एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी सेक्सी वीडियो भाभी देवर

तस्वीर का शीर्षक ,

నయనతారా సెక్స్ వీడియోస్: एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ, रेखा को देख कर सिर्फ ये कहा जा सकता है कि ऊपर वाले ने उसे सिर्फ चुदाई के लिए ही बनाया है.

सेक्सी हरयाणा

मेरी चुत इस पोजीशन में और भी ज़्यादा खिल रही थी और मुझे बहुत मजा आ रहा था. सेक्सी स्कूल लड़कियांउसके बाद मैंने स्वाति से बहुत देर तक बात की, उसने पैंटी भी उतारी, मैंने उसकी चूत देखी, मैंने उसे अपनी उँगलियों से चूत को खोल कर दिखाने को कहा तो उसने मेरी बात मानी और कैमरे के सामने मुझे अपनी चूत अपने हाथों से खोल कर दिखाई.

कई बार मयूर से कहते थे- यार अगर रचना की चूत दिला दो तो तुम्हारा तुरंत ही प्रमोशन कर दूँ. जेठालाल और बबीता जी सेक्सी वीडियोफिर मैं उसके चूचों को चूसने लगा तो अब वह भी बिल्कुल मस्त हो गयी थी।फिर मैं उस जवान नंगी लड़की को अपनी गोद में उठाकर बेडरूम में ले गया, मैंने उसको बेड पर लेटाया और मैं फिर से उसके चूचों को चूसने लगा और धीरे धीरे मैं उसको किस करते हुए उसकी चूत को चाटने लगा तो वह फिर से सिसकियाँ भरने लगी थी.

रात 9 बजे… बिज़ी नेशनल हाईवे पर खड़ी कार में प्रेम-आलाप… अव्वल दर्ज़े की मूर्खता के सिवा कुछ और हो ही नहीं सकता.एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ: पता नहीं तभी अशोक को क्या सूझा, वो बोला- देख अब कैसे मजा लिया जाता है.

परवीन कॉफ़ी बनाने चली गई तो उन्होंने मुझसे मुस्कुरा कर पूछा- कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं.पंकज ने रेखा को बेड पर पटक दिया और अपने होंठ रेखा के होंठों पर रख दिए.

सनी लियोन बीपी सेक्सी व्हिडिओ - एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ

अब आगे:मैंने कहा- अंकल कुछ करिये… उंहहह अहहह… मुझसे रहा नहीं जा रहा!अंकल बोले- सच में मेरी बीवी बनना हो तो मैं चोद दूं?मैं चुप रही तो बोले- चलो ठीक है आरती, मेरी रखैल बनोगी? इसमें तो दिक्कत नहीं है।मैंने कहा- ठीक है, जो आप कहो!तो अंकल बोले- आरती, रखैल मतलब जानती हो?मैंने कहा- नहीं!तब वे बोले- आरती, बिना शादी के चुदाई करवाने वाली… जब मैं जिससे बोलूं चुदवाना पड़ेगा.अन्तर्वासना सेक्स कहानी पढ़ने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी पिछली कहानीचूत चुदाई के खेल में लेस्बियन मसालाको आप लोगों ने बहुत पसंद किया, उसके लिए शुक्रिया.

तभी मैंने मौका देखकर अपने लंड को मिंकी की चूत से बिना निकले पूरा बाहर खींच लिया और दूसरा जोरदार पूरी ताकत से धक्का लगा दिया जिससे मेरा लंड मिंकी की चूत में 7 इंच तक घुस गया तो मिंकी की दर्द के मारे जोरदार चीख निकल गई, उसकी आँखें बाहर को आ गई लेकिन मैंने मिंकी पर कोई रहम नहीं किया और ताबड़तोड़ 2-3 जोरदार धक्के पूरी ताकत के साथ लगा दिये जिससे मेरा लंड मिंकी की चूत में जड़ तक घुस गया. एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ लंड थोड़ा ढीला हो गया था लेकिन मैं सोच रहा था कि दुबारा चुसाई से मेरा लंड जल्द ही खड़ा हो जाएगा.

शायद उनका इस तरह से पहली बार था पर साला मेरे मुँह से भी आवाज़ निकल गई, दर्द मुझे भी हुआ.

एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ?

रानी ने पहले तो पूरे लौडे को नीचे से ऊपर तक चूमा, टट्टे सहलाये और फिर बड़े दुलार से खाल पीछे खींच के टोपे को नंगा किया. लौटते समय मैंने कहा कि मैं हवा खाते हुए जाना चाहूँगी, सो मैं भाईसाहब की स्कूटी के पीछे बैठ गई. अब मां ने जो लंड उनके मुँह में बिना कंडोम का था, उन्होंने उस लंड को आइसक्रीम की तरह चूसना शुरू कर दिया और वे अपनी जीभ से लंड चाटने लगीं.

