सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,अंग्रेजी सेक्सी वीडियो में सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ वीडियो चलाओ: सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ, उसमें जैसे जान नहीं बची थी लेकिन फिर भी उसने मेरे बूब्स को अच्छे से चूसा.

हिंदी सेक्सी मूवी दीजिए

अगर आप मुझसे संपर्क करना चाहते हैंवीडियो या कॉल के माध्यम से… तो आपका स्वागत है. सोनाक्षी की चुत सेक्सी विडियोविक्रम ने आव देखा ना ताव और इसी अवस्था में संजू की पैंटी के ऊपर से ही उसकी चुत में अपना मुँह लगाकर चाटने लगा.

जैसे ही दूकान खुली, मैंने बियर की पांच कैन खरीदीं और अगले पांच मिनट में ही रेखा के घर के पते पर पहुंच गया. सेक्सी कहानियाँ हिंदी मेंकुछ दिन के बाद पति ने पूछा- प्रीत योगा कैसा करवा रहा है?तो मैंने भी उनको कह दिया- बहुत अच्छा करवा रहा है.

उन्होंने निराशा में मुझे ऊपर खींचने की कोशिश करी लेकिन फिर जब मैंने उनको मौका नहीं दिया तो उन्होंने अपने शरीर को ऊपर खिसका कर मेरे होंठों को अपने स्तनों से अलग कर दिया.सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ: हां मगर मेरी चुत का भी ख्याल रखना और अनन्या को इस बात का पता नहीं लगना चाहिए कि मेरी तुम्हारी सैटिंग है.

मैंने पूछा- जब आप कॉलेज आ जाती हैं तो बिटिया को कौन देखता है?उन्होंने बताया कि मैंने एक नौकरानी रखी हुई है, जो दिन दिन में घर का काम करती है तथा बच्ची को भी देखती है.कालगर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं काम के सिलसिले में होटल में रुकी तो मेरी चूत लंड मांगने लगी.

सेक्सी वीडियो ओपन में सेक्सी - सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ

बिन्नी- देखो, कल आपने इनका क्या हाल कर दिया था?मैं- चुदते वक्त तुमने ही तो कहा था इन्हें चूसो.तुम टीवी बंद करो, चलो कुछ बात करते हैं, ऐसा मौका बहुत कम मिलता है।मेरे सामने अभी भी भाभी का ब्रा-पेंटी वाला लुक आ रहा था।मैं बोला- ठीक है।और टीवी बंद कर दिया।हम बातें करने लगे.

मैंने अपने लंड को उसकी चुत के छोटे से छेद में जैसे ही प्रवेश करवाया. सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ सुगंधा भाभी की मुक्त हंसी से दिल खुश हो गया था और भाभी को देखकर मेरा मन डोलने लगा था.

अच्छा चलो अब बहुत देर हो गई है, तुम भी सो जाओ और मैं भी अपने रूम में जाती हूँ.

सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ?

मेरी पिछली सेक्स कहानीपंजाबी लंड से शहर में जिस्म की आग बुझाईमें आप लोगों ने पढ़ा होगा कि कैसे मैंने अपने पति के मैनेजर के साथ अपने जिस्म की प्यास बुझाई, उसके दोस्त के साथ किस तरह ग्रुप में चुदाई की।दोस्तो, अगर आपने मेरी पिछली सेक्स कहानी अच्छे से पढ़ी होगी तो आपको पता होगा कि मैंने और सुखविन्दर ने किस तरह चुदाई का पूरा मजा लिया. अनिल बोला- जानू मेरा निकलने वाला है, तुम हट जाओ वर्ना अन्दर हो जाएगा. एक बात का एहसास तो मुझे पहले ही हो गया था कि वह अपनी इस बेबी डॉल टाइप की नाइटी के नीचे कुछ नहीं पहनी होंगी.

”सोनू के साथ अपनी तुलना सुनकर गौरी को शायद अच्छा लगा रहा था इसीलिए वो मंद मंद मुस्कुरा रही थी।एक बात और भी है?”गौरी अपनी सुन्दरता के ख्यालों मे डूबी हुयी थी। वह कुछ बोली तो नहीं पर उसने रसीली मुस्कान के साथ मेरी ओर प्रश्नवाचक निगाहों से देखा।गौरी सच कहता हूँ तुम अगर जीन पैंट पहन लो तो बिल्कुल वैसी ही खूबसूरत लगोगी. नमस्ते मेरी प्यारी प्यारी पाठिकाओ और मनचले पाठको, आपके गर्मागर्म मेल मिल रहे हैं और मैं कोशिश कर सभी को जबाव भी दे रहा हूँ. जब तक अकेले हैं घर में, हम नंगे ही रहेंगे ताकि जब मन हो, चुदाई कर लें.

