बीएफ वीडियो देसी लड़की

छवि स्रोत,देसी बीएफ दिखाओ देसी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी राजस्थानी फिल्म: बीएफ वीडियो देसी लड़की, आपने मेरी पिछली कहानी तो पढ़ी ही होगी कि कैसे रवि और विवेक ने मेरी खूब चुदाई की.

हीरोपंति बीएफ

ये उन्होंने मुझे बाद में बताया ताकि चाची मुझसे पूछें तो मैं उनको यही बता सकूँ. बीपी बीएफ देहातीउन्होंने मुझे देखा और हंटर लहराते हुए कहा- चल बहन के लंड, आज तेरी माँ चोदती हूँ.

इस सबके अलावा और एक बात है कि हर दीवाली को मेरी मौसेरी बहन सुमन भी हमारे घर आती थी, उसे भी मेरी बहन ने मुझसे चुदवा दिया था. हिंदी बीएफ जवान लड़कीमेरे लंड का साइज ठीक ठाक है, मैं झूठ नहीं बोलना चाहता कि मेरे लंड का साइज बहुत बड़ा है.

और इस बार मेरा लंड पूरा अंदर चला गया, होंठों पर होंठ होने के कारण वह आवाज नहीं निकाल पायी लेकिन मेरे हाथ उसके चेहरे पर होने पर मुझे पता चला कि वो रो रही है, उसकी आँखों से आँसू निकल रहे हैं.बीएफ वीडियो देसी लड़की: वे मुँह से सिसकारियां लेने लगीं- सस्स… अयाया… सस्स्स…आंटी मजा आ रहा है?”आंटी- आह साले, तेरी गांड में दम है तो आज मेरी चूत फाड़ डाल.

मैं भी थोड़ी देर रुक गया और भाभी के होंठ चूसने लगा, चूचे दबाने लगा.मैं क्या कर सकती थी, मेरे प्यार ने मुझे उसकी कसम दी थी,मैं दर्द सहती गई, मेरे आंसू बहते रहे पर दो बरसों से चूत का भूखा वो अंकल धक्के मारता, मेरे पैर ऊँचे हो जाते, लंड मेरे पेट में आंतों को छूता.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स वीडियो सेक्सी - बीएफ वीडियो देसी लड़की

मैंने देखा कि ये क्या हुआ? मैंने उसका मुँह खोल दिया उसका मुँह फटा पड़ा था मैंने उसकी सांसें चैक की, धीमी चल रही थीं.मैंने जैसे अपना चेहरा स्टेरिंग की तरफ किया तो देखा कि भाभी के पापा गाड़ी में आगे वाली सीट पर बैठे एक हाथ से अपना लंड रगड़ रहे थे और एक हाथ में मोबाइल से मेरा वीडियो बना रहे थे.

अब मैं हमेशा शनिवार का इन्तजार करती हूँ कि कब उसके पास जाऊं और चूत व गांड की चुदाई करवाऊं. बीएफ वीडियो देसी लड़की बहूरानी के मायके वाले हमें रिसीव करने आये थे, सब लोगों से बड़ी आत्मीयता से हाय हेलो हुई और हम लोग अपने ठहरने की जगह की ओर निकल लिए.

मैं- मेनका, मैं तुम्हारी चूत को प्यार कर लूँ?मेनका- अतुल, ये भी कोई पूछने की बात है अब तो मैं पूरी की पूरी तेरी हूँ… तू जो चाहे वो कर सकता है मेरे साथ!इतना कहना ही था कि मैंने एकदम अपनी गीली जीभ मेनका की चूत पर रख दी और ज़ोर ज़ोर से चूत को चाटने लगा.

बीएफ वीडियो देसी लड़की?

तो मम्मी ने कहा- बेटा, हम औरतें, अगर वहाँ चोर आयेंगे तो क्या कर लेंगी? कोई तो पुरुष होना जरूरी है. उन सबके हाथ पीछे पीठ पर हथकड़ी से बंधे हुए थे और उनके सामने मेरी दीदी थीं. फिर दिन में संजना घर आई, मैंने उसे घर में अन्दर बुलाया पर मैंने उसे कुछ नहीं कहा.

उसकी चूत एकदम क्लीन थी, चिकनी चूत थी! फिर मैंने उसका स्वेटर उतारा और उसकी टी-शर्ट भी उतार दी. सलवार और पैंटी के ऊपर से ही पता चल गया कि दीदी की चूत में पानी आ गया था, सलवार और पैंटी गीली हो गई थीऔर चूत का पानी मेरे हाथ की उंगलियों में लग गया था. दोस्तो मेरी गरम कहानी कैसी लगी, कृपया करके नीचे लिखी गई मेल पर बताएं.

अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थीं और मेरी हालत तो जैसे पागलों जैसी हो गई थी. मैं चुपचाप करण के रूम में चला गया और दीदी अपना काम करने लगी, मैंने सोचा अब दीदी से बात कैसे शुरू की जाए!तभी एक आइडिया आया, मैं 10 मिनट बाद बाहर गया और अपने मोबाइल को देख कर ज़ोर से हँसने लगा, इतना ज़ोर से कि किचन में दीदी को मेरी आवाज़ सुन जाए!और ऐसा ही हुआ, दीदी को मेरी आवाज़ सुन गई और वो बाहर आ गई. थोड़ी ही देर में भाभी ने आवाज़ लगाई और कहा कि मैं सोनू को बेडरूम में ही सुला दूँ.

मैंने कहा- दीदी मेरा लंड आपको देखकर खड़ा हो जाता है, अब आप देर मत करो अपने कपड़े उतारो. मैं यह देख के परेशान हो गई कि आखिरकार अवी क्या देखना चाहता है, जो उसने मुझे ये ड्रेस दी है.

सपना ने सीट से खड़ी होकर अपना जैकेट निकाल दिया और मुझसे लिपट कर बैठ गई.

मैंने भाभी को संभलने का कोई मौका ना देते हुए तुरंत बेड पर खींचकर घोड़ी बनाया और एक तेज झटका मारते हुए पूरा लंड एक बार में पेल दिया.

दोनों धीरे से खड़े हुए, उसके दबे हुए पुठ्ठे मेरी जाँघों पर आकर और भी दबने लगे. दोस्तो, मुझे लगता है कि मेरी स्टोरी थोड़ी लंबी हो रही है, पर जब तक मैं आपको कहानी के पात्र से पूरी तरह परिचय नहीं कराऊंगा, तब तक मज़ा नहीं आएगा. उनके चेहरे पर ब्रायन के लंड जड़ तक घुस जाने के कारण दर्द साफ झलक रहा था.

कुछ देर बाद मुझे मालूम हुआ कि मम्मी पापा घूमने जाने वाले हैं और वे तीन दिन में वापस आएंगे. दीक्षा तो मुझे गुस्से से देख रही थी क्योंकि मेरी बात सिर्फ वो ही समझी और कोई नहीं. धीरे धीरे जैसे जैसे शादी की रस्में होने लगी, हम दोनों में बातें हुई, दोस्ती हो गई और दोस्ती कब प्यार में बदल गई, पता ही नहीं चला.

उसका नंगा पिछवाड़ा और होने वालीभाभी के मटकते चूतड़बहुत मस्त लग रहे थे.

तू ऐसे क्यों पूछ रहा है, जैसे तुम्हें कुछ समझ नहीं आ रहा है?मुझे अब रहा नहीं गया और जल्द ही अपनी लुंगी को खींच कर फेंक दिया और उससे कहा- मुझे सब समझ है. बिस्तर पर लेटा तो बदन में थकावट के साथ साथ सेक्स की सुरसुरी उठने लगी लंड अंगड़ाई लेने लगा. मेरे पड़ोस में एक भाभी रहती हैं, उनका नाम पायल है और उनका फिगर 36-30-38 है.

उनकी पैंटी पीछे से थोड़ी नीचे आ गई थी, लेकिन आगे चूत पर चड्डी चढ़ी थी. मंजरी अब जवान हो रही थी उसका बदन खिलने लगा था, तो उसके दूर के एक मामा के लड़के पुलकित की नजर उस पर पड़ी. ये उन्होंने मुझे बाद में बताया ताकि चाची मुझसे पूछें तो मैं उनको यही बता सकूँ.

जो मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था, आज सपना ने मेरे हाथों को वहाँ तक पहुँचा दिया.

पर भाभी की चुत बहुत टाइट थी ऐसा लग रहा था जैसे उसकी चूत की सील अभी तक बंद हो. मैं थोड़ा उदास हो गया, मुझे उदास देखकर रुबीना ने मेरा लंड पकड़ा और अपने मुँह में ले लिया.

बीएफ वीडियो देसी लड़की क्योंकि वह समय समय पर लंड का स्वाद लेती रहती हैं और लंड के लिए उन्हें ज्यादा भटकना नहीं पड़ता है. जब मैंने उसकी बुर की फांकों को खोला तो अन्दर एकदम गुलाबी गुलाबी रंगत देखकर मैं खुद को रोक ही नहीं पाया और अपनी पूरी जीभ उसकी बुर में घुसा दी.