इस वक्त सच में मेरी वो स्थिति हो रही थी, जैसे एक भूखे भिखारी की होती है, जिसे कई दिनों से खा न मिला हो और अचानक से छप्पन व्यंजन से भरी थाली मिल गई हो. मैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी ने कहा- आज मैं काफी दिनों बाद इतना हंसी हूँ. मेरी चूत भी तुम्हारे लंड की प्यासी हो रही है, प्लीज इसकी आप भी प्यास बुझा दो न.

सिंधु उठी और मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और कुछ देर तक लॉली पॉप की तरह उसे चूसती रही।और एक बार फिर सिन्धु ने मेरे लंड की सवारी करना शुरू कर दिया, मेरे दोनों हाथ उसके दोनों मम्मों को पकड़कर मसलने लगे थे, कभी मैं उसके पूरे मम्में को पकड़कर दबाता तो कभी उसके अंगूरनुमा दानों को मसलता. नीला अपने मम्मों को पानी के अन्दर मेरे हाथों से दबवाते हुए कहने लगी- इनको दबाने से दूध निकलता है, जिसको पीने से आदमी धन्य हो जाता है. जब दीदी बेसुध पड़ी रहीं तो धीरे से अपने हाथों को पजामे से बाहर निकाल लिया.

दीदी अचानक मेरे दोनों ओर अपने पैर फैला कर बैठ गईं और मेरा लंड निकाल कर पूरा थूक से चिकना कर दिया. अब सोने का टाइम हुआ तो हम सभी मतलब चाची उनका बेटा और उनका लम्बे लंड वाला आशिक़.

मम्मे चुसवाने के कारण उसकी चुत ने पानी छोड़ दिया था और उसकी चुत एकदम रस से भीगी हुई थी.

उसके मुँह से कामुक आवाजें आ रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह…पंकज रेखा से बोला- आह और जोर से चूस मेरा लंड.

करीब दस मिनट बाद हम मैं झड़ने को हुआ तो मैंने पूछा- अंदर कर दूँ क्या?वो बोली- हाँ कर दो! अब मैं भी आने वाली हूँ. आ जाओ।मैं उसके कमरे में डाबर हेयर आयल की बोतल लेकर चली गई।मैंने दरवाजा लॉक कर दिया. अब मैं धीरे धीरे धक्के मारने लगा उसकी चूत बहुत गरम होने की वजह से और कंडोम की वजह से मुझे ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी और मेरा लंड उसकी चूत में समां गया.

मैं- ठीक है, मैं तुम्हें जरूर दिखाऊँगा लेकिन इससे पहले मैं कुछ देखना चाहता हूँ।स्वाति- मुझे पहले से ही पता था कि आप पहले मेरे कपड़े उतरवाना चाहते हो! सही कहा ना मैंने?मैंने कहा- हां। लेकिन सिर्फ इतना ही नहीं!स्वाति- मैं समझती हूँ, ज़रा रुको।मैं- ज़रूर।स्वाति ने साड़ी पहनी हुई थी, उसके अपने वक्ष से साड़ी का पल्लू हटाया और अपने ब्लाउज के सारे हुक खोल दिए. मैंने सेजल भाभी के हाथ को कसके बाँधा तो वो चिल्लाने लगीं- दुखता है… ज़रा धीरे बांधो…फ़िर मैंने ऐसे ही कसके उनका दूसरा हाथ बाँधा, तो वो रोने लगीं. पिछले दस दिन से ऋषिकेश उत्तराखंड की एक लड़की से मेरी रॉंग नंबर पर बात हो रही थी.

मगर जैसे ही उसे मैंने देखा तो मेरी शर्म से आँखें झुक गईं, क्योंकि वो मेरी ही कंपनी का एम डी था.

तो बस मेरे मन में चलने लगा कि ईशा आज अपनी ज़िन्दगी आखिरी बार खुल कर जी ले. एक दिन मैं पूरी तैयारी के साथ किसी अधिकारी से मिलने गई कि उससे काम निकलवा ही लूँगी, मगर बदनसीबी से उसके किसी दुश्मन ने उसे फँसाने का पूरा काम कर रखा था. हुआ यूं कि मैं दिन स्टडी करता था और सारे दिन पढ़ने के बाद रात में फेसबुक पर अपना मन बहला लेता था.

मेरे बगल से निकालने वाली लड़की या भाभी मुझे मुड़ कर ना देखे, ऐसा बहुत कम होता है. फिर मेरी वाइफ भी वहां आ गई, वो चेयर ले कर वहीं फ्रेंड के सामने बैठ गई और उसने अपनी टांगें हल्की सी खोल दीं. साथ ही मैंने भाभी को कस कर अपनी बांहों में भर लिया, जिससे भाभी के मोटे चुचे मेरी छाती पर पिस कर रह गए.

मैं भी वहाँ रह कर उनकी सेक्स लाइफ में बेकार ही उनकी राह का रोड़ा नहीं बनाना चाहता था.

