बीएफ सेकसि

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर हिंदी में एक्स एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स सेक्स वीडियो बीएफ: बीएफ सेकसि, मैंने कहा- क्या हुआ वर्षा रानी मुझसे नाराज हो?वो मुँह फुलाए बैठी थी, आँखें फाड़ कर मुझे और घूरने लगी.

बनारस का सेक्सी बीएफ

मेरी मम्मी की चूचियाँ हर धक्के पर ऊपर नीचे उछल रही थी।मम्मी कुछ देर बाद मम्मी अकड़ने लगी, वो झड़ गयी थी पर ससुर जी अभी भी उनको चोद रहे थे।‌अब फिर ससुर जी ने मेरी मम्मी को नीचे बिस्तर पर लिया लिया और उनके ऊपर चढ़ कर चोदन करने लगे. बीएफ में दिखाएंपहले भी पता नहीं क्यों मेरे मन में ऐसे ख्याल आते थे कि मुझे कोई अंकल मिल जाएं तो मैं एन्जॉय करूँ.

लेकिन मुझे क्या पता था वो लड़का इस थप्पड़ का जवाब मुझे किस तरह से देगा. चूत की चुदाई की बीएफअब मैंने मैंने अपना लंड हाथ से पकड़ कर पूनम की चुत पर रख कर धक्का दिया.

फिर मैंने भाभी को चूमते हुए एक धक्का और लगाया, तब मेरा पूरा लंड भाभी की चूत में जड़ तक चला गया.बीएफ सेकसि: मैंने अपना लंड उसकी गांड से निकाल कर उसकी चुत में पेल दिया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा.

सुरेश अंकल मेरे सामने तरफ से लिपट गये, उनका सीना मेरे सीने से चिपक गया, मेरे नंगे बूब्स एक जबरदस्त फौजी मर्द की छाती से चिपके हुए थे.सुरेश अंकल ने बोला- आरती, बहुत दर्द होगा!मैं बोली- हम को आप लोग कैसे भी चोदो, मैं झेल लूंगी.

सोनिया का बीएफ - बीएफ सेकसि

सिमरन बहुत ही तेज दर्द के साथ बोली- हाय मम्मी, मर गई! वीशु जी मुझे बहुत दर्द हो रहा है, निकाल लो अपना लंड! मुझे नहीं चुदना!और वो दर्द से छटपटाने लगी.मॉम को अब तक पूरा यकीन था कि किसी को कुछ नहीं पता कि क्या चल रहा है.

घर में मॉम, मैं नानी और बहन ही रहते थे, मिलने वाले आते थे और दिलासा देकर जाते रहते थे. बीएफ सेकसि मैं तो जन्नत में था दोस्तो… उसने मुझे सातवें आसमान पर पहुंचा दिया था.

तभी एक दर्जी आ गया, शायद भाभी ने उन्हें अपने ब्लाउज का नाप देने के लिए बुलाया था.

बीएफ सेकसि?

मेरी रियल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने कैसे उसकी कुंवारी बुर की चुदाई की. उसके बाद मैंने मामी को पेट के बल लिटाया और मामी को कहा- मामी अब मैं आपकी गांड मारूंगा. उसके बाद रवि थोड़ा लेटकर अपना लंड को मेरी चुत में अन्दर बाहर करने लगा.

वो रोने लगी, तो मैंने उससे कहा कि कोई बात नहीं, ऐसे ही बातें करते रहते हैं. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी मेरा कड़क लंड मुख में लेकर चूस रही है और वो मेरा लंड गले तक अन्दर डाल रही हों. मैंने अपने हाथ को उनके मम्मों पे रखा और जब वे इस पर भी कुछ नहीं बोलीं, तो मैंने उनके मम्मों को धीरे धीरे दबाना शुरू कर दिया.

फिर मैंने प्यार से उसकी चुत के होंठों को अपने होंठों से पकड़ कर चूसने लगा और साथ ही अपने हाथों से उसके रसीले मम्मों को मसलने लगा. मैं- आप मुझे अपना मोबाइल नंबर दे दो ताकि बाद में हम एक दूसरे से बातें कर सकें. ’ मैंने वो नोट अपनी पॉकेट में रख लिया और शिवानी भाभी का वेट करने लगा.

जब वो थोड़ी शांत हुई, तो फिर मैंने एक शॉट से आधा लंड उसकी चुत में उतार दिया. आज बेटीचोद बनकर कैसा लग रहा है?मोहन लाल ने थोड़ा असहज होते हुए कहा- क्या.

भाभी इतराते हुए बोलीं- अच्छा जी सिर्फ़ मिलने जाते हो या और कुछ और भी करते हो?मैं शरमाते हुए बोला- भाभी मिलने भी जाता हूँ और भी बहुत कुछ करता हूँ.

