तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ बीएफ न्यूज़ meaning no

तस्वीर का शीर्षक ,

बिहार बिहारी बीएफ: तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ, सबसे पहले एक होटल में एक रूम बुक किया, फिर उसके लिए कुछ गिफ्ट ख़रीदे और उसको तय जगह पर रिसीव करने चल दिया.

ब्लू फिल्म पुरानी वाली

एक दिन शाम को जब मैं ऑफिस से निकल रहा था तो तभी सुषी का कॉल आ गया और वह फोन पर मुझसे मेरा हाल पूछने लगी. राजस्थानी एमएमएस वीडियोवो पूरी करनी पड़ेगी?भईया बोले- बोल ना?मैंने बोला- जो साली मेरे को बॉथरूम ले गई थी, उसका नंबर लगेगा.

फिर तो प्रशांत ने नीना के होंठों का जो रसपान किया, वह या तो मैं करता हूं या फिर हिंदी सिनेमा के परदे पर सीरियल किसर इमरान हाशमी. हिंदी बीएफ हॉटमैंने सोचा बाकी सारी चीजें तो पूछ ली लेकिन पता पूछना तो भूल ही गया.

मैं जाकर बैठा उसके पति ने पूछा कि क्या पीओगे?तो मैंने कह दिया कि मैं तो बीयर पीता हूँ।राहुल अंदर जाकर बीयर और उनके लिए रम लेकर आए, उनके पीछे ही संध्या आई काले रंग का गाउन पहने हुए.तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ: तू मेरी सगी मौसी का लड़का है और अंकित तुम्हारे सगे चाचा का बेटा है.

आप लोगों के अच्छे कमेंट्स मिले, तो इसके बाद मैं एक और कहानी बताऊंगा कि कैसे मैंने एक शादीशुदा औरत की चुदाई की.रिशु- अब इतनी हॉट लड़की नम्बर दे दे तो थैन्क्स तो बनता है न।मिशिका- अच्छा जी।रिशु- जी, और नहीं तो क्या। वैसे अपनी पिक भेजो न?मैंने देखा कि मिशिका ने उसके बाद अपनी 3-4 फोटो भेज रखी थीं.

xxx video गावठी - तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ

सुखबीर, मेरेपड़ोसी से सम्भोग का सुखपाने के बाद हम दोनों कभी दोबारा नहीं मिले और न उसने कभी जोर दिया.हाय … मार दिया … मार दिया … इतना बड़ा लंड … इतना मोटा … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैंने पहली बार लिया है.

धीरे धीरे मैं अपने हाथ को उसकी कमर से नीचे उसके चूतड़ों तक ले गया और उसके चूतड़ों को दबाने लगा. तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ कुछ देर बाद बारिश थोड़ी कम हो गई थी लेकिन पूरी तरह से बंद नहीं हुई.

अब मैं उठा और उसे लिटा कर उसकी चुचियां चूसने लगा, मैं एक दूध चूसता और एक को दबाता, बड़ा मज़ा आ रहा था.

तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ?

मैंने उन को गोद में उठाया और बिस्तर पर ले आया और फिर उनकी चूत में डंडा पेल कर उनकी धकापेल चुदाई चालू कर दी. सुषी भी उम्म्ह… अहह… हय… याह… की सिसकारियों के साथ चुदाई का मजा लेने लगी थी. उन्होंने मेरे माथे पे चूमा और खड़े हो गए, फिर मम्मी से बोले- इस बेचारी को पलंग पर सुलाओ.

वो मेरी गांड में अपना लंड पेलते हुए मैक से कह रहा था कि इसकी चूत में जम के लंड पेलो. संजीव देखने में बिल्कुल वैसा ही था जैसा मैंने उसको फोटो में देखा था. अब मुझे बस जग के आने का इंतज़ार था क्योंकि जिस बेनाम रोग के साथ मुझे वो छोड़ गया था, उसका इलाज भी उसी के पास था.

इस तलाक देने के बाद मेरे कजिन को बहुत पछतावा हुआ और इमरान ने दोबारा सारा से शादी करने की ख्वाहिश की, तो मौलवी साहेब बोले कि शरीयत के रूल से सारा को हलाला से गुजरना होगा और कम से कम एक रात के लिए किसी और की बीवी बनना पड़ेगा, तब ही तुम दोनों की शादी हो सकती है. अब तक आपने पढ़ा कि राज अंकल ने पैसे लेकर मुझे अनजान लड़कों के हवाले कर दिया था चुदने के लिए. नाग नागिन के जोड़े से लिपटे हुए हम दोनों एक दूसरे में समाने की जद्दोजहद में लगे थे.