बीएफ वीडियो देसी लड़की वो पूरी तन्मयता से अपनी जीभ को कामिनी की चुत में अन्दर बाहर करने लगा. पापा जी अब डॉगी पोज में चोद दो मुझे अच्छे से!” बहूरानी ने फरमाइश की.

अब बहन के मम्मे के साथ साथ चुत भी खुल गई थी और हम दोनों उसकी चुत के साथ भी खेल सकते थे.

अक्षरा सिंह का मोबाइल नंबर चाहिए

अब मैं कपड़े सही कर चुकी थी और टॉप के बटन भी बंद कर लिए थे ताकि ज्यादा कुछ ना दिखे. मेरा लण्ड फिर खड़ा हो गया और मैं मधु के जवान जिस्म को नंगा होते हुए देखने की चाह को नहीं छोड़ सका।मधु ने मेरी तरफ पीठ की हुई थी. संजय नीचे बैठ गया, उसने पहले मेरी चूत के आस पास हल्के से चुम्बन किए.

फिर मैं उसे किस करता रहा… अचानक एक जोर का झटका दिया और वो जोर से चिल्ला उठी. तभी मेरी नज़र दूल्हे पे गई और उसके साथ खड़ी एक लेडी पर मेरी नजर टिक गई. तभी वो पीछे होते होते दीवार से लग गई, वह संभल गयी और बोली- तुमने यह क्या कर दिया?मैं बोला- वही किया जो तुम चाहती थी!वो बोलने लगी- यह गलत है, अभी मैं कुछ नहीं करने दूंगी.

उन्होंने ब्लैक कलर की साड़ी पहनी थी और डीप गले का ब्लाउज पहना हुआ था जिसमें से उनके मदमस्त मम्मों की छटा दिख रही थी.

जैसे ही मैंने उसकी गांड को जरा सा ऊंचा करके एक धक्का मारा, पिंकी का बैलेंस बिगड़ गया और उसके निप्पल विक्की के मुँह में जाके घुस गए. संजय ने भी पोजीशन को समझते हुए चुत के अन्दर ही जीभ को लपलपाना शुरू कर दिया, जिससे मेरी चूत का मजा दुगना हो गया. संजय ने मेरे होंठों को चूसते और काटते हुए चार छह धक्कों के बाद अपने गरम लावा से मेरी चुत को भर दिया.

चाचा जब कभी अपनी वाइफ को चोदते थे तो मुझे बताते थे लेकिन वो बताते थे कि उनको अपनी वाइफ को चोदने में अब मजा नहीं आता है और वो मुझे चोदना चाहते हैं. उन्हें कोई जवान साथी की तलाश थी, तो ऐसे में घर में मौजूद बलवंत सिन्हा से बेहतर कौन हो सकता था. मैं फिर पूरे जोश के साथ शुरू हो गया और दस मिनट के बाद दीदी और मैं एक साथ झड़ गए.

अब सोने चलते हैं।मैं- ओके जी चलो।हम लोग सोने के लिए अपने कमरे में चले गए. फिर उनको न जाने क्या हुआ, मुझको पता ही नहीं चला क्योंकि उन्होंने पूछा कि क्यों इससे पहले तुमने किसी के देखे नहीं क्या?मैं समझ गया कि मामी गर्म हो गई हैं सो मैंने जबाव दिया- नहीं देखे.

मैं तैयार होने लगी तो दिव्या ने पूछा- कहां जा रही हो?मैंने बता दिया जो अमित ने कहा था. मैंने मन में कहा कि साली लंड तो ऐसे चूस रही थी जैसे पुरानी चुदक्कड़ हो. उनको ऐसा करते हुए बहुत मजा आने लगा और वो गांड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगीं.

उसके बाद एक दिन उसके घर वालों को कहीं बाहर जाना था, वो कोई बहाना बना कर रुक गई और उसने मुझे फ़ोन करके ये बात बताई तो मेरी तो खुशी का कोई ठिकाना ही नहीं रहा.

मेरा लंड लंबाई में 6 इंच का ही है, मगर मेरे लंड की मोटाई बहुत ज़्यादा है. मैंने देखा कि सच में उसकी चूत के पास बहुत बाल थे जो मुझे पसंद नहीं आये, मैं उसकी चूत को चूमना चाहता था लेकिन इतने बाल देख कर मेरा भी मन नहीं कर रहा था।लेकिन आज बालों वाली चूत ही शायद चाटने को लिखी हुई थी मेरी किस्मत में… तो वही मिली, फिर उसको खुश करने के लिए मैं उसकी चूत चाटने लगा. मैंने तुरंत अपना लंड भाभी की चुत में से निकाल कर पूरा माल भाभी के पेट पे डाल दिया.

