बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ एचडी कॉम

तस्वीर का शीर्षक ,

मुखर्जी की सेक्सी: बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ, अपना हाथ मेरे सर पर लाकर उसने भी मुझे मेरे होंठों पर चूमना चालू कर दिया.

सोनाक्षी का बीएफ वीडियो

कुछ देर तक मैं धीमे धीमे झटके देता रहा, फिर ताबड़तोड़ चुदाई का खेल शुरू हो गया. ब्लू फिल्म का सेक्सी वीडियोमैं धीरे धीरे से धक्के लगाने लगा और वो भी गांड में रगड़ लगने से मजे ले रही थी.

मैंने उससे पूछा- ये बता तूने अब तक कितने लंड लिए हैं?वो बोली- मैं चार लंड ले चुकी हूँ भाई. सनी लियोन की हॉट मूवीमैंने अपना गिलास टेबल पर रखा ही था कि निधि उठ कर मेरी गोद में बैठ गई.

उन्होंने मुझे कोचिंग खत्म होने के बाद रुकने को कहा, तो मैं उन्हें धन्यवाद देकर रुकने के लिए मान गयी.बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ: मैंने पहली बार इतने ध्यान से उसे देखा था और वो बड़ी ही कामुक लग रही थी.

मॉम की आह की आवाज निकली और मैं तेजी से सटासट सटासट लंड अन्दर बाहर करने लगा.मैंने उसके कान को अपना निशाना बनाते हुए अपने मुँह में उसके कान की लौ दबा लीं और धीरे धीरे उसको चूसने लगा.

बीएफ सेक्सी मराठी - बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ

यह चाची Xxx अन्तर्वासना कहानी 3 साल पहले उस वक्त की है, जब मैं अपनी एक दिन की छुट्टी को बिताने के लिए अपने घर से थोड़ी दूर रहने वाले चाचा के घर गया था.वो बोली- हर्षद मेरी एक बात मानोगे?मैंने कहा- हां बोलो ना … जो भी कहना है कह दो नीता.

सीने के ग़ुब्बारे हिल हिल कर मर्दों को इशारा कर रहे थे कि आओ और मसल डालो हमको, पर साला एक भी मर्द आगे नहीं आया. बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ अब मैं आपके साथ मेरे और मेरे साले की बीवी के बीच हुई सेक्स कहानी को साझा कर रहा हूँ.

मैंने उनकी उन्ह आंह को अनसुना किया और एक करारे झटके में पूरा लंड चूत में डाल दिया.

बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ?

वो हिम्मत करके बोली- मुझे शर्म आ रही है, तुम किसी से नहीं कहोगे न?मैंने उससे वादा किया कि मैं किसी को कुछ भी नहीं बताऊंगा. उसे लगा जैसे अभी थोड़ी देर पहले जिस छेद को देख कर उसे चूसने और चाटने की तमन्ना जगी थी उसकी पूर्ति धारा के होठों से ही कर लिया जाए!लेकिन उसकी ये तमन्ना भी अधूरी रह गयी … क्यूँकि धारा ने अपने होठों को शेखर के होठों की जकड़ से छुड़ा लिया और अपनी एक उंगली शेखर के मुँह में डाल दी. देविका ने नीचे हाथ डालकर मेरे लंड को टटोलकर देखा, तो बोली- सचमुच दो इंच बाकी है हर्षद.

पर मैंने रात की तरह पूरा नहीं पेला, सिर्फ टोपी ही अन्दर डाली और हल्का सा हिलाने लगा. Xxx लड़की की चुदाई का मजा मैंने लिया अपने दोस्त की सगी बहन की चूत चोद कर उसी के घर में! वो लड़की पहले से ही चालू थी पर साली नखरे चोद रही थी. मेरे काफी कहने करने पर भाभी जी लंड चूसने के लिए मान गईं और हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए.

मुझे तो समझ में ही नहीं आया कि सोनी ने ये जानबूझ कर किया या गलती से हो गया. वो लंड को हल्का हल्का काटने भी लगीं और अपने मुँह के थूक से उसको रसीला करने लगीं. उसका लंड मेरी चूत में सटासट चल रहा था और 3 उंगलियां मेरी गांड में थीं.