फिर आंटी ने मुझे एक दिन अपने घर में बुलाया और बोलने लगी- प्लीज़ मुझे 3 महीने का और टाइम दे दो. मैंने पूछा- क्या उनको नहीं पता कि तुम जागती रहती हो और उनको देखती रहती हो?सोनू ने कहा- नहीं, मैं पिछले एक साल से यह सब देख रही हूँ और जब देखती हूँ तो मेरा भी बहुत दिल करता है.

फिर उसके बाद मुझे थकान महसूस होने लगी और अचानक से पंकज धक्के भी तेज होकर धीमे होना शुरू हो गए.

इधर अब सारा भी मेरी बीवी थी, पर उसे तो हलाला के चलते तलाक देना होगा.

तभी उसने मेरे मुँह को जिस हाथ से दबाया हुआ था, जिससे मैं चिल्लाऊं नहीं … उस हाथ को मुँह से हटा लिया. तभी वाणी भी आ गयी और बोली- अरे इतनी देर से आये क्या … अभी तक काफ़ी भी नहीं पी?हम दोनों मुस्करा दिये और बोले- समय नहीं मिला बनाने का. मैंने कहा- मुझसे अभी भी गुस्से में हो यार?वह बोला- नहीं गुस्सा नहीं हूं.

फिर धीरे धीरे मैंने उनके ब्लाउज को और साड़ी को निकालते हुए अपने कपड़े भी निकाल दिए. उसके बोबे बहुत ही प्यारे थे और उसके गुलाबी निप्पल पर जैसे मैं टूट पड़ा और चूस-चूस कर उसे चरम सीमा पर ले आया. ठाकुर अब मेरे होंठों को चूसने लगे … मैं तो पहले से बहुत जोश में थी.

जैसे ही मेरा दर्द खत्म हुआ कि सामने से सुनील बोला- वन्द्या तू बहुत मस्त चुदवाती है, तेरी चुदाई देख कर हमसे रहा नहीं जा रहा है.

मेरी यह पहली सेक्स स्टोरी है जो मैं आप सब लोगों को बताने जा रहा हूँ जो एक सच्ची घटना है कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड और उसकी मम्मी को चोदा।जब मैं स्कूल में था उस वक्त मुझे अपने ही स्कूल की एक लड़की बहुत पसंद थी. इस कहानी का अंत भी एक ऐसे रोचक तरीके से हुआ, जिसका मैंने खुद भी नहीं सोचा था. मैंने उसके साथ अभी तक किस के अलावा और कुछ नहीं किया था, रात को जब वो सभी के सो जाने के बाद मेरी बुलाई जगह पर आई तो हम दोनों में बातें होने लगीं.

मेरी भाभी की उम्र 30-32 साल के करीब है लेकिन वह देखने में 26-27 साल की लगती हैं. उसने भी मेरे पूरे शरीर पर किस किया, मेरी छाती मेरी कमर, गर्दन, गाल, होंठों पर खूब चूमा. अगली सुबह हम काफी देर से जगे और उठकर दोनों ने एक दूसरे को गुड मॉर्निंग विश किया.

मैं यहीं खड़े खड़े ही डाल दूंगा, तू समझ ले तेरा भी तो मूड बन गया है.

पापा रोते हुऐ मेरे माथे पे हाथ फेरते बोले- मेरी बच्ची मुझे माफ़ करना, मेरी भूल हो गई … मैं तेरे जज्बात समझ नहीं पाया. पर मैंने नहीं की, तो उन्होंने खुद से कमर पर हाथ लगाकर मुझे दबाया और मेरे टांगों पर नीचे लिपट कर अपनी उंगली चुत की रेखा पर चलाते हुए अपनी नाक भी मेरी चुत में रख दिए.

तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ उसका 36-28-34 का सेक्सी फिगर स्किन फिट सिल्क गाउन में साफ़ दिख रहा था. मैं बस मन ही मन मुस्कुरा रही थी और अपनी स्कर्ट से झांकती टांगें उसको दिखाए जा रही थी.

तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ जब भी कभी मैं मेरे भाई-भाभी को साथ में हंसते हुए देखती हूँ … तो मुझे भी किसी की ज़रूरत महसूस होती है. मैंने अजय की तरफ देखा, जो वहीं बैठा, अपने लंड को लोअर के ऊपर से मसल रहा था.

फोन से बात करते करते, डरते हुए मैंने इतना बड़ा कदम एकदम से उठा लिया था.

वीडियो बीएफ सेक्स वीडियो बीएफ

मैंने उसकी गांड में लंड घुसेड़ा और शीला चूतड़ उठा उठा कर गांड मरवाने लगी. अजय ने कहा- नहीं रे … रमेश भी तेरे साथ मस्ती करने की बात मुझसे एक दो बार कह चुका है, पर मैंने ‘तेरा मूड नहीं है. अब की बार मैंने बियर उसके चुचे पर डाली और उसे चाटने लगा और उसकी चुची चुसने लगा.

उन्होंने मुझे बड़े प्यार से देखा और मेरे सर पर हाथ फेर कर मुझे फिर से चूत चाटने का इशारा कर दिया. तभी उसने दबी आवाज़ में पूछा- कैसी पोज़िशन लूँ?तब मुझे बहुत ही अलग एहसास होने लगा. ऐसे तो मुझे कोई कमी नहीं है, ना ही कभी किसी गैर मर्द की मुझे जरूरत पड़ी है.

पता बताने की बजाय उसने मुझे मंडी हाउस के मैट्रो स्टेशन पर आने के लिए कह दिया.

इसके बाद जो प्रीति ने किया, मेरे तो रोंगटे खड़े हो गये जब प्रीति ने उस डिल्डो में वाईब्रेशन शुरू कर दिया. हम दोनों बिस्तर पर 69 पोजीशन में थे, तो वो अपनी जीभ और उंगली से मेरी चूत को कुरेद रहा था. किसी तरह वो मान गयी और फिर पूछने लगी- खाना कहां खाओगे?मैंने बोल दिया कि मैं होटल में खा लूंगा.

मैं सोनू की बेताबी समझ चुका था लेकिन कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहता था. बिना समय गंवाए मैंने उनके आधे लंड को मुँह में भरकर चूसना चालू किया. उस पर उनकी उछलती हुई चूचियां और बिना बालों के उनके हाथ और चौड़े कंधे और उत्तेजना बढ़ा रहे थे.

तुमने जहाँ पर रुक कर सिगरेट पी थी, मेरा योग सेंटर उसके ठीक सामने है, वहां तुमको देखकर मुझे यहाँ आने का ख्याल आया और तुम्हें ऐसे लुंगी में नंगे बदन देखकर मुझमें कामवासना हावी हो गयी है. उस दिन से मुझमें तुम्हारे साथ सेक्स करने की इच्छा हुई और काम्या पर दुःख आया कि उसने कैरियर के लिए इतना अच्छा पति छोड़ दिया.

मैंने अपना हाथ नीचे ले जाकर उसकी पैंट के ऊपर से ही उसके लंड को सहलाना शुरू कर दिया. फिर थोड़ा सा खींच कर एक जोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी उसकी चूत में जड़ तक समा गया. इतने में सामने बैठा वो विदेशी आदमी पापा से बोला- क्या हुआ … ओल्डमैन … इतने में ही थक गए? मैं तो 3 बार चुदाई करने के बाद ही शांत बैठ पाता हूँ.

मगर वह मुस्करा रही थी; उन्होंने मेरे इरादे भी भांप लिए थे; भाभी ने कहा- आने दो तुम्हारे भाई को, तुम्हारी सारी हरकतें बताऊंगी उनको.

मैं बेकाबू हो गयी और उसको बोलने लगी कि मेरी चूत में अपना लंड डालो, मेरी चूत को चोदो. भाभी ने पहले तो लंड चूसने से मना किया लेकिन बाद में मान गईं और फिर पूरे रूम में गप गप्प उनके थूक और मेरे लौड़े की आवाज़ गूंज रही थी. देखने में संजीव भी अच्छा था मगर जो लड़का गाड़ी चला रहा था उसे देखकर तो मैं यही कहूंगा कि संजीव अगर 19 था तो उसके बगल वाला 24 था.