मैंने अंगड़ाई लेते हुए बोला- ननदोई जी, आप तो ननद को ठीक से प्यार भी नहीं कर पाते होंगे.

तभी तपाक से गीतांजलि बोली- सिर्फ आज चाहे मैं कितनी भी बार चुदूँ सब फ्री है न?मैंने कहा- हाँ केवल आज ही… आज चाहे जितनी बार भी चुद ले!गीतांजलि मेरी बात को सुनकर एकदम से खुश हो गई और उसने सिमरन की चड्डी एक झटके में उतार दी। चड्डी के उतरते ही सिमरन की अनछुई चूत भी नंगी हो गई और उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था, शायद उसने आज ही साफ किये होंगे. चचा जान ने दोनों हाथों से मेरे मम्मों को मसलना शुरू कर दिया और अपनी गरम जीभ मेरे निप्पल पे रख दी. वो बोली- कैसे? चूची मसली और चूत को क्या किया?पिंकी बोली कि पहले पूरे कपड़े उतरवाये और दूध पिया.

वो बोली- देखो बेटा, मैं जानती हूँ कि कल तुमने मुझे अपने बेटे को दूध पिलाता देख लिया. मेरी इच्छा है कि मेरी भाभी पैन्टी पहन रही हों, तब मैं उनके पीछे जाकर उनकी चड्डी थोड़ी नीचे सरका कर उनकी गांड में अपना लंड डालूं और गांड में ही मेरा वीर्य छोड़ दूँ!37. मैं अपनी उंगली को भाभी की चूत में अच्छे से घुमा-घुमा कर साफ करने लगा.

अब मेरी जीभ उसकी चूत को लपलप करके चाटने लगी और जितनी गहराई तक भीतर जा सकती थी जाकर चूत में तहलका मचाने लगी.

मुझ पर तो जुनून सवार था, मैं कस कस के काकी की चूत में धक्के मार रहा था. अगले दिन मैं सुबह टट्टी जाने लगा तो भाभी ने मुझे रोका और बोली- तुम्हें धोना आता है ना?मैं बोला- हां क्यों? इसमें कौन सी बड़ी बात है?वो बोली- चलो, मैं देखती हूँ. दोनों भाई काजल के अगल बगल में गिर गए और अब तीनों भाई बहन आराम करने लगे थे.

वो फिर से चीखी, मैंने कोई ध्यान नहीं दिया और उसकी कमर पकड़ के धक्के लगाने लगा. फिर उस आदमी ने भाभी की चूत चूसना शुरू कर दिया, भाभी एकदम से कामुक सिसकारियां लेने लगीं और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करते हुए उस आदमी का सर चूत पे दबाने लगीं. मैंने एक टाइट टी-शर्ट पहनी थी, जिससे मेरा कसा हुआ शरीर दिखता था और शॉर्ट्स पहना हुआ था.

आरजू ‘अहह हह हहहा आहहा आआअ विनीत आआह हहह हहहा आराम से करो!’ बोले जा रही थी.

अब मैं धीरे-धीरे नीचे की ओर बढ़ने लगा उसके पेट, उसकी नाभि को किस करने लगा और फिर उस की नेकर के ऊपर से ही अपनी ममेरी बहन की चूत की खुशबू लेने लगा. कोई है कि नहीं?मैंने भी कहा- हां एक लिया था लेकिन आपके डर से कभी घर में नहीं पहना, वहां कभी कभी पहन लेती थी.

बीएफ सेकसि अब हम दोनों एक हो गये थे और वो चीखने चिल्लाने लगी थी और वो अपने दर्द से कराह रही थी. लंड को पूरा बाहर तक खींच कर फिर पूरी ताकत से उसकी चूत में पेलने लगा.

बीएफ सेकसि मॉम अपने रूम में थीं और ऑफिस जाने की तैयारी में बाथरूम में नहा रही थीं. फिर उनके सर आ गए तो उन्होंने मुझे देखा और कहा- तैयार हो जाओ, फिर चलते हैं.

इसी तरह शाम को हम खाना खाने गए तब उसने मेरे बिल्कुल बगल में बैठ के खाया खाना.

एक्स मटका

मैं मादक सिसकारियां लेती हुई अपना चेहरा इधर उधर घुमा रही थी और चचा जान मेरी गरदन को चूम रहे थे. अब मेरे अन्दर का शैतान जाग उठा था और मैंने डिसाइड किया कि पूनम को मैं कैसे भी कर के चोद कर ही रहूँगा. मैंने बोला- मेरा भी सेम टू सेम यही हाल है, लेकिन तेरे पति की वजह से मैं तेरे को कॉल नहीं कर सकता हूँ.

