुदाई का वो मज़ा नहीं रह गया, पति से मुझे चुदाई जरूर मिल जाती लेकिन मेरे बदन को कोई विजय की तरह अच्छी तरह मसलने वाला और हड्डियों को कड़काने वाला चाहिए था. विलास ने मेरी लुँगी खोलकर बदन से अलग की हुई थी और उसने मेरी ब्रीफ के ऊपर से ही मेरे लंड पर अपने हाथ से दबाव बनाया हुआ था.

कच्ची उम्र का पहला प्यारउसने मुझसे कहा कि- बेशक वह माल हो गई है, लेकिन तुम क्या चाहते हो?तब मैंने उससे कहा- अगर तुम सहमत हो तो मैं तुम दोनों के साथ एक ही समय पर सोना चाहता हूँ. मैं पहले अपनी मम्मी को चोदना चाहता हूँ … फिर किसी और के साथ सेक्स करूंगा.

आई एम सेक्सी

उसके अन्दर हाथ डालकर मेरी चूत को सहलाने लगा और वो अब मेरे ऊपर चढ़ गया, मुझे किस करने लगा. कुछ ही देर में वो इतना ज्यादा उत्तेजित हो गए थे कि उन्होंने अपनी पैंट की चैन खोलकर लंड बाहर निकाल दिया था और मेरी गांड की दरार पर रख दिया था. आज की रसीली पड़ोसन की चुदाई कथा हमारे घर में किराए पर रहने आए परिवार की है.

मैंने भाभी से कहा- आप मुझे अच्छी लगीं … क्या आप मुझसे दोस्ती करोगी?इस पर भाभी ने सिर हिला कर हां कह दिया. कान के नीचे का मुलायम हिस्सा मुँह में लेकर चूसने लगा तो उसकी जोर से अहह निकल गयी. आगे जाकर मैंने देखा कि तीनों लड़कों ने बारी-बारी से पारुल को अपनी बांहों में लिया, उसे किस किया, उसके मम्मे दबाए.

मैंने दीदी की बात का कोई जवाब नहीं दिया और उसकी चूचियों से अपनी छाती को सटाये हुए लेटा रहा. वो ‘आह आह आह …’ किए जा रही थी और बोल रही थीं- आंह चूसो बेटा … और जोर से … बेटा और जोर से चूसो. मैंने अपनी आंखें बंद कर लीं और थोड़ी देर खुद को शांत करने की कोशिश करने लगा.

उन्होंने कहा- ऐसा कैसे हो सकता है कि तुम्हारे जैसे जवान लड़के की कोई गर्लफ्रेंड न हो. दोस्तो जैसे ही मेरी टी-शर्ट निकली तो उसका मुँह खुला का खुला रह गया.

कुछ देर लंड चूसने के बाद उसने मेरे टट्टों पर जीभ फेरना शुरू कर दिया.

तब तू उसे जाने देना या तू दो तीन दिन के लिए बाहर चले जाना कहीं भी!उसने मुझसे पूछा- मैं कहाँ जाऊंगा?मैंने कहा- अरे यार … अपने उन्ही साथियों के पास चले जाना न!उसके बाद जब भी हमें मिलना होता तो अंगिका विपुल को मायके जाने को कहती और वो कुछ दिन के लिए चला जाता।फिर हम दोनों अपनी रातें रंगीन करते।इसी तरह चार महीने बीत गये. सेक्सी वीडियो सेक्सी इंग्लिशतू पहले तैयार होकर अपने मोबाइल के पास बैठ, मैं अभी जाता हूँ और वहां पहुंच कर तुझे कॉल करता हूं. सेक्स पिक्चर फुल एचडीमैंने जल्दी से भाभी की चूत में अपना लंड घुसा दिया और हम दोनों फिर से चुदाई करने लगे. इधर मेरी बेचैनी बढ़ रही थी, मेरा लंड खड़ा होकर टॉवेल के ऊपर तम्बू बना चुका था.

देसी हॉट गर्ल्स कहानी के पिछले भागगाँव की गर्म लड़की से पहली मुलाक़ातमें अब तक आपने पढ़ा कि शब्बो ने कुच्ची को चुदाई के लिए बुलाया था.

