इंग्लिश शॉर्ट बीएफ

छवि स्रोत,मराठी सेक्सी वीडियो लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी चुदाई देहाती: इंग्लिश शॉर्ट बीएफ, साथ ही जिन दोस्तों और सहेलियों के पास लंड या चूत का इंतज़ाम नहीं है, वो चूत में उंगली या लंड की मुट्ठ जरूर मारेंगे.

देहाती हिंदी ब्लू फिल्म सेक्सी

मैंने लुंगी से खून साफ करके फिर से फिर उसकी चुत को चाटना शुरू किया. अंग्रेजी सेक्सी पिक्चर वीडियो अंग्रेजीआते ही उन में से एक ने बोनेट पे डंडा मार कर कहा- मैडम, लाइसेंस दिखाओ।मैंने लाइसेंस दिखाया।मगर उसकी नज़रे लाइसेंस पे कम और मेरे उठे हुए मम्मों पे ज्यादा थी और दूसरे लोग बारी बारी से मेरे और रिया के बदन का दीदार कर रहे थे.

वो पढ़ने लगी, दिव्या की एक्टिविटी से नहीं लगता था कि उसे अमित ने कुछ भी बताया हो. वीडियो सेक्सी चोदने कीउसने मेरे हाथ को नीचे पकड़ लिया और फिर उसने वो पट्टी खोल कर दूसरे हाथ से नीचे खींच दिया.

तभी मेरी सास बोली- झड़ गई साली?मैं बोली- हाँ मेरी जान!रिया का लंड मेरी सास चूसे जा रही थी कि तभी रिया ने मेरी सास का सर पकड़ा और मेरी सास के मुँह में अपना पूरा लंड पेल दिया, जोर से चिल्लाई- आहहह यूयय उफफफ मैं झड़ गई!और रिया के लंड का सारा पानी मेरी सास पी गई.इंग्लिश शॉर्ट बीएफ: एक दूसरे को बॉडी लोशन से मसाज़ किया और मैंने बिना चड्डी के ही लोवर पहन लिया.

फिर धीरे-धीरे मैंने मेरे हाथ उसके चूचों की तरफ बढ़ा दिए और उन्हें सहलाने लगा.मुझे बड़ा शॉक लगा कि शादीशुदा की गर्लफ्रेंड और वो भी उसके घर के अन्दर!उसके बाद वो जुगाड़ शाम को चली गई.

वीडियो सेक्सी डाउनलोड वीडियो - इंग्लिश शॉर्ट बीएफ

लेकिन जब मैं वापस आई, मोबाइल देखा तो अमित और नए नंबर से एसएमएस आए हुए थे.उसने मंजरी की दोनों टाँगें पूरी तरह से खोल दी और अपना पूरा मुँह उसकी चूत से सटा दिया कि उसके होंठों और मंजरी की चूत के होंठों में से हवा भी न गुज़र सके.

फिर मुझे तो रात का इंतजार था और मैं खाना खा कर मम्मी को बोल कर भाभी के यहाँ चला गया. इंग्लिश शॉर्ट बीएफ पहले प्रॉमिस करो?”ओके बिटिया रानी… आई प्रॉमिस!”मेरे कहने से बहूरानी ने अपने पैरों के बंधन से मुझे आजाद कर दिया और अपने घुटने मोड़ कर ऊपर की ओर कर लिए.

मेरा एक इंच लंड अन्दर घुस गया, उन्हें थोड़ा दर्द हुआ लेकिन वो सहन कर गए.

इंग्लिश शॉर्ट बीएफ?

मैंने उनके हाथ पकड़ कर उन्हें दीवार से चिपका दिया और पीछे से उनकी गांड पे दो जोरदार थप्पड़ लगाए. वहां उनके एक दोस्त के यहाँ एक फंक्शन है, मुझे शॉपिंग करनी थी इसलिए मैं नहीं गई. अब आप अपनी कहानी को निःसंकोच लिखना शुरू कर दें, ये कभी न सोचें कि इस पढ़ कर कोई क्या कहेगा … बस लिखते जाइए, जो भी जैसे भी विचार मन में आयें लिखते जाइए; पीछे देखना मना है किआपने क्या लिखा है.

हम तीनों में से एक शांत हो चुका था। थोड़ा ही सही मगर दिल का सुकून मिल गया जो रात काटने के लिए काफी था।अगली सुबह हम घर आ गये. अब सुभाष की हालत ऐसी थी कि उसको सिर्फ़ बेड पर ही लेटा रहना पड़ रहा था. रमेश ने अपनी बहन काजल की चूत में पीछे से लंड डाल दिया और सुरेश ने अपनी भाभी मयूरी की चूत में लंड पेल दिया.