तीन चार मिनट तक लौड़ा चूसने के बाद उसने मॉम को खड़ा किया और मॉम का लहँगा आगे से उठा कर मॉम की पैंटी पूरी निकाल दी और अपनी पैन्ट की जेब में रख ली. मैं पेशे से एक जॉब कंसलटेंट हूँ और नागपुर, महाराष्ट्र में मेरा अच्छ खासा काम है. जब वो मेरे चेहरे के एकदम करीब हो कर मुझे मदद सी करने की एक्टिंग कर रही थी तो मैंने उससे कहा- क्या इरादा है?उसने मुस्कुरा कर कहा- इरादा तो नेक है, दिल तो बहुत करता है, पर कोई मिलता ही नहीं है और डर भी लगता है.

तो उसका दोस्त पिज़्ज़ा और बर्गर ले आया और फिर रेफ्रिजरेटर से 2 बियर की बॉटल ले कर आ गया.

राहुल, हमें काफी देर हो गयी है, हमें चलना चाहिए अब!” अंजना ने राहुल से कहा।राहुल ने कोई उत्तर न दे अंजना को एक बार फिर अपनी बाहों में थाम लिया और अपने गर्म होंठ अंजना के होंठों पे रख दिए। अंजना समझ गयी कि राहुल को इस चुदाई में बहुत बहुत मजा आया है और वो उसी आन्नद से अनुभूत होकर बार बार अपनी भाभी को पकड़ रहा है. शालिनी अपनी लम्बी गर्म जुबान को उसकी कमसिन चूत के अंदर बाहर करने लगी. उसी चटाई के ऊपर बिछे कम्बल पर मेरे पास बैठे ही मैंने देखा कि उनका मूसल सा लंड तनतनाने लगा.

मैं भाभी को सुबह 4 बजे अपने कमरे में आने की बोल कर अपने कमरे में आ गया. बगीचे में एक कोने में जाकर वे दोनों रुक गए और उस लड़के ने मेरी मॉम को बाँहों में भर कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. बस कैसे भी करके आप मेरी बायोलॉजी मजबूत करवा दीजिये, तो मैं आपका यह एहसान जिन्दगी भर नहीं भूलूँगा.

वो मेरी हर बात मानती है और सारी उम्र साथ रहने और चुदने को तैयार है, मेरे बुलाने पे मायके आ जाती है और खूब चुद कर जाती है. अब आगे:रात के लगभग 3 बजे मुझे अपने लंड पर किसी गीली चीज का अहसास हुआ तो मेरी नींद खुल गई.

मेरा बड़ा भाई लगातार मेरी चुदाई में लगा हुआ था, लगभग 10 मिनट होने को थे, वो लगातार मुझे चोद रहा था और मेरी गांड लाल करने में लगा हुआ था, उसके थप्पड़ मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहे थे तो मैंने नीचे हाथ डाल कर उसके आंड को दबा दिए. उनकी हाइट भी 5 फ़ीट 5 इंच की है… जिससे उनकी सुन्दरता बहुत बढ़ जाती है. अब मैं उनको सीधे बोला- मॉम, तेरा अपना बेटा दिन में तेरे लिए दो बार मुठ मारता है और तू बाहर के लंड को मजा दे रही है.

और फिर रिया ने मेरी सास को पकड़ कर उन्हें बेड पर गिरा लिया और उनके होंठों को चूमने लगी, मेरी सास भी उस को चूमने लगी.

पुलकित उसकी कमर के ऊपर चढ़ कर बैठ गया, उसका ढीला लंड मंजरी की नाभि को छू रहा था. तब सुल्ताना ने मुझे उसके ऊपर से उठने के लिए कहा और मैं अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर उठा गया. मेरा लंड अभी भी उसकी चुत में था और झड़ने के वजह से धीरे धीरे ढीला होने लगा.

मीना शरमाते हुए सागर के पास गई और ग्लास हाथ में लेकर सागर को पिलाने लगी. मैंने आँख मारी तो भाभी बोलीं- तुम पूरे जंगली हो… मुझे मारने का इरादा था क्या…? कितना दर्द हो रहा है पता भी है तुम्हें… आह…आज तो मेरी गांड फट ही गई थी समझो.

मेरा लंड उसकी गांड में फँस गया और वो मेरी तरफ देख देख कर रोने लगीं कि मैं कब उन्हें छोड़ूँगा. फिर मैंने थोड़ी देर भाभी के बूब्स दबाए और फिर मैं हाथ को नीचे बढ़ाते हुए उसकी चूत को सहलाने लगा. उसने कहा- आपकी बात तो ठीक है, पर हर एक पर भरोसा तो नहीं कर सकती और आजकल तो आपको पता ही है कि थोड़ा सा भी कुछ हो जाए तो लोग बातें बनाना शुरू कर देते हैं और एक अकेली लड़की का जीना मुश्किल हो जाता है.