अब विक्रम संजू की गर्दन पर, कभी उसके कानों पर, कभी चेहरे पर किस करने लगा. मैं चाहता तो उन दोनों को कॉल करके रोक सकता था, लेकिन अब कोई फायदा नहीं था … क्योंकि अब तक तो शिल्पा की चुत में राहुल का लंड कई बार घुस ही चुका था. दूसरे दिन अकेले में भाबी मुझसे बात करने लगीं- तुम तो बड़े बेसुध होकर सोते हो!मैंने कहा- क्या हुआ भाबी … कोई गलती हो गई थी क्या?भाबी बोलीं- हां गलती हुई थी.

जब जब उसके हाथ ऊपर बढ़ते, तो वो समझ जाता कि मुझे अच्छा लग रहा है, पर दोनों अपनी मज़बूरी में आगे नहीं बढ़ पाते. फिर कुछ दिन की फुर्सत हो जाती और वो मेरे पक्के गुलाम की तरह मुझे खुशियां देना शुरू कर देता.

सन्नी उसकी चूत चाटने लगा और मैं अपना लंड उसके मुँह में ज़ोर से डालने लगा.

”कुछ बताकर गयी?”हओ … गुप्ताजी ती बेटी ती सगाई हुई है तो उनते यहाँ लेडीज संगीत में गई हैं.

उस दिन कॉलेज के बाद ज़ब मैं कोचिंग गयी, तो मैं सलवार सूट पहन कर गयी. उसी उत्तेजना में मैंने उससे ये भी पूछ लिया- मेरी पैंटी को सूंघते समय तुम क्या इमेजिन करते हो, तुम क्या फंतासी करते हो?उसने जवाब दिया- आपको जब छूकर जाता हूँ, फिर अकेले में आंख बन्द करके आपकी बॉडी के हर पार्ट को अपने मन में सहलाता हूँ, पोर्न देखता हूँ और अपने हाथ सूंघता हूँ. उसकी फोटो मैंने उसकी डीपी में देखी हुई थी, तो मैं उसे झट से पहचान गया.

फिर हमने अपने आप को ठीक किया और चलने लगे और आधे घण्टे बाद हम सोलन पुहंच गए।गाड़ी पार्किंग में लगा कर हम होटल में गए. वैसे मैंने लाइफ मैं कई बार सेक्स किया है, लेकिन यह मेरा सबसे अलग यादगार अनुभव रहा है, जो आज मैं आपको बताने जा रहा हूँ. अनामिका ने नंगी होते ही भाग कर बाथरूम में घुसकर दरवाजा बन्द कर लिया.

ये उसकी ताजगी भरी जवानी का एक नमूना था, जिसने मुझे मस्त कर दिया था.

एक दिन मेरे पति ने मनोज को लंच पर इन्वाइट किया और उससे अपनी फैमिली से इंट्रोड्यूस करवाया. एक दिन दोपहर का खाना खाकर मैं लेटा ही था कि मीरा का फोन आ गया- जल्दी आओ, बहुत तड़प रही है. कुछ दिन बाद मैंने एक दिन अपने बेटे सैम को अपने घर खाने पर बुलाया और उस दिन मैंने एक सेक्सी पारभासी साड़ी पहन ली.

सामान देखने के क्रम में वो मुझसे मेरी राय पूछ रहा था और मैं ‘हां, हूँ, ठीक है. रिचा ने मुझे डराते हुए दूसरा सवाल मुझसे किया- हां तो नीतीश जी बोलिए, आप यहां पढ़ाई करने आए हैं या लड़कियों को चिट्ठी देने?मैं धीरे से बोला- आया तो हूँ पढ़ाई करने … लेकिन तुम मुझे पसंद आ गई थी इसलिए वो लैटर दिया था. मकान मालिक अंकल दारू बहुत पीते थे और घर पर ज्यादा पैसा भी नहीं भेजते थे.

अब आगे की कहानी:श्लोक- तो नील!अब तू मेरी बीवी सीमा को पटा और मैं तेरी बीवी रकुल को।मेरे पास एक आइडिया है!” श्लोक ने नील से कहा.

उसने अपने कपड़े उतार फेंके और पिंकी को भी बिठा कर उसकी टी-शर्ट उतार दी. सिमरन की पिछली कहानी थी: जॉब के बदले जवान लड़के को बनाया सेक्स गुलाम https://www.

सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ सास की साड़ी उतार कर मैंने किचन के फर्श पर फेंक दी और उनको गोद में उठा कर गेस्ट रूम में ले आया. वो बोली- तो फिर तुम मसाज कर ही क्यों रहे हो जब तुम्हें करनी नहीं आती?मैंने कहा- मजबूरी में.

सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ उसके आते ही मैंने अन्दर से दरवाज़ा बंद कर लिया और उसके सीने से चिपक गई. दोस्तो, मैं आशा करता हूँ कि आप लोगों को मेरे पुराने अनुभवों की कहानियां पसंद आई होंगी।मेरी पिछली कहानी थीमकान मालकिन की दूसरी सुहागरातयह कहानी मेरी सबसे प्यारी सीमा भाभी की चुदाई की है।सीमा भाभी के बारे में बता दूं … वो 40 साल की हैं.

खैर … इन सबके चलते अब ऐसे ही एक दिन जब मैं कॉलेज से घर आया, तो‌ मकान मालकिन और शायरा बाहर बैठकर चाय पी रही थीं.

इंडियन बीपी सेक्सी ब्लू फिल्म

मैंने पूछ लिया- पैंटी से क्या करोगे?वो बोला- उसकी महक से मुझे बहुत उत्तेजना हुई. अगले दिन मेरा पति बहुत खुश था क्योंकि उसका काम, जो बहुत दिनों से अटका पड़ा था, मनोज के एक फोन से हो गया. मैंने उससे पूछा कि उसे मज़ा आया या नहीं?न्यासा बोली- राज कसम से बोलूं … तो मेरी ऐसी चुदाई कभी हुई ही नहीं … तुम लोग इतनी लम्बी चुदाई कैसे कर लेते हो … ओह माय गॉड.

बिन्नी- देखो, कल आपने इनका क्या हाल कर दिया था?मैं- चुदते वक्त तुमने ही तो कहा था इन्हें चूसो. मैंने अपनी हल्की जीभ बाहर निकालते हुए सर के लंड की नोक पर चलाना शुरू कर दिया. मैंने उसकी गांड को जोर से मसलते हुए पूछा- कैसा लग रहा है काजल?वो बोली- मजा आ रहा है यार।मैंने कहा- तुम्हारी पैंटी खराब हो जायेगी.

फिर कैसे?उन्होंने कहा- आपका व्हाट्सएप नम्बर यही है क्या?मैंने बोला- हां.

फिर मैंने उसे उल्टा किया और उसकी गांड को देखा।क्या बड़े बड़े चूतड़ थे।मैंने चूतड़ों में किस किया और चाटने लगा।फिर उसने मेरी चड्डी उतारी और मेरा लन्ड देख कर आंखें बंद कर लीं।मेरा लण्ड बिल्कुल कड़क होकर उफान मार रहा और एक दो बूंद वीर्य की उसके टोपे पर से टपक रही थी।मैंने उसे पौंछा और एकटक उसकी गुलाबी चूत को देखने लगा. मैंने अपनी पोजिशन ले ली और अपने खड़े लंड को भाभी की मखमल जैसी चुत पर सैट कर दिया. वे अपना ज़्यादातर समय पूजा पाठ में बिताते थे।मेरी सुहागरात में बहुत खुश थी क्योंकि सहेलियों ने बताया था कि सेक्स में बहुत मज़ा आता है.

उसको मेरे सारे प्लान के बारे में पता लग गया था कि कैसे मैं शिल्पा दीदी की शादी में आशीष और उसके बॉस से मिलने और चुदने का प्लान बना रही हूं. बाद में सास ने पूछा तो मैंने उन्हें दारू की बात कह दी, तो वो धीरे से मेरे नजदीक आकर बोलीं- मेरे लिए भी ले आना. दोनों ये भूल ही गए की बगल के कमरे में सुनील उनकी आवाज सुनकर अपना लंड की मुठ मारने की तैयारी कर रहा है.

फिर उसने कहा- तुम भी हैंडसम बन गए हो, कोई मिल गई क्या?मैंने भी कहा- नहीं मिली तो नहीं … पर लग रहा है जल्दी मिल जाएगी. उसमें हल्की हल्की हरकत होने लगी थी, जिसे महसूस करके मैं समझ गया था कि अब गांड में मजा आना शुरू हो गया है.

मैं अन्दर से बहुत डरा हुआ था कि पता नहीं वो क्या करेगी, क्या बोलेगी. इस तरह हम सभी एक गोल चक्कर में थे और सभी एक दूसरे की चुसाई कर रहे थे. दिन में मल्लिका घर में अकेली होती इसलिये चुदाई का भरपूर मौका मिलता.

इस किस को और मज़ेदार बनाने के लिए मैंने किस करना बंद कर दिया और एक एक कर शायरा के सारे कपड़े निकालने लगा.

फिर मैंने उनसे पूछा- बताइए कैसे फोन किया?पहले तो उन्होंने भी मेरा हाल समाचार पूछा और हिचकिचाते हुए बोला- जब से आपकी कहानी पढ़ी है, पता नहीं क्यों आपके बारे में ही सोच रही हूं. हम दोनों एकदम से वासना के वशीभूत हो गए थे और मैंने उसे सामने से अपनी बांहों में भर लिया. मैं किस करते-करते अब उनकी चूची को चूसने लगा था और चूत को मसलता जा रहा था.

अब आगे की हॉट भाभी डबल चुदाई कहानी:मैंने उसके दूध मसलते हुए पूछा- पहले तुम किसके लंड से चुदना चाहोगी?उसने मेरे लंड को अपने मुँह में लेते हुए मुझसे चुदने को कहा. मगर मैंने उसके बाल खींचे और बोली- अगर तेरा पानी जल्दी निकल गया तो और ज्यादा सजा मिलेगी.

’मैंने भी देर ना करते हुए भाभी की दोनों टाँगों को अपने कधों पर रखा और अपना लंड चूत के मुँह पर लगाकर एक जोरदार धक्का दे मारा. अब हम आराम से चुदाई का मजा ले सकते थे क्योंकि चारों को एक दूसरे का पता चल गया था. देसी कजिन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने चचाजान की जवान कुंवारी बेटी की कुंवारी बुर को फाड़ा.

सेक्सी वीडियो गावठी

फिर अपने लौड़े पर बैठाकर चोदने लगा। लंड अंदर बच्चादानी में टकराने लगा.

मेरे होंठों की छुवन से ही शायरा के होंठ अब थरथरा से गए, सांसें तेज हो गईं और बदन का तापमान तो पारे के जैसे एकदम से ही बढ़ गया. अभी शिल्पा जितना मजा अपनी चुत चुदवाते हुए ले रही थी, उतना मजा शायद उसको मुझसे चुदते हुए नहीं आता होगा … इसलिए शायद शिल्पा राहुल के साथ ये सब कर रही थी. मेरे हज़्बेंड ने बहुत कोशिश की, वो दुबारा मैरिज कर ले, मगर वो कुछ भी सुनने को तैयार ही नहीं होती थी.

अपनी जिस उंगली को वो चुत में अन्दर बाहर कर रही थी, उसे निकाल कर उसने अपने मुँह में ले ली और उंगली को चूस कर साफ कर दिया. ” बेचारी गौरी के पास अब रूपगर्विता मुस्कान के सिवा और क्या बचा था।मैंने बातों का सिलसिला जारी रखते हुए कहा- गौरी, तुमने कोई सैल्फी ली या नहीं?मेले पास मोबाइल थोड़े ही है तैसे लेती? हाँ दीदी ने अपने साथ मेली 4-5 सैल्फी जलूल ली थी. क्सक्सक्स सेक्सी ब्लूमैंने भी मॉम से कहा कि मैं भी आज आप लोगों के साथ पार्टी में चलूंगा.

रंगोली की सीलपैक चुत की चुदाई की कहानी को अगले भाग में लिखूंगा, आप मुझे मेल करना न भूलें. मैं उसको चूमते हुए उसके उभारों को चूसते चबाते हुए उसकी चुत पर जैसे ही अपने होंठों को रखा, रिचा जल बिन मछली की तरह तड़प उठी.

अब आगे कॉलेज लवर सेक्स कहानी:इस कहानी को लड़की की मधुर आवाज में सुनकर मजा लें. मैं अपने यार के पूरे लंड को मस्ती से चूसने लगी और आगे पीछे करने लगी. मैंने भी कभी उसके विश्वास को टूटने नहीं दिया, जिससे शायरा मुझे अब अपने कुछ राज भी बताने लगी.

मैं कोई भी सेक्स कहानी तभी लिखता हूँ जब मेरे साथ कोई मादक घटना घटित होती है. अब तक आपने पढ़ा था कि मैं शायरा के अधरों का रस चूसते हुए सोच रहा था कि होंठों का रस इतना मीठा है … तो इसकी चुत का रस कितना टेस्टी होगा. मैं नहीं चाहता था कि सीमा को यह पता लगे कि उसकी माँ भी इस खेल में पार्टनर है.