मैंने गैस चूल्हे को बंद किया और ममता को अपने गोद में उठाकर बेडरूम में ले गया और बिस्तर पर पटक दिया और उसके ऊपर चढ़ गया. अब मेरी पतिव्रता पत्नी ओमार के मोटे लंड को अपनी तंग गांड में लेने और वासना के खेल को और मजेदार बनाने के लिए और अधिक स्वतन्त्र हो गई थी.

फिर मैंने उसे गोद में उठाया और बेड पर लिटाकर पहले उसके माथे पे किस किया, फिर होंठों पर. मैंने भी तो पूरा मजा लिया था और सच बताऊं उस दिन जो हुआ, उसको मैं भूल नहीं पाई थी. बॉस की दो उंगलियों को पकड़ कर अपनी गांड में डलवा कर बॉस के मुँह में ही बोल दिया- ये मेरी गांड का छेद मिलेगा.

दादी अम्मा की कहानियां

रोज सुबह 8 बजे पापा अपने फैक्ट्री के ऑफिस चले जाते, हमारी एक बड़ी कास्टिंग इंडस्ट्री है.

इस बार मैं अपने घर आया तो पता लगा कि विशाल की अभी नई नई उसकी शादी हुई थी और वो अभी यहीं है तो इसलिए मैं उसके घर पर उसे बधाई देने चला गया. पर काजल के मुँह से कांपती हुई आवाज़ निकली, जो डर और चुदाई की उत्तेजना से मिली जुली थी. पूजा ने मुझे पकड़ कर अपनी बाँहों में जकड़ लिया और जम कर होंठों पर काटने लगी.

नानी तो नहीं जा सकती थी तो उसके लिए माधुरी ने दो रोटी दिन की दाल सब्जी से दे दी. मुझे ऐसा देख कर चाची ने दोनों हाथ अपने होंठों पर रख लिए और आँखें बड़ी बड़ी करके लंड देखने लगीं. कुत्ता वाला बीएफ कुत्ता वाला बीएफजब कॉलेज ऑफ हुआ तो मैं घर जाने को कॉलेज के गेट के बाहर निकल रहा था तो वो मुझे गेट पर खड़ी मिली.

मेरी दीदी जो मेरी बुआ की बेटी हैं और मेरे से 6 साल बड़ी हैं, बहुत सुन्दर भी हैं. जैसा कि आप सब जानते हैं कि उस दिन के बाद से मेरी हिम्मत बढ़ गई थी तो मैं भी उससे बोला- तुम इतना सजधज कर आओगी भाभी.

उनके चेहरे पर ब्रायन के लंड जड़ तक घुस जाने के कारण दर्द साफ झलक रहा था. अब महेश मेरी चूत को चूस रहा था और मैं बिस्तर पे इधर उधर सर को घुमा कर मजा ले रही थी. जब कॉलेज ऑफ हुआ तो मैं घर जाने को कॉलेज के गेट के बाहर निकल रहा था तो वो मुझे गेट पर खड़ी मिली.

तभी निर्मला जी ने बोला कि उन्हें वाशरूम जाना है, फिर बोलीं आपके घर से फ्रेश होकर घर के लिए ऑटो ले लूंगी. लंड घुसते ही उसकी आँखें चौड़ी हो गईं और मुँह से एक जोर की आवाज़ निकल पड़ी- आआआअ म्म्म्मम. रोज सुबह 8 बजे पापा अपने फैक्ट्री के ऑफिस चले जाते, हमारी एक बड़ी कास्टिंग इंडस्ट्री है.

मैंने एक दिन उसके गाल पर चिकोटी काटी तो उसने कुछ न बोला तो मैंने उसके गाल पर हिम्मत से चूमा जड़ दिया, वो मुस्कुरा उठा.

ममता मुझसे बात कर रही थी और मेरी नज़रें उसके चूची के पहाड़ों पर टिकी थीं जिसे उसने भी पकड़ लिया और अपनी साड़ी ठीक करने लगी. कभी मेरी जीभ चूसतीं तो कभी मेरे होंठों को दांत में पकड़ कर खींचतीं, कभी मैं भाबी की जीभ चूसता तो कभी भाबी के होंठों को दांत से चबाता.