उसने एक बार मेरे तने हुए लौड़े को पैंट के ऊपर से ही सहला दिया तो मेरे लंड ने एक जोर का झटका देकर अपना तनाव और ज्यादा बढ़ा लिया. मेट्रो में तो सर्दी का पता नहीं लगा लेकिन बाहर निकला तो कानों पर लगती ठंडी हवाओं में मेरे जबड़े जल्दी ही एक दूसरे के साथ कटकटाने लगे.

सच में कितनी सुन्दर लग रही थी वो, बस उसके चेहरे पर हल्का सा डर का भाव था, साथ ही उसके चेहरे पर मिलन को लेकर हल्की सी मुस्कराहट भी थी. सच में मुझे भरोसा ही नहीं हुआ जब प्रिया ने बिना किसी झिझक के मेरा वीर्य अपने मुँह में ले लिया था. वे बात करने लगे तो मैंने कहा- आज भैया आपकी सुहागरात है, आप तो उसकी तैयारी करो.

धड़कन की बीएफ

फिर धीरे धीरे मैंने उनके ब्लाउज को और साड़ी को निकालते हुए अपने कपड़े भी निकाल दिए.

पर मुझे ये पता था कि मेरी दवाई का असर खत्म नहीं हुआ है और मेरी आग अभी बुझी नहीं है. फिर तो प्रशांत ने नीना के होंठों का जो रसपान किया, वह या तो मैं करता हूं या फिर हिंदी सिनेमा के परदे पर सीरियल किसर इमरान हाशमी. कुछ औपचारिक बातें फैमिली की करने के बाद मेरी तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाते हुए उसने पूछा- रीना जी, क्या हम दोस्त बन सकते हैं?मैं थोड़ी देर चुप रही … समझ नहीं आ रहा था कि क्या कहूँ.

थोड़ी देर में हमारे लिए केक भी आया और हम उसे खाते हुए महोत्सव का आनन्द लेने लगे. मैंने अपने पूरे कपड़े उतार दिए और अपना 7 इंच का लौड़ा सीधा उनके मुँह के सामने कर दिया. एकस एकस सेक्सी वीडियोवह बोला- मैडम हम यह सब आपको फ्री में दे देंगे … आप बुरा नहीं माने तो एक थोड़ी सी गुस्ताखी वाली बात कर दूं?मैं बोली- हां बोलिए क्या कहना चाहते हैं? मैं बुरा नहीं मानूंगी, आप दोनों मेरी हेल्प कर रहे हैं.

खिड़की खोल कर उसे उस पर झुका दिया और पीछे से उसकी साड़ी उठा कर अपना लंड उसकी चुत में घुसा दिया. ’बस मैंने बातों ही बातों में उसको एक जोर का झटका मार दिया, तो अब उसकी आंख में आंसू थे.

मैंने फिर से ना में हाथ हिलाया तो उसने मुझे पीछे तरफ से कमर पकड़ के चिपका लिया और अपना लंड मेरी गांड में लहंगे के ऊपर से दबाने लगा. मुझे कुछ समझ नहीं आया कि क्या करूं क्या नहीं, मैंने सोची अगर इनकी बात नहीं मानी, तो यह कहीं सबको बता ना दें. फिर मैंने उसके पैरों को फैलाया और उसकी चूत को देखकर मेरा हाल बुरा हो गया … बिल्कुल साफ़ वाइट कलर की और उस पर पिंक कलर का क्लिट देख कर दिमाग़ खराब हो गया, उसने मेरे लिंग को देखा और बोली- वाह… इससे तो मज़ा आ जाएगा.

वो एक सीत्कार के साथ मेरे सर को और जोर से दबाने लगी और बोली- हां ऐसे ही जोर से चूसो और काटो … अच्छा लग रहा है. मेरे बॉयफ्रेंड ने खाने का आर्डर दिया और हम दोनों रात का खाना खाकर घर आ गए. मैंने उसकी पति की गैर मौजूदगी में तीन दिनों तक रोज चूत चुदाई का मजा लिया.

उधर मर्द का भी सेम ही है, कोई अपनी नौकरानी को, तो कोई ऑफिस में काम करने वाली किसी साथी को चोद ही रहा है और जिनके पास ऐसा कोई जुगाड़ नहीं है, वो कॉलगर्ल को बुला कर चोद लेता है.