फिर थोड़े टाइम के बाद मेरा पानी निकलने वाला था, तो मैंने कहा- सुमन, मेरा वीर्य आने वाला है. पर फिर आकांक्षा ने बताया कि पवन की शादी कहीं और हो रही है इसलिए उसने उसके प्यार को ठुकरा दिया और अब वो अकेली और बेसहारा है. कुछ देर बाद सुभाष उठा और ना जाने कैसे उसका पैर फिसल गया, जिससे वो गिर गया, भाभी उसे संभालते हुए एकदम से घबरा गईं और रोने लगीं.

माया मन में सोचने लगी कि साले का लंड मतलब का हुआ तो ही इसको घास डालूंगी वरना इसने मुझसे पंगा लिया तो इस हरामी को ऐसा सबक सिखाऊंगी कि साला अपनी बीवी को भी आँख उठा के नहीं देख पाएगा. मैं चिल्लाया- जीजाजी!मैं गांड उठाने लगा, भारी दर्द हो रहा था, गांड फटी जा रही थी, पहली बार इतना मोटा लंड मेरी गांड में पिला था.

उसे मजा आने के बाद उसने अपनी हिप को धीरे धीरे अपने आप ही ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया.

वो नहा कर आई थी तो उस की चूत में से भीनी भीनी सी खुश्बू आ रही थी, जब मेरी जीभ उस की भगनासा को चाटती तो उस के मुँह से जोर से सिसकारियां निकलने लगती.

मेरा मन तो कर रहा था कि जाकर साली की गांड पे थप्पड़ ही थप्पड़ बजा दूँ. मैं थोड़ा साइड में हट गया तो मामी बोलीं- क्या हुआ? साइड में क्यों हट गए… मैं तो तेरे को बहुत सेक्सी लगती हूं ना… तो फिर क्यों दूर हट रहा है?मैं मामी से बोला- मामी मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं, मुझे आपकी रोज याद आती है. दस मिनट के लंड चूसने से मेरा लंड इतना ज्यादा गर्म हो गया था कि मन कर रहा था कि दोनों की चूत एक साथ चोदूँ.

मैंने देखा कि उस चेयर के आस पास चाय के पांच खाली कप रखे थे।तो मैंने पूछा- कौन आया था आंटी?फिर अपने शब्दों को सुधारते हुए कहा- मेरा मतलब है कि कौन कौन आया था आंटी जी?आंटी ने रुखे स्वर में जवाब दिया- कोई नहीं आया था, यहाँ तुम्हारे अलावा कभी कोई आता है क्या?मैंने फिर कहा- वो मुझे इतने सारे खाली कप दिखे तो मैंने पूछ लिया।अब आंटी ने और कड़े तेवर में कहा. मैंने पूछा- तुमने चैक किया?वो बोलीं- नहीं?मैंने बोला- तुम जल्दी मेडिकल शॉप पे जाओ और टेस्ट करने वाली किट ले कर चैक करके मुझे अभी बताओ. उसी वक्त ना जाने कैसे उनकी ननद ने हम दोनों को चुम्बन करते देख लिया.

मैंने बोला- राखी उस दिन रात को तुमसे चैट करने के बाद मैंने तुम्हारा ही सपना देखा.

मेरी आँखों के सामने बस भाभी के मम्मे ही घूम रहे थे, पर जैसे तैसे भाभी सेक्स के बारे में सोच सोच कर मुठ मार कर सो गया. मेघा ये समझ गई थी तो उसने मुझे पास बुला कर मेरा लंड मुँह में लेकर पानी निकाला. यह कहानी मेरे प्रथम सेक्स अनुभव की है, मेरी सभी भाभी के साथ की है और अन्तर्वासना पर मैं यह मेरी पहली चुदाई स्टोरी लिख रहा हूँ.

वो झट से चित लेट गई, मैं उसकी चुत चाटने लगा और वो मेरा लंड चुसकने लगी. मैं ताश के पत्ते लेकर आई और मीना से बोली- मैं सबको एक एक कार्ड दूँगी. उसका गोरा बदन और गोरी गोरी चूचियां देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैं फटाफट अपना लंड निकाल कर सरिता को ध्यान करके मुठ मारने लगा.

उन्होंने मुझसे से कहा कि मैं दो दिन बाद ही आऊंगा तब तक सबका ध्यान रखना.

मंजरी को हल्का पसीना भी आ रहा था, तेज़ तेज़ चलती सांस, तेज़ धक धक धड़कता दिल. ’मैं भी एकदम से उसकी चुत के दाने को अपनी जीभ से बहुत जोर से रगड़ने लगा.