मैं पलटकर मनीष से बोली- क्यों प्रिया नहीं देती क्या … या वो भी कहीं दूसरी जगह तुम्हारी तरह मुँह मारती है?मनीष- नहीं, वो बात नहीं है … दरअसल वो जल्दी झड़ जाती है, फिर वो आगे और करने नहीं देती. मैं अब नीता की दोनों चूचियों को अपने दोनों हाथों से मसल रहा था, साथ में उसके निपल्स को उंगलियों से हल्के हल्के से मींजने लगा था.

उनको पता भी नहीं चला कि कब वो अपनी चूत मसलते हुए मेरे लंड के बेहद करीब आ गईं.

अब हमेशा ही जब मैं घर से बाहर रहता हूं या नाइट ड्यूटी पर जाता हूं, तो बॉस और मेघना चुदाई करते हैं और मैं फोन पर उन्हें देखता हूं.

मैंने कहा- और रात को यहीं सो भी जाऊं न?भाभी ने आंख दबाई और कहा- सोने के लिए नहीं बुला रही हूँ. अब मैंने आंटी को घोड़ी बनाया और कमर पकड़कर चूत में लंड घुसा दिया, पूरा लौड़ा पेल कर मैं चोदने लगा. मैंने बिस्तर की चादर को जोर से पकड़ लिया और आंख बंद किए हुई लंड का मजा लेती रही.

मुझे वहां के मुख्य गांव के पास मेरे एक सलाहकार ने मुझे कमरा दिलाने में मदद की. आरती को बताने के बाद उसने भी कहा- मुझे भी तुम्हारे लंड का स्वाद चखना है. अब मुझे और भी ज्यादा दर्द होने लगा पर लौड़ा इस बता को कहां समझ रहा था, वो तो मेरी गांड चिकनी होने के कारण अन्दर जाने लगा.

मैंने पूरा लौड़ा निकाल लिया और गांड में घी लगाकर एक झटके में पूरा अन्दर डाल दिया और चोदने लगा.

यह देख कर मैंने सोचा कि यहां भी मस्ती करने का पूरा इंतज़ाम है बस इन दोनों को थोड़ा सैट करने की देर है, फिर तो ये दोनों खुद ही मुझ पर टूट पड़ेंगे. रेशमा का हाथ अपने हाथ में लेकर उन्होंने उसको चूम कर रेशमा की तरफ देखा और मुस्कुराने लगे. उसी समय मैंने एक तगड़ा झटका मारा और अपना पूरा लंड उसकी चूत में अन्दर तक घुसा दिया.

मैं- देख गांडू, कैसे औरत को ख़ुश किया जाता है भोसड़ी के … पर तू क्या जाने इसका मजा बहनचोद? तू तो बस ख़ुद की गांड मरवाने में ही खुश रहता है चूतिए. उस समय उनके गहरे गले से आधे से अधिक झांकते चूचों की छटा कुछ और थी और इस वक्त बिना ब्रा के होलते हुए चूचों की अदा कुछ और थी. आज मैंने एक काले रंग की नेट वाली साड़ी पहनी, जिसका ब्लाउज मैंने ही सिला था.

उसके चेहरे से हल्के दर्द का पता चल रहा था, मैंने फिर आधा लंड बाहर निकाला और फिर तेजी से अन्दर पेल दिया.

बरमूडे और मेरी जॉकी दोनों एक साथ उतर गई और मेरा लगभग 6 इंच का लंड सीधे उनके होंठ से जा टकराया. अब वो मेरे पेट को सहलाते हुए मेरे उरोज पर आया और हल्के से दबा दिया.

बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ मैंने फातिमा के बारे में सोचा और बिना कुछ बोले उसके साथ बाइक पर बैठ गया. जल्द ही वो लंड पर बैठती चली गई और उसने पूरा लंड चूत के अन्दर खा लिया.

बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ हमारी ऐसी कामुक बातों से रेशमा को भी लगने लगा कि सच में उसे अपने नामर्द शौहर के सामने चुदवाना चाहिए ताकि उसे भी पता चले कि उसकी बीवी को उसकी छोटी सी लुल्ली से संतुष्टि नहीं मिलती. देखते देखते रेशमा और पाटिल जी नीचे चले गए और अब यहां पर सिर्फ मैं और किरण बाकी रह गए.