तभी अनुवादक ने कहा- भाभी जी मैं आपके लिए दवाई लेकर आता हूं वरना आपकी तबियत खराब हो जायेगी.

उसका शरीर बिल्कुल कसा हुआ है। हम दोनों के सम्बन्ध को 10 साल हो गए हैं. ऐसे खुले माहौल में औरत के कोमल बदन से लिपटने में अलग ही मजा आ रहा था.

तभी मैं मीरा के बारे में सोचने लगा कि 50 साल की उम्र में भी ठसकदार माल है. थोड़ी देर बाद उन्होंने पूछा- क्या तुमने ऑफिस में मेरी अनुपस्थिति के बारे में पूछा था?मैंने कहा- मैंने पूछा तो नहीं … परन्तु मैं रोज आपको देखता था. वो- इतनी जल्दी? अभी तो सात ही बजे हैं?मैं- हां, वो होटल से नाश्ता भी करना है न!वो- वैसे मैं भी नाश्ता करने जा रही थी, तुम चाहो तो तुम भी यहां नाश्ता कर सकते हो.

मेरी बड़ी चाची बड़े चाचा की अधूरी चुदाई से नाराज अभी भी नंगी बिस्तर में चूत में उंगली कर रही थी. मैं अपनी झांटों में से चूत को फैला कर देखने लगी।तब मैंने बाल सफा क्रीम ली और शावर के नीचे आ कर भीगने लगी।मैं अपनी झांटों से खेलने लगी. लेकिन मैंने अपने प्यार को उपहार में चूत देना तय कर लिया था इसलिए दर्द सहते हुए मैं उसके लंड पर बैठ गयी.

सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ फिर विक्रम ने उसी अवस्था में धीरे धीरे संजू की अधखुली साड़ी को उसके जिस्म से अलग कर दिया. इस कॉलेज लवर सेक्स कहानी के पिछले भागगर्म चूत वाली लड़की के कारनामेमें अपने अब तक पढ़ा था कि मेरा पुराना सहपाठी मनोज मेरे बॉस के रूप में मेरे ऑफिस का हेड बन कर आ गया था.

देसी रंडी का सेक्सी

कभी कभी जब उसकी जीएफ नहीं आती, तो हम दोनों कोचिंग का गोला मार कर सेक्स कर लेते. उन्होंने झट से मेरी अंडरवियर में हाथ डाल दिया व लंड पकड़ कर बाहर निकाल लिया. मैंने भी जल्दी से अपने वॉलेट से 500 रुपये निकल कर उस रांड को दे दिए, अब पूरा मामला सैट हो चुका था.

साथ ही वह मेरे चूतड़ों पर अपने हाथ से तबला सा बजा बजा बजा कर मुझे चोद रहा था. फिर उसने कहा- अब इतनी बातें हो गई तो बता दो क्या चल रहा है दिमाग में?उसने मजाकिया लहजे में ही पूछा. हॉलीवुड की सेक्सी मूवी एचडीउसके वापस पलटते ही मेरी नजर उसके चूतड़ों पर पड़ी तो मेरा लण्ड मतवाला हो गया.

मैं समझ गया और मैंने उसका हाथ हटा कर चुपके से जाकर बिना आवाज किए रूम लॉक करके लाइट जला दी.

अब हमें बिल्कुल भी होश नहीं था कि हम ऐसे खुले खेत में चुदाई का खेल मजा लेकर खेल रहे हैं. मैं एक हाथ से उनकी कमर और एक हाथ से कपड़ों के ऊपर से ही घुटनों के आस पास सहला रहा था.

ये कहते हुये मैंने उसका हाथ पकड़कर लंड पर रख दिया!वो पैंट के ऊपर से ही लंड सहलाने लगी और मैं उसे किस करने लगा. रामू- भाभी बताओ क्या हुआ था … आप कैसे गिर गई थीं और आप दौड़ क्यों रही थीं?आरिषा भाभी ने रोते हुए बताया- वो तुमको तो पता ही है रमेश के और मेरे झगड़े के बारे में … आज फिर से झगड़ा हुआ और वो बाहर जाने लगे. मगर इस बार उसकी आंखों में उत्तेजना के लाल डोरे तैरते मुझे साफ नजर आ रहे थे, इसलिए मैंने शायरा के चहरे को पकड़े पकड़े ही अब अपना मुँह थोड़ा आगे की तरफ बढ़ा दिया.

जिससे शायरा ने उन्हें तुरन्त मुझसे दूर कर लिया- चुप रहो और कुछ तो शर्म करो.

यह गर्लफ्रेंड Xxx कहानी एक लड़की की चुदाई की है जो एक दुकान में काम करती थी. घर आकर मैंने वो दवाई सीधा शायरा को नहीं दी बल्कि मकान मालकिन को देना उचित समझा. मैंने उससे पूछा- तुम ये क्या कर रही थी बाथरूम में?तो वो बोली- कुछ नहीं साहब, मैं तो पिशाब कर रही थी.

सेक्सी फिल्म ब्लू फिल्म मूवीमैं- मैं ये सब तुम्हारे लिये ही लाया हूं!ज़ारा- क्यों?मैं- तुम ही रोलप्ले करना चाहतीं थीं. मैं नीचे जाने की सोच ही रहा था कि वो कुछ देर बाद फिर से अपने कमरे से बाहर आ गई.

यूपी बिहार देसी सेक्सी वीडियो गर्ल्स

कॉलेज पहुंचा ही था मैं … कि‌ गेट पर ही एक‌ लड़के‌ ने‌ मेरे पैरों में पैर फंसा दिया, जिससे‌ मैं धड़ाम से‌ वहीं गिर गया. मेरे हाथ से कन्ट्रोल जाते ही शायरा ने भी अपना कन्ट्रोल खो दिया और उसकी पिंकी ने रह रह कर मेरे मुँह पर कामरस की बौछार सी करनी शुरू कर दी. मैंने उन्हें अपनी बांहों में दबाते हुए ऊपर उठा लिया और उनके होंठों पर किस कर दिया.

वन्दना जी इसे कैसे अपने अंदर लेती होगी? मेरे पति का तो आपके लन्ड के मुकाबले बहुत ही छोटा और पतला है. मैंने किस करते करते धीरे धीरे अपना सारा लंड उसकी फुद्दी में डाल दिया. एक दिन जब उसका फोन आया तो मैंने कहा कि जब मैं इशारा करूं तो मेरे घर आ जाये.

मैं- क्या हमारी दोबारा मुलाकात हो पाएगी … मुझे आपसे प्यार हो गया है. मेरी खुजली मिटा दो आह!मैंने धक्के मारते हुए उसे चूमा और बोला- मज़ा आ रहा है न जान!उसने बोला- हां मेरे राजा बहुत मजा आ रहा है … और जोर से चोदो आह. उसे ज्यादा इंतजार ना करवाते हुए मैंने भी तुरंत अपनी जीभ उसकी चिकनी चूत में घुसा दी.

थोड़ी बहुत तू तू मैं मैं के बाद मेरा कॉलेज का वो दिन भी ऐसे ही बीत गया. मैंने भाबी को चूमा, तो भाबी ने अपनी सांसें कम करते हुए मेरे हाथों के लिए जगह बना दी.

फिर मेरे लंड से माल की लंबी पिचकारी निकली और नीरू की जीभ, होंठ, आंखें और माथे पर बहने लगा.

मैंने दरवाजे से कान लगाए तो बस हल्की आवाज में सिसकारियों की आवाजें आ रही थीं. गांव वाली भाभी की सेक्सी चुदाईपर मैंने सोचा अगर मैंने ऐसा किया, तो मॉम मुझे डांटेंगी और आइंदा मुझे कभी पार्टी में नहीं लेकर आएंगी. सेक्सी वीडियो सेक्सी सुपरहिटमैंने जैसे ही उसकी पैंट हटाई, उसका 8 इंच का मोटा लंड मेरे सामने हवा में झूमने लगा था. वो बुरी तरह से मुझसे लिपट गई और अपने नाखून गड़ाने लगी।अब उसकी चूत से फच फच फच की आवाज आने लगी।15 मिनट तक मैं उसे बिना रुके ही चोदता रहा।इस बीच वो झड़ गई मगर मैं अभी भी टिका हुआ था और बस उसे चोदे जा रहा था।उसकी चूत अब पूरी तरह से खुल गई थी और मेरे लंबे लंड को बड़े आराम से ले रही थी।अब मैंने अपना आसन बदला और बिस्तर पर लेट गया.

मुझे तुम्हारे होंठों का रस चाहिए था और तुम ऐसे गाल पर सूखी सी पप्पी देकर भाग आईं? ये तो बहुत नाइंसाफी है.