इंग्लिश शॉर्ट बीएफ सोचा इस बार अगर सब कुछ ठीक रहा तो इस बार इस रंडी को चोदने का चांस बिल्कुल नहीं छोड़ूँगा. मंजरी ने उसको एक मीठी झिड़की दी- छी… ऐसे नहीं बोलते, ऐसे कहो कि मेरी चॉकलेट खाओगी क्या?अच्छा जी” पुलकित बोला- और अगर मुझे तुम्हारी चूत चाटनी हो तो?मंजरी ने बनावटी गुस्सा दिखाते हुये कहा- उंह, फिर वही बात, आप बोलो, मुझे कचोड़ी खानी है.

इंग्लिश शॉर्ट बीएफ मैं जैसे ही उसके घर में गया, मैं तो उसे देखता ही रह गया, उसने गुलाबी रंग का गाउन पहन रखा था जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी. मेरा लंड उस की सील तोड़ता हुआ पूरा अन्दर घुस गया और उस की चूत से खून बहने लगा.

थोड़ी देर बाद मैंने बीस डॉलर खर्च कर के एक सुंदरी से लैप डांस भी करवाया और उसने मुझे झड़ने के करीब ही ला दिया था.

लड़की और घोड़ा सेक्सी

मेरे मोबाइल में कुछ ब्लू फ़िल्म पड़ी थीं, उन्होंने वो भी देख लीं और मुझसे बोलीं- विशाल तुम ये सब देखते हो?मैंने पूछा- क्या भाभी?वे बोलीं- ब्लू फ़िल्म?मैं हड़बड़ा गया, मैंने सोचा अब क्या बोलूँ और बोला- हां भाभी कभी कभी. करीब 2 मिनट बाद तेज़ी से चिल्लाते हुए दीदी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मेरे लंड ने भी दीदी की गांड को स्पर्म की पिचकारियों से भर दिया, मैं हांफता हुआ बेड पर गिर गया और दीदी ऐसे ही अपने नीचे पड़े पिल्लो पर पेट टिका कर गिर गई. मैं शांत हो गई और मैं क्या बताऊँ ऐसे गले से लगाया था जैसे बरसों बाद लगाया हो.

वो बोली- असली का तो यही देखा है, विअसे पोर्न फिल्मों में तो खूब देखे है, तेरा भी विअसा ही है. मेरी पिछली दो कहानियोंमें अपने पढ़ा कि कैसे मेरी अम्मी ने मुझे 10000 रूपये के लिए हमारे ही एक नौकर फरीद से चुदवा दिया और फरीद ने मेरी सील तोड़ कर मुझे जवानकली से फूल बनाया. जैसे ही उसकी गांड पर अपना लंड लगाया, तो मेरा पैर फिसल गया और मैं उसकी गांड पर गिर गया जिससे मेरे लंड का टोपा उसकी गांड में उतर गया.

इसी कहानी के पहले भाग में अपने पढ़ा था कि दिनेश ने अपने दोस्त विक्रांत के ऑफिस में पर्सनल सेक्रेटरी की पोस्ट के लिए एक सेक्सी लड़की भेजने की बात की थी.

मैंने उसकी रज़ाई में हौले से हाथ घुसेड़ा, ये सोच कर कि मान गया तो बल्ले बल्ले… नहीं तो नींद में होने का नाटक कर लूँगी ताकि उसे ये लगे कि नींद में गलती से हाथ चला गया. अपने भाई के इस वार से काजल की साँसें और धड़कनें बहुत तेज़ हो गई थीं और उसने अपने हाथ से रमेश के सर के बाल जोर से पकड़ लिए. मैं धीरे धीरे उनके पैरों पर पैर फेरने लगा, उनकी जाँघों तक पैर भी लाया, पर डर के मारे हालत भी खराब थी और मज़े के लिए डर को भी सह रहा था.

फिर मैंने आखें बंद कर लीं, अब अवी जग गया था उसने मेरी आखें बंद देखी तो उसी तरह चूची दबाता रहा ताकि मैं आँखें ना खोलूं. मैं आकांक्षा के इस लंड चूसने की कलाकारी को मुस्कुराते हुए देख रहा था और उसके बालों में हाथ भी फिरा रहा था. जैसे ही मैं घर पहुँचा, दरवाजा बंद था पर किचन की विंडो थोड़ी खुली हुई थी.

मैं पहले आपको उसके बारे में बता देता हूँ, उसका फिगर 34-28-34 का है, वो देखने बहुत ब्यूटीफुल है. अब मुझे माला को गोदी में उठाने का मन कर रहा था लेकिन मैंने अपने आप पर काबू रखकर कमर का हाथ धीरे धीरे माला की गांड पर फेरने लगा.

मेरे अब्बू की निगाहें उनकी जवान बेटी के सेक्सी बदन पर जैसे गड़ सी गई थी. अब मैं केवल पैंटी में रह गई थी क्योंकि इस ड्रेस में वो डोरी वाली ब्रा नहीं पहनी थी, जो मैं पहन के कॉलेज गई थी. शेरवानी में मेरा खड़ा लंड पूरा दिख रहा था और उनकी गांड में साड़ी का कपड़ा घुसता हुआ नज़र आ रहा था.