सुबह करीब 6 बजे मेरी नींद खुली तो देखा रीना पहले ही उठ गई थी और मेरे लंड के साथ खेल रही थी.

সেক্সি ভিডিও ইংলিশ ভিডিও

जैसे ही वो नीचे बैठा, तो मैंने उसके बाल पकड़ कर उसका मुँह पर जोर से थप्पड़ मार दिया. उस रात मैंने रूपा को चार बार चोदा था जिससे हम दोनों ही बुरी तरह से थक चुके थे. पता तो मुझे भी था कि चूत तो उसकी भी पानी छोड़ चुकी है, बस एकदम से मेरा लंड नहीं पकड़ पा रही है.

गर्मी की छुट्टी खत्म होने के बाद पापा ने मेरा एडमिशन गांव के ही एक स्कूल में करवा दिया. देविका बोली- सचमुच हर्षद, तुम्हारे वीर्य का स्वाद ही कुछ अलग सा है, जी भरके पीना चाहती हूँ मैं. सर मुझे टोकते हुए कहने लगे- क्या हुआ राजीव, बार बार दरवाजे की ओर क्या देख रहे हो? सोनी का इंतजार कर रहे हो क्या?मैंने चौंकते हुए कहा- सोनी.

गर्दन को चाट चाट कर मैंने फिर से साबिरा का निप्पल मुँह में भर लिया और शिराज को देखते हुए निप्पल को जोर जोर से चूसने लगा.

रेशमा- कुछ मत करो वीरू जी, बस कुछ देर ऐसे ही रूक जाओ, बहुत दर्द हो रहा है. जैसे ही मैं सीधी हुई, ताड़ की आवाज़ मेरी गांड से आई और मेरी गांड पर एक पैडल आकर चिपक गया. उसने मुझे अपने ऊपर समेट कर अपनी बांहों में मुझे कस लिया और अपने दोनों पैरों को मेरी गांड पर डालकर कस लिया … ताकि लंड का पूरा दबाव चूत पर रहे.

कुछ देर बाद मैंने रूपा का सर पकड़ा और उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया. वो ‘उई उईई ईई उईई मर गई बचाओ मर गई … निकाल बाहर … आं मर गई निकाल बाहर …’ चिल्लाने लगीं. जब तक शिराज और उसकी अम्मी खाना खाने में लगे थे, तभी साबिरा चुपके से ऊपर की तरफ आ गयी.

मैंने कहा- अरे बताओ तो!वो बोली- कुछ नहीं, वो स्टेशन पर कुत्ता कुतिया की याद आ गई. दोस्तो, मैं आप का अपना राहुल एक बार फिर से आप के सामने एक नई कहानी लेकर आया हूं। यह भाभी की फ्री पोर्न सेक्स कहानी 100% सही है।बात आज से 1 साल पहले की है। मैं घर पर बैठा बैठा बोर हो रहा था.

मेघना कुछ देर में बाथरूम से वापस आ गई और अब उसने एक टावेल लपेटी हुई थी. ये सब कुछ देख मेरे अन्दर बहुत अजीब सी हलचल मची हुई थी और मैं चुपचाप लेटे हुए अपनी किस्मत को कोस रहा था. मैंने उससे पूछा- लंड चूसना किधर से सीखा?वो खिलखिला कर बोली- साब, आप तो आम खाओ, गुठलियां चूस कर क्या करोगे.

अब तक हम दोनों अपने सेक्स को समझ चुके थे कि ये जो भी अनजाने में हुआ है वो सही हुआ था.

मन में तो आया कि कह दूं कि मर्दों के लोड़े से बेहतर नशा कुछ नहीं है. जितने भी दिन मैंने देखा, मेघना बिस्तर पर अकेली सोती हुई नजर आ रही थी. वेटर तो तुरंत ही अपना लन्ड धोकर आ गया।उसके लन्ड को देखकर प्रिया बोली- कितना प्यारा लन्ड है। मेरे पति से बड़ा भी है।प्रिया ने जैसे ही लन्ड पीना शुरू करा, इस बेचारे वेटर की तो हालत खराब हो गई.