एक-दो ने पूछा भी कि भैया कहां जाओगे तो मैंने मुंडी हिलाकर उनको मना कर दिया. शाम के बारे में बातें करते करते वाणी गरम होने लगी और बोली- इससे पहले कि मैं तुम्हारा जबर चोदन कर दूं, चलो जल्दी से हम कुछ खा कर कुछ पी लें.

कुछ देर रुकने के बाद, फिर उसने एक जोर का धक्का लगाया और इस बार उसका पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में चला गया. तभी उसका साथी रमीज बोला- यार अब्दुल, देख के कर … नीचे वन्द्या की चूत से ब्लड आने लगा है. मैं बता दूं कि हम सबके घर आपस में लगे हुए बने हैं, जिसके कारण हम एक दूसरे के छत कूद कर आ-जा सकते हैं.

अगर वो मुझसे पहले झड़ गया, तो मैं प्यासी रह जाऊंगी और कुछ पलों में मेरा ये भय सत्य हो गया. खाने के बाद राहुल ने टीवी चालू करके ब्लू फिल्म लगाई, हम तीनों फिल्म देखने लगे. मैं थोड़ा घबराया और सोचने लगा कि अब इसको क्या हुआ? इसको चुप कैसे कराऊँ?मैं उसको चुप करवाने की कोशिश करने लगा और मेरे दोनों हाथ उसके चेहरे पर चले गए.

तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ जोश में मैंने भी लंड से फिर से एक शॉट लगाया और मेरा कुछ लंड चूत के कुछ अन्दर जा चुका था. मैंने उसकी चूचियों के अंदर हाथ डाल दिया था और उनको जोर-जोर से भींचना शुरू कर दिया था.

मारवाड़ी चुदाई वाली बीएफ

फिर आंटी ने मुझे एक दिन अपने घर में बुलाया और बोलने लगी- प्लीज़ मुझे 3 महीने का और टाइम दे दो. फिर तो ऐसा हो गया कि वो जब भी अपने बेटे से मिलने के लिए आती थीं, तो मुझसे जरूर बात करती थीं. मैं ज्यादा देर उसकी चूत को चूस भी नहीं पाया क्योंकि मैं उसको अब बस चोद देना चाहता था.

जब प्रमिला पूरी तरह मजा लेने लगी, तो मैं धीरे धीरे पूरा लंड अन्दर बाहर करने लगा. मैं अचानक से उठा और देखा तो सोनम भाभी मेरा लंड मुँह में लेकर चूस रही थीं. क्सक्सक्स विबेओअचानक मैंने उनको उठा कर बिस्तर पर पटक दिया और उनकी कमर को चूमने लगा.

तब मैंने पूछा- क्या उसने कुछ नहीं किया तुम्हारे साथ?तब वो बोली- तुम्हारा पति तो पूरा कुत्ते की तरह से चोदता है.

उसकी ऐसी हरकतें देख के मुझे कुछ अजीब तो लगता था लेकिन मुझे भी अच्छा लगता था. उनको देखकर मैंने अचानक से बोला- सरप्राइज …भाभी अचानक से मुझे देख कर शॉक में थी और मैं शॉक में होने का नाटक कर रहा था.

वो अपना लौड़ा अपने हाथ से रगड़ते हुए मेरे सामने आ गया और अब्दुल से बोला अब्दुल भाई इसकी चुदाई जरा उठ कर करो. मेरा अब सिर्फ हर वक्त यही मन करने लगा कि मुझे कोई भी मर्द मिले और मेरे जिस्म को अपने बाजुओं से मसल दे. तभी निहाल ने मेरी गांड में पीछे से एक उंगली को डाल दिया और एक उंगली मेरी चूत में पेल दी.

कंपकंपाती ज़ुबान में बोली- अमित प्लीज़ … हद मत पार करो, इतना ही काफी है.

मेरी हालत सुनकर मुझे सहारा देने की जगह मुझे कहा जाने लगा कि अकेली हो, जवान हो, मज़े लो सेक्स के. कहानी शुरू करने से पहले मैं सभी गर्म भाभियों और सेक्सी आंटियों को धन्यवाद देना चाहता हूँ जो मेरी कहानियों को प्यार देती हैं. मेरी इस वक्त जरूरत थी, सो मेरी सोच किसी भी तरह से सेक्स की तरफ जा ही नहीं रही थी.