उन्होंने मेरे सर को जोर से अपने स्तनों पर दबाया हुआ था और उनकी सिसकारियां बढ़ती ही जा रही थी. मैंने कहा- तू कुछ दिन पहले मुझसे बोलती, तो मैं अब तक तुम दोनों का संगम करवा देती. भाभी अब मस्ती में मचल रही थी और मैं उन्हें ज़ोरदार चोदे जा रहा था।सीमा मस्ती में चिल्ला रही थी- हाय … ई … उई … सी … मर गई जालिम … फाड़ डाली उफ़ … क्या मोटा लंड है.

मेरे लगातार कुछ देर तक उसे सहलाने और चूची चूसने से उसकी पीढ़ा कम हो गई और अब तक धीरे धीरे करके मेरा लंड भी चूत की गहराई में उतर गया था. मैं लंड का सुपारा बड़े धीरे धीरे उसकी गांड में पेल रहा था, उससे कह रहा था कि जोर जोर से सांस लो. दोस्तो, मैं चन्दनसिंह अपनी पिछली सेक्स कहानीसाली की छोटी बेटी की कुंवारी चूत की चुदाईका आगे का भाग ‘देसी लड़कियों की चुदाई कहानी’ लेकर हाजिर हूँ.

सेक्सी स्टोरी मां बेटा

कपल ग्रुप्स से जुड़ने पर पता लगा कि पति-पत्नी आपस में पार्ट्नर बदल कर सेक्स का आनंद लेते हैं और उनका जीवन नव-आनंद से भर जाता है, जीवन से तनाव समाप्त हो जाता है और पति पत्नी के बीच अटूट प्यार हो जाता है. मैं तो ना जाने कब से इस प्रेमरस को पीने के लिए तड़प रहा था, इसलिए जैसे जैसे शायरा की पिंकी प्रेमरस छोड़ती गयी … मैं भी उसे चूस चूसकर और चाट चाटकर पीता चला गया. जैसे ही सपना के रस ने मेरे लंड को भिगोया तो मैंने भी जोर से एक चीख लगाई और अपने लंड की धार सपना की चूत में छोड़ दी.

मैं चुदास की आग से तड़फ रही थी, एक लाचार चुदैल सी उनकी ओर देखने लगी.

एक तरफ मैं उसके दोनों हाथों को अपने एक हाथ से कस कर दबाये हुए था और दूसरे हाथ से अपने लन्ड को उसकी चूत में रगड़ रहा था.

[emailprotected]फ्री इंडियन Xxx कहानी का अगला भाग:चलती बस में खूबसूरत भाभी के साथ चुदाई- 2. मॉम की चुत गीली होने की वजह से मेरा पूरा लंड मॉम की चुत में समा गया. सेक्सी चोदा चोदी करताअब आगे का काम मेरा था!मैंने उसके होंठ अपने होंठों में दबाये और लंड को उसकी चूत की गहराई में उतार दिया.

मैंने उसको कंडोम इस्तेमाल करने के लिए पूछा, तो उसने बोला कि मैंने पहले ही प्रोटेक्शन ले रखी है, तुम टेंशन मत लो. मैं रोने लगी और सर से मिन्नतें करने लगी- उई माँ मर गई … आह सर इसे बाहर निकालो … मुझे बहुत दर्द दे रहा है. वैसे भी मैंने जहां कमरा‌ लिया हुआ था … वहां से कॉलेज ज्यादा दूर नहीं था.

वैसे भी किसी भी चुत को शांत करने के लिए लंड का आकार कोई मायने नहीं रखता है, वो तो लंड के देर तक चलने पर निर्भर करता है. मैंने उससे पूछा कि आप कहां से हो?उसने बताया कि मैं राजस्थान से हूं.

फिर जब मेरा रस निकलने वाला था, तो मैंने लंड उसके मुँह से निकाल लिया और अपना वीर्य उसके मम्मों पर गिरा दिया.

तो सब को खतरे में डालना मुझे सही नहीं लग रहा था।मैंने तुरंत सुमन भाभी को फोन किया तो भाभी ने कहा- तुम ऐसा करो, विजय के घर पर चली जाओ. न्यासा के वॉशरूम से बाहर आने पर मैंने उसे अपने हाथ से कपड़े पहनाए और उसके मोटे मोटे चूचों को दबाने लगा. मैंने आगे बताया- मेरी एक खास तमन्ना है कि मैं तुम्हारी गांड भी मारूं क्योंकि मुझे तुम्हारी गांड बहुत पसंद है.

देवर भोजाई सेक्सी फिल्म रूम पर पहुंच कर वो मुझे डराते हुए बोला- यार वो बहुत गुस्सा हो रही थी. भाभी बिना कंडोम के ही चुदाई के लिए बोलीं, तो मैंने मना कर दिया कि कंडोम के साथ चुदाई मेरा उसूल है.