दो बार होटल का वेटर पूछ गया है कि लंच यहाँ लाऊं या आप रेस्तरां के अन्दर जा कर करेंगी. तो वो रो रही थी।मैंने- कहा जान बस थोड़ी देर में दर्द कम हो जाएगा। फिर तुमको आज का सबसे बड़ा वाला मज़ा आएगा।ये बोल कर मैं उसे चूमने और मम्मों को मसलने लगा। जैसे कि सारी लड़कियों के साथ होता है.

एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ मैंने पूछा- आप कहाँ की रहने वाली हो?उसने बताया कि वो बंगलोर की है, अभी शादी हुई है, हज़्बेंड का बिजनेस है, वो ज़्यादातर टूअर पर रहते हैं. अंजलि लन्ड को अच्छे से चूसने लगी और मेरा लन्ड थूक से बिल्कुल गीला हो गया तो मैंने अंजलि का सिर पकड़ कर अपने हाथों से आगे पीछे करने लगा.

एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ कुछ देर बात करने के बाद मैंने उसे फिर से सहलाना शुरू किया और उस रात हम दोनों ने 3 बार चुदाई की. इतनी दयावान इतनी केयरिंग भाभी के लिए मेरे नजर में उनकी इज्जत और बढ़ गई थी.

फिर पता नहीं दीदी को क्या हुआ वो दोबारा फ्रिज की तरफ गईं और फ्रिज खोल कर कुछ और ढूंढ कर निकाला और दोबारा आकर चेयर पर वैसे ही बैठ गईं.

सेक्स बीएफ बीएफ सेक्स बीएफ

हाँ जी अब बताओ क्या चीज अच्छी लगी… जल्दी बताओ?”अब हम सब पर थोड़ा थोड़ा नशा तो हो ही गया था तो सब आराम से बातें कर रहे थे. भाई के साथ सेक्स कैसे मुमकिन है?मैंने कहा- मुमकिन तो सब है, पर तुम्हारी रजामंदी के बिना कुछ भी नहीं है. फिर उसने बोतल के इंजेक्टर को अपनी चूत में घुसेड़ कर अपने दोनों हाथों से दबा- दबा कर गर्म पानी अपनी ओवरी में घुसाना शुरू कर दिया.

तुझे कैसे पता?” मैंने पूछा।तो लोकेश ने अपने फोन में एक वीडियो दिखाया जिसमें प्रियांशु मेरे छोटे भाई टिंकू का लंड चूस रहा है. मैंने सीधा मॉम की मैक्सी के ऊपर से हाथ घुसाया और उनके मम्मों को सहलाने लगा. इसलिए मैं भी यह बोल कर कि डेविड तुम फिल्म देखो, मैं चेंज करके आती हूँ.

मैं भी वहाँ रह कर उनकी सेक्स लाइफ में बेकार ही उनकी राह का रोड़ा नहीं बनाना चाहता था.

कहानी का पिछला भाग :पंजाबन लड़की की गांड चोदन कहानी-1अब तक इस चोदन कहानी में आपने पढ़ा. समझ लो आज मैं ही तुम्हारी पत्नी हूं वैसे भी तुम्हारी शादी नहीं हुई है तो मुझे अपनी वाइफ समझ के प्यार करना. और फिर 15-20 मिनट की उस चुदाई के बाद हम दोनों ही एक साथ झड़ गए थे और मेरा सारा माल उसकी चूत में ही निकल गया था.

वो तो बाद में पता लगा कि उसमें हेयर डाइ वाली इंक थी जो स्किन पर लगने के बाद कई दिनों तक बनी रहती है. उसके एक दोस्त ने मेरे होंठ को किस करते हुए काट लिया और मेरे टॉप को थोड़ा और नीचे कर दिया. उसे खूब सहलाने के बाद मैंने उसकी टी शर्ट ऊपर की तो उसकी वाइट कलर की ब्रा सामने आ गई.

वैसे तो मुझे अपने ससुराल जाना ज्यादा पसंद नहीं है, मैं ससुराल के शहर अक्सर जाता रहता हूँ, पर कभी बिना वजह अपने ससुराल नहीं जाता. मैंने दूसरा धक्का और जोर से लगाया और मेरा पूरा लंड उनकी चुत घुस गया.

एक रात की बात थी, मॉम गहरी नींद में सोई हुई थीं, मैंने धीरे धीरे उनकी मैक्सी को ऊपर करना चालू किया और धीरे धीरे मैक्सी को मॉम के मम्मों के ऊपर तक कर दिया. मैं वासना से पागल होने लगी और उम्म्ह… अहह… हय… याह… कहते हुए विनय की जीभ को अपनी गीली हुई चूत में घुसवा रही थी. उसके साथ कुछ देर तक प्यार की बातें करने का बाद सबसे पहले मैंने उसके माथे पर किस किया, जो हमारा पहला किस था.

मेरे शरीर की बनावट एकदम फिल्मी हीरोइन के जैसे है, मेरा फिगर 36-24-36 है और जब लोग मुझे देखते हैं तो उनका वो देखते ही खड़ा हो जाता है.

अगले दिन मैंने उसे कॉल किया और डायरेक्ट बोल दिया- देखो, मैं सुसाइड कर लूंगा. प्रिया की आँखें बदस्तूर बंद थी लेकिन प्रिया स्वार्गिक-आनन्द के इन पलों के एक-एक क्षण का मज़ा ले रही थी. इधर मैंने रेहाना को पायल के दूध दबाने और पीने को कहा तो पायल को मजा आने लगा तो पायल अपनी कमर हिला कर मेरा लंड अपनी चूत में ले रही थी और मुझे इशारा कर रही थी कि मैं पायल की चूत में अपने लंड से तेज धक्के लगाऊँ तो मैंने भी उसके इशारे को समझते हुए अपने धक्कों की स्पीड को तेज करते हुए जोर जोर से चोदने लगा और मैंने पायल को अलग अलग पोजीशन में काफी देर तक चोदा.

मेरी शादी 8 साल पहले हुई थी, मेरे पति इंजीनियर हैं और एक बड़ी कम्पनी में जॉब करते हैं. उसने भी मुझे किस किया और कहा- तुम चाहो तो यही आनन्द तुम्हें रोज मिल सकता है.

मुझे मस्ती करनी है अडल्ट वाली मस्ती!”मैंने उसे ओके बोला और आगे की बात समझाई. मैंने उसको सिगरेट ऑफर की तो उसने सिगरेट सुलगाई और मुझे सोफे पर बैठा कर मेरा लंड निकाल कर चूसते हुए सिगरेट के छल्ले उड़ाने लगी. मेरी मम्मी ने कहा कि आज तेरी मीना आंटी रोशनी का खाना नहीं बना कर गई है, इसलिए जाके रोशनी को ऊपर से बुला के ला.

बीएफ बीएफ वीडियो भेजें

मैंने आंटी को पानी पिलाया तो उस टाइम उनकी चुन्नी हटी हुई थी और उनके कुरते का डीप गला होने के कारण उनके चुचे साफ़ दिख रहे थे.

उसने नीचे से अपने लंड से राजधानी एक्सप्रेस चला दी और चुत की धज्जियाँ उड़ानी शुरू कर दीं. हर लंड वाला चूत में लंड फँसा कर मज़े लेना चाहता था और यहाँ तो एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर चला जाता था और जब वो आधा निकाल कर धक्का मारना चाहता था, तो मेरी ढीली चूत के कारण उसका लंड पूरा ही बाहर आ जाता था. जैसा कि अस्पताल नया ही बना था, इसलिये काफ़ी सफाई थी और सामने डॉक्टर के नये क्वाटर बने हुए थे जो लम्बी बिल्डिंग के रूप में थे और इन घरों में अभी कोई रहता नहीं था… मतलब ज्यादा भीड़भाड़ नहीं थी वहाँ पर!दूर से बस एक लगभग 25 साल का मर्द दिखाई दे रहा था, जो अस्पताल की सीढ़ी के साईड में बनी ओटली पर बैठा फोन पर किसी से बात कर रहा था.

मैंने उसका सर बेड के ऊपर लगा दिया था और मैं उसकी टांगों के बीच बैठा था. मेरी सेक्सी कहानी के पिछले भागबॉय से कॉलबॉय का सफर-2में अब तक आपने पढ़ा. सेक्सी वीडियो छोड़ने कामानेसर पार करने के बाद मैंने राव होटल पर गाड़ी रोक दी और हमने चाय नाश्ता लिया.

यूं तो मेरी साली के साथ मेरा ऐसा कोई गहरा रिश्ता नहीं था जैसे कि आमतौर पर जीजा साली का होता है. मैंने उन्हें पीछे से कमर के पास से पकड़ लिया और उनकी गर्दन के पास से उनकी बदन की खुश्बू सूंघने लगा.

दिखाओ?वो बोली- आप कुछ करोगे तो नहीं?मैंने बोला कि तुम पहले दिखाओ तो सही. मेरे पाठक दोस्तो, मेरा नाम राज है और मैं भी आप ही की तरह अन्तर्वासना सेक्स कहानी का नियमित पाठक हूँ. )यह सुन कर उस वक़्त मुझे जो आराम और ख़ुशी मिली… मैं बता भी नहीं सकती.

मेरे बूब्ज बहुत बड़े और गोल हैं जो मेरे पति को बहुत अच्छे लगते हैं, वो मुझे रोज रात में चोदते हैं. कमरे में वासना की आग भड़की हुई थी और चाटने की चप चप और चुदाई के धक्कों की मधुर आवाजों का संगीत गूंज रहा था!मेरे प्यारे पति… और जोर-जोर से चोदो मेरे मुंह को… आआआआ… गज़ब… सुपर! चप चप चप चप चप… आआआआ… और आप जुड़वा… मस्त होकर चोदिये अपनी साझी एक दिन की बीवी को! खूब मस्त करके चोदिये… आआआह… मस्त! मस्त! मस्त!… पच पच पच पच पच… ख्लोप-ख्लोप-ख्लोप-ख्लोप-ख्लोप…” मेरी पत्नी मस्ती में बोल रही थी. मैं- यू लुकिंग ब्यूटिफुल…मैंने उसका हाथ अपने हाथ में लिया और उसकी उंगलियों को सहलाने लगा.

मेरे हाथ उनके मम्मे के पास पहुंच चुके थे, नाइटी और उसके अन्दर ब्रा इतने अधिक मुलायम कि जैसे उनके मम्मे बिना कपड़ों के मेरे हाथ में हों.

लेकिन जब उसने मुझे आश्वासन दिया कि वो मेरी गांड को देखेगा, उससे खेलेगा, उंगली से रागादेगा लेकिन मेरिउइ गांड में लंड नहीं घुसायेगा तो मैं मान गया और उसके कहे अनुसार लेट गया. मैंने उनसे कहा- चाची अब जरा डॉगी स्टाइल में आ जाओ… मुझे पीछे से आपकी गांड मारनी है.

ट्रेन की बोगी धीरे धीरे पूरी खाली हो गयी तो हम खुल कर सेक्स का खेल खेलने लगे. आते ही जल्दी से हमने एक एक कप ड्यू का लिया और चिकन खाना चालू कर दिया. उसने बोला- इतना जल्दी भूल भी गए?तभी मैंने बात को पकड़ा और बोला- ओहो आप हैं मोहतरमा, अहो भाग्य हमारे.

मेरे मुंह से अपने आप लगातार सिसकारियां निकलने लगी, जीजा ने अब अपनी एक उंगली भी मेरी चूत में घुसा दी और उसे अंदर बाहर करने लगे. मैंने हंसी का स्माइली भेजते हुए लिखा- मतलब इन 7 रातों के लिए आप मेरी हो सकती हैं. मैंने अपना एक हाथ उसकी चुत पे रखा और अपनी उंगली से धीरे धीरे उसकी चुत कुरेदने लगा.

एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ मैं ऐसी नहीं हूँ उसे समस्या थी तो गई थी और मैं गोवा में थी, इसलिए ना आ पाई, ना कॉल कर पाई. मेरी नजर विशाल पर पड़ी तो मैं हैरान रह गया क्योंकि सुलेखा उसके ऊपर पूरी तरह से छा चुकी थी वह रह रह कर अपने हाथ से पैन्ट के ऊपर से ही उसके लंड को मसल दे रही थी।सुलेखा की इस तरह की हरकत को देखकर विशाल पूरी तरह से समझ गया था कि मैंने सुलेखा को उसके लिए पूरी तरह से मना लिया है, इस बात को लेकर वह बेहद उत्साहित हो चुका था।डांस का कार्यक्रम समाप्त हो चुका था, अब जोरों की भूख लगी हुई थी.

जंगल का बीएफ हिंदी में

और मैं अब खड़ी भी नहीं हो पा रही हूँ।यह सुनकर मैं खुश था कि चलो ये भी ठीक हुआ। अब इस बात का भी कोई डर नहीं कि ये हमें डिस्टर्ब करेंगी. फिर वो कमरे से अपनी ड्रेस में चली गई और उधर से दो मिनट बाद ही सेक्सी सा लाल गाउन पहन कर बेडरूम में आ गई. उसने मेरे छेद में उंगली लगाई तो मेरा बदन सिहर उठा, मेरे मन में आया कि कहीं ये मेरी गांड में उंगली तो नहीं डाल देगा? लेकिन मैं चुपचाप लेटा रहा और चिंटू की अगली हरकत का इन्तजार करने लगा.

पर 10 बजे दरवाज़े के खुलने की आवाज़ आयी, शायद रात में भाई ने दरवाजा बंद करना भूल गया और मौके का फायदा उठा कर कोई अंदर आ गया और उसने हम सब को ऐसे नंगे हालात में देख लिया।कौन था वो? किसने हम माँ बेटा, बाप बेटी, भाई बहन को नंगी हालत में देख लिया? और आगे क्या हुआ?ये सब मैं अपनी अगली चुदाई स्टोरी में लिखूंगी. ”रोशनी ने उसका इंग्लिश में नाम पढ़ा, पर वहां चूत की फ़ोटो पर दो नाम थे, पहले तीर के निशान पे क्लिट्स लिखा था और दूसरे तीर पर वेजिना लिखा था. सेक्सी चूत की चुदाई एचडी वीडियोजैसे ही कुसुम वहाँ पहुंची, वो बोला- जानेमन कुछ अपनी जवानी का जलवा तो दिखाओ.

तभी अम्मी मेरी कुर्ती उतार के ब्रा ऊपर से मेरे दूध दबाने लगी और मेरे पीछे बैठ के पीछे से मेरे गले में मेरे कान के पीछे किश करने लगी.

भाभी की ओर मेरी नज़र गई, वो मेरे लिए खुश तो थीं, पर उनकी प्यास दिख रही थी. नहीं तो ज्यादातर अमीर लोग तो अपने काम से काम रखते हैं।मैंने कहा- ये सब छोड़ो, ये तो मेरा फ़र्ज़ था.