मैंने कहा- साली फटी हुई चूत में लंड लिया है तूने … दुबारा चूत कैसे फट सकती है. घर से पापा का फोन आया कि मौसी की लड़की की शादी है, तो तुम दोनों घर आ जाओ.

थोड़ी दूर चलने पर मौसम खुशनुमा भी हो गया और यहां कोई जानपहचान का नहीं मिलने का रिस्क भी नहीं था तो साईड में स्कूटी रोककर बरसाती उतार कर डिग्गी में डाल ली. साबिरा भी इस अचानक हुए हमले से खुद को संभालती हुई मेरे बालों में उंगलियां चलाने लगी. वो मेरी तरफ देख कर रो रही थीं, लेकिन उन्होंने मुझे एक बार भी मना नहीं किया.

दुबई मटका 420

मैंने बाथरूम में लगे आईने से ध्यान से देखना शुरू किया तो समझ गया कि चाची के पंजे थे.

लच्छो ने अपने दोनों हाथ से मुझे पकड़ लिया और अब मैंने बहुत तेजी के साथ उसकी चुदाई शुरू कर दी. पर तभी मेरी नजर किरण पर गयी जो दारू पीती हुई हमारी चुदाई देख कर अपनी चूत मसल रही थी. मेरी क्लास में तो सब लड़कियां थीं लेकिन इस दूसरी क्लास में करीब 10 लड़के भी अब हमारे साथ थे.

इरोटिक फोरप्ले की कहानी में पढ़ें कि सुन्दरता और काम की मूरत लड़की को जब सेक्स के लिए मनचाहा साथी मिला तो उसने कैसे उसे मजा दिया और खुद भी आनन्द उठाया. कुछ देर बाद जब मैं उठा, तो मौसी मुझसे नजरें चुरा रही थीं और बार बार मेरे लंड की तरफ देख रही थीं. हिंदी में बोलने वाली बीएफयह Xxx लड़की की चुदाई की बात तब की है, जब मेरे दोस्त की बहन की शादी थी और उसके यहां शादी का बहुत सारा काम करना था.

आज बारिश की वजह से यहां काफी सन्नाटा भी था जिससे हमको किसी ने भी नहीं देखा. मैं गीता की गदरायी गांड अपने दोनों हाथों जोर से दबाने लगा तो गीता आहें भरने लगी.

उन्होंने मुझे घुटनों के बल बिठाया और अन्दर गले तक अपना लंड ठूंस दिया. मैंने आरती को मैसेज करके बताया और उसने बताया कि उन्हें भी भैया काफी पसंद आए और नीचे लिखा कि उसे मैं काफी पसंद आया. मैंने कहा- और रात को यहीं सो भी जाऊं न?भाभी ने आंख दबाई और कहा- सोने के लिए नहीं बुला रही हूँ.

उन्होंने बोला- ठीक है तुम अच्छे से रहो और ठीक होने पर ही कोचिंग आना. बेचारी वो भी तो तड़प रही थी, उसका शौहर भी तो कब से दुबई में था और वैसे साबिरा की अम्मी अभी बूढ़ी तो थी नहीं, तो स्वाभाविक है उसकी पुरानी भोसड़ी भी अब लौड़ा मांगने लगी थी. पैंट नीचे करते समय उनकी अंडरवियर कुछ नीचे हो गई थी, जिससे उनके लंड के आस पास के बाल दिखने लगे थे.

मैं कपड़े लेकर बदलने बाथरूम में आ गयी और सबसे पहले अपने बदन से गीले कपड़ों को उतारने लगी.

’ बस यही एक चीख रेशमा के मुँह से निकली और वो लगभग बेहोशी की हालत में चली गयी. मुझे देखते हुए उसके चेहरे पर जो मुस्कान थी, उससे साफ पता चल रहा था कि वो पूरी तरह संतुष्ट थी.

जब मैं तुमको उसके सामने चोदूंगा तो तुम इस सबका इल्ज़ाम शिराज पर डाल देना. चूत में भरा हुआ पानी धीरे धीरे मेरी उंगलियों को और हाथ को गीला करने लगा. मैं रात दिन बस सेक्सी पंजाबी भाभी चुदाई के सपने देखता रहता और लंड हिला कर कब सो जाता, कुछ पता ही नहीं चलता.