इस पर सुनील ने मुस्कुराते हुए अपना पेग उसकी ओर बढ़ाया तो दीपा ने एक सिप उसमें से ले लिया. करीब दस मिनट बाद अंकल ने मॉम को बेड पर लिटा दिया और एक हाथ उनकी चूत पर … और एक चूचे पर रख दिया. मगर हिम्मत करके उसने पूछा कि क्यों?रवि बोला कि मैं किसी पार्टी के साथ अभी वहां आया था, तेरी गाड़ी पार्किंग में देखी.

भैया रानी की सेक्सी वीडियो

भाभी ने मेरे लंड के उभार को देखते हुए कहा- क्या हुआ राहुल … आओ अन्दर, ऐसे क्या देख रहे हो. मेरी नजरें चिपक गयी उसकी चूचियों पर।उसने अचानक मेरी तरफ देखा और वो समझ गयी कि मैं क्या देख रहा हूँ, वो मुस्कुरायी और अपने टॉप को थोड़ा खिसकाया और लिखने लगी।अब उसकी चूचियों का दीदार नहीं हो रहा था तो मेरी नजर उसकी गांड पर गयी।टाइट जीन्स पर उसकी गांड की गोलाई ने मेरे लंड को खड़ा कर दिया. कुछ देर बाद मैंने उसे थोड़ा ऊपर किया और प्रीति की एक चुची पर जानवरों की तरह टूट पड़ा.

वैसे तो उसके सामने मैं एक चुदाई एक्सपर्ट था मगर फिर भी उसको मेरा साथ अच्छा लगता था. मैंने मामी की दोनों टांगों को उठाकर अपने कंधे में रख लिया और उनकी चूत को अपने लंड से सहलाने लगा.

अन्तर्वासना की मस्त सेक्स कहानियों को पढ़ कर ही मैं लिंग हिलाना मतलब लंड को हिला कर मुठ मारना सीख लिया था.

कुछ देर बाद मैंने भी ऑफिस में कहा- मेरे घर से फ़ोन आया है, इसलिए मुझे वापिस जाना होगा. मगर जैसे ही मैंने उसकी साड़ी के पल्लू को उस कील से निकालकर अलग किया. मेरी बीवी ने बिना देर किए राहुल की पेन्ट और चड्डी को निकाल दिया और उसके खड़े लंड को हाथ में लेकर सहलाने लगी.

तू है तो छोटी उम्र की लेकिन तेरी चूत इतनी फैली हुई है कि लगता है कि तू हर रोज कोई मोटा लंड अपनी चूत में लेती है. कुछ देर हम दोनों यूँ ही प्यार मुहब्बत की बातें करते रहे और मुहब्बत की सभा समाप्त हो गई. इसी बीच मैंने सास का ब्लाउज उतार कर अलग कर दिया और उनके बाल पकड़ कर अपना लंड चुसवाने लगा.

उसने समझाया कि तुम चूतिया हो, इतना समझ लो कि सांप और चूत जहां मिले, वहीं मार देना चाहिए.

सेक्स बीएफ ब्लू पिक्चर बीएफ: उसके बाद चाची ने अपनी ब्रा खोली और उनके चुचे ब्रा से बाहर निकल कर उछलने लगे. औरत खुद का सर ड्राइवर सीट पर रखा हुआ था, जिससे किसी को उनके खेल के बारे में ध्यान जा ही नहीं सकता था.

मैं बहाने से उसकी पीठ पर हाथ फिरा रहा था और वो कुछ बोल भी नहीं रही थी. अगर आप जबरदस्ती किसी के साथ ऐसा करते हैं, तो यह न आपका हक है और न ही उसकी सहमति है. कुछ देर में दोनों खाना बना कर बच्चों को खिला कर उन्हें अपने कमरे में सोने का कह कर आ गईं.

अब आगे की कहानी:श्लोक- तो नील!अब तू मेरी बीवी सीमा को पटा और मैं तेरी बीवी रकुल को।मेरे पास एक आइडिया है!” श्लोक ने नील से कहा.

भाबी मम्मी पापा को खाना खिला कर आईं और वो भी मेरे ही बिस्तर पर सो गईं. मैं उसके ऊपर लेट गया और मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा लिया. पता नहीं मैं कल रात कैसे तैयार हो गई लेकिन में इस रिलेशन को आगे बढ़ाना नहीं चाहती हूँ.