जब सुबह हुई तो ससुर जी ने मुझे जोरदार चुम्मा दिया और फिर अपने कपड़े पहन जाने लगे. काफ़ी बातें होने के बाद मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे पसंद करता हूँ. मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मैं ये सोच रही थी कि अगर कपड़ों के ऊपर से ही इतना मज़ा आ रहा है तो बिना कपड़ों के तो कितना आएगा.

भगवान को साक्षी मानकर बंशी ने सीमा की मांग में सिंदूर भर दिया, मंगलसूत्र भी उसके गले में पहना दिया. मैंने उसकी पूरी बात सुनी उससे पूछा- ये सब कबसे कर रहे हो?नियाज बोला- मेरी चारों बहनें मेरे बच्चों की अम्मी हैं. मैंने सुरक्षा की दृष्टि से दोनों साधन छोड़ दिए और चाय पीने पर ध्यान लगाया.

काला लोड़ा

इसके लंड को लेने के बाद मेरा क्या होगा!मैंने उसके लंड पर तेल लगा कर थोड़ी मालिश की. मैं अभी बाकी था तो मैंने उसको सीधा लिटाया और उसकी टांगें फैला कर बीच में आकर बैठ गया. मेरे हस्बैंड को भी पता था कि वहां कोई मर्द तो रहता नहीं है, भाभी अकेली ही घर पर रहती हैं.

इसकी शुरुआत कैसे हुई?कहानी के पहले भागटूरिस्ट गाइड बनी तान्त्रिक मसाजरमें आपने पढ़ा कि एल लड़का और एक लड़की टूरिस्ट गाइड एक साथ काम करते थे.

सरिता दर्द के मारे कराहने लगी और बोली- अब बस भी करो हर्षद … बहुत बुरा हाल हो रहा है मेरा.

उसके अन्दर रीना की ब्रा और उसमे दबे हुए बड़े बड़े मम्मे साफ़ दिख रहे थे. मेरा काम अभी तक नहीं हुआ था, तो मैंने उनको धीरे-धीरे चूमना और चाटना शुरू कर दिया. इंडिया मटका एप्सशिल्पा जैसे ही बोलने हो हुई, उससे पहले निशा बोल पड़ी कि मैं और शिल्पा नीचे सोए थे और यश बेड पर.

मैंने अपने लंड की सुपारी Xxx वाइफ की गांड के छेद पर रखी और थोड़ा जोर देकर अन्दर घुसाने की कोशिश की. तो उसका भी हौसला बढ़ गया और उसने मुझसे धीरे से कहा- आपके हाथ बहुत ही सुंदर हैं. और कस्टमर कब तक खत्म हो जाता है?” मैंने फिर से पूछा।अरे! क्या बात है, जो इतने सारे सवाल कर रही हो तुम दोनों?” उसने फिर से सवाल किया.

दो दिन बीतने के बाद फूफा जी शायद ये बात समझ गए थे कि लड़का नई जगह पर आया है, इसलिए असहज महसूस कर रहा है. थोड़ी देर बाद मैं किचन में गया और देखा कि आंटी अपनी ब्रा और चड्डी ढूँढ रही थीं.

उनकी गोरी गोरी जांघें मुझे मस्त करने लगीं और उनकी नशीली आंखों में एक अजीब सी मस्ती दिखने लगी.

मेरा एक हाथ पूरा उसके लंड के चारों ओर था और उसका लंड मेरी मुट्ठी में था मैंने हल्का सा अपनी मुट्ठी को कसकर उसके लण्ड को दबा दिया. मगर दीदी भी देर तक सोती रही क्योंकि वो भी रात की चुदाई में काफी थक गयी थी. मैंने भाभी की बात मान ली और अपने हाथ से मुठ मार कर अपने लंड को खाली करने का प्रयास किया मगर जब पानी नहीं निकला तो मैं ऐसे ही लेट गया.

हरियाणवी सेक्सी मूवी मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं मेरी फ्रेंड का कॉल था, बाद में बात कर लूंगी. वो बोली- कितनी बार सेक्स किया है उसके साथ?मैं- 6 से 7 बार किया है दीदी.

फिर जब उसने मेरी गर्दन को चूमा, मेरा भी सब्र का बांध जैसे टूट जाने को हो गया. मुझे लग रहा था कि शायद मैं ज्यादा पोर्न देखने लगा हूँ … ये उसका असर है. मैंने उनको लंड चूसने का बोला तो उन्होंने पूरा लंड मुँह में ले लिया.

स्टूडेंट बफ

मैं अपने कमरे में आकर लाईट ऑफ़ करके बेड पर चुपचाप लेटा हुआ था और ऐसे ही सोच रहा था. उनके नीचे जाते ही लंड किसी स्प्रिंग की तरह उछलकर उनके गाल पर चांटे जैसा लगा।उन्होंने फिर लंड को दोनों हाथों से पकड़ा और निहारने लगी. लेकिन अब मैं घर पर अपनी चुत में उंगली डाल कर या गाजर, मूली डाल कर अपनी वासना को शांत करने लगी थी.

और जितने भी भारतीय किलों और हवेलियों में घूमा है, सब में भारतीय रानियों की और भारतीय औरतों की खूबसूरती का वर्णन किया गया है. अब आगे हॉट सेक्सी गर्ल Xxx चुदाई:मैंने देर ना करते हुए उसे बेड पर ले जाकर लिटा दिया और उसके होंठों पर किस करने लगा.

वो बोली- जरूर … अब तो गोरखपुर तक सेवा करनी ही पड़ेगी।मैं बोला- सेवा बाद में करती रहना … लेकिन अभी तो कुछ करो … मेरा तो पैन्ट फाड़ कर बाहर आने की कोशिश कर रहा है.

वो मेरी पीठ पर पानी डालने लगी, तो सोनाली ने देखा कि उसके नाखून के निशान जगह जगह थे. उसने कहा- अच्छा जी … मतलब तुम अपनी लैला को सूली पर लटका हुआ देखना चाहते हो?मैंने कहा- डार्लिंग, मुझे मालूम है कि मेरी लैला इतनी हिम्मत वाली है कि वो मेरी बात को न केवल पूरा करेगी बल्कि मुझसे अपनी गांड मरवा कर भी दिखाएगी. इस दौरान हमारी कभी कोई लड़ाई नहीं हुई … ना ही कभी हम एक दूसरे से कभी नाराज़ हुए.

जब जब मैं अपने हाथ से उसकी नाभि को सहलाता, उसकी चूत तक हाथ ले जाता, वो सिहर उठती और अपने आपको मेरी छाती में छुपा लेती. मैंने कहा- ऐसा कैसे हो सकता है, गेट पर जो खड़ा है … वो तो देखेगा ही. मैंने पूछा- चाची क्या हुआ?वो बोलीं- कुछ नहीं बस वो फोटो देखने के बाद कुछ कुछ हो रहा है.

मैं फिर से भाभी को चोदने लगा और और उनकी चूची को हाथ से मुँह से चूसता रहा, दबाता रहा.

सेक्सी बीएफ चोदा चोदी देहाती: आते ही धम्म से मेरे बगल में बैठ गयी और बोली- हनी प्लीज़ अब साइकिल तुम चलाओ … मैं पैदल चलते चलते बहुत थक गयी हूँ. मैं काफी दिनों से यहां अपनी लाइफ की एक मदमस्त कर देने वाली सेक्स कहानी शेयर करने की सोच रहा था.

मैं घुटनों के बल आ गया और आहिस्ता से अपना लंड सरिता की चुत से बाहर निकाला. मैंने कहा- अच्छा तुझे शनाया इतनी अच्छी लगती है, तो उसे तू रख ले और शिल्पा मुझे दे दे. मैं- अच्छा जी … बस प्यार की और चूमने की … अब सारे कपड़े उतार कर बस यही करना था?रवि- नहीं मेरी जान … अब तो बारी है सबसे बड़ी ख्वाहिश पूरी करने की.

बाथरूम पहुंचने से पहले ही मेरा आधा मुट्ठ लोवर में निकल गया बाकी मुट्ठ बाथरूम में गिराकर साफ किया।मुट्ठ से थोड़ा लोवर भीग गया था.

हार्दिक शनाया की चूत चाट रहा था और मैंने अपना लंड शनाया के मुँह में दे रखा था. मैंने मजा लिया न्यूड हॉट सेक्स इन ट्रेन का! एक बार नहीं … कई बार! मुझे अनजान लड़कों का लंड लेने में बहुत मजा आता है. चुदाई के बाद मामी ने अपनी साड़ी पहनना चालू कर दिया और मैं मामी के पास जाकर उनको फिर से किस करने लगा.