दिखाइए सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ पिक्चर दिखा दीजिए

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी फिल्म मराठी: दिखाइए सेक्सी बीएफ, मेरे मन ने कहा कि इसकी गांड तो आज मारना ही है, चाहे मारपीट ही क्यों न हो जाए.

लड़की वाली बीएफ सेक्सी

मैंने भी सोची कि चलो मर्द का लंड मिल रहा है … आज इसकी बात मान ही लेती हूँ. दो लड़की का बीएफमेरी गंदी कहानी मेरे और मेरी और मुझे एक डेटिंग साइट पर मिली लड़की के बीच की है.

चाची कामातुर स्त्री की भांति बोलने लगीं- डालोगे या नहीं?मैंने कहा- आप लंड पर बैठिए. बीएफ मौसी की चुदाईमुखिया- उहह उहह ले छिनाल … आह अब जल्दी से अपनी ननद को ले आ … उसकी चुत का मुहूर्त मेरे लौड़े से ही होना चाहिए.

मुझे उसके इस तरह से बीच चुदाई में लंड निकाल लेने से गुस्सा आने लगा था.दिखाइए सेक्सी बीएफ: मैंने कहा- मैं तारीफ़ में सिर्फ एक ही लाइन कहना चाहता हूँ, मगर …वो आंखें नचाते हुए बोली- मगर क्या?मैंने कहा- आपको अच्छा न लगा तो!वो बोली- मुझे सब अच्छा लगेगा … प्लीज़ तुम बोलो.

मेरी प्रैक्टिकल फाइल भी अंजू ने ही बनाई थी। मैं अंजू से एक अच्छे दोस्त की हैसियत से ही बात किया करता था।जब भी उसको देखता था तो वो ऐसे देखा करती थी जैसे मन ही मन मुझसे प्यार करती हो.मैं बोला- पहले नहीं चुदी हो क्या?उसने कहा- अपने एक्स बॉयफ्रेंड से चुदी थी दो-तीन बार.

बीएफ फिल्म चुदाई सेक्सी - दिखाइए सेक्सी बीएफ

तभी मोनिषा ने जैसे ही टीवी ऑन किया, तो टीवी पर चुदाई की पोर्न मूवीज चालू हो गई.आप शायद ही यकीन नहीं करोगे कि मैंने अपनी जिंदगी में ऐसा हग आज तक नहीं किया था.

मेरी पढ़ाई अभी पूरी नहीं हुई है। मैं दिल्ली में अपनी सहेली के साथ रहती हूं जिसका नाम कृति है। हम दोनों सहेलियां किराये के एक छोटे से घर में रहते हैं।मेरा फिगर 32-28-32 का है। मेरे कॉलेज में सभी लड़के मुझसे दोस्ती करने को मरते थे मगर मेरा दिल किसी पर नहीं आया था। मैं किसी को भाव नहीं देती थी. दिखाइए सेक्सी बीएफ जैसे ही अंकल अपने कमरे में गए, मैं पारिज़ा को किस करने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी.

कोई दस मिनट की चुदाई के बाद सुरजीत सर झड़ने वाले थे, तो उन्होंने मुझे वापस चित लेटाया और अपनी बांहों में भरके जोरों के झटके मारने लगे.

दिखाइए सेक्सी बीएफ?

मैंने कहा- भाभी कैसे चुदना पसंद है आपको?भाभी बिना बोले उठीं और मुझे धक्का देकर बिस्तर पर गिराते हुए बोलीं- जब से चुदुर चुदुर कर रहा है … मेरी चुत सुलगी जा रही है. तब मैं बोला- सरिता डार्लिंग अभी तो मैं तुम्हें आराम आराम से ही पेल रहा हूँ. सन्नो की बात सुनकर मुखिया खुश हो गया और उसने सन्नो को जाने के लिए सर हिला दिया.

फिर मैंने जो फ़ोन में वीडियो रिकॉर्ड हुई थी, उसे देखा और मेरे होश उड़ गए. फिर मैंने दोबारा चेक करने के लिए गर्दन उठायी तो पाया कि प्रेरणा भाभी मेरे लंड को देख रही थी. फिर मैंने दोबारा चेक करने के लिए गर्दन उठायी तो पाया कि प्रेरणा भाभी मेरे लंड को देख रही थी.

उसने फिर से अपने होंठों के बीच मेरा एक निप्पल दबाया और हल्के से खींचने लगा. इससे मुझे मन ही मन अत्यंत शर्म भी आ रही थी कि मौसाजी मेरी चूत मार रहे थे और मैं पूरी बेशर्मी से अपनी कमर उठा उठा कर उनका साथ निभाते हुए उनसे चुदवा रही थी. इस इंडियन भाभी सुहागरात Xxx कहानी के बारे में आपके जो भी विचार हों आप मुझे अपने विचारों से अवगत जरूर करवायें.

चूंकि मैं हल्की सी मुँहफट हूँ, इसलिए मेरे मुँह से निकल गया कि खुद ही चैक कर लो. मैंने पूछा- भाभी, भाईसाहब की ड्यूटी कितने दिन से नाइट में चल रही है?वो बोली- दो साल से।हैरान होते हुए मैंने कहा- तो क्या रात में आप रोज अकेली ही रहती हैं?वो बोली- नहीं, शुरू में कुछ दिन मेरी सास आकर रही थी लेकिन फिर वो भी गांव लौट गयी.

मैंने उसको बांहों में भर लिया और उसके चूतड़ों पर अपनी टांगें लपेट लीं और मजे से चुदने लगी.

मैं दरवाजा खोल कर दूसरे कमरे में गया और पानी की बोतल लेकर वापस आ गया.

मम्मी ने अब अपनी टांगों को थोड़ा खोल दिया था, जिससे मेरी उंगली मम्मी की चुत में तेजी से अन्दर बाहर होने लगी थी. एक बार पुनः इच्छा हुई कि मुझे अभी मृत्यु आ जाये और मैं इस शर्मिंदगी, इस जिल्लत से बच जाऊं. ये कह कर वो सबसे ऊपर वाली बर्थ पर चला गया और थोड़ी देर में खर्राटे लेने लगा.

बलराम- ले छिनाल आह उहह उहह … मेरा लंड भी उहह उहह … छूटने वाला है आह. उसको बोला कि पार्टी उधार है, तो फिर उसको आने के लिए हां कहना पड़ा।उस बातचीत में उसने कुछ ऐसा बोल दिया कि मुझे पता लग गया कि ये चुद कर ही मानेगी. एक दिन मैंने उससे पूछा- तुम्हें कितना गंदा सेक्स पसंद है?उसने बोला- मुझे सेक्स करना बहुत ज्यादा पसंद है … फिर ये गंदा क्या होता है.

कुछ ही देर में सीमा रिलेक्स हो गई और हम दोनों ने खूब सारी बातें की, खूब मज़ाक भी किया.

वो मुझे हमेशा छेड़ती रहती थी और हर समय सेक्स की ही बातें करना पसंद करती थी. मोती- साली इतने मस्त चुचे हैं तेरे, बता किससे दबवाती है रंडी साली … बिना मम्मे दबवाए ये इतने बड़े नहीं हो सकते. एक दिन कॉलेज में …मेरे प्यारे दोस्तो, मेरा नाम वासु है। वासना से भरा हुआ वासु। मैं दिल्ली से हूँ.

उसकी गांड का संकुचन ढीला होने लगा और धीरे धीरे मैंने पूरा अंगूठा उसकी गांड में डाल दिया. अब पापा मम्मी की चूचियों को दबाने लगे और उन्होंने धीरे धीरे करके मम्मी के ब्लाउज़ के बटन खोल दिए और ब्रा को चूचियों के ऊपर करके चूसने लगे. वो मेरी जांघों पर चूत के आसपास चूमने लगा और मेरे बदन में जैसे बिजली के झटके लगने लगे.

जैसे ही मैंने उसकी चूत के दाने पर अपनी जीभ रगड़नी शुरू की वो तो मानो किसी और दुनिया में पहुंच गई! उसने मेरा सर अपनी टांगों में दबा लिया और मेरे लम्बे लम्बे बालों को पकड़ कर वो मेरा मुंह अपनी चूत में लगातार दबा रही थी.

सुरेखा की मम्मी भी मुझे लाइक करने लगी थीं … मतलब उनको मुझ पर किसी तरह का कोई शक आदि नहीं था. जल्दी ही मैं आपके लिए कहानी को आगे बढ़ाऊंगा जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने उस कॉल गर्ल की गांड चुदाई भी की.

दिखाइए सेक्सी बीएफ अब आगे सेक्सी बीबी की चुदाई:उसके बाद मैंने पारिज़ा को पूरी नंगी कर दिया और पारिज़ा की मस्त चुत को देखकर मुझे अंकल याद आ गए. मैंने फिर से वैसा ही किया और इस बार उसने अपनी चुचियों के दानों पर सिंदूर लगवाया.

दिखाइए सेक्सी बीएफ वैसे तो मौसी की चूत पहले ही गर्म हो चुकी थी और उसकी चूत से रिसता हुआ पानी इस बात का गवाह भी था. इस सेक्स कहानी में सभी पात्रों के नाम भले ही काल्पनिक बता रही हूं, लेकिन जो मैं आपको बताने जा रही हूं, वह किस्सा एकदम सच है.

उसके ब्लाउज में उसकी चूचियों की घाटी जो मैंने सुबह देखी थी, उसी के बारे में सोच कर मेरे लंड ने करवट ले ली.

भोजपुरी बीएफ बढ़िया

मीता- हां बाबूजी इसी लिए तो कह रही हूँ कि आप मुझे सब सिखा दो, ताकि मुझे शादी के बाद कोई तकलीफ़ ना हो. इधर जब मेरा लंड उसकी चूत में जा रहा था तो मेरी जांघें उसके चूतड़ों से टकराने के कारण पट-पट की आवाज हो रही थी. मैंने कहा- कितना अजीब लगा?वो बोली- मतलब?मैंने पूछा- मेरा मतलब, क्या तुम्हें ऐसा लगा कि मुझे कभी तुम्हारे वो नहीं छूने चाहिए?वो बोली- तुम बहुत बदमाश हो.

तो वो हंस पड़ी और बोली कि क्या तारीफ़ के लिए शब्द नहीं थे!मैंने समझ लिया कि ये मुझसे कुछ मस्त सी तारीफ़ सुनना चाहती है. मैंने दो धक्के जोर से लगाये और फिर पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. इसी के साथ सीमा आंटी की एक बार फिर से जोरदार चीख निकल पड़ी- मादरचोद … भैन के लंड … रंडी ही समझ लिया तूने तो … मां चोद दी एक ही धक्के में … आह बहन के लौड़े.

बहन की चूत की कहानी में पढ़ें कि बहन को नंगी देखने के बाद मैंने उसकी चूत में उंगली भी की.

कभी कभी वो अपने घुटने को मेरे लंड पर रगड़ देती थीं … जो भाभी की चुदास बढ़ने का संकेत था. एक दिन उसने बताया कि उसकी शादी घरवालों ने जल्दी करा दी थी और उसका पति बहुत ही सीधा सा है … जबकि मैं काफी चुलबुली रही हूँ. फिर अगले दिन मैं उसको मिलने शाम के समय में गया। वो कुछ अजीब तरीके से चलते हुए आ रही थी.

तो सुरेश ने उसको टोका और कहा- यहां वहां क्या देख रहे हो? बीमारी क्या है वो बताओ. मैंने उनको हिलाते हुए बोला- भाभी क्या हुआ?भाभी- आपने तो मुझे थका दिया यार!मुझे थोड़ी ठंडी लग रही थी, इसलिए मैंने भाभी से बोला- भाभी, क्या आप मेरे लिए चाय बना कर लाओगी?भाभी बोलीं- हां अभी 5 मिनट में लाई. मैंने पानी का गिलास नीचे रखा और उनके कंधे पर सहलाते हुए उनको तसल्ली देने की कोशिश करने लगा.

अभी मम्मी कुछ कहती या करतीं कि मैंने उनको झुकाते हुए एक झटका दे दिया. आपके मेल मिलने के बाद ही मैं इस गर्म चूत की देसी चुदाई कहानी के अगले दौर को लिखूंगी.

जब मैं बेकाबू हो गया तो मैंने उसके सिर को पकड़ कर जोर से अपने लंड पर दबा दिया. वैसे हमें कोई प्रॉब्लम नहीं थी … क्योंकि अंकल खुद भी थोड़े रोमांटिक मिजाज के आदमी थे … इसलिए हम दोनों अंकल के सामने रोमांटिक बातें करते रहते थे. उसके बाद बड़ी तेजी से भाभी अपनी गांड से उठा उठा कर चुत की चुदाई करवाने लगीं.

जब तेरे मम्मी पापा चले जाएं, तब तुम मुझे फोन कर देना, मैं आ जाऊंगा.

मैंने कहा- क्या सच कह रही हो जान?चाची बोलीं- हां … मगर ये बात तुम्हारे और मेरे में बीच ही रहनी चाहिए … किसी से मत कहना. मेरी वासना बढ़ने लगी और मैंने धीरे से उसके पेटीकोट को खोल कर नीचे गिर जाने दिया. मेरा लंड इतना टाइट हो गया था कि अगर मैं दीवार में छेद करना चाहूं तो वो भी कर डालूं.

मैंने कहा- ठीक है सरिता मेरी जान … तुम्हीं तो मुझे दूध पिलाती हो, मगर डार्लिंग उसमें से जरा सा दूध निकलता है और वो भी बड़ी मेहनत से निकलता है. नीचे लेटे लेटे अपनी कमर हिला कर मेरे हर धक्के का जवाब वो धक्के से ही दे रही थी.

बंगले का लॉक खोल कर मैं अन्दर आया ही था कि पीछे से मैडम भी अन्दर आ गईं. उनसे मेरी बात कभी नहीं हुई थी तो मैंने खेल के बारे में उनसे बात करने की कोशिश की और कहा कि सर मुझे भी खेलना है. हमारे बीच कुछ मिनट औपचारिक बातचीत हुई और सुषमा मैडम मुझे पढ़ाने लगीं.

कुंवारी लड़की बीएफ हिंदी

जैसे ही मैं आया, तो दीदी कहने लगीं- कब तक हाथ से काम चलाएगा?तो मैंने कहा- क्या करूं मेरी कोई जीएफ ही नहीं है.

उसने बड़ी ही तन्मयता से लंड चुसाई की और ये सिलसिला दो मिनट तक चलता रहा. तभी मैडम ने मेरे अंडरवियर में अपना हाथ डाल दिया और मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ कर कहने लगीं- कहीं ये तो लाल नहीं हो गया है. मैंने भी सोच लिया था कि दीदी अपनी माँ चुदाएं, मुझे क्या खुजली है कि मैं ज्ञान बांटता फिरूं.

उन्होंने मुझे बैठने को कहा और फिर बोले- आपको पता है कि कल के एग्रीमेंट में क्या लिखा हुआ है?मैंने ना में सिर हिलाया तो उन्होंने कहा- आप 3 साल के लिए हमारे साथ काम करने के लिए बाध्य हैं. जैसे ही मैं उनके बच्चे को उनकी गोद से उठाने को हुआ, तो भाभी के एक बोबे को मेरा हाथ लग गया. 2018 की बीएफमैंने संजू के होंठों को अपने होंठों में क़ैद किया और एक ही झटके में आधा लंड चूत में डाल दिया.

अब उसका शौहर सो चुका था, पर डर ये था कि भोसड़ी का कभी भी उठ सकता था. आज उसने जैसा लंड चूसना शुरू किया कि मैं एकदम से मस्ती में पागल होने लगा.

पहले तो मैंने योनि को चार पांच चपत लगाईं कि वो मुझे इतना तंग क्यों करती है. मेरी चीखें निकलने लगीं और उसके मुंह से मस्त कामुक मजे की सिसकारियां फूट रही थीं. उसके बर्थडे पर मैंने उसे एक बहुत ही सेक्सी सी ड्रेस के साथ उसके लिए सेक्सी‌ ब्रा और पैंटी भी गिफ्ट करने की सोची.

मैं अपना हाथ दिशा की कमर के अन्दर डाल दिए और धीरे से उसके टॉप को ऊपर उठाने लगा. बिना कंडोम के पहली बार इस तरह चोदने पर मेरे लंड में भी दर्द हुआ क्यूंकि वो काफ़ी टाइम से अपने पति से दूर थी तो चुदी नहीं थी।इस वजह से उसकी चूत भी अब काफ़ी कस गई थी। मेरे लंड की खाल पीछे खिंच गई और मुझे भी दर्द हुआ मगर मैं रुका नहीं. आप मेरी इस सेक्सी मैडम की चुदाई कहानी के लिए अपने मेल भेजना न भूलें.

मेरे लंड का सुपारा अभी उसकी चुत में घुसा भी नहीं था कि वो पागल सी हो गयी और मुझे जोरों से काटने लगी.

दोस्तो, आपको सेक्सी चुत स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल करके जरूर बतायें. अभी भी मेरे हाथ में टमाटर की थाली थी, लेकिन उसके हाथ जो आटे से भरे हुए थे, वो मेरी गरदन पर आ गए.

यह सब महसूस करते हुए मैंने भी अपने बदन को बिल्कुल ढीला छोड़ दिया और विनी को मनमानी करने दी. मैं उसकी चिकनी कोमल जांघों पर अपना पैर चढ़ा कर लेट गया और मेरा लंड उसकी जांघ से जा सटा. उसने फिर से अपने होंठों के बीच मेरा एक निप्पल दबाया और हल्के से खींचने लगा.

मैं- कोई बात नहीं … लेकिन तुम प्रॉमिस करो कि ये बात हम लोगों के बीच ही रहेगी. अब आगे की इंडियन चुत सेक्स चुदाई कहानी:उस दिन हम लोग लोग हॉल में बैठे थे उन्होंने पोर्न मूवी लगा दी और वो मेरे साथ सोफे पर बैठ गईं. कोई दस मिनट की चुदाई के बाद सुरजीत सर झड़ने वाले थे, तो उन्होंने मुझे वापस चित लेटाया और अपनी बांहों में भरके जोरों के झटके मारने लगे.

दिखाइए सेक्सी बीएफ उसका कोमल हाथ मेरे लंड के जरिये मेरे पूरे शरीर में करंट पैदा कर गया. थोड़ी देर वहीं पड़े रहने के बाद बलराम ने मंगला को भेज दिया और खुद बाहर आकर नंदू से बात करने लगा.

हिंदी सेक्सी वीडियो ब्लू पिक्चर बीएफ

स्टूडेंट टीचर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी टीचर की ओर आकर्षित था. मेरे ऊपर सेक्स का भूत सवार था- एडल्ट वाला प्यार करना है। मैंने उसके हाथ पकड़ कर एक झटका और दिया जिससे पूरा का पूरा लण्ड चूत में उतर गया. करीब 5 मिनट लंड चूसने के बाद जब मेरा लंड खड़ा हो गया … तो मैडम मेरे लंड पर बैठ गईं और हम लोग चिकन खाने लगे.

मुझे भी अगर किसी से पैसे मिलते तो मैं भी उसको अच्छी तरह खुश रख सकती थी. कुछ चालीसेक शॉट मारने के बाद चाची बोली- आराम आराम से पेल न … जल्दी क्यों मचा रहा है. तेलगू सेक्स व्हिडीओ बीएफजैसे ही हम दोनों के पति ऑफिस जाते, हम दोनों अक्सर ही एक दूसरे के घर चले जाती थी.

सुरेश मीता के पास को हो गया और उसके मम्मों को हल्का हल्का सा दबा कर देखने लगा.

आंटी के जाने के बाद बाहर का गेट, दरवाजा बंद करके मैं अन्दर आया तो मनीषा मुझसे लिपट गई और बेतहाशा चूमने लगी. वह मुझे कहने लगी कि तुम्हारा लंड तो मेरी गांड के अन्दर तक जा रहा है … मुझे बड़ा अच्छा महसूस हो रहा है.

उस सेक्स कहानी के बाद मुझे कई ईमेल्स आए, जिनमें पाठक और पाठिकाओं ने अपने निजी जीवन से जुड़ी कई बातें व समस्याएं बताईं. कमर मेरी 28 इंच की है, जिसे मटका कर जब मैं चलती हूँ, तो अपनी 36 इंच की गांड को अक्सर झटके देते हुए चलती हूं. पिछले भाग में मैंने अपनी चुदाई की कहानी बताई थी कि कैसे मेरे पुराने यार विकास ने मुझे बाथरूम में नंगी करके चोदा और अब वो मेरी गांड भी मारने की बात कहने लगा.

ये बोल कर उन्होंने अपना लंड मम्मी की चूत पर रख दिया और जोर से एक झटके में पूरा लंड मम्मी की चूत में डाल दिया.

फिर मैं उसे चाटने के लिए मुंह उस तरफ ले गया तो तेज़ स्मैल मेरे नाक से टकराई. इस समय हम दोनों ऐसी पोजीशन पर आ गए थे कि अपनी चुदाई को रोक ही नहीं सकते थे. मैंने पूछा- भाभी, सुबह की घटना के बारे में आपको पता कैसे चला?वो बोली- मैं तो छत पर कपड़े सुखाने के लिए जा रही थी.

छोटी लड़कियों का बीएफ वीडियोबीच-बीच में मैं अपना लंड चुत से बाहर निकाल कर उनको चुसवा देता था ताकि उनको और ज्यादा मजा आए. काफी देर तक बहन की गांड में जीभ करने के बाद आखिरकार मेरी जीभ उसकी गांड में आराम से जाने लगी.

लड़की की हिंदी बीएफ

कुछ ही देर में वो कूद कूदकर थकने लगी और मैं भी स्खलन के करीब पहुंच गया था. उस लड़के ने एक पल सोचा, फिर बोला- मैडम एक काम कीजिए … आप अपने कपड़े मुझे दे दीजिए, मैं सामने वाली अलमारी में रख देता हूं. इस घटना के बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता … हम लोग एक दूसरे को किस करने लगते.

मैं अपना मोबाइल लेकर सीधा बाथरूम के पास जाकर खड़ा हो गया और मैंने दरवाजे की झिरी से अन्दर देखा कि मम्मी अपनी ब्रा पैंटी धो रही हैं. मैं- जी … आपने रुकने दिया उसके लिए धन्यवाद … लेकिन क्षमा कीजिए क्या मैं जान सकता हूँ कि आपका शुभ नाम क्या है?उसने कहा- आप नीचे गर्दन झुका कर क्यों बात कर रहे हो? वैसे मेरा नाम रुखसाना है, गर्दन उठाइए. पारिज़ा के अब्बू पहले दिल्ली में रहते थे लेकिन उनका ट्रांसफर मुंबई में हो गया, तो तब से वो हमारे साथ ही रहते हैं.

उसमें उसकी चूचियों के निप्पल कड़क हो रहे थे जो कि साफ नज़र आ रहे थे। उसकी चूचियों को देख कर तो मेरा लंड और ज्यादा सख्त हो चला था और मेरी पैंट में एक साइड में तना हुआ दिख रहा था. मैंने अपनी बीवी पारिज़ा और उसके अब्बू से आंख बंद कर लेने के लिए कह दिया. पर मैंने किसी के मुंह लगना कभी ठीक नहीं समझा और उनकी ये बातें नज़रंदाज़ करती रहती और चुप बनी रहती.

सविता- मैं सौतन बन कर ही रहूंगी … अभी मयंक बोल रहे थे कि सोनम को जब से चोदना स्टार्ट किया है … उनको तो जन्नत मिल गई है. सर को मेरा इशारा तुरंत समझ आ गया और उन्होंने कसके मेरा हाथ पकड़ कर कहा कि आगे ऐसा ही होगा.

मेरी गर्लफ्रेंड्स भी बनीं लेकिन सेक्स के बारे में बोलने में मेरी फटती थी इसलिए मैं कभी सेक्स नहीं कर पाया था.

उसके बाद पारिज़ा ने घुटनों के बल बैठे ही मेरे लंड को मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगी. पंजाबी पिक्चर बीएफ सेक्सीतभी पता चला कि सुनील जी की मँझली बेटी मनीषा एक हफ्ते के लिए आ रही है. ब्लूटूथ वीडियो बीएफमनीषा की कमर पकड़कर मैंने उसे बैक गियर लगाने को कह तो मनीषा ने अपने चूतड़ों को मेरी ओर धकेला. कुछ दिनों बाद सुरेखा मुझे कॉलेज के लाइब्रेरी में दिखी और वो मुझे देखकर मुस्कुरा दी.

मेरी बहन अंदर पैर चौड़े करके पूरी नंगी बैठी हुई थी और गाना गुनगुनाते हुए कपड़े धो रही थी.

जैसे जैसे वो उछल रही थी, वैसे वैसे उसके मोटे मोटे चूचे ऊपर नीचे ऊपर नीचे उछल रहे थे. इंडियन चुत सेक्स चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं एक 60 साल की औरत की यौन संतुष्टि के लिए गया. मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरे हाथ में ब्रा नहीं मानो चाची की चूचियां हैं.

पहले भी मेरी कई बार इच्छा हुई कि मेरे पति नमन मेरी चूत को चूमें चाटें और मुझसे अपना लंड भी चुसवाएं. हां मैं मानता हूं कि वो दारू पीते हैं लेकिन कभी आपसे लड़ाई भी तो नहीं करते।वो बोली- हां, वो हैं और लड़ाई भी नहीं करते. पायल भाभी चलती गाड़ी में मेरी ओर झुक गईं और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर मजे से चूसने लगीं.

हिंदी बीएफ टीवी चैनल लाइव टीवी meaning

कोई सोच भी नहीं सकता था कि एक लड़का लड़की कॉलेज की पार्किंग में चुदाई का खेल खेल रहे थे. 2-3 घंटे हो चुके थे हम सबको एक दूसरे में लिप्त हुये हुए, मगर सब कुछ शांति से चल रहा था. वो बोली- हमारी इस मुलाकात के बारे में रिया और अजय दोनों में से किसी को पता नहीं लगना चाहिए.

इसके बाद मैं नीचे को आया और अपना मुँह उसकी क्लीन शेव की हुई चुत पर रख दिया.

मन कर रहा था उसको इतनी चोदूं, इतनी चोदूं कि उसकी चूत के चिथड़े उड़ा दूं.

उसने भी अपने हाथों से मेरी चड्डी को उतार दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर मसलने लगी. इसके बाद मैंने उसके लोवर के ऊपर से बहन की चूत को सहलाया, तो उसने बड़ी जोर से ‘आह भैया. बुर की चुदाई की बीएफइसके बाद मेरे साथ मेरे बीएफ ने किस तरह से चुदाई की वो सेक्स कहानी मैं फिर कभी लिखूंगी.

आप मेरी डैड मॉम सेक्स स्टोरी के बारे में अपनी प्रतिक्रिया देकर मुझे बतायें कि आपको मेरी यह स्टोरी पसंद आई कि नहीं?क्या आप आगे भी ऐसी ही मजेदार सेक्स स्टोरी पढ़ना पसंद करेंगे? यदि हां तो मुझे अपनी रूचि अथवा फेंटेसी के बारे में कमेंट्स में लिखें. कुछ 5 मिनट बाद उनके ऊपर से हटा और अपने लंड को उनकी साड़ी से साफ़ किया और हम दोनों चिपक कर बातें करने लगे. वो कुतिया बनी हुई अपनी गांड को लगातार हिलाते हुए अपनी चूत में मेरे लंड से चुद रही थी.

मैं पहले अपने बारे में बता देता हूँ, ताकि महिला पाठकों को मेरे बारे में जानने की हसरत पूरी हो सके. वो बोली- मैं भी!उसकी बात सुनकर हम दोनों ने खुल कर चैट करना शुरू कर दी.

मैंने देखा कि दानिश की अम्मी बेड पर चित लेट कर अपनी चुत में उंगली कर रही थीं.

जब मेरे पतिदेव बाथरूम गए तो रोहन ने जेब से एक पुड़िया निकाली और पति के गिलास में डाल दी. सुरजीत सर का लंड वाकयी बहुत लम्बा था … जिसके कारण मुझे पूरा लंड लेने में उबकाई सी भी आ रही थी. अभी के 6-7 दिन तक गर्भवती होने के चांस ज्यादा हैं तो मैं मौका खोना नहीं चाहती.

वीडियो मे बीएफ एचडी मुझे घुटनों में बैठने को बोला और जैसे ही मैं बैठी उन्होंने मेरा सिर पकड़ कर मेरे मुंह में लंड दे दिया. इस हॉट एंड सेक्सी गर्ल स्टोरी के पिछले भागअब और न तरसूंगी- 3में आपने पढ़ा किअब आगे की हॉट एंड सेक्सी गर्ल स्टोरी:फिर उन्होंने अपने सारे कपड़े उतार डाले और पूरे नंगे हो गए और बोले- ये ले मेरी जान अब मेरा लंड पकड़ तू, देख तेरे लिए कैसे मचल रहा है ये!वो बोले और अपना लंड जबरदस्ती मेरी मुट्ठी में पकड़ा दिया.

मैडम की कामुक सिसकारियां निकलने लगीं- अहहा … उम्म्ह … अहह … हय … याह … उम्म … ओह आह … चूस और चूस उम्म्म … आह आह. उसने ढेर सारे थूक निकाल दिया और उसके थूक में मैंने भी अपना थूक मिलाकर उसकी गांड और अपने लंड पर मल लिया. तभी सुरजीत सर ने लंड से पिचकारियां देनी शुरू कर दीं और वो झड़ कर मेरे ऊपर ही ढेर हो गए.

बिहारी बीएफ साड़ी वाला

कुछ देर बाद मैंने 69 पोजीशन बना ली और अपने लंड को मकान मालकिन के मुँह में दे दिया. मैं- रिया क्या ये गलत नहीं है? जीजा को पता लग गया तो क्या होगा? जीजा से तू खुश नहीं है क्या? अगर ऐसी कोई बात है तो मुझे बता. आज भी मेरा और तुली का रिश्ता कायम है और आज भी यह बात मेरे तुली और उसके पति के अलावा कोई नहीं जानता.

अब ये काम किस टाइप का होता है, आप अच्छी तरह समझ गए होगे क्योंकि मुखिया के यहां कोई लड़की या औरत काम करेगी तो उसकी चुदाई की कहानी तो लिखी ही जाएगी. मैं उसकी पीठ पर झुका हुआ था और मेरे हाथ आगे आकर उसके मोटे मोटे स्तनों को दबा दबा कर उनका रस निचोड़ने पर तुले थे.

अपना रुमाल धोया और फिर आकर गीले रुमाल से उसकी चूत और जांघ को रगड़ने लगा.

सुबह जब मैं उठा तो वो खाना बना चुकी थी और फिर तैयार होकर मुझे सब कुछ समझा दिया और ऑफिस के लिए निकल गयी. वो अकेली थीं … इसलिए उन्होंने ना खुद कोई कपड़ा पहना, ना मुझे पहनने दिया. ’इतना कहते ही मैंने उसके बड़े बड़े चूचों को ब्रा के ऊपर से ही पकड़ लिया.

लंड के अहसास से ही पायल भाभी सिसक पड़ीं और उसी पल मैंने अपना लंड भाभी की चूत में घुसा दिया. गन्दा सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मेरे पति दूसरे मर्द मेरी चुदाई की बात कहते थे. मैंने अपना लंड की चुत की जड़ तक पेल दिया और जोर जोर से झटके मारने लगा.

ये सुनकर वो मुस्कराने लगी लेकिन लंड उसने मुंह में रख कर चूसना चालू रखा.

दिखाइए सेक्सी बीएफ: फिर वो बाहर चली गई।दो मिनट के बाद वो गेट बंद करके लौटी तो मैंने उसे कस कर पकड़ लिया और उसे किस करने लगा. कहानी के पिछले भागअंगिका: एक अन्तःवस्त्र- 1में आपने पढ़ा कि कैसे मैं और अंगिका मिले.

इतनी देर से चाची को पेलते पेलते मेरा भी बुरा हाल हो गया था … लेकिन लंड से पानी नहीं निकल रहा था. घर लेने के 5 दिन बाद जब सभी कानूनी कागजी कार्यवाही खत्म हुई, तो उस दिन हम दोनों ने सुकून की सांस ली. मेरा लण्ड मनीषा के मुँह के पास था, मैंने आगे खिसक कर अपना लण्ड मनीषा के होंठों के पास किया तो उसने मुँह खोल दिया.

मैं अपनी उंगली से एक एक बूंद उनके होंठ, उनकी गर्दन, शोल्डर पर टपकाता चला गया.

कुछ दिन के बाद फिर केस भी फाइनल हो गया और फैसला हमारे पक्ष में आया. तो मैंने उसकी गांड कैसे मारी?दोस्तो, मैं उत्पल अपनी सेक्स स्टोरी का अंतिम भाग बता रहा हूं. मैंने सुषमा मैडम की कॉल को उठाया, तो देखा कि मैडम काफी खुश लग रही थीं.