वो गुस्से में बोली- क्या है?तब मैं बोला- भाभी आप जो चाहती हो वही होगा. माया ने चौंक कर अपनी आँखें खोलीं, लेकिन अगले ही पल वापस बंद कर लीं. ऐसी परिस्थतियों में मैं महिलाओं और लड़कियों के बीच काफी घुलमिल जाता रहा, जिससे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों की लड़कियों और महिलाओं को चोदने में सहजता होती है.

अब मैं भी किसी औरत के जिस्म को मिस कर रहा था, आखिर मेरे पास भी लंड है, कब तक मनाता या हाथ से काम चलाता. सबने मेरी तारीफ की फिर मैं प्रिया के पास जा कर बैठ गया, तो उसने मुझसे बोला- तुम सच में डांस अच्छा करते हो. ”मुझे बहुत दर्द होता है और मेरी ये हाल देखकर पिंकी मुझ पर हंसती है, तो मुझे बहुत गुस्सा भी आता है.

बीएफ वीडियो देसी लड़की ट्रेन से बाहर आते ही वह मुझसे गले मिली और मेरा परिचय अपनी सहेली से करवाया. क्योंकि मेरी छटी इन्द्रिय कह रही थी कि यहाँ उसी की खुशबू चारों ओर फैली हुई थी.

इंडियन सेक्स हॉट

कुछ देर शांति से बैठने के बाद, गपशप करने के बाद, मैंने उठ कर कपड़े पहने, कार के पास जा कर देखा तो रिया पिछली सीट पे आराम से सो रही थी. एक घंटे बाद मुझे फिर थोड़ा दर्द हुआ तो देखा कि उसका लंड मेरी गांड के अन्दर फिर से घुस गया था. उन्हें देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और शाम का पूरा खेल मेरी आँखों के सामने से गुजर गया.

उसके बदन से चन्दन की खुशबू निकलने लगी और उसने अपने नाखूनों से भैया की पीठ पर डसना शुरू कर दिया. फिर मम्मी झड़ गईं, वो बिल्कुल चित्त होकर पड़ी रहीं और उन्हें देखकर लग रहा था कि जैसे उन्हें जन्नत नसीब हो गई है. सेक्सी बीएफ वीडियो भेजो सेक्सी बीएफमैं बोली- अंकल, कोई आ गया तो मैं मुंह दिखाने लायक नहीं बचूंगी!तब भाभी के पापा बोले- अरे, तुम ये गीला शर्ट पहने हो, इसे चेंज करना ही है ना!मैंने सोचा कि ये ठीक बोल रहे हैं, मैंने ओ के बोला तो भाभी के पापा ने मेरा शर्ट ऊपर खींच के उतार दिया.

लेकिन अंजलि ने मुझे जबरन जगाया और कपड़े पहनने को कहा, वो अपने कपड़े पहन चुकी थी.

कुछ दूर चलने के बाद मैं काफ़ी थक गई थी, तभी मैंने देखा कि वही कार थोड़ी आगे खड़ी थी. मैं उसके बेड पर लेट गई, लेटते समय मैंने जानबूझ कर अपना टॉप थोड़ा ऊपर को कर लिया ताकि कमल को मेरी कमर और चूचियां अच्छे से दिखाई दे जाएं.

तो बॉस ने पूछा- क्या हुआ नेहा? तुमको अच्छा नहीं लग रहा है?मैं- सर अपको एक बात बतानी है. सानिया मेरी ओर देखने लगी तो मैंने उससे पूछ लिया कि उसे भी गाने सुनने हैं क्या?उसने हाँ की तो मैंने एक इयर प्लग निकाल कर उसे दे दिया और वो उसे अपने कान में लगा कर मेरे साथ गाने सुनने लगी. मैंने जैसे ही उसका पजामा उतारा, उसकी मक्खन सी जांघें मेरे हाथों को टच हुईं.

”क्या तुम भी अपनी पार्टनर के साथ ऐसा ही करोगे?”हाँ, अगर वो करने देगी तो.

जब नाश्ता कर रहे थे तब मौसा जी ने बताया कि अजय का SSC का एग्ज़ाम है, इसके बाद वो दिल्ली में रह कर UPSC की तैयारी करेगा. फिर दीदी ने उन तीनों को खड़ा करके उनके हाथ ऊपर रस्सी से बांध दिए और एक चाबुक से उनकी खाल उधेड़ने लगीं. अब तो मम्मी एकदम गरम हो गई थीं और स्टीव का चेहरा अपनी चूत में घुसा रही थीं.