पोर्न अंकल सेक्स कहानी मैंने अपनी अन्तर्वासना के कारण एक गैर मर्द से अपनी चूत चुदाई पर लिखी है. मैंने भी उसका सर अपने हाथों से अपने लौड़े पर दबाना चालू किया और नीचे से रेशमा के मुँह पर अपनी गांड और जोर से दबा दी. ललिता भाभी अपने पति से अलग होने के इतने साल बाद पहली बार पूरी खुलकर चुदवा रही थीं.

बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ उसके लबों पे फैली मुस्कान शेखर को इस बात का अहसास दिला रहे थे कि धारा आज उसे पूरी तरह से तड़पा कर उसे बेसुध बनाने का इरादा कर बैठी थी. आप इस मॉम Xxx चुदाई कहानी को पढ़ें, जोकि तन्मय के द्वारा बताई गई और मेरे द्वारा लिखी गई है.

हिंदी सेक्सी वीडियो देहाती

एक हाथ से उसके बाल और खींचते हुए मैंने दूसरे हाथ से उसकी कमर पकड़ी और पूरी ताकत से उसकी गांड में लौड़े को पेलने लगा. मैंने कहा- तो क्या अब मुझे लंड हिला कर ही काम चलाना पड़ेगा?वो हंस कर बोली- मेरे राजा, दरवाजा तो खोलो. मेरी आंखों के सामने रेशमा किसी पराये मर्द से दो कौड़ी की बाजारू रंडी की तरह चुद रही थी.

फिर दोनों हाथों से मेरी चूचियों को कसके दबाया और मुँह को मुँह में लेकर एक मंज़े हुए खिलाड़ी की तरह एकाएक पूरी ताकत से अपना मोटा लंड, चूत में ठोक दिया. हम दोनों ने जल्दी जल्दी अपना अपना खाना खत्म किया और लगभग 8 बजे ही मैं सोने के लिए कमरे में चला आया. সানি লিওনের সেক্সি বইभाभी ने कहा- अब रुक ही गए हैं, तो क्यों ना हम दोनों कहीं घूम कर आएं.

मेरे मलूल लौड़े को जब वो अपने हाथ में लेने लगी तो मैंने झट से बेल्ट का दूसरा सिरा उसके हाथ पर मारा.

क्या हम एक घंटे से भी ज्यादा समय तक कामक्रीड़ा कर रहे थे? मुझे तो यकीन ही नहीं हो रहा है हर्षद. तभी ट्रेन आने की घोषणा हुई और हम दोनों अपना सामान लेकर ट्रेन में चढ़ने के लिए रेडी हो गई.

धीरे धीरे उनकी लंड लेने की स्पीड बढ़ती ही गई, मानो आज मेरा लंड तोड़ के रख देंगी. माउथ सेक्स विद हॉट गर्ल का मजा मैंने अपने दोस्त की मैरिड सिस्टर के साथ उसी के घर में लिया. रेशमा की आंखों में देखते हुए मैंने कहा- तेरी मां का भोसड़ा चोदूं साली रांड, बड़ी आग है ना तेरे भोसड़े में कुतिया? आज देख, कैसे तेरी उस चूत और गांड का छेद बड़ा करके भेजूंगा तुझे तेरे उस नामर्द शौहर के पास … रंडी साली.

ऑफिस में वो मेरे पास में ही बैठती थी और हम दोनों के बीच काफी अच्छे सम्बन्ध थे.

दोस्तो, आपको मेरी न्यूली मैरिड सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल और कमेंट करके जरूर बताइएगा. उनके साथ ही कुछ दिन बाद हीरा बाबू भी आगे की पढ़ाई के लिए पटना चला गया, जिस वजह से अब मैं अकेली हो गयी. हीरा बाबू इसी कोचिंग का एक पूर्व छात्र था जो अक्सर यशवंत भैया के यहां आता जाता रहता था.

हिंदी में ब्लू पिक्चर बताओअजय के हाथ मेरी कमर पर लगातार चल रहे थे और उसका कड़क होता लंड मुझे मेरी लुल्ली पर रगड़ता हुआ सा महसूस होने लगा था. फिर मैंने भाई से पूछा- आप मेरे साथ चुदाई करना क्यों चाहते थे?तो वो मेरे गाल पर हाथ फेर कर बोले- तुम बहुत सेक्सी हो.

देहाती सेक्सी वीडियो दिखाओ

फिर मेरा होने वाला था, मैं पूछा- रबड़ी किधर निकालूं डार्लिंग?चाची बोलीं- अन्दर ही टपका दो राजा. मुझे ये सेक्स कहानी लिखने में बहुत ज्यादा समय लगा, क्योंकि मेरे पास इतना वक्त नहीं रहता. मैंने नंगी बिस्तर पर लेटी साबिरा से कहा- देख रंडी, कैसे तेरा भाई तेरे यार का लौड़ा चूस रहा है छिनाल, आ जा तू भी इस रंडी शिराज के साथ मिल कर चूस ले मेरा लौड़ा.

ललिता भाभी ने साफ साफ मना कर दिया और बोलीं- राज, अपनी हद में रहो, तुमने मुझे क्या समझा है?मैंने उनका हाथ पकड़ते हुए प्यार से कहा- ललिता भाभी आप तो मेरी जान हो. इसका लन्ड भी अच्छा होगा। प्लीज इस से बात कर लो लेकिन बता देना कि सिर्फ चूसूंगी और रस पियूंगी. ये कह कर भाभी ने मेरा हाथ अपने हाथ में ले लिया और बोलीं- मैं वादा करती हूँ कि आज से मैं तुम्हारी जीएफ हूँ.

मैं कान में ईयरफोन लगाए मोबाइल में ब्लूफिल्म देखते हुए अपने लंड की मुठ मारने में लगा था. शिराज को दिखाने के लिए मैंने भी अपनी गर्दन उसके तरफ मोड़ी और उसको देख कर कुटिल मुस्कान भर दी. हालांकि मेरी भी इच्छा हो रही थी लेकिन मेरे मुँह से आवाज ही नहीं निकल रही थी.

देसी हॉट आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी पड़ोसन आंटी ने मुझे मकान मालकिन की चुदाई करते देख लिया और एक दिन मुझे रोक कर ब्लैकमेल करने लगी. मैंने उनको अपना सम्पर्क नंबर दे दिया और पेमेंट लेकर वहाँ से चला आया.

दस मिनट की इस चुम्माचाटी के बाद मैं गीता की नाईटी के ऊपर से ही उसके निप्पलों को अपने होंठों से बारी बारी चुभलाने लगा.

ये सुनकर पता नहीं मुझे अचानक से क्या हुआ कि मैंने एकदम से भाभी को गले से लगा लिया और उनको किस करने लगा. सेक्स क्सक्सक्स बफलेकिन मुझे अहसास हो गया था कि शायद मेरे भाई को पता चल गया कि मैं उनकी बीवी नहीं बहन हूँ. सेक्स बीएफ दीजिएनंदा बोली- मैं कुकर में रख आती हूँ, सीटी आएगी, तब गैस बंद कर देंगे. मैंने उसके दूध 15 मिनट तक चूसे और उसके बाद मैंने उसकी जीन्स निकाल दी; फिर पैंटी भी निकाल दी.

दो मिनट बाद जब वो झड़े, तो उनका सारा माल मेरे हलक के पार चला गया था.

उसने अपने दोनों हाथ मेरे गले में डाल दिए थे और उसके दोनों दूध मेरे सीने से चिपककर दबे जा रहे थे. इन बालियों को पहन कर घोड़ी बनकर चुदने पर बालियां आगे पीछे डोलती हैं, तो खुद को भी सेक्सी फील होता है और मेरे पार्टनर को भी. इस बार भाभी का गोरा बदन और गोरी गोरी चूचियां देख कर रहा नहीं गया और मैंने ताऊ जी के यहां पर ऊपर जाकर भाभी को देखते हुए मुठ मार दी.

चूंकि मेरे बोर्ड में इन्वर्टर का कनेक्शन नहीं था, केवल लाइट और पंखा में था तो मुझे भी सहूलियत होने लगी थी. फिर नेहा ने मुझे घुमा कर शीशे की तरफ कर दिया और बोली- देखना तो!मैंने सामने शीशे में देखा तो बिल्कुल हैरान रह गया. ‘तो फिर लो …’उफ्फफ … अजय का एकदम गर्म गर्म पेशाब का नमकीन पानी मेरे मुँह में आने लगा था.

डाली डाली पे अनार

अञ्जलि ने तकिये में अपना मुँह देकर अपनी चीखों को दबाया, मैंने भी आखिरी तेज धक्का मारा और उसकी कमर छोड़ दी. ये कहते हुए मैंने अपने दोनों हाथ उसके दोनों मम्मों पर रख दिए और उनको दबा दिया. साबिरा को बिस्तर पर धकेलते हुए मैंने शिराज को गुस्से से देखकर कहा- सुन बे हिजड़े, चल तू ही बता … पहले क्या चोदूँ तेरे बहन की? इसकी गांड या इसकी फुद्दी?मेरे सवाल से बेचारा शर्म के मारे ऐसे ही बैठा रहा.

उस काले सांड को मेरी गोरी सुंदर बहन के साथ देख कर मुझे तो गुस्सा आ गया.

मैंने जैसे ही चूत में जीभ रखी, मैंने कहा- कौन?मॉम धीरे से बोलीं- मैं हूं शिल्पा तेरी मॉम.

इधर आसिफ का हाथ मेरी छाती पर आ गया और वो मेरे नकली के रबर के स्तनों को दबाते हुए कहने लगा- आह फातिमा आह … क्या जिस्म है तुम्हारा!मैं भी ‘उन्हह … न्न्हह …’ करके मादक सिसकारियां लेने लगी और मचलने लगी. तो वो बोली- मैं भी घर वालों को कब से यही बोल रही हूँ कि मुझे अब नया लॅपटॉप दिला दो. हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो देहातीवो- इतने हैंडसम हो फिर भी नहीं किया है?मैंने कहा- कोई मिली ही नहीं.

मैं इतना पागल हो गया था उसकी चूत चाटने में कि मुझे बिल्कुल भी घिन नहीं आ रही थी. कुछ देर बाद मैंने ललिता भाभी को उठाकर अपने लौड़े पर बैठा दिया और चूचियों को मसलने लगा. उसे लग रहा था कि मैं उसे नहीं देख पा रहा हूँ क्योंकि उसके घर में थोड़ा अंधेरा था.

अजय ने मेरी जींस का बटन खोला और मेरी अंडरवियर के साथ मेरी जींस भी खोल दी. तभी मैंने उसे 69 में आने के लिए बोला और वो बिना लंड को मुँह से निकाले 69 की पोजीशन में आ गई.

मैं उसके दाएं पैर की उंगलियों को चूमने चाटने लगा और ऊपर की तरफ बढ़ने लगा.

दोस्तो, आज मैं आप लोगों को अपने पहले संभोग के बारे में बताऊंगा कि कैसे मुझे भाभी के साथ संभोग करने का अवसर मिला और मेरे पहले संभोग में क्या आनन्द मिला. मैंने पूछा- कुंवारी का मतलब शादीशुदा नहीं है या कुछ और बात है?उसने कहा- नहीं, वो बिल्कुल सीलपैक माल है. मुझसे पहले मेरे पापा ये दुकान संभालते थे, पर आज से करीब 8 साल पहले एक लंबी बीमारी के कारण उनकी मृत्यु हो गयी थी.

सेक्स चुदाई वीडियो हिंदी में उसके चेहरे पर जिस तरह का एक मजा दिखाई दे रहा था, वो मजा मैंने उसे कभी भी नहीं दिया था. क्या हुआ तेरी बंदी चोदने नहीं दे रही है क्या?मैं- हां यार, उस साली से मेरा ब्रेकअप हो गया है.

बस फिर क्या … मैंने उसके कमीज के ऊपर से ही एक दूध को पकड़ कर मसल दिया. अब जब मैं उसको अपने साथ अपने एक क्लाइंट पाटिल जी के सामने ले गया तो उनकी लार रेशमा की फड़कती चूचियों और उठी हुई गांड पर टिक गई. वो बोला- कैसी लगी ब्रेड?मैंने कहा- मजा तो आया पर तुम्हारी गाढ़ी मलाई ब्रेड में लगी होती तो और मजा आता.

सेक्स इंडियन गर्ल्स

जितने भी दिन मैंने देखा, मेघना बिस्तर पर अकेली सोती हुई नजर आ रही थी. उन्होंने एक बार भाभी के मम्मों को ब्रा के ऊपर से चूमा और फटाफट ब्रा को भी खोल दिया. मैं- तो क्या हुआ, पहले तो अपने हसबैंड से कर चुकी हो ना!वो- हां की हूँ लेकिन उनका इतना बड़ा और मोटा नहीं है.

ललिता भाभी बाथरूम चली गईं और वहां से आते समय मेरे लिए बादाम वाला दूध लेकर आ गईं. बॉस मेघना को अपने सीने से चिपकाए हुए था और उसकी पीठ को जोर जोर से सहला रहा था.

अब वो फिर से कभी ऐसे नहीं करेगा इसकी जिम्मेदारी मेरी, पर आज उसको उसके किए की सज़ा जरूर मिलेगी.

उस दिन सोनी करीब 45-50 मिनट मेरे घर पर रही और हमने जी भरके एक दूसरे को प्यार किया. जब भाभी छत पर बर्तन मांजती थी तो मैं रोज उनके पास बैठ कर उनसे बातें किया करता था. मैं बहुत ही हल्के से अपने चूतड़ को कभी कभी थोड़ा सा ऊपर कर देता था, बर्दाश्त ही नहीं हो रहा था।भाभी समझ चुकी थी कि चूत की हवस जाग गई है।वो बोली- मैं कुछ हेल्प कर दूं क्या इस तंबू को और ऊंचा करने में?मैंने कहा- जो मन करे, करो!भाभी बोली- इसे बाहर निकाल दूं क्या?मैंने कहा- निकाल दो!जैसे ही मैंने कहा, भाभी तुरंत मेरे बड़े से लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया.

उसके बाद निधि मेरे हाथ को साइड में करके मेरे लन्ड के सुपारे को अपनी जीभ से चाटने लगी. उनकी चुदाई से पूरा कमरा चुदाई की फचाफच वाली आवाज से कमरा गूँज गया था. आखिर उसने अपने हाथ से लौड़ा मेरी गांड के छेद पर लगाया और जोर लगाने लगा.

हार्ड फक़ नेक्स्ट डोर गर्ल का मजा मुझे दिया पड़ोस की लड़की ने मेरे कमरे में आधी रात को आकर! हम दोनों पहेल ही दोस्त बन चुके थे, सेक्स की बातें भी कर लेते थे.

बीएफ+वीडियो+सोंग+लिरिक्स+ऑफ: पहले मैं एक कंपनी में काम करता था, जहां मुझे सिरोही में किसी प्रोजेक्ट के काम के लिए जाना पड़ा. एक दो बार मैंने देखा, उसी समय उसने मेरी नजरों को भांपा और मुस्कुरा दी.

बरमूडे और मेरी जॉकी दोनों एक साथ उतर गई और मेरा लगभग 6 इंच का लंड सीधे उनके होंठ से जा टकराया. पर पता नहीं कैसे मुझे गहरी नींद आ गई और जब उठा तो हमारे स्कूल की छुट्टी का टाइम हो चुका था. उस समय मेरे घर में मम्मी-पापा नहीं थे, दोनों किसी काम से बाहर गए हुए थे और मैं नहाने जा रही थी.

उसने जैसे ही अपना टॉप उठाया तो मैं उससे बोला- कुछ कंफर्टेबल सा पहन लो!तो उसने हाफ पेंट और टीशर्ट पहन ली.

लेकिन शेखर इतनी मुद्दत के बाद सच हुए अपने सपने को टूटने भी नहीं देना चाहता था. सुबह करीब 6 बजे मेरी नींद खुली तो देखा रीना पहले ही उठ गई थी और मेरे लंड के साथ खेल रही थी. अगर आप चाहो तो!मधु- क्या … वो कैसे?मैं- हां मेरे फ्लैट में बालकनी है और नजारा भी बहुत ही अच्छा है.