ಸಕ್ಸಿವಿಡಿಯೋलंड की चाहत होने के कारण मैं अपनी गांड में दो या तीन तीन उंगली डाल लेता था … जिस वजह से मेरी गांड खुल चुकी थी. दोनों की गांड के नीचे एक एक तकिया लगाया, जिससे उनकी गांड भी साफ नज़र आने लगी.

सेक्सी बीएफ बुंदेलखंडी

उसने पूछा तो मैंने बताया कि मोबाइल कम बैटरी की वजह से स्विच ऑफ़ हो गया है. तो मैंने कहा- मैं भी सोच रहा था कि कपड़े उतार कर कुछ देर सो लिया जाए. मैं थोड़ी देर बाद अपने लंड को आगे पीछे करने लगा और एक जबरदस्त चुदाई शुरू कर दी.

हम दोनों ढेर होकर एक दूसरे से चिपके हुए अपनी सांसों का संतुलन बनाने लगे. बस उनके कहते ही मुझे लगा, जैसे बदन से मेरी जान मेरे लंड के रास्ते बाहर निकल रही है। मैंने एक झटके से अपना लंड अपनी मॉम की चूत से निकाला और जैसे ही लंड बाहर निकला एक गाढ़े सफ़ेद पानी की धार बड़े ज़ोर से बाहर को निकली और मॉम के मुंह तक जा गिरी. चूंकि मैं उससे काफी छोटा था और वह मुझसे उम्र में सात साल बड़ी थी, वह बचपन से ही मुझ पर नजर रखे हुए थी.

मैं ऑफिस के काम से जल्दी ही वापिस आ जाया करती थी और हमेशा ही प्रसंग को आरती के पास देखती थी. मैंने अपने दोनों होंठ से उसके निचले वाले होंठ को गिरफ़्त में ले लिया और अपनी जीभ से उसकी जीभ के साथ खेलने लगा. वह कामुक सिसकारियाँ भरने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने संध्या की चूत को सहलाना शुरू कर दिया.

दोस्तो, हम एक संयुक्त परिवार में रहते हैं और मेरे परिवार में मुझे मिलाकर 25 लोग हैं. हालांकि मुझे दर्द हो रहा था लेकिन नशे के कारण मुझे मीठा मीठा मजा आने लगा था.

हम जो सजती संवरती बनती ही इसीलिए हैं कि मर्द लड़के हमें देख कर आहें भरें और हमारे लिए पागल हों.

बस कभी कभी मन होता था कि चली जाऊं उनके पास और बिछ जाऊं उनके सामने, वो मुझे बेरहमी से अपने आगोश में लें, मेरी योनि को अपने लिंग से भेदें, अपने मर्दाना हाथों से मेरे नितंबों को मसल दें, मेरे कूल्हों को बेरहमी से निचोड़ दें, मुझे अलग अलग आसनों अच्छे में पूरी बेरहमी से चोदें और मैं बस सिसकारियां लेती रहूं, आहें भरती रहूं और झड़ जाऊं. एक्स एक्स एक्स वीडियो पिक्चर फिल्मभाभी मुस्कुराने लगी और मुझे कहने लगी- अब तुमने मेरा शरीर और मेरी चूत सब देख ली है, जरा उसका भी हिसाब किताब चेक करो. सेक्सी बीएफ देनामैं उसका लंड रस गटक भी गई, अजीब सी खुशबू थी और टेस्ट नमकीन सा थोड़ा अलग ही लगा. मैं चाह रही थी कि संभोग का एक दौर और चले, पर थोड़ा लंबा चले ताकि मैं भी चरम सुख का आनन्द ले सकूं.

मयूर ने मेरी ब्रा को एक झटके से अलग कर दिया और मेरे चूचे हवा में फुदकने लगे.

मुझे अभी भी लंड के सिवा कुछ नहीं सूझ रहा था, क्योंकि मैंने अभी जस्ट आधी अधूरी चुदाई करवाई थी. यार बता नहीं सकता मैं, माल तो बहुत होती हैं, पर इतनी गजब की आइटम … उफ़ … साली फुरसत से बनाई गई चीज थीं भाभी. प्रिया अब मुझसे खुलने लगी, वो भी अपनी गर्म सॉफ्ट उंगलियां मेरी पीठ पर घुमाने लगी.