भवानी माता फोटो

वो मेरी हर बात मानती है और सारी उम्र साथ रहने और चुदने को तैयार है, मेरे बुलाने पे मायके आ जाती है और खूब चुद कर जाती है.

अमित- हाँ हो सकता है सन्नी, मैंने भी तो किया है कई बार, और अब भी किया है शिखा के साथ…सन्नी- क्या किया उसके साथ अमित सर?अमित- मैंने उसकी एक ऐसी ही वीडियो बना ली है जिस से मैं उसको ब्लॅकमेल कर सकता हूँ… फिर जो दिल करे कर सकता हूँ,… वो मना नहीं कर सकती. उन्होंने कहा कि इसके लिए तुम्हें एक काम करना होगा अगर बुरा ना मानो और इस पोस्ट पर आना हो तो बताओ. दिव्या के भैया ने भी मुझे चोदा है, पर ये बात दिव्या को नहीं पता है.

सुमन मामी के मुँह से मादक सिसकारियां निकल रही थीं- ओह यस्स ओह्ह…मेरे लंड का साइज फूल कर तन चुका था. अमित को मैंने रिप्लाई किया कि मैं घर पर हूँ, तुमसे खाना खाने के बाद बात करती हूँ ओके. नाबालिक बीएफ सेक्सअब मैं उसके कान के पीछे के पूरे हिस्से पर गर्दन पर और गाल पर सहलाने लगा अब क्योंकि ये सब पीछे की साइड हो रहा था और बहुत धीरे हो रहा था तो किसी को कुछ पता भी नहीं था.

रमेश, सुरेश और काजल के लिए मयूरी का ये व्यवहार समझ के एकदम बाहर था. इतने सारे एसएमएस किए फिर भी एक तो रिप्लाई कर दिया करो, ज्यादा बिजी थीं क्या?मैं- नहीं बिजी नहीं थी बस मेरे मोबाइल में एसएमएस पैक नहीं है इसलिए नहीं किया.

रात के 10 बजे होंगे, तब चाची बच्चों को सुला कर मेरे कमरे में आ गईं और दरवाजा बंद कर दिया. बीस मिनट तक ये सब करने के बाद वो बोली- जीजा जी, मैं एक बार तो झड़ गई हूँ. विक्की ने कहा- क्या ऐसे ही एक हॉट और सेक्सी लड़की पार्टी में जाती है?मैंने कहा- हाँ.

इसलिए मैं जब भी चाचा के घर जाता तो चाची मेरे साथ ही वक़्त बितातीं, मेरे साथ ही खेलती रहती थीं. वो मेरे ऊपर आ गई और मेरे लंड के ऊपर बैठ कर चूतड़ों को ऊपर नीचे करने लगी. आज तुझको तेरी मम्मी के साथ ही चोदूँगा और साथ ही साथ फिल्म भी बनाऊंगा.

पिंकी को लेकर लड़की ने अपने बगल में बैठाया और पूछा- क्या क्या किया इन्होंने तुम्हारे साथ?पिंकी बोली- कुछ नहीं.

इस बार भी मुझे ऐसा लगा कि मैं पहली बार उसकी चूत में लंड डाल रहा हूँ. उसके बाद जब भी मुझे मौका मिलता तो मैं भाभी के घर में आ जाता और हम दोनों चूत चुदाई के मजे करने लगते.

कुछ देर बाद दीदी को मस्ती चढ़ने लगी और दीदी मुझे प्यार से ऐसे ही गांड मारने को बोलने लगी लेकिन मैंने प्यार से गांड मारने के 2-3 मिनट बाद एक और तेज झटका मारा और मेरा पूरा लंड दीदी की गांड में उतर गया. इस प्रक्रिया में थूक की प्रचूर मात्रा सदैव उसकी उंगलियों में विद्यमान रहती थी!उधर मेरी पत्नी ने किड के मोटे ताकतवर लंड को चूसते चूसते अब उसके अंडों को भी चाटना शुरू कर दिया तो वो आनन्द के अतिरेक में पागल हो गया, और आँखें बंद करके अपने लंड को और गहरे मेरी पत्नी के मुंह में ठोकने की चेष्टा करने लगा. मैं मुंबई में रहता हूँ, मेरी शादी को 5 साल हो गए हैं, अब तक कोई बच्चा नहीं हुआ है, पर मुझे अलग अलग औरतों को चोदने का बहुत शौक है, अगर मुझे हर रात भी चोदने को मिले तो मैं चोदूंगा.