उसने घबराई हुई आवाज में पूछा- तुम कौन हो?मैंने कहा- तुम्हारे साथ ही सफ़र कर रहा हूँ.

तभी मैंने उसके सारे कपड़े उतार कर उसे एकदम नंगी कर दिया और हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए. उसमें बहुत एसएमएस आ रहे थे तो मैंने खोल कर देखा, जो उसके बॉयफ्रेंड के थे. आप सभी को संदीप साहू का प्यार भरा नमस्कार, आपके निरंतर संदेशों के लिए हृदय से आभार।मेरी कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने तनु भाभी की बहन और माँ की मदद के लिए एक बड़ा सा घर कम किराये पर ले दिया.

मैं अपने पैग लगा लेता हूँ और अगर बुरा ना मानो तो अगर तुम भी 1-2 पैग व्हिस्की या वोडका के ले सकती हो, इधर कोई टोकने वाला नहीं है. मैंने बिना बात किए हुए लंड पर तेल लगाया और उसकी चुत में आधा घुसा दिया.

वो वहां से वापस आकर जीनों पर बैठने लगी कि इतने में पूजा ने उससे पूछा कि क्या हुआ? तो उसने उसे सारी हकीकत बताई और उसे साथ चलने को कहने लगी. मुझे बहुत रोना आ रहा था, मेरी सास ने मुझे समझाने की काफी कोशिश की मगर मेरे आंसू नहीं रुक रहे थे. शादी तो दस दिसम्बर की है न!”अदिति बेटा, कोई ऐसी ट्रेन देख न जिसमें छप्पन घंटे लगते हों दिल्ली पहुँचने में!” मैंने कहा.

करते हुए फोटो

चाचा ने बोला- आरती नाम है इसका, मेरी भतीजी है, इसको कोई दिक्कत नहीं चाहे जितने लोग इसके साथ सेक्स करें, बहुत ज्यादा प्यासी है ये बहुत चुदासी है.

मेरा सपना आज पूरा होने जा रहा था और वो अंकल जरूरत से ज्यादा प्यारे थे. मेरी इस बात से भाभी के गाल लाल हो गये, भाभी गुस्से से बोलीं- नहीं करता मेरा मन. मैंने अपने हाथ को उनके नेकर में डाल कर उनके लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगी.

वो मोनिका को डराने लगा कि फ़ोन कॉल रिकॉर्डिंग दे दूंगा और मैसेज आदि भी दिखाने की कहने लगा, साथ ही मोनिका के भाई को देखने की धमकी देने लगा. मैं भी अब नशे में जैसे रहने लगी थी मुझे खुद की तारीफें अच्छी लगने लगी थीं तो मैंने ऐसा कह दिया. दुल्हन की सेक्सी सुहागरातमगर रात का मजा मुझे उनके साथ सेक्स की सीमा तक पहुँचा देता था और मैं सोच रहा था कि कब वो समय आएगा, जब मैं और भाभी अकेले मिलेंगे.

वो अपने हाथों को बालों के ऊपर सहलाती रही और हाथों से मेरे सर को अपने चूचों पर दबाती रही. तभी अमित आ गया, मैं ऐसे रही जैसे मेरी ड्रेस सही है और कुछ दिख नहीं रहा है.

मैंने सुभाष से चुपके से पूछा कि सुभाषभाभी के साथ सुहागरातकैसी रही?उस पर सुभाष ने हंस कर कहा- एकदम मस्त रही. आज तो ये आलम था कि अगर मंजरी का बस चलता तो वो पुलकित के लंड को चबा कर खा जाती. तब मैंने शीशे में अपने आपको देखा, मेरी चूचियां अभी भी हल्की लाल थीं और सूजी लग रही थीं.

love इस आई डी को यूज करके जुड़ सकते हैं।आप लोग फेहमिना से फेसबुक पर https://www. उसने मेरी बेक पर किस की, तब मुझे ऐसा एहसास हुआ कि मैं जन्नत में आ गया हूँ।अब उसने मुझे सीधा कमर के बल लिटा दिया और अंडर वियर के ऊपर से ही मेरे लोड़े पर किस करने लगी, फिर उसने धीरे से मेरा अंडरवियर भी उतार दिया और मेरे लोड़े का सुपारा मुँह में भर लिया. वो ऐसे ही मेरे लंड पर बैठी रही और देखने लगी कि खून की एक पतली सी लकीर मेरे लंड के ऊपर से मेरे पेट पर आ रही थी.

मेरी बात सुनते सुनते ही एड्रिआना खड़ी हो गई थी और उसकी आँखों से आंसू बहने लगे.