रेखा को देख कर सिर्फ ये कहा जा सकता है कि ऊपर वाले ने उसे सिर्फ चुदाई के लिए ही बनाया है. उसने आते ही आफिस का गेट अन्दर से बन्द कर दिया और लिप किस के बाद मेरा लंड चूसने लगी. फिर मैंने सोचा कि अब बहुत लंड चुसवा लिया है, अब इसको चोदना भी तो है.

वैक्स करते करते उसने बहुत बार मेरे कूल्हों को और उनके पास बहुत टच किया.

पर पता नहीं आज दिव्या की चुत मिलने के चक्कर मेरा लंड झड़ने को राजी नहीं था. खैर मैं ज्यादा देर रुक भी नहीं सकती थी, तो मैंने अपना दिल थाम कर बाहर निकल गई. इस तरहकुंवारी बुर की सील सगे भाई ने तोड़ी… मेरी बहन मेरी चुदाई की पार्टनर बन गई, हम दोनों मौका मिलते ही चुदाई का मजा लेने लगे.

पटवारी सेक्सीउसकी चूत सूज कर लाल हो चुकी थी मगर मैं था कि रुकने का नाम नहीं ले रहा था। दूसरी बात ये भी थी कि जब लड़कियां मुझे ‘बस. लगभग सुबह छह बजे मैंने पूछा- अब बोलिए सर, क्या करना है?वो बोला- अब आप यहाँ से निकल जाइए, मैं आज ही जाकर तुम्हारे भाई का केस रफादफा कर दूँगा.

मुसलमान की लड़कियों की बीएफ

अच्छा एक बात बता मज़ा आया कि नहीं तुझे… या बस ऐसे ही? क्या बात कर रही है… आधा घंटा उस बुढ्डे ने तुझे चोदा… ओ माय गॉड… तेरे तो मज़े हैं बॉस. अब मैं धीरे धीरे धक्के मारने लगा उसकी चूत बहुत गरम होने की वजह से और कंडोम की वजह से मुझे ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी और मेरा लंड उसकी चूत में समां गया. फिर अगली पेशी में उन्होंने मयूर को निर्दोष बता दिया और इस केस की जिम्मेदारी अपने ऊपर ले ली.

मैं भी उसको पसंद करती हूँ लेकिन वो मुझसे उम्र में बड़ा है इसलिए कभी उसको इस बारे में मैंने हां नहीं कहा. मेरा अब भी उससे बात करने को बहुत मन कर रहा था मगर मेरे पास उसका नंबर नहीं था. मैंने टनाटन लौड़े को अंदर बाहर करते हुए उसकी रेशमी सी जांघों को मसलना शुरू किया, नोच नोच के हाल बेहाल कर दिया.

तभी कुछ दिनों के भीतर ही हार्ट अटैक में चाचा की मौत हो गई, सभी बहुत दुखी हुए लेकिन इस पर किसका जोर चल सकता है. रेड कलर की ब्रा और पेंटी उनकी लिपस्टिक में पूरी तरह से मैच कर रही थी. यार अभी 2 दिन ही हुए थे और कभी कोई, कभी कोई मतलब दोनों हर 2 घंटे बाद आ जातीं और चुद कर दूसरे को लंड के पास छोड़ जातीं.

उसकी कोमल मम्मे देखकर मैंने मेरे होंठ उसके मम्मों पर रख दिए और मैं उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूसने लगा और दूसरा मम्मा हाथ में लेकर मसलने लगा. अब वो थकान के मारे पसीने से लथपथ हो गई थी और मैं भी बुरी तरह से थक चुका था.

मैं दीदी को धीरे धीरे चोदने लगा, वो भी अपना बड़ी सी गांड को उठा उठा कर मेरे लंड से चुदवाने लगीं.

संदीप मॉम की कॉलेज की गाड़ी का ड्राइवर था, जो कि बाहर गाड़ी लेके खड़ा था. पटना बिहार सेक्सी वीडियोकभी कभी मॉम सोफे पे बैठी होती थीं, मैं उनकी जांघ पे हाथ रख कर बैठ जाता था तो वो मेरा हाथ हटा देती थीं. देवर भाभी की सेक्सी फिल्म सेक्सीमुझे चाची की लंड चुसाई में बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मेरा बरसों का सपना आज पूरा हो रहा था. उसके बाद जब भी मौका मिलता, हम दोनों चूमाचाटी कर लेते, पर मैंने हॉस्टल में कभी गांड नहीं मरवाई.

मैं भी दिन भर घर में उनके भतीजे के साथ खेलता रहता था और अपनी किराएदार आंटी पर भी चान्स मारता था.

अगर मंजूर हो तो मेरे रूम में दो घंटे के बाद आ जाना वरना मैं अंकल से सब कुछ बोल दूँगा. चिट्ठी में तुम लिख देना कि इसको पहनने के बाद आपको ये गिफ्ट अच्छी लगे तो मैं आपको इसी को पहने हुए बर्थ डे का केक काटता देखना चाहता हूँ. आप सोच रहे होंगे कि मेरी कहानी में बहुत अचानक आ रहे हैं, पर सेक्स का मजा तभी है जब उसका पूरा लुत्फ़ उठाया जाये.

हम दोनों यूं ही देर तक चूमा चाटी करते रहे; मैं उसके मम्में नाइटी के ऊपर से ही दबाता रहा और वो मेरी पीठ को सहलाती रही. नीला ने अपने हाथों का दबाव बढ़ाया और पूछा- तुम पानी में देर तक साँस रोक सकते हो तो तुमको ये मजा अभी मिल सकता है. दोस्तो, जैसा कि आपने पिछलीसेक्सी कहानी मकान मालकिन की चुत चुदाई कीमें पढ़ा था कि किस तरह मैंने और निशा ने सेक्स की शुरुआत की.

बीएफ ब्लू सेक्स हिंदी

एक बात तो मैं आप लोगों को बताना भूल ही गया, नीति मैडम की एक सहेली जो हॉस्टल में उसकी रूममेट थी, वो भी मेरे कालेज में ही टीचर थी. उसने लंड निशाने पर रख कर एक झटका दे मारा और आधा लंड मेरी बुर में चला गया. बीच बीच में मैं उसकी चुत में जीभ डाल देता, जिससे वो मचल जाती और अपनी चुत ऊपर कर देती.

अब दीदी चेयर पर बैठी हुई फोन को स्पीकर पे डाल कर प्रीति की चुदाई की स्टोरी को सुन रही थी और अपनी चुत को सहलाए जा रही थीं.

मैं क्या बताऊं आपको मेरा लंड, जो सिर्फ 6 इंच का था और हस्तमैथुन के समय भी वो उतना ही रहता था, उस दिन मानो 7 से 8 इंच का लग रहा था.

इस वक्त अजीब मस्त नजारा था, एक लंड मां की चूत में घुसा था और एक गांड में कबड्डी खेल रहा था. माँ- और फर्स्ट??मैं- माय माँ…माँ- रियली??मैं- यप, क्या कुछ ग़लत है इसमें?माँ- ग़लत नहीं है… अगर वे तुमको बिस्तर में पसंद करती हैं तो इसमें क्या गलत है. पूरा फुल सेक्सी वीडियोऔर मेरी कामुक बीवी ने कैंडल लाइट जला दी, कमरे का लाइट बंद कर दी; कमरे में अब रोशनी कम हो गई थी.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:बस में मिली लड़की ने दिलाया ज़न्नत का मजा-3. मैंने एक नज़र उनको देखा और फ़िर दीवार के पास पड़ी कैंची उठा कर रस्सी के चार टुकड़े करके बेड के नीचे रखे और भाभी को उठा के सीधा लेटा दिया. अभी भी प्रिया के दोनों पैर उसके नितम्बों के पास थे और दोनों टांगों के घुटने हवा में खड़े थे.

उसने कुछ मिनट ही लंड को अन्दर बाहर किया होगा कि बहुत तेजी से बाहर निकाल लिया क्योंकि उसने कंडोम नहीं लगाया था. मगर जैसे ही उसे मैंने देखा तो मेरी शर्म से आँखें झुक गईं, क्योंकि वो मेरी ही कंपनी का एम डी था.

उसके बाद परीक्षित मेरी चूत को चाटने लगे, जो मेरी चूत से रस निकल रहा था, इन्होंने उसे भी चाट लिया.

मैंने मैडम से बोला कि आज मेरे जन्मदिन के अवसर पर 2 पैग वोडका के ले लेते हैं. वे एक आंटी हैं, आंटी का नाम मीना है, मैं उन्हें मीना आंटी कह कर बुलाता हूँ. अगली सेक्स स्टोरी बहुत ही जल्द बताऊंगी क्योंकि वो नए वाचमैन को मेरे बारे में बता गया था.

मिथिला सेक्सी मामी जी भी मेरा साथ देने लग गई थीं। धीरे धीरे मेरा हाथ मामी जी के स्तनों पर जा पहुंचा, मैं ब्लाहुज के उपर से ही स्तनों को सहलाने लगा. न केवल मेरा शरीर बलिष्ठ है बल्कि मेरा लंड भी पूरे 8 इंच लंबाई का है और मोटा भी किसी लड़की की कलाई जितना है.

करेले की पूंछ पीछे लटक रही थी… ऐसा लग रहा था जैसे कोई मोटा चूहा दीदी की चुत में घुस रहा हो, जिसकी पूंछ बाहर लटक रही हो और दीदी अपने बालों को नोंच कर चिल्ला चिल्ला कर चूहे को अन्दर घुसने दे रही हैं. भाभी ने मेरे कपड़े मेरे शरीर से एकदम अलग कर दिए और मैंने भी भाभी का गॉउन उतार फेंका. जिस पिछवाड़े को ठोकने की बात ये आदमी कह रहा है उसे मैं अभी तक फिजूल की बात समझ कर नजरअंदाज करती रही और आज यही फिजूल की बात मुझे कर्ज से मुक्ति दिलाने में सहायक हो रही है। मैं मन ही मन राजी होने लगी और खुश भी हो रही थी।दिखावे के लिए पहले तो मैं एकदम से डर गई, मैंने ऐसे मुँह बनाया कि मुझे कुछ भी समझ में ही नहीं आ रहा हो.

बीएफ फिल्म भेजो वीडियो

मेरी इस भाषा को सुनकर बिंदु नॉर्मल हो गई और उसके हाव भाव से लगता था कि अन्दर से वो खुश है क्योंकि वो समझती थी कि शायद मैं पापा को कुछ ना बता दूं. कुछ दिनों के बाद मेरा ट्रान्स्फर ऑर्डर आया तो मैंने वो कम्पनी छोड़ दी क्योंकि मैं पुणे को छोड़ के कहीं बाहर जाना नहीं चाहता था. लेकिन नहीं हुआ और यही कारण था उसकी गर्लफ्रेंड के छोड़कर जाने का, जो मुझे समझ में आया.

उसने मेरा लंड अपनी ब्रा से साफ़ किया और थोड़ी देर चूस कर मुझे गले लगा लिया. ”अर्पिता- फिर?फिर क्या… धीरे धीरे उसकी जीन्स में हाथ डाला और वो भी मेरी जांघों से होती हुई मेरी जीन्स पर हाथ पहुँचा चुकी थी इस तरह से!” इतना बोल कर मैंने अर्पिता का हाथ अपने लंड पर रख दिया जो पहले से ही सलामी दे रहा था.

इतने नजदीक शहर में रहने के बावजूद इससे पहले मैं अपनी चाची से सिर्फ एक बार मिला था, लेकिन तब मैं बहुत छोटा था और मुझे तब कुछ भी सही से मालूम नहीं था.

पहले ये तो मालूम चले?मैंने कहा- मैडम, अपनी प्रोफाइल 101% रियल है, पर आपका तो पता नहीं है. उसने विक्रम से बोला कि डार्लिंग इसको इसके घर पर छोड़ना है, अपने ड्राइवर से बोलो कि छोड़ कर आए. मैं उसके पैरों के बीच जा कर पैंटी के ऊपर से उसकी चुत में उंगली करने लगा.

मैं बहुत तेज गिरा था जिससे मेरे चूतड़ों में काफी दर्द होने लगा और मैं बहुत जोर से चिल्ला भी दिया, जिसको सुनकर चाची भी जाग गईं. मैंने भी मौका देखते हुए कहा- अरे भाभी जी, जो मजा आप में है, वो इन सब से नहीं मिल सकता!और हँसने लगा. जब मैं एक बार और झड़ी, तब मैंने परीक्षित और चिंटू दोनों से उनके रस को बाहर निकालने के लिए बोली, पर उन्होंने ध्यान नहीं दिया और बिना लंड को मेरी चूत और गांड से बाहर निकाले, मुझे बेड पर ले गए.

”रोशनी ने उसका इंग्लिश में नाम पढ़ा, पर वहां चूत की फ़ोटो पर दो नाम थे, पहले तीर के निशान पे क्लिट्स लिखा था और दूसरे तीर पर वेजिना लिखा था.

एक्स एन एक्स हिंदी बीएफ: भाभी जी मस्त आवाज़ निकाल रही थीं और बोल रही थीं- बना ले आज अपनी भाभी को अपनी रांड. हमारी हर रात हसीन रही और पूरी मस्ती के साथ हर तरीके से चुदाई करी।मेरी फ्री सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करें-[emailprotected].

अब मैंने उनकी चिल्लपों को नजरअंदाज किया और जोर जोर से धक्के मारने लगा. शायद उनका इस तरह से पहली बार था पर साला मेरे मुँह से भी आवाज़ निकल गई, दर्द मुझे भी हुआ. उसने लंड निशाने पर रख कर एक झटका दे मारा और आधा लंड मेरी बुर में चला गया.

अगले दिन मेरी भानजी दिव्या बहुत खुश दिख रही थी और मेरे साथ हंस हंस कर बातें कर रही थी और मौक़ा मिलने पर कामुकता भरी शरारतें भी कर रही थी.

इसलिए मैं भी यह बोल कर कि डेविड तुम फिल्म देखो, मैं चेंज करके आती हूँ. वो साली गांड को क्या हाथ लगाने देगी, तभी तो अपनी सारी इच्छाओं को तुझसे पूरा करता हूँ भैन की लौड़ी छिनाल ले. नताशा खड़ी हो गई और दोनों लड़कों के पैरों के बीच के स्थान में आकर झुक गई, दाहिने हाथ से दोनों आपस में जुड़े हुए, आसमान में सीना ताने खड़े लंडों को पकड़ कर अपनी चूत के मुंह से लगा दिया.