कुत्ता के साथ लड़की का बीएफउसके माता पिता में पिताजी गुरप्रीत सिंह 45 साल के और माता रजनी 42 साल की थीं. बाथरूम में एक किनारे पे उनकी नाईटी रखी थी, जैसे ही मैंने उसको उठाया, उसमें से उनकी ब्रा और पैन्टी नीचे गिर गई.

കന്പി കഥകള്

भाभी ने भी थोड़ा गुस्सा दिखाते हुए कहा- ये तूने क्या किया, मुझे बिल्कुल नंगी कर दिया और मेरा सब कुछ देख लिया. तभी सिराज के धक्के तेज हो गए और एक ही मिनट में उसने अपना सारा पानी मेरी गांड में भर दिया।सिराज की कम से काम दस पिचकारी मैंने अपने अंदर महंसूस की. मैं उसकी गांड पर हाथ रख कर उसको अपनी और उछाल रहा था ताकि उसकी चूत में अन्दर तक लंड पेल सकूँ.

एक दिन जब सारे लोग दोपहर को सो रहे थे, मैं और दीदी छत वाले कमरे में थे. मेनका- तुम उनकी चिंता मत करो, ये बात हम दोनों के अलावा और किसी को नहीं पता चलेगी. राजेंद्र अंकल ने मेरे कंधे को पकड़ कर जोर से दबा दिया, मैं भी बैठ गई सुरेश अंकल के लंड पर… जैसे ही लंड एक झटके में अंदर घुसा, चररर की आवाज आई और मैं जोर से चिल्लाई और रोने लगी, ‘मम्मी मम्मी…’ चिल्ला उठी- छोड़ दो मुझे, मैं मर जाऊंगी, बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज मत चोदो!नाखून से काटने लगी.

मैं बॉस के केबिन में गांड मरवा रही हूँ, ये ऑफ़िस में किसी को नहीं पता था. मैंने एक बार फिर उसके पूरे जिस्म को मसल दिया और शावर के नीचे उसकी चूत लेने का सपना पूरा किया. अवी- और बताओ मेरी जान मेरा रूम कैसा लगा?वो ये कह रहा था और मुझे देख रहा था.

मुझे उसकी ये अदा बहुत भा गई और मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लोवर के ऊपर से ही रख दिया. अभी तक मुझे इस विषय में कोई जानकारी नहीं हुई थी कि किसका किसके साथ खेल चलता है.

अचानक से उन्होंने मुझे अपने से चिपका लिया और अपना एक हाथ अपने चूत पर रगड़ने लगीं.

अब चाचा भी मुझसे खुश रहते थे क्योंकि मैं भी अब चाचा से खुल कर बातें करती थी और वो भी मुझे अपनी चुदाई के बारे में बताते थे. हिंदी बीएफ चलते हुएकुछ समय तो नताशा को धारदार चाकू को अपने मलद्वार में घुसवाने में काफी मुश्किल हुई लेकिन फिर वो अभ्यस्त हो गई और फिर कुछ देर बाद वो खुद ही अफ्रीकन लंड पर कूदना चालू हो गई. सेक्सी वीडियो बीएफ 2020 कीमैंने अंजलि की चूत की दरार में अपनी जीभ घुसाई तो एक बार फिर अंजलि मचल उठी और उसके मुख से सीत्कारें निकलने लगी. कुछ देर बाद किसी ने दरवाजा खटखटाया तो हम दोनों ने झटपट कपड़े ठीक किए और मैं वहीं सोने का बहाना करके लेटा रहा.

इसके पहले कि मेरा लंड बहूरानी की चूत में समा जाता मैंने बहूरानी को एक तरफ धकेल दिया और करवट बदल ली.

उनकी फैमिली अमीर घर से है, पति लन्दन में रहते हैं और उनकी हेल्प के लिए मधुरा इंटरव्यू लेती हैं. मैं देर ना करते हुए कविता के नंगे बदन के ऊपर चढ़ गया और कविता की चूत पर अपने लंड को रख दिया, फिर अपने लंड के टोपे को चूत के दाने के ऊपर नीचे रगड़ने लगा और वो तड़पने लगी. इस बार वो गईं लेकिन काफी देर बाद ड्रिंक लेकर आईं और पहले की तरह नीचे बैठ गईं.

करीब बीस मिनट के फोरप्ले में रीना के सब्र का बांध टूटने लगा परन्तु मैं जल्दबाजी नहीं करना चाह रहा था क्योंकि कल रात मैंने देखा था कि 21 साल की इस जवान ठण्डी लड़की के लिए दो मर्द कोई मायने नहीं रखते थे. मैं बोला- जानेमन, अब मेरी बारी है तुम्हें सरप्राइज़ देने की…और इतना कह कर मैं बेड पर उनके पास जाकर बैठ गया. भाभी ने सॉरी बोल कर मेरा पैर खींचा और अपनी गोद में रख कर दवाई लगाने लगीं.

बीप्या डाऊनलोड

मुझे अपनी बहू की कैमल टो बहुत सेक्सी लगी तो मैंने अपना स्मार्ट फोन निकाल कर उसकी पैंटी की एक फोटो खींच ली. पहले तो धीरे धीरे कर रहा था कि कुछ देर के बाद मेरे कंधों को पकड़ कर मुझे आगे झुका दिया और अब वो लंड को मेरी गांड में जल्दी जल्दी अन्दर बाहर करने लगा. अब मेरे कंधे पूरे दिख रहे थे और ये सब करके मैं वहीं फूलों पर बैठ गई.

मैंने अपने कपड़े निकालने शुरू कर दिए अपना टॉप निकाला, फिर स्कर्ट निकालने के बाद मैंने स्वाति से तौलिया माँगा, जिससे मैं पैंटी बदल लूँ.

फिर मेरे शांत होने पर उसने जोर से झटका मारा और इस बार पूरा लंड अन्दर चला गया.

करीब 5 मिनट बाद ही भाभी ज़ोर से चीखती हुई झड़ गईं- आह… आआह… गई… आआह… जान… आह… रूको… आह…भाभी मेरे ऊपर गिर गईं… पर मेरा तो अभी बाकी था, तो मैंने उन्हें तुरंत नीचे लेटाया और टांगें फैला कर अपना मूसल लंड एक ही झटके से पूरा पेल दिया. मेरी सहेलियाँ तो रोज अपने बॉयफ्रेंड से चुदवाती थी और मुझे भी बोलती थी चुदवाने के लिए लेकिन मेरा अपने बॉयफ्रेंड से ब्रेकअप हो गया था लेकिन जब भी मेरा बॉयफ्रेंड मेरे साथ था तो वो मुझसे सेक्स की बातें करने की कोशिश करता था लेकिन मैं तब उससे ऎसी बातें नहीं करना चाहती थी क्योंकि मैं तब इन बातों को बुरा मानती थी. देहाती बीएफ सेक्सी साड़ी वालीमैंने चाची को अपनी बांहों में भरते हुए पूछा कि क्या हुआ?तो मुझसे चिपकते हुए बोलीं- छिपकली है.

कभी कभी उनकी चुचियों को दबा भी देता था तो उनके मुँह से सिसकारियां निकलने लगती थीं. ओमार भी नजदीक आ गया और अपने लंड के टोपे से मेरी पत्नी के किड का लंड चूसते मुंह को टहोकना शुरू कर दिया. शाकिर बोला- बेटा, मैं तेरी गांड में उंगली के बजाए कुछ और डालूंगा, फिर मत कहना.

मैं भी थोड़ा भावुक हो गया था और मैंने उससे सॉरी कहा, पर उसने मेरी कोई बात नहीं सुनी. मैंने उसके मम्मों को फिर से दबाया तो उसके मुँह से मादक सीत्कार निकली- आह मसल दो मुझे.

ये कहते हुए उन्होंने मेरी पेंट खोली और नीचे सरका करके मेरा लंड निकाल कर देखा.

वो मेरे पड़ोस में रहती थीं और हमारे घर से उनके अच्छे सम्बन्ध थे, तो हमारे घर आना जाना होता था, पर मैं उनसे ज्यादा बात नहीं करता था. उन्होंने कहा- फिर एक काम और कर दो, मेरे पैर और हाथ में बहुत दर्द हो रहा है, थोड़ी तेल की मालिश कर दो. यह बात कुछ टाइम पहले की है, मैं नाश्ता करके घर से अपनी जॉब की तरफ चला गया.

इंग्लिश चुदाई बीएफ वीडियो मेरे घर वालों ने मेरी जान रोशनी और मेरे भैया जो दूसरे शहर में जॉब करते थे, उनके साथ करने का फैसला लिया. रात को पुलकित घर में ही रुकता था तो देर रात में भी चुपचाप दोनों घर की छत पर या कहीं और दूसरे कमरे में जाकर सेक्स भरी हरकतें करते थे.