ये देख कर वो भी हँसने लगीं और कहने लगीं कि तुम सच में बहुत शर्मीले हो. इस बार सुरेश को अपने भाई से डर नहीं था और वो एक शानदार चुदाई के लिए तैयार था.

दस पन्दरह मिनट की इस क्रिया के बाद पेनिस फिर से सुरंग मे जाने के लिए तैयार था और मैंने फिर उसकी चूत पर लंस घुसा दिया और अंदर बाहर करना शुरू कर दिया तो वो भी कामुक आवाजें आह आह निकालते हुए मस्ती से कमर उछाल उछाल कर मेरा साथ देते हुए अपनी चूत में लंड लेने लगी. मोहन लाल ने दोनों को चूसते हुए देखकर उनके सर पे हाथ रखते हुए कहा- सदा खुश रहो मेरे बच्चों. 34-26-36 की फिगर वाला कमाल का बदन जिस पर उसने सफ़ेद कमीज पहनी थी और अंदर का हल्के सफ़ेद रंग की ब्रा दिख रही थी और घुटनों के थोड़ा नीचे तक की स्कर्ट पहनी थी काले रंग की… उम्र तक़रीबन 31-32 के बीच की होगी लेकिन दिखने में 27-28 साल की लग रही थी.

मैंने धीरे से उनके एक चूचे पर प्यार से हाथ फेरते हुए मसक दिया, इससे उनकी आह निकल गई. मैंने कहा- अच्छा छोड़, फिर पकड़ना, पहले अपना तो दिखा।वह कोट पेंट पहने था, अब मुझे याद आया कि सर्दी लग रही है मैंने कहा- कपड़े उतार रजाई में बैठते हें।वह मुस्कुराया, कपड़े उतारने लगा. और फ़िर वो नीचे बैठ गई, मेरी पैंट की जिप खोल कर मेरा छह इंच लंबा लंड बाहर निकाल लिया.

इंग्लिश शॉर्ट बीएफ मेरा साढ़े 6 इंच लम्बा और ढाई इंच मोटा लंड उसकी चूत की गहराइयों को नापने के लिए तैयार था. इधर रमेश ने अपनी बहन काजल को सोफे पर लिटा दिया और उसके बगल में बैठ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

चूत में लंड डालते हुए वीडियो

मेरे पास दो कमरे थे, मकान मालिक तब बाहर गए थे, कोई फर्नीचर नहीं था, मैंने चटाई बिछाई, उस पर एक कम्बल बिछाया और बैठ गए. मेरे अब्बू की निगाहें उनकी जवान बेटी के सेक्सी बदन पर जैसे गड़ सी गई थी. जैसे ही भाभी फिर से अन्दर किसी काम से गईं तो मैं भी पीछे चला गया और भाभी को पीछे से पकड़ कर दीवार से चिपका दिया और अपनी जेब से रंग निकाल कर उनकी टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाल कर उनके चुचों को दबा दिया और रंग दिया.

गुस्से में फ़ोन बिस्तर पर पटक कर दीदी बाहर आई और बोली- मेरी सास ने बुलाया है… यहीं शहर में… बोली हैं कि सफ़ेद साड़ी पहन कर आओ. इधर मेरे लंड का हाल ख़राब हो रहा था, वो तना हुआ था, बुर चूसते चूसते वो अचानक से अपनी दोनों टांगों के बीच मेरा सर दबाने लगी और बुर को मेरे सर में धंसाने लगी और बिस्तर पे अकड़ने लगी. सेक्सी भाभी चोदने वालामैंने कॉल रिसीव किया तो एक बहुत ही नाजुक पर सेक्सी सी आवाज़ कानों को छू गई.

फ़िर शिशिर ने अपनी जीभ सलमा की चुत में अन्दर पेल दी और सलमा को जीभ से फ़क करने लगा.

अब उसकी चूत अपना मुंह बाये हुये मेरे सामने थी और चूत का दाना फूल कर बाहर की ओर निकल आया था. मैंने कहा- अच्छा हुआ आपका टायर पंक्चर हो गया, मेरे ऑटो के पैसे बच गए.

मैं अपने कमरे में बैठी रो रही थी और सासू माँ मेरी बेटी को लेकर हॉल में थीं. फिर सर ने मेरे को बोला- चल बेबी अपने कपड़े पहन और वापस जा तेरे दोस्त ढूंढ रहे होंगे. अब मैं धीरे-धीरे नीचे की ओर बढ़ने लगा उसके पेट, उसकी नाभि को किस करने लगा और फिर उस की नेकर के ऊपर से ही अपनी ममेरी बहन की चूत की खुशबू लेने लगा.

मैं अपने मुँह से उसके मुँह में कौऱ डालता, कभी वो मेरी मुँह में डालती.

इस तरह मैंने अपने कपड़े खोलने का जुगाड़ तो कर लिया था और अब सोच रहा था कि उनके कपड़े कैसे उतारे जाएं. सुल्ताना को अम्मी ने अभी कुछ दिन पहले ही काम पर रखा था, उससे पहले एक बूढ़ी अम्मा काम पर आती थी, जिन्होंने अब काम करना छोड़ दिया था. मेरी मामी मेरी गली में ही रहती हैं, वो मेरी माँ के एक धर्म के भाई की बीवी हैं.

छोटे लड़के का सेक्सी वीडियोठीक इसी टाइम कोई ट्रेन विपरीत दिशा से आती हुई मेरी राजधानी को क्रॉस करती हुई धड़धड़ाती, हॉर्न देती हुई बगल से निकल गयी. अगले दिन मैं पास की पैट शॉप पर गया तो उसने बताया कि अभी उनके पास कोई ऐसा मेटिंग करवाने लायक कुत्ता नहीं है, जब होगा तब बता देगा.

सेक्स करने वाली

आखिर काफी इंतजार के बाद दिव्या सो गई तो मुझे मौका मिला कि मैं अमित से बात कर सकूँ और इसी चाहत में मैंने खुद अमित को दिव्या के मोबाइल से एसएमएस भेजा. जब भगवान ने लंड चूत बनाया ही है, तो उसने ऐसा दिमाग़ ही क्यों दिया, जिसमें ऐसे ख्याल आते हैं. दोनों हाथ और कंधे और पीठ और पेट के बीच वाली जगह पूरी नीचे तक खुली थी.

पहले उन दोनों में हाय हेल्लो हुई और उसके बाद उन दोनों की बात शुरू हुई और करीब उन दोनों की करीब 20 मिनट तक बात हुई जिस दौरान सिमरन ने करीब 10 बार मेरे लंड की तरफ गौर से देखा. मेरा दोस्त शादी की तैयारी में काफी व्यस्त था इसलिए उसने मुझसे कहा- भाई तू खाना पीना खा और एन्जॉय कर. खैर एक दिन दोपहर के समय गर्मी अधिक होने की वजह से मैं अपने बिस्तर पर जैसे ही लेटा, वैसे ही लाइट चली गई तो भाभी मेरे पास आ गईं और मुझसे बात करने लगीं.

इसके एवज में वो हर ग्राहक से एक मोटी रकम वसूलती हैं, उसका 50% मुझे रेणुका मैडम को पे करना पड़ता है. फिर दीदी की बगल से हाथ फिराते फिराते मैं उनकी चुची पर ले गया। वो समझ गई कि मैं क्या चाहता हूं. मैंने लेटे लेटे ही पूछा- तूने उनसे मराई?वह बेशर्मी से लंड सहलाते हुए बोला- हां मैंने दोनों से मराई.

उषा काकी भी किसी घरेलू रांड से कम नहीं थीं, आख़िर फ़ौजी की बीवी थीं. दोस्तो, मेरी पिछली कहानीगर्लफ्रेंड की अदला बदली करके चुदाई की तमन्नाआप लोगों ने पसंद की उसका बहुत बहुत शुक्रिया.

उसकी बात सुन कर मैं शरम से वहां से चला गया पर मेरा 6 इंच लंबा लंड कहां मानने वाला था.

आपको मेरी सेक्सी स्टोरीज पसंद आई या नहीं, प्लीज़ मुझे रिप्लाई ज़रूर करना. सेक्सी मूलीहालांकि मुझे आकाश से चुदाई करवाने के बाद उससे कुछ प्यार सा हो गया था. सोफिया अंसारी के सेक्सी वीडियोसीमा- ये लंड मुझे दे चूसने को, हरामी साले क्या मस्त लौड़ा ले कर बैठा है. ये किस्मत का खेल ही था, जो एक सामान्य घर के सामान्य से रिश्तों को कुछ ही घंटों में इतना विशेष बना दिया.

दीदी ने भी मेरे को रेस्पॉन्स दिया और मेरे सर को हाथ से पकड़ कर लिप्स की तरफ़ खीच लिया और एक ही पल में मेरे लिप्स दीदी के लिप्स से जकड़े गये.

वहां सब इधर उधर बिज़ी थे, तभी किसी ने मेरी मॉम को घर से कोई सामान लाने को बोला. मेरा लंड बहन की चूत में ऐसे घुस गया जैसे मक्खन में चाकू, मैंने उस से पूछा- बहना, तुम पहले ही अपनी चूत की सील खुलवा चुकी हो क्या?वो मुझे चूमते हुए बोली- हाँ मेरे भाई, मैं तो कई बार चुद चुकी हूँ. हम अपने सब रिश्तेदारों से मिले, फिर सबने डिनर किया और चूँकि शादी अगले दिन थी और उस दिन कुछ भी कार्यक्रम नहीं था इसलिए डिनर के बाद सब अपने अपने रूम में जाकर सो गए.