फिर उसने मुझ से पूछा- फैमिली में कौन कौन हैं?तब मैंने उसे बताया- मेरे मम्मी पापा और मैं ही हूँ बस!फिर मैंने उस से पूछा- यहाँ कौन कौन रहता है?तो उसने बताया कि उस का पति जो कि एक मल्टी नेशनल कंपनी में अच्छी पोस्ट पर हैं. मैंने पिंकी के मुँह से हाथ हटाया और उस हाथ से लंड पकड़ कर फिर से एक ज़ोर का धक्का लगाया, एक ही धक्के में मेरा आधा लंड पिंकी की कुँवारी गांड में घुस चुका था. फिर खाना खाने के बाद जब मैं वापस आई तो अमित को एक एसएमएस किया- हां जी, अब बताइए?अमित- खा चुकी आप खाना?मैं- हां खा चुकी हूँ.

बीएफ सेकसि हालांकि उस समय मैं सेक्स के बारे में कुछ ज्यादा नहीं जानता था और न ही मेरे मन में काया भाभी के लिए कुछ गलत था, पर मेरा लंड जब कभी खड़ा जरूर हो जाता था. वो मुझे देखती तो ऐसा दिखावा करती कि सब नॉर्मल है, मैं भी क्यों उसे पूछती कि तुम्हें क्या हो रहा है, वो खुद बताएगी, मैं नहीं पूछूंगी.

xxसेक्सी वीडियो

कैसे कपड़े पहन रखे हैं तुमने स्वीटी? और ऊपर से ये सलवार भी उतार दी? शरम भी नहीं आ रही तुझे? नाराज होकर मैंने कहा।अरे भाई, तेरे सामने क्या शरमाना? तू और मैं बचपन से बिना कपड़ों के साथ रहे हुए हैं. मैंने अपने हाथ उनकी कमर से घुमाते हुए उनकी चिकनी पीठ को मसलने लगा और उनके गले पर किस करने लगा. मगर मंजरी का भी यह पहला मौका था, किसी लंड को चूसने का, तो वो सिर्फ पुलकित के लंड को अपने मुँह में लेकर बैठी रही तो पुलकित बोला- सिर्फ मुँह में मत लो, इसे चूसो, जैसे मैंने तुम्हारी चूची पी थी, और अपनी जीभ से इस को चाटो भी.

हल्का सा मेकअप किया लेकिन फिर पता नहीं क्या लगा तो और गहरा मेकअप कर लिया. इसी तरह शाम को हम खाना खाने गए तब उसने मेरे बिल्कुल बगल में बैठ के खाया खाना. रेखा की सेक्सी बीएफयही सब मैं भी पिछले 5 सालों से मॉम को केवल देख कर और दूर से टच करके एंजाय कर रहा था.

वो बार बार वो अंगड़ाई ले रही थी, मैं भी उसके मम्मों को बार बार देख रहा था.

अब मैंने अपनी बहन को पैंटी उतारने को कहा तो वो अपने चूतड़ मेरे पास लाकर बोली- ले भाई, तू अपने आप उतार ड़े मेरी पैंटी और अपनी बहन को पूरी नंगी कर दे!मैंने पहले पैंटी के ऊपर से ही अपनी बहन की चूत सहलाई फिर दोनों हाथों की एक एक उंगली बहन की पैंटी में फंसा कर उसे जांघों पर ले आया. नशे में धुत्त पार्टी में कोई भी लड़का मुझे लाइन देता, मैं बहाना करके उसके साथ कभी कार में, तो कभी वाशरूम में चली जाती.

आप मेरी मम्मी को कैसे जानते हो? और मुझे मम्मी के संग क्यों बुलाया?” मैं गले लगे हुए फुसफुसाई. ठीक इसी टाइम कोई ट्रेन विपरीत दिशा से आती हुई मेरी राजधानी को क्रॉस करती हुई धड़धड़ाती, हॉर्न देती हुई बगल से निकल गयी. सास बहू की पसन्द हमेशा अलग अलग ही होती है न; इन चूत वालियों माया ही निराली है; किसी को कुछ तो किसी को कुछ और ही पसन्द आता है.

[emailprotected]सेक्स कहानी का अगला भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-2.

मैं एक छोटे बच्चे की तरह भाभी का एक दूध पीने लगा लेकिन उनके दूध में दूध नहीं था. तब सुल्ताना ने मुझे उसके ऊपर से उठने के लिए कहा और मैं अपना लंड उसकी चूत से निकाल कर उठा गया. मेरा नाम मोहित है, मेरी उम्र 36 साल है, मैं शादीशुदा और दो बच्चों का पिता हूँ.