उसको अपने मायके में अपने पिता और भाइयों से चुदाने के कारण इस तरह की स्थिति से निपटने का अनुभव था. दीदी बड़े ध्यान से मेरी बातें सुन रही थी- अच्छा, सच में तू मुझे इतना लाइक करता है?मैं- हाँ दीदी, बहुत लाइक करता हूँ, कब से सोचता था कि कब आपकी चूत मारने के मौक़ा मिलेगा, कब आपके साथ मस्ती कर सकूँगा, और आज मौक़ा मिल गया. मैंने ऑटो वाले को अपना एड्रेस बताया तो कमल ने कहा- कितने पैसे हुए?कमल को मना किया मैंने पर वो नहीं माना, उसने ऑटो रिक्शे वाले को पैसे दे दिए.

सेक्सी वीडियो डॉग एंड गर्ल

वो दोनों अभी भी मेरी बीवी को चोद ही रहे थे, फिर तीसरे दोस्त ने अपना लंड ‘ले साली. दीदी इतना काम करती थी, फिर थक भी जाती थी तो मैंने सोचा कि मैं दीदी को जितना खुश कर सकता हूँ उतना तो करूँ. दूसरों के सामने की तो बात ही क्या, जब कभी हम अकेले भी होते तो बहूरानी हमेशा अपने सर पर पल्लू डाल के नज़र नीची करके मुझसे सम्मान से बात करती; उसने कभी भी मुझे यह बात जताई नहीं कि वो मेरी अंकशायिनी भी है.

महेश मेरे होंठों को, कभी गर्दन को, तो कभी मेरे निपल्स को चूसता रहा. मम्मी की कसम, दीदी मुझे पता नहीं जवानी में चूत की तड़प ऐसी भयानक होती है, दीदी तुम चुदाती हो, यहाँ वहाँ मुँह मारती हो.

पहले पहल तो मुझे अजीब सा लगा, परन्तु फिर भी मैं उसे लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी। काफी देर चूसने के बाद यश का लण्ड थोड़ा टाईट होने लगा। मैं उसे लगातार चूसती रही। यश मेरे सिर को पकड़कर आगे पीछे कर रहे थे और ‘आहें.

तभी मैंने सोचा कि एक बार स्कूल के बाथरूम में जाकर माँ वाली वीडियो देख लूं, तो याद आया कि मोबाइल घर ही छूट गया था. इसी लिए वो सेक्स करते समय ज्यादातर बार मोमबत्ती या गाजर से अपनी बीवी को चोद कर संतुष्ट करते थे. उनकी चूत के हमले के आगे मैं टिक नहीं पाया और मेरे लंड ने अपना सारा पानी दीदी की चूत की गहराई में छोड़ दिया.

फिर मैंने प्रिया भाभी से पूछा कि भाभी अगले बेबी की प्लानिंग कब कर रही हो?यह सुन कर वो उदास सी हो गईं. अब मैं खुद को रोक नहीं पाया और मैंने बिना कोई जवाब दिए उसे अपने ऊपर झुका लिया और हमारे होंठ स्वतः ही जुड़ गये. मैंने अंकल के बारे में जानने की कोशिश की तो मालूम हुआ कि अंकल, उनके एक दूसरे मकान में रहने चले जाते हैं.

दीदी की चल ऎसी है जैसे कोई सेना का अफसर चल रहा हो!पिछले 3-4 महीने से दीदी अक्सर देर से घर आती थीं.

बीएफ वीडियो देसी लड़की: मैंने उससे नहीं पूछा कि उसने क्या सोचा, बस उससे इधर उधर की बातें करता रहता, जब तक वो रहती. विवेक कामिनी के मम्मों को रगड़े जा रहा था और उसके कड़क निप्पलों को चूसता जा रहा था.

किशोरियों या टीन गर्ल्स जैसी कमनीयता या आभा, ग्लो, दीप्ति या नूर कुछ भी कह लो; उसके जिस्म के अंग अंग से छलक रहा था. हां” क्या… मैं भी तो यही चाहता था तो मैंने बोला- मेरे साथ ही भेज दो, दिखवा कर इन्हें मैं बस में बिठा दूंगा. मैं तो देखती रह गई किशोर को… मैं गुस्से से बोली- क्या???किशोर बोला- उस बिचारे की बीवी मर गई दो साल हुए… बिचारा तुम्हें दुआ देगा.

चले गए तुम्हारे दोस्त? और क्या कह रहे थे कितने दोस्त थे, जो बहुत समय लगा दिया.

सैम- ठीक है, तुम्हें अब यही उतने दिन रहना है जितने दिन पापा यहाँ रुकेंगे बस. मैं ऐसी कामक्रीड़ा का आदी न था और यह सिनेरिओ मुझे सूट नहीं कर रहा था. कहीं तुम्हारे मम्मी पापा तो नहीं होंगे?अवी- नहीं बेबी, कोई दोस्त होगा.