जैसे हीसाली की चुत में लंडका सुपारा अन्दर गया, वो आज फिर से चिल्लाई और बोली- जीजा जी बाहर निकालो प्लीज़. रमेश के लिए ये चुदाई पहली नहीं थी, पर वो अपनी बहन की चूत को चोदते हुए सेक्स का एक अलग ही अनुभव कर रहा था. मैंने तो अपने कपड़े पहने और उन्हें चुदाई करते हुए छोड़ कर वहां से निकल कर अपने घर आ गया.

एडल्ट सेक्सी वीडियो

मैं करीब 11 बजे मुरादाबाद पहुँच गया और मैंने रास्ते में ही शालिनी को फ़ोन कर दिया कि मैं आ रहा हूँ मेरी रानी. हम अपने सब रिश्तेदारों से मिले, फिर सबने डिनर किया और चूँकि शादी अगले दिन थी और उस दिन कुछ भी कार्यक्रम नहीं था इसलिए डिनर के बाद सब अपने अपने रूम में जाकर सो गए. मैं उसे फंसाने की सोच रही थी पर फंसने वाली थी खुद।तो एक बार हुआ यूँ कि मेरा ड्राइवर बीमार हो गया और पापा ने उसे मेरे साथ कॉलेज भेज दिया.

अंजलि बोली- तुम आराम करो, मुझे स्कूल जाना है अर्जेंट काम से; मैं 2 घंटे बाद आ जाऊंगी.

मेरे पास दो कमरे थे, मकान मालिक तब बाहर गए थे, कोई फर्नीचर नहीं था, मैंने चटाई बिछाई, उस पर एक कम्बल बिछाया और बैठ गए.

जब भगवान ने लंड चूत बनाया ही है, तो उसने ऐसा दिमाग़ ही क्यों दिया, जिसमें ऐसे ख्याल आते हैं. मैं उसकी चुत में अपना लंड डालने लगा, तो वो रोने लगी- प्लीज़ ये सब मत करो, मैं नहीं कर सकती. गोपाल की सेक्सीयह कह कर वो जाने के उठने लगीं मगर उनसे उठा ही नहीं गया और वो गिरने लगीं, तब मैंने तुरंत उन्हें संभालते हुए अपनी गोद में उठा लिया और बाथरूम की ओर ले गया.

[emailprotected]इसके बाद क्या हुआ, पढ़ें इस कहानी में:रिसेप्शनिस्ट की चूत चुदाई का दूसरा मौक़ा. जब उन लोगों में मुझे उकसाया तो मैंने गुस्से से कह दिया कि ‘भूत की माँ की चूत. लेकिन मैं ऐसे ही लेटा रहा, जब वो थोड़ा शांत हुई मैंने धीरे धीरे लंड अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया.

वो गुस्से में लाल होकर बोली- तुम मेरा मुँह ना खुलवाओ तो ही अच्छा रहेगा. अब रमसुख से मैंने कहा- क्या तू भी मेरी मारेगा?वो हकला गया- भै…या जी… आप मों से भी करवाओगे.

दोस्तो मैंने देखा पूनम ने ब्लैक कलर की नेट वाली पेंटी पहनी हुई थी और पेंटी की नेट पूरी चुत के पानी से गीली हो रही थी.

मैं शरमा गई और पानी लेने चली गई और आकर कहा- हां एक सहेली की बर्थडे पार्टी है. मुझे अपने पुरूषत्व पर शक हो रहा था और भाभी मुस्कराते हुए अपने कपड़े ठीक करके चली गईं. वो बोली- देखो बेटा, मैं जानती हूँ कि कल तुमने मुझे अपने बेटे को दूध पिलाता देख लिया.

सेक्सी वीडियो बिहारी गर्ल उसको भी मीठे दर्द के साथ मज़ा आने लगा था और वो अपनी गांड हिला हिला कर चुदाई के मज़े ले रही थी. मैंने उसके चूतड़ों को पकड़ कर थोड़ा सा ऊपर किया और छोड़ दिया, जिससे उसे अच्छा लगा क्योंकि लगता था कि इस तरह से चुदाई का ये उसका पहला अनुभव है.