एचडी बीएफ सेक्सी वीडियोसलेकिन अपनी सेक्रेटरी और अकाउंटेंट के सेक्स संबंधों के बारे में सोच कर स्वाति कि कामुकता जाग उठाती है. सुनील ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाने लगा तो मुझे ऐसा लगा कि मेरी चुत से पानी निकल पड़ेगा.

देसी राइफल

चाची मेरे लंड के नीचेपढ़ी, मुझे आपके मेल से पता लगा कि आपको मेरी कहानी पसंद आई है. मम्मी सीधे किचन में आई- आरती क्या हुआ?मम्मी बेसन है और कुछ नहीं मिला, पकौड़े आप बना दो, मेरा थोड़ा सर चकरा रहा है. तब तक मेरा लंड भी सिमरन की चूत में जब तक निचुड़ चुका था तो मैंने जैसे ही सिमरन की चूत से अपना लंड निकाला, वैसे ही मेरे लंड के साथ सिमरन की चूत का रज, खून और मेरे बीज का मिश्रण मेरे लंड पर लग गया.

मुझे पता था कि वो ड्रेस मेरी है तो मुझे किसी से पूछना तो था नहीं इसलिए मैंने तय किया कि वही ड्रेस पहन कर पार्टी में जाऊँगी. चौदह तारीख को मैंने मेरे वापस घर जाने का एक फर्स्ट क्लास एसी का टिकट ले लिया और फिर मुझे 19 को अपनी पत्नी और बच्चों को लेकर शादी में शरीक होना था. अभी हम थोड़ा आगे ही चले थे कि आगे एक ट्रैफिक जैम में फँस गए और अचानक तेज बारिश शुरू हो गई.

’कुछ देर की चुदाई के बाद उसने मुझे बेड पर अपने नीचे ले लिया और खुद ऊपर आकर मुझे चोदने लगी. हाथ कंगन को आरसी क्या और पढ़े लिखे को फ़ारसी क्या… मैंने उनका इरादा और इशारा दोनों को समझा और तुरंत उनकी ब्रा के हुक को खोल कर दोनों रसीले आमों को बाहर निकाल कर उन पर ऐसे टूटा जैसे कि बरसों बाद चूसने वाले आम मिले हों. अन्तर्वासना के लाखों पाठक प्रशंसक पूरी दुनिया में हैं जो इसकी सेक्स कहानियों को बड़े चाव से पढ़ते हैं; इनमें से अभिजात्य वर्ग के महिला पुरुष भी हैं जो अपनी तार्किक बुद्धि से कहानी को परखते हैं भले ही वे कहानी पर कोई कमेंट्स न करें.

ऊपर टॉप पहना, पर उसके बटन बंद नहीं किए ताकि अमित को और ज्यादा आकर्षित कर सकूँ. यही सोच रही थी कि अब कैसे जांघें कमर पेट और मम्मों के ऊपर का भाग, गले के पास.

चोदो मयंक चोदो मज़ा आ रहा है…’अब वो अपनी गांड को हिला हिला कर चुदवा रही थी.

इतनी देर से मैं खुद को शिकारी समझ रहा था, अब मुझे लगा कि शिकार तो मैं हूँ. फर्स्ट टाइम बीएफ वीडियो5 इंच लंबा लंड सीधा खड़ा हो गया और पजामा में ऊपर से ही तना हुआ दिखने लगा. साड़ी वाली भाभी का बीएफ वीडियोमैंने उसके चूतड़ों को पकड़ कर थोड़ा सा ऊपर किया और छोड़ दिया, जिससे उसे अच्छा लगा क्योंकि लगता था कि इस तरह से चुदाई का ये उसका पहला अनुभव है. मेरा खड़ा लंड इस बार बिल्कुल सीधाआंटी की गांडमें दरार में था और मेरे दोनों हाथ उनके बड़े बड़े कूल्हों पर थे.

मैंने मेरा पूरा लंड मामी के मुँह में डाल कर गले तक कर दिया और ऐसे ही रखा तो वो मुँह से बाहर निकालने की कोशिश करने लगी थीं क्योंकि लंड उनके गले में अड़ गया था.

मैं सोई ही बनी रही, तभी भाभी के पापा बोले- अरे रहने दो, लगता है आरती गहरी नींद में है. अब वो भी इतने जोश में आ गयी कि उसने मेरा लंड पकड़ लिया मेरी शॉर्ट्स में हाथ डाल कर… उसे हिलाने लगी. अब मैं भाभी के रस को पीकर वहाँ से हट गया क्योंकि मैं भी हांफ़ रहा था.

रास्ते में चलते चलते एक बार तो उसका एक चूचा मेरी कोहनी से लग गया, उसने कुछ भी नहीं कहा और वो मुस्कुरा दी. मॉम की चुदाई की इस कहानी के पिछले भागसेक्सी विधवा मॉम की चुदाई का मजामें आपने पढ़ा कि मेरी मॉम विधवा है, बहुत सेक्सी है. अगले दिन मैं सुबह टट्टी जाने लगा तो भाभी ने मुझे रोका और बोली- तुम्हें धोना आता है ना?मैं बोला- हां क्यों? इसमें कौन सी बड़ी बात है?वो बोली- चलो, मैं देखती हूँ.

सेकसी विडीये

और इस तरह सेमुझे चोदना पड़ा दोस्त की चुदक्कड़ बीवी को!आज भी जब मौका मिलता है, तो हम दोनों हचक कर चुत चुदाई करते हैं. मैंने कहा- क्या हुआ?वो कुछ नहीं बोली, फ़िर काफ़ी देर बाद मुझे छोड़ती हुई बोली- तूने उसे ना क्यों कही?मैंने कहा- मुझे सिर्फ तुम पसंद हो. ? कल से बहुत एसएमएस कर रहे हो?उधर से जवाब आया कि मैं अवी हूँ और आपसे बात करना चाहता हूँ.

भाभी ने जनन क्रिया समझाने से पहले मेरा लंड अंडरवियर के ऊपर से ही पकड़ लिया और उसे सहलाने लगीं.

मैं जॉय लेनिन विजाग से, आपसे अपनी सच्ची सेक्सी एडल्ट स्टोरी शेयर करने जा रहा हूँ.

वो मेरे लंड से खेलने लगी और मैं मम्मों, चूतड़ों और चुत से खेल रहा था. सुमन मामी ने बड़े ही मस्त अंदाज में लंड को पकड़ कर मुँह में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया. हिंदी सेक्सी बीएफ 18 साल की लड़कीमुझे पता था कि कुँवारी गांड फाड़ना कुँवारी चुत फाड़ने से ज़्यादा मुश्किल है.

वो बेड पर झुक कर कुतिया बन गई जिससे उसकी चुत पीछे से खुली दिख रही थी. तभी भाई एकदम से हल्का सा हिला तो मैं वहीं हाथ रोक कर दम साधे लेटी रही. अब तक उन्होंने छोटी उम्र से लेकर पच्चीस साल तक के गांव के सारे ही लौंडे निपटा दिए थे.

जब मैं कॉलेज में पढ़ती थी तो मैं अपनी एक सहेली दिव्या के साथ एक कमरा किराए पर लेकर रहती थी. फिर सोचेंगे की हाँ कहें या नहीं!फिर मैंने एक आंख दबा कर बहुत डरपोक बच्चे की तरह कहा- अगर तनु नहीं है तो आप और मैं छोटी के सामने सम्भोग…बस इतना ही कह कर रुक गया।फिर आंटी हंस पड़ी.

7 का था, खूब बड़े बड़े स्तन थे, मुझे साइज़ का अंदाजा नहीं, लेकिन बहुत टाइट और बड़े थे.

इरफान- क्या हुआ? अब भी नाराज हो जो कुछ बोल नहीं रही हो?मैं- नहीं नहीं किचन में थोड़ा काम कर रही हूँ. तो माँ ने कहा- रुक तू… मैं देखती हूँ कुछ!एक दिन मैं और पापा नाश्ता कर रहे थे तो माँ बोली- राजेश बेटा, आज शाम से तू अपनी रीना मौसी के घर रुक जाना, क्यूँकि तुम्हारे मौसाजी बाहर गए हुए हैं. अंदर से गुलाबी, जब पुलकित ने उसकी चूत के दोनों होंठ अपनी उंगली से खोल कर देखे तो अंदर से उसकी चूत पूरी तरह से गीली थी.

हिंदी ब्लू बीएफ सेक्स मैं उसकी बात समझ नहीं पाया था पर उस दिन के बाद वो मेरा ख़ास ख़याल रखने लगी, अपने ऑफिस से जल्दी फ्री हो कर मेरे ऑफिस आ जाती, मेरे लिए टिफ़िन लाना या बाहर से कुछ खाना पैक करवा लाना उसकी रोज़ की आदत बन गई थी. भाभी के दूध ऐसे तने हुए बड़े बड़े और गोल गोल थे, जैसे वो कोई शादीशुदा न होकर एक कुँवारी लड़की हों.

इतने मैं पूजा और विकास ने मुझ पर निशाना लगा कर मुझे भिगाने की शुरुआत की, जिसमें माला ने भी उनकी सहायता की. तभी मुझे गीतांजलि को चोदना उचित लगा क्योंकि उसकी चूत फटी हुई थी जबकि सिमरन की सील पैक माल थी जो मुझे अपने लंड से फाड़नी थी. अब हमें होश आया तो जल्दी से कपड़े पहने और उसके बाद हमने मेज को साफ़ किया.

चीन की ब्लू फिल्म

मगर भाभी नाचने के बहाने अपने चुचों को जानबूझ कर ज़्यादा उछाल रही थीं और अपनी मोटी भारी गांड हिला रही थीं. मैंने कहा- यस मेरी प्यारी सुमन… अब साड़ी उतार दे… मुझे तो मेरी चूत के दर्शन करने हैं. भाभी ने कहा- वीशु दूध पीएगा?मैंने झट से हाँ कह दी तो भाभी ने तुरंत ही अपने हाथ से मेरे सर को पकड़ा और अपने एक दूध पर लगा दिया.

वो मुझसे कुछ छुपाती तो नहीं, पर ये सब तो नहीं बताया… उसको आने दो फिर बात करते हैं. नहीं तो एक तू है जिसने ज़रा सा लंड चूत में घुसते ही सारा घर सर पर उठा लिया था, पेलो मामा पेलो और ज़ोर से पेलो अपना लंड मेरी गांड में.

मेरीनौकरानी की चूतपर छोटे छोटे बाल था, जैसे उसने 3-4 दिन पहले ही चूत के बाल साफ़ किये हों.

सागर मीना को बोला- दीदी, अब तुम अपने हाथों से अपने भैया का लंड अपनी प्यारी भाभी की चुत में डालोगी. ” विक्रांत ने रिप्लाई किया।40?”थोड़ी और…”45?”नहीं… 55 रिटार्यड आर्मी ऑफिसर!”ओह गॉड!”क्या हुआ?”तुम 55 के तो नहीं लगते… मैरिड?”हाँ तीन बच्चे हैं, वाइफ की डेथ को 10 साल हो गए. मेरी उम्र 21 साल की है, कद 5 फीट 11 इंच है और रंग गोरा तो नहीं, पर ठीक ठाक है.

दोस्तो, आपको मेरी सच्ची कहानी कैसी लगी? कृपया अपने विचार मुझे मेल करें मेरी मेल आईडी है. मॉम का चेहरा इतना आकर्षक है कि अगर दो मिनट तक उनके होंठों और चेहरे के ग्लो को देख लो तो किसी का भी अन्दर से उनको किस करने को मन होने लगेगा. फिर अमित ने हर चीज करना अचानक से बंद कर दिया और धीरे से अपने लंड को मेरी स्कर्ट से निकाला और खड़ा हो गया.

जैसे ही मैंने अपनी आँखें बंद की, वो गुर्राया- आप ने तो बहुत पी रखी है.

बीएफ सेकसि: पाठको, आपको मेरी हिन्दी सेक्सी कहानी कैसी लगी, मेरी स्टोरी पर अपने कमेंट्स जरूर कीजिएगा. फिर वो मेरी पीठ पर एक हाथ ले गया और दूसरे हाथ को पट्टी के पास ले गया.

तब सागर ने मुझसे कहा- डियर, तुम्हारे सोने के बाद मीना ने मुझे सेक्स करने के लिए बाहर बुलाया है. हम ससुर-बहू ऐसे ही कुछ देर और ट्रेन में चुदाई का कभी न भूलने वाला अलौकिक आनन्द लूटते रहे. और मैं टीवी देखने लगा।तो वो बोली- ठीक है, तब तक मैं किचन साफ़ कर के आती हूँ!और वो चली गयी.

हम लोग को चुदाई करते आधा घंटा होने जा रहा था, मैं कई बार झड़ गयी थी लेकिन भाई का लंड तो झड़ने का नाम ही नहीं ले रहा था।फिर मैं भाई के लंड को अपनी चूत से बाहर निकाल कर चूसने लगी.

मैंने कहा- अच्छा छोड़, फिर पकड़ना, पहले अपना तो दिखा।वह कोट पेंट पहने था, अब मुझे याद आया कि सर्दी लग रही है मैंने कहा- कपड़े उतार रजाई में बैठते हें।वह मुस्कुराया, कपड़े उतारने लगा. वैसे आप सोच रहे होंगे कि बहन से क्या पहले कभी मुलाकात नहीं हुई थी क्या?ऐसा नहीं है, हम बचपन से साथ खेले, बड़े हुए न… परंतु जब से जवानी में कदम रखा तो हमारे स्कूल अलग हो गये थे तो कभी कभी ही मिलना होता था वो भी घर के किसी उत्सव प्रोग्राम में ही. मॉम चिल्ला पड़ीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ‘फिर वो अपने हाथ आगे लाकर मेरी मॉम के बोबे दबाने लगा.