निक्कर और अंडरवियर देखे, तो वो बाहर सुखाने डाल कर गया था, इसलिए वो बारिश में गीले हो चुके थे. मैं ज़रीना को पागलों की तरह चूमने लगा और बोला- मेरी ज़रीना, मैं पहली झलक में ही तुम्हारा तो दीवाना हो गया था. आंटी ने मुझे अंदर बुलाया और मैंने देखा कि अंकल भी खाने की टेबल पर बैठकर खाना खा रहे थे.

गांव की बीएफ वीडियो हिंदी में

हवस जब नई-नई जागना शुरू होती है इस तरह की घबराहट अक्सर महसूस होती है जैसी मुझे उस वक्त हो रही थी. मगर उससे पहले आप सबका मेरी पिछली कहानीकुछ अधूरा साको इतना प्यार देने के लिए धन्यवाद. इसके बाद मैंने 69 में होकर अपना लंड मामी को थमा दिया और मैं उनकी रसभरी चूत को चाटने लगा.

मम्मी बीच में आ गईं … वे बोली- इस बेचारे को क्यों मार रहे हैं?पापा मेरी तरफ आने लगे और बोले- खुद के आटे में कंकड़ हो, दूसरों क्यों दोष दें.

मेरी जो क्लोज सहेलियां थीं, उन्होंने मुझसे कहा- सच बता वन्द्या, मौसी के यहां तूने बहुत ऐश की क्या … कोई ब्वॉयफ्रेंड बना लिया और उसे सब कुछ करने की इजाजत दे दी, क्योंकि तेरे दूधों के साइज बड़े हो गए हैं और पीछे गांड में भी बहुत उठान आ गया, जो अलग ही दिख रहा है.

मैंने कहा- नहीं यार मैं तुम्हारे साथ ऐसा नहीं कर सकता, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं, पर मैंने फिजिकल रिलेशन के बारे में अभी तक कुछ नहीं सोचा है. इसी बीच मैंने अपना हाथ उसकी चूचियों पर रख दिया और धीरे धीरे दबाने लगा. बिहार की चुदाई वाली बीएफउसकी पीठ को किस करते करते मैं नीचे तक आ गया और उसकी गांड को दबाने लगा.

हमने घर जाकर सारा काम खत्म किया और सास-ससुर को खाना खिला कर उन्हें भी उनके रूम में भेज दिया. एक दिन की बात है कि मैं सो कर उठी तो मुझे नीचे रोने की आवाज आ रही थी. मैंने ज़रीना के घुटनों को मोड़ कर उसकी छाती पर कर दिया, जिससे उसकी चूत का मुँह ऊपर को उठ गया और अच्छी तरह दिखायी देने लगा.

फिर उसने बताया कि आज वो अकेली ही है, उसकी माँ और छोटा भाई नानी के यहां वाराणसी गए हैं. मुझे कुछ तसल्ली हुई कि आख़िर मेरा भी कोई ‘कद्रदान’ कमरे में मौजूद है.

उसके आते ही मैं उसकी तरफ आकर्षित हो गई, लेकिन मैं चाहती थी कि पहल वो ही करे.

अजय की फुद्दी चटाई की वजह से मेरी फुद्दी की आग बढ़ गई और मैंने लंड मुँह से निकाल लिया. तभी नामित ने मुझे चिल्लाते देख झट से एक ही बार में अपना पूरा लंड मेरे मुँह में घुसेड़ दिया और मेरा मुखचोदन करने लगा. फिर एक दिन शाम को रिया का फोन आया- जल्दी आ जाओ, आज घर पर कोई नहीं है, दो दिन के लिए मकान मालिक की फैमिली बाहर जा रही है.

बाप और बेटी की ब्लू पिक्चर मेरा लंड अपने पूरे आकार में आ चुका था और 7 इंच लम्बा हो चुका था जिसे आंटी पूरा का पूरा अपने गले में उतार रही थी. दर्द काफी तेज था और मुझे समझ में भी आ गया कि मेरी झिल्ली फट चुकी है.

दरवाजा बंद होते ही वो मुझ पर टूट पड़ी और पागलों की तरह मुझे चूमने लगी. अगर मैं उसकी तुलना किसी फिल्म की हिरोइन से करूँ तो विद्या बालन जैसी लग रही थी. थोड़ी देर बाद जब मेरी बीवी की नींद खुली तो वह सोचकर परेशान होने लगी कि रात के 2:00 बज रहे हैं और बॉस कहां गए.

सेक्सी बीएफ चड्डी वाली

यह कहकर मैंने आंटी को नीचे लेटा दिया और उनकी साड़ी को ऊपर करके उनकी चूत को सहलाने लगा. मैंने उसकी टांगों को ऊपर उठा दिया तो उसका सिर दीवार से जा लगा, और वो विरोध की पॉजीशन में नहीं रही. उनका आगे का टोपा एकदम सुर्ख लाल था। राहुल मेरे बालों को पकड़कर अपने लण्ड के बेदर्दी भरे झटके मेरे मुँह में मारने लगे.

मैं उसके मम्मे ज़ोर ज़ोर से दबाए जा रहा था और छोटे बच्चे की तरह चूस रहा था. उसने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और एक बार सहला कर फिर मेरे लंड को अपने मुंह में डाल लिया.

मैंने सोचा कि बॉस ने मेरी बीवी को ही क्यों इन्वाइट किया और किसी स्टाफ की लेडीज को क्यों नहीं कहा.

इंदु बोलने लगी- जल्दी जल्दी कर लीजिये, अब कोई आ गया तो दिक्कत हो जाएगी. काफी देर की चुदाई के बाद वह एकदम से अकड़ना शुरू हो गई और मेरे लंड पर ही झड़ने लगी. आंटी ने बताया कि उन्होंने बहुत दिनों से लंड नहीं लिया और मुझसे शुरूआत में आराम से करने के लिए कहा.

उसने मेरे हाथ हटाते हुए कहा- इतनी भी जल्दी क्या है? कर लेंगे आराम से!कहकर वह मेरे होंठों को फिर से चूसने लगी. मेरे हाथ नैना के चूतड़ों पे चल रहे थे, मैं उन्हें सहला रहा था, बीच में हाथों में भर के दबा भी देता. पर आपसे कुछ पूछ लें?मैं बोली- हां पूछिए … मैं बुरा नहीं मानूंगी, ना कुछ गाली दूंगी.

फिर ज़रीना भी उठी और मेरे लंड के ऊपर बैठ गयी, धीरे धीरे मेरा लम्बा लंड उसकी चूत में समां गया.

तेलुगू सेक्स वीडियो बीएफ: उसकी तेज आवाज निकली, लेकिन मैंने अनसुना करके एक बार फिर प्रयास किया. फिर मैंने सोचा कि लेकिन वे दो-तीन लोग निहाल से एक साथ बहस कर रहे थे.

” कह कर वो सच में रो दी।मुझे मौका मिल चुका था और मैं मौका खोना नहीं चाहता था। मैं झट से उसको चुप करवाने के बहाने अपनी बांहों में भर लिया और उसके आँसू साफ़ करके उसके चेहरे को अपने हाथों में लेकर उसकी आँखों में झांकते हुए कहा- सपना तुम इतना घबरा क्यों रही हो … अब तो हम दोनों भी दोस्त हैं … जैसे उस दोस्त के जा सकती थी तो मेरे साथ क्यों नहीं … अब चुपचाप गाड़ी में बैठो … हम होटल चलते हैं. भले ही भाभी गर्म हो गई थीं, तब भी मुझे उनके साथ शुरू करने बहुत डर लग रहा था. मैं फिर भी उसकी चूचियां दबाने लगा था, जब मुझसे नहीं रहा गया तो मैंने उसकी साड़ी खोलनी शुरू कर दी.

आखिरकार वह दिन आ ही गया, जब सती-सावित्री की तरह पेश आने वाली मेरी बिंदास चुदैल ‘धर्मपत्नी’ की मुराद पूरी हो गई.

रात को मैंने अपने पति से कहा- आज तुम्हें एक नई चूत दिलवाती हूँ ताकि तुम्हारी शादी के बाद वाली पहली रात पूरी यादगार बने. मेरा संतुलन मेरे हाथ भाभी की कोहनियों को पकड़ कर संभला और मेरे लंड में थोड़ा दर्द भी हुआ. मेरे कुछ सवाल थे, जिनके जवाब उसको देने थे और उसका साथ मुझे अच्छा भी लगता था.