आप तो जानते हैं कि दिसंबर में दिल्ली की सर्दियां कैसी रहती हैं? ऐसे ही एक शाम को हम दोनों सहेलियां घर पे बैठी बैठी उकता गयी थी. वो चिल्लाई- बेबू आराम से!अब मैं आराम आराम से लोड़ा अंदर बाहर करने लगा, साथ साथ मैं उसके चूतड़ों पर हाथ मारता तो कभी सहलाता बड़े प्यार से… तो कभी उसके मुलायम चूतड़ों को दोनों हाथों में भर कर भींचता जोर से… कभी उसकी गांड पर उंगली फिराता।अब वो मेरे धक्कों से निहाल हो चुकी थी और मैं भी झड़ने की हालत में आ चुका था, अब मैंने उसके चूतड़ों को कस के पकड़ा और पॉवर शॉट लगाने शुरू कर दिए. कई दिनों तक वो मुझे यूं ही देखतीं और मुस्कुरा देतीं, तो मैं भी कभी कभी मुस्कुरा देता.

सेक्सी पटेल

अपने विचार मुझे मेल करें कि आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है![emailprotected]एडल्ट कहानी का अगला भाग :बस के सफर से बिस्तर तक-3. जब चूत में से बच्चा बाहर आ सकता है, तो यह लंड क्या चीज़ है? मेरी वाइफ भी तो लेती ही है. उसने अब अपनी एक और उंगली बहन की चूत में डाल दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए अपनी उंगलियों से ही बहन की चूत की चुदाई करने लगा.

उसके बाद वो मुझे किस करने लगा, कुछ देर किस करने के बाद, हम खड़े हो गए और एक दूसरे की बाँहों में बाँहें डाल कर एक दूसरे को किस करने लगे. कभी महेश अपनी जीभ मेरे मुँह में देता, जिसे मैं चूसती, तो कभी मेरी जीभ को वो चूसता और साथ ही साथ उसके हाथ मेरी पीठ पे घूम रहे थे.

हालांकि मुझे आकाश से चुदाई करवाने के बाद उससे कुछ प्यार सा हो गया था.

स्वाति ने निकिता को डांटते हुए कहा- कैसे करवायेगी तू अकाउंटेंट से सारी गड़बड़ी ठीक? उसे चूत देकर ठीक करवायेगी? बोल… चूत देगी उसे… या अपनी गांड देगी… बोल? मुझे सब पता है कि तुम दोनों क्या करते हो!निकिता घबरा कर बोली- मैडम जी… मैडम आप ये क्या बोल रही हो? ऐसा कुछ नहीं है. तभी अचानक से मैंने देखा कि वो भी अपनी गांड को पीछे की ओर धकेलने लगी थी. जैसे ही वो थोड़ा शांत हुईं, मैंने उन्हें धीरे से किस करना शुरू किया.

वो लड़की बात करते हुए मुझसे शर्मा रही थी, पर उसके चेहरे से जाहिर था कि उसने मेरे लंड का खूब आनन्द उठाया है. भाभी बाहर होली के डांस में मस्ती से नाच रही थीं और अपना बदन चिपका चिपका कर सबसे रगड़ रही थीं और रंग लगवा रही थीं. उसके मुँह से सी…सी… की आवाज़ आने लगी लेकिन मैं उसे किस कर रहा था तो उससे आवाज़ नहीं आ रही थी.

अब उसने कोई रिप्लाई नहीं किया और मैंने उसे सॉरी लिख कर भेजा तो उसका रिप्लाई ‘इट्स ओके’ का आ गया.

इंग्लिश शॉर्ट बीएफ: उसने मुझे देखा और मुस्कराई और कहा- आज आपने मुझे वो मजा दिया है, जिसके बारे में मैं सोच भी नहीं सकती. यह कहानी मेरे और मेरे मामा की बड़ी लड़की दिव्या (बदला हुआ नाम) के बीच उस समय घटी, जब वो अपनी छुट्टियों में कोटा से दिल्ली अपने घर आई हुई थी.

मीना सागर की ओर देखने लगी, सागर का 8 इंच का लंड तना हुआ था और सलामी दे रहा था. इससे मुझे यकीन हो गया कि ये मजा ले रही है जिससे मेरी भी हिम्मत बढ़ गयी और मैं उसे सहला कर गर्म करने लगा. मैं अन्तर्वासना को तब से पढ़ता हूँ, जब मैं स्कूल में था और मैं आज भी इसकी सारी कहानियां बड़े चाव से पढ़ता हूँ.

इधर मैं उनकी गांड को बजा रहा था और वो बस बीच बीच में यही बोल रही थीं कि छोड़ दे राहुल साले कुत्ते.

मैंने मेरा पूरा लंड मामी के मुँह में डाल कर गले तक कर दिया और ऐसे ही रखा तो वो मुँह से बाहर निकालने की कोशिश करने लगी थीं क्योंकि लंड उनके गले में अड़ गया था. मैंने अपने हाथ को उनके मम्मों पे रखा और जब वे इस पर भी कुछ नहीं बोलीं, तो मैंने उनके मम्मों को धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया. काफी देर तक मम्मी ऐसा ही करती रहीं, इतनी देर में उसने मम्मी के शरीर से ब्लाउज को आजाद कर दिया.