बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी में ब्लू फिल्म वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

বাংলা বিএফ এইচডি: बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ, उसके होश उड़ गए। उसने सोचा था कि आज की रात चुत मिलेगी मगर मोना तो पलटी मार गई।सुधीर- सॉरी सॉरी व्व.

मारवाड़ी बीएफ सेक्सी पिक्चर

वो हंसते हुए बोलीं- ओके तुम आ जाओ, मैं तुम्हें राजीव चौक मेट्रो स्टेशन से पिक कर लूँगी. xxc सेक्समेरा लंड रॉड की तरह सख्त हो चुका था और दर्द भी करने लगा था, पर उस समय मेरे पास चुपचाप लेटे रहने के सिवाए और कोई रास्ता नहीं था.

मैंने कहा- मगर तुमने अभी थोड़ी देर पहले कहा कि तुम 10 साल से ये काम कर रही हो. सेक्सी वीडियो मूवी चुदाईमैं लंड को बाहर खींच कर फिर जोर से एक ही बार में जड़ तक पेल दिया, उसकी रस से भरी पनियाई हुई चूत ने मेरे लंड को अपने गर्म आगोश में ले लिया.

ऐसा हो सकता है क्या?सुमन- अच्छा ये बात है… तो चलो ये काम को करो साइड में और मुझे पहले की तरह अपनी गोद में बिठा कर मेरी मालिश करो.बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ: मेरी हमेशा से तमन्ना थी कि कोई पुरुष मेरी चूत भी चाटे!’ वो बोली और उसने अपनी चूत ऊपर उठा दी.

शाम के 8 बजे थे तो दीदी ने खाना लगाया और खाना खाकर हम दोनों टीवी देखने लगे.एक बार मेरी वही सलहज गर्मी की छुट्टी में अपने दो साल के बच्चे के साथ हमारे यहाँ आईं.

वीडियो एचडी बीएफ हिंदी - बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ

ऐसे ही शादी का दिन आ गया, हम सब नाचते हुए मंडप में पहुँचे तो दूल्हे के स्वागत के लिए दुल्हन की पूरी फॅमिली बाहर खड़ी थी जिसमें दुल्हन की सिस्टर भी थी जो बहुत प्यारी लग रही थी.मैंने कहा- ढीली कर!फिर करीब तीस मिनट में हम दोनों निपट गए। दोनों यूं ही खटिया पर सुबह तक लेटे रह.

अब तक की इस हिंदी सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि संजय ने पूजा की चुदाई के बाद उसको चलने में दिक्कत को लेकर समझा दिया था कि कह देना कि स्कूल में गिर गई थी. बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ मैंने देर न करते हुए उन्हें चूसना शुरू कर दिया और दबाना मसलना शुरू कर दिया.

अब मैंने अपने दोनों हाथों को सुलेखा के चूतड़ों के नीचे किया और सुलेखा की गांड को बाहर को खोल दिया और मनोज मेरा इशारा पाकर उसकी गांड के करीब आया, उसने अपना लंड धीरे से सुलेखा की गांड पर रख दिया और मैंने सुलेखा को पीछे कर दिया.

बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ?

पर ऐसा नहीं हुआ, मामा जी धीरे धीरे अपनी उंगलियाँ मेरी गांड के छेद की ओर बढ़ाने लगे, मैंने अपनी शॉर्ट्स के ऊपर से ही मामा का हाथ पकड़ लिया और मना करने लगी कुछ भी करने के लिए, मैं बोली- अभी नहीं, ये सब रात में खाना खाने के बाद कीजिएगा. और अब मैं उससे अपने आप को छुड़वाने लगा, बोला- यार नहीं जायेगा गांड में… तुम बात तो मानो मेरी. बस अब चोद दो मुझे अच्छे से।उसके बाद भाभी ने अपनी गांड उठाई और मेरे लंड पर उछलना शुरू कर दिया।भाभी- आआहह आआआआह ह्म्म्म्म.

‘सस्स्सीईई, इसस्स्स, बहुत अच्छे बेटे, बहुत खूब ऐसे ही, ओह सीए… ओह तुझको मादरचोद बना दूँगी आज, हाय मेरे राजा, अब मेरी चूत को चाटना बंद कर दो साले, चाटते ही रहोगे या फिर अपना लौड़ा भी अपनी माँ को दिखाओगे, हरामी, हाय अपनी बहन को चोदने वाले दुष्ट पापी लड़के… अब अपनी माँ को चोद दे, चूत के होंठों को फैला और उनमें अपना मादरचोद लंड जल्दी से पेल. मैंने उसे हेल्प करने को कहा तो वह बाथरूम से एक ऑयली क्रीम ले कर आई और उसकी चूत पर अपनी उंगलियों से लगा दी, फिर कुछ मेरे लौड़े पर मसल दी और बोली- अब इसे जम कर चोदो, और प्रेग्नेंट कर दो. मैं भाभी के नितंब और स्तन ऐसे मसल रहा था, जैसे मेरी उन्हें उखाड़ लेने की मंशा हो.

फिर जुलाई में उसका बर्थ-डे था, तो मैंने उसको गिफ्ट करने के लिए एक ड्रेस खरीद ली. राहुल ने उसे खड़े खड़े हवा में उठा कर अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया था और राजीव ने पीछे से अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया था वो भी मेरी तरह उन दोनों के बीच में सैंडविच बन चुकी थी और बात यह थी कि हम दोनों ही बेबस थी. बाल बनाए और टीवी देखने लगे।मैंने उससे ‘आई लव यू’ कहा और उसने भी ‘आई लव यू टू’ कहा। मैंने उसको एक दवाई दी ताकि वो प्रेग्नेंट ना हो और कहा- इसे पानी के साथ पी लो।उसने दवाई खा ली, तभी बेल बजी और मेरी माँ और उसकी माँ डॉक्टर के यहाँ से लौट आई थीं।उसके बाद उसने होमवर्क किया.

ये सब मेरे लिए है?हेमा- हाँ सुमन सब तेरा है, यकीन नहीं तो अपने पापा से पूछ लो।सुमन भागती हुई अपने पापा के पास गई। उससे पूछा भी नहीं गया वो बस बोलने की कोशिश कर रही थी, मगर अल्फ़ाज़ है कि निकलने का नाम ही नहीं ले रहे थे।सुमन- पापा ये सब एम्म मेरे व्व. मुझसे ग़लती हो गई, अब मैं कभी ऐसा नहीं करूँगी।सुमन के चेहरे की खुशी देख कर गुलशन जी भी बहुत खुश थे।गुलशन- अच्छा ठीक है अब तुम भी आराम कर लो बेटा.

किसी भी मर्द की आदत होती है कि बूब्स छोटे हों या बड़े पर अगर औरत सामने नंगी लेटी हो तो मर्द उन्हें छोड़ता नहीं है और मसलता और चूसता ही है.

अब मेरा उनके परिवार से पारिवारिक सम्बन्ध हो गया है, मैं जब भी मुंबई जाता हूँ, उनके वहाँ रुकता हूँ, और कोई ना कोई बहाने से उसकी माँ जरूर चोदता हूँ.

तभी जॉन ने लंड की टोपी बुर में फँसा दी और एक झटके में फ्लॉरा पे झुक गया. फिर मैंने एक हाथ से उनकी टांगें चौड़ी की, जो उन्होंने पूरी ताकत से चिपकाई हुई थीं. वहाँ पहुँचते ही भैया भाभी बहुत खुश हुए और दोनों ने मेरी बहुत अच्छी खातिर की.

उसके वो शब्द कि ‘अभी तो तू मेरा लंड बड़े मजे से चूस रहा था और अब कह रहा है कि तू रवि के अलावा किसी के बारे में सोचता भी नहीं…’मैं सोचने पर मजबूर था कि क्या मैं रवि से सच में प्यार करता हूँ या यह सिर्फ उसके मजबूत सेक्सी जिस्म और उसके लंड की तरफ मेरा आकर्षण ही है. तभी मैंने संजना का हाथ पकड़ कर पैन्ट के ऊपर से अपने लंड पर रखा तो उसने वापस खींचने की कोशिश की, लेकिन मैंने फिर से लंड पर रख कर दबा दिया. मुझे ये था कि अगर अभी ज़्यादा छू कर देख लिया, तो कमरे में जाकर सेक्स करने का मज़ा खत्म हो जाएगा.

उसके बाद मैंने उसे पूछा- क्या अब भी दर्द महसूस हो रहा है?तो वो बोली- अब ज्यादा नहीं है.

‘हाय कितना बड़ा है तुम्हारा! मेरे मुंह में तो पूरा घुस भी नहीं रहा… आआआआ…’ मेरे लंड को एक हाथ से सहलाते हुए नताशा बोले बिना न रह सकी क्योंकि सचमुच एंड्रयू के लंड की लम्बाई किसी ट्रेन जितनी थी… कम से कम मेरे और स्वान के लंड से तो काफी ज्यादा!‘सक आल्सो हस्बैंड!’ एंड्रयू ने आदेश दिया. गुलशन जी बहुत देर तक मिन्नतें करते रहे मगर हेमा नहीं मानी और आख़िर हार कर गुलशन जी सो गए मगर बाहर खड़ी सुमन के दिमाग़ में एक तूफान छोड़ गए. बाहर आकर सोनू कहने लगी- मम्मी! आज तो मामा जी भी नहीं हैं हमें रात को डर लगेगा.

मैंने हेल्पर नितिन से पूछा- छोटू, मेरे वाले कैमरा की बैटरी कहाँ पे है?तो वो बोला- भैया, बैग में आपके कैमरा की दोनों बैटरीज हैं. तभी एकदम से मेरी नज़र दरवाज़े की तरफ गई, मैंने रानी की एक झलक देखी. वो छत के ऊपर वाले अँधेरे कमरे में अदिति के साथ पहली चुदाई जिसमें उसे नहीं पता था कि वो अपने ससुर से चुदवा रही है, फिर बाद की चुदाई के नज़ारे मेरे दिमाग में से गुजरने लगे.

उसकी चूत काफी चिकनी थी, उसकी चूत ही नहीं, उसका पूरा जिस्म काफी चिकना था.

मगर जब अपने पापा का लंड उसने सीधे चुत पे महसूस किया तो उसकी जान निकल गई. सुमन ने थोड़ी देर सोचा कि पापा सही कह रहे हैं और पापा से चुदवाने में एक फायदा और भी है.

बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ नीतू- हाँ दीदी बोलो, क्या हुआ, जीजू को मेरा पैर दबाना अच्छा लगा क्या?मोना- हाँ अच्छा लगा मगर वो थोड़े नाराज़ भी हैं. भाभी चिल्लाईं- सुअर की औलाद… भोसड़ी के मेरे मुँह में गिरा ना…मैं माल गिरा कर वापस आया और उनकी साड़ी उतार कर उनको पूरा नंगी कर दिया.

बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ हमारे घर में जॉइंट फैमिली के कारण सभी कमरों में हम लोग बिना बेझिझक चले जाते थे. मैंने हल्के से उसके चेहरे पर हाथ रखा और चुचियों से होता हुआ उसकी चूत तक ले गया.

मेरा तो लंड मानो फट रहा था भाई भाभी की हॉट बातें सुन कर!फिर भैया भाभी से बोले- शरमा मत, मुझे पता है कि नया लंड सबको अच्छा लगता है, रुक, मैं कुछ करता हूँ तेरे लिए.

मां बेटा चुदाई कहानी

मगर उसे तो कोई परवाह ही नहीं थी, उसने मुझे झट से घुमाया, मैंने दीवार का सहारा लिया और अपनी गांड बाहर निकाल ली. थोड़ी देर में मैं कमरे के अन्दर आई और आइने के सामने खड़ी हो गई और अपने मम्मों को देखा. तो आजा मेरी जान तेरे लिए तो लंड हमेशा तैयार है।पूजा- मामू आज हम कुछ नया करेंगे।संजय- अच्छा ये बात है.

भाभी की जुबान का मेरे लंड के सुपारे पर फिरना क्या हुआ, मेरे मुँह से एक मीठी सी आह निकल गई. मगर अंकल ने हमें संभाल लिया और मेरी माँ को उन्होंने व्यापार का काम समझा दिया ताकि पापा की जगह वो बिजनेस चला सकें. मैं उनके पैरों की तरफ जाके बैठ गया और मेरा हाथ मैंने अपनी पैंन्ट के अन्दर डाल कर लंड सहलाने लगा.

देखा तो कई सारे कपल्स वहाँ मौजूद थे और ड्रिंक्स के साथ मजे कर रहे थे.

क्यों मेरी जिंदगी बर्बाद की आपने?गुलशन- वो नाटक तेरी माँ को दिखाने के लिए था ताकि उसको शक ना हो मगर मैं करता भी क्या? तुम्हारी माँ शुरू से ऐसी ही थी. अन्तर्वासना के पाठकों को रिशू का कामुकता से भरा नमस्कार, मैं सभी पाठकों को धन्यवाद देती हूँ जिन्होंने मेरी पहली कहानीसेक्सी कहानी मेरी चुत की पहली अधूरी चुदाई कीको पढ़ा और बहुत ही चुदास से भरी ईमेल भी कीं. यह दो महीने पहले की बात है, जब कॉलेज की छुट्टियाँ थीं, तब मेरे घर के पास एक फैमिली ने मकान खरीदा था.

हम सब 4 दोस्त थे, मगर 4 में तीन ऐसे थे जो नौकरी पेशा थे, शाम को घंटा दो घंटा तो चल जाता मगर अगर सारी रात बाहर बितानी हो तो फिर घर में भी कुछ ऐसा सॉलिड बहाना होना चाहिए कि हम भी रात घर से बाहर गुज़ार लें और बीवी को शक भी न हो. फिर मैं सब कुछ छोड़ कर नीचे लेट गयी और अपनी जाँघें फैला कर अपनी चूत खोल दी. कैसी बातें करूँ, जिससे तुम्हें मज़ा आए।मोना- बातें तो होती रहेंगी, पहले ये बताओ तुम्हें चूसना पसंद है क्या?सुधीर- ओह क्या.

फिर उसने पैंटी को देखा, वो पैंटी एक थोंग पैंटी थी, जो कि सिर्फ चुत को ही छुपा सकती थी. परीक्षा के दौरान उसने मुझे बहुत हेल्प की, जिससे मैं पास हो गया और वह दोबारा फेल हो गई थी.

अब मेरी साली बोली- सिर्फ होंठ ही चूसोगे कि दूध भी पीओगे?तो मैंने कहा- क्या बात है. उसने बहुत ही अच्छे से मेरा अभिवादन किया और चाय देने के बाद अपना सामान व बिल लेने के बाद वापिस अपने कमरे में चली गई. फ्लॉरा- चलो टीना, शुरू हो जाओ और बताओ इसको कि कैसे तुमने लंड लिया था.

वो जल्दी से भाग कर अपने कमरे के बाथरूम में चली गई और अपने कपड़े निकाल दिए.

गुलशन जी सुमन के कमरे में आकर बेड पर पालथी मारकर बैठ गए और सुमन उनकी जाँघ पर सर रख कर लेट गयी. ‘फिर?’फिर तुमने पूछा कि क्या मुझे ऊपर चढ़ कर चुदाई करवाना बहुत पसंद है. सविता जब भी ऊपर होती तो उसके निप्पल खिंच जाते और मीठा सा दर्द होता उसे!थोड़ी देर बाद सविता ने पानी छोड़ दिया, मेरा भी निकलने वाला था, मैंने उसे नीचे लिटा कर उसकी चूत में जोर जोर से धक्के मारते हुए अपना माल छोड़ दिया.

अब बचे मॉन्टी और राजीव, उन दोनों ने मेरे दोनों हाथों लंड पकड़ा दिया और आगे पीछे करने को बोला. इसके बाद फोन रख कर फिर से आराम आराम से मेरी गांड में लंड को अन्दर-बाहर करने लगा.

मैं उसके बगल में खड़ा हुआ उसके लंड को जीन्स के ऊपर से ही सहला रहा था और उसे काफी मजा आ रहा था. उसको विरोध ना करता देख मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैं फिर एक बार बात करने के बहाने सरिता की कमर को पकड़ कर दुकान वाले की तरफ झुक कर बात करने लगा. मेरा आधा लंड उसकी चुत की फांकों को चीरता हुआ उसकी चुत में गहराई में घुस गया.

लक्ष्मी का सेक्सी वीडियो

इनकी एक साथी टीना को भूल गए, आप सोच रहे होंगे इसने भी मज़े किए थे, ये कैसे बच गई.

‘और ऊपर से हम भी तो हैं आपकी मदद के लिए हर वक़्त तैयार, अपना हथियार हाथ में लिए हुए… आप जब चाहें हमें अपनी खातिरदारी के लिए बुला सकती हैं, आपको पेल कर हमें कितनी ख़ुशी मिलेंगी हम आपको बता नहीं सकते. आपसे उम्मीद है इसलिए आज मैंने सिर्फ आपके लिए अपनी चूत को आज पहली बार क्लीन शेव्ड किया है; यह मेरा उपहार है आपके लिए इसे स्वीकार करो!’ रानी कातर स्वर में बोली और उसकी आँखें नम हो गईं. गुलशन जी ने अपना हाथ वापस हटा लिया, शायद वो डर रहे थे और सुमन को लगा कि अब शायद वो चले जाएँगे.

संजना के मुँह से बार बार आह निकल रही थी ‘आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… जानू आई लव यू आहह. गोरी इतनी कि चांद भी फीका लगे, आंखों में नशा इतना कि मदिरा का नशा बेकार लगे. बीएफ बीएफ चुदाई वाली बीएफहम पांच दोस्त हैं, हम सबका दिल आ गया दोनों पे! तुम दोनों बहुत सेक्सी हो यार!रिया और मुझे अच्छा खासा झटका लगा.

उसमें धीरे-धीरे तनाव आने लगा क्योंकि लंड और गांड के बीच बस गुलशन जी की लुंगी और सुमन का पतला पजामा ही था. मैं वहीं खड़े होकर सब देख रहा था, तभी रजनी ने वहीं खिड़की की तरफ करवट ली.

उसका लंड पूरा अंदर तक गया तो मैंने अपना बदन ढीला छोड़ दिया, दूसरे हाथ से मनीष को लंडसे खींचकर अपने करीब लेकर उसका लंड मुँह में दाल लिया. ’मैंने सविता के मम्मों को मसलना शुरू किया साथ ही मैं उसकी नाईटी के ऊपर से ही उसकी जांघें सहला रहा था- जानू, मुझे बच्चे की तरह दूध पिलाओ न!’‘अच्छा तुम क्या मेरे बच्चे हो?’‘तो क्या हुआ ऐसे ही समझ कर दूध पिला दो ना. मैंने तुरंत हाँ कर दी और कहा- मैं पिछले फ्लैट में 7000 रूपये में पेइंग गेस्ट के रूप में रह रहा हूँ, वही आपको दे दूँगा.

मगर राहुल मुस्करा रहा था तो मैं समझ गया कि ये इनका पहले से ही प्लान था. फिर मैंने उसे बाहों में बांध के करवट ली और वो मेरे ऊपर आ गई और अपना मुंह खोल दिया इस तरह उसका मुखरस मेरे मुंह में अमृत की बूंदों की तरह गिरने लगा और फिर हमारे होंठ फिर से जुड़ गए. दूध से सफ़ेद दूध लाइट ब्राउन निपल्स के साथ एकदम तने हुए थे और बिल्कुल सख़्त हो गए थे.

वो बात जाने दो उसके बाद होश संभालने के बाद भी तो कुछ किया होगा?फ्लॉरा- हाँ यार, पहले तो पता नहीं था मगर बाद में तो तुम जानती ही हो मज़ा आने लगता है।टीना- हाँ यार, ऐसा मज़ा आता है कि सब मज़े उसके सामने फीके होते हैं।फ्लॉरा- मज़ा तो मैंने भी बहुत किया मगर एक साल से ये सब बंद हो गया।टीना- क्यों यार क्या हुआ कि पूरा एक साल निकाल दिया.

हम बैठ कर बातें कर रहे थे इतने मेंराज की बीवी कामिनी पास आकर खड़ी हो गई और खाना परोसने लगी. वो मैं भी करना चाहती हूँ, लेकिन आज मैं नहीं कर सकती, मेरे पीरियड चल रहे हैं.

बैंक के आस-पास हो तो मुझे भी छोड़ दो।तो वो बताने लगी कि बैंक में उसका काम 5 बजे ही खत्म हो जाता है. फिर दीपक ने मुझे अपने घर पर जो मेरे होटल से थोड़ी सी ही दूर था, खाने पर बुलाया. जब मेरा वीर्य बिल्कुल निकलने ही वाला था तो मैंने जबरदस्ती भाभी के मुंह से लंड खींच कर निकाला.

उसके बाद मैंने भी उनकी चुदाई चालू कर दी। मैं कभी जोर से झटका मारता था कभी धीरे से!जब जोर से झटका मारता था तो पूरा लंड अंदर तक डाल देता था। उनकी जोर से आआआ आआहह हहह … निकल जाती थी और वे भी मुझे अपने अंदर और समा लेना चाहती थी।इतना तो जाहिर था कि वे भी कई बार चुद चुकी होंगी और मैं उसकी चुदाई कर रहा था. आख़िर उन्होंने चन्दन के बाल पकड़ कर सिर हटा दिया और बोलीं- मुझे बहुत गुदगुदी हो रही है जमाई राजा. काफी देर से लंड खड़ा होने की वजह से जल्दी ही मेरे लंड ने लावा उगल दिया.

बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ इस पर माँ का पेट काम्प रहा था और माँ के मुँह से अआहीई इईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊउउऊ ईईई ईईई की आवाज निकल रही थी. मेरी चूत में तो पहले से ही दो लड़के का वीर्य था, उसने वैसा ही किया, लंड निकल कर मेरी चूत में घुसा दिया और चोदने लगा और 5-7 मिनट बाद मेरी चूत में वीर्य की बाढ़ आ गयी, वीर्य निकल रहा था और वो मुझे गालियों के साथ चोदे जा रहा था, उसने अपने लंड की एक एक बूंद वीर्य मेरी चुत में समाहित कर दिया और मेरे ऊपर ही निढाल होकर सो गया.

हिदी सेकस

उसने अचानक ही मेरे बाल पकड़े और मेरा मुँह उसके लंबे ताजे लंड पर दबा दिया जिससे उसका लंड मेरे कलेजे तक पहुँच गया. अब दोनों ही ज़्यादा उत्तेजित हो गए थे, सुमन की चुत रिसने लगी थी, अब ज़्यादा देर बैठना ख़तरे से खाली नहीं था और यही हाल गुलशन जी का था. संगीता ने भी चन्दन अपने बगल में लेटते देखा तू वो चन्दन को अपने पास आने को कहने लगी.

गहरे काही कलर की कॉटन की साड़ी और मैचिंग ब्लाउज में उसका सौन्दर्य खिल उठा था. ‘अब कैसे बतायें बहुरिया, ऊ जो पंडित रामफल है न? ऊ बताई रहे थे कि बैल का बिज़नस में है न संकट मंडरा रहा है, उसके लिए उपाय करने के लिए बोले हैं. माझ्या सेक्सआप तो जल्दी से इसे चिकनी कर दो फिर मैं नहाने जाऊं!”मैंने भी और कुछ करना उचित नहीं समझा और बहूरानी की चूत पर शेविंगक्रीम लगा कर ब्रश से झाग बनाने लगा.

पीछे से ऋतु ने बिना कोई वक़्त गवाएं झुक कर अपना चेहरा उसकी काली चूत पर टिका दिया और चूसने लगी.

चाचा मेरे पापा से 10 साल छोटे हैं तो वो अभी काफ़ी यंग दिखते हैं और उनकी वाइफ भी काफ़ी सुंदर और यंग हैं. आज मानसी की चूत की धज्जियाँ उड़ने वाली थी और मेरे लंड की वो दावत होने वाली थी जो इसकी कभी ना हुई थी और ना कभी ज़िन्दगी में दोबारा होनी थी.

‘और क्या क्या किया भाबी जी?’ तिवारी फुल मूड में था शायद उसकी नज़र अनीता की नाईटी पर घूम रही थी, मानो के वो आँखों से ही अनीता भाबी को चोद लेना चाहता हो. मगर मुँह छोटा होता है, मेरा पूरा लंड उसके मुँह में अंदर नहीं जा पा रहा था, शायद उसको सांस लेने भी तकलीफ हो रही थी. मगर दीदी इन्होंने कपड़े क्यों निकाले हुए थे?टीना- वो इलाज ऐसे ही होता है, अब तू सवाल करना बंद कर.

उसके पति नॉर्वे में सर्विस करते हैं और साल में 8-10 दिन के लिए आते हैं.

अब हम दोनों रोज रात मैं घण्टों बात करने लगे, मैं उससे बहुत प्यार करने लगा बहुत ज्यादा. मगर जब अपने पापा का लंड उसने सीधे चुत पे महसूस किया तो उसकी जान निकल गई. इसके बाद नाश्ता आदि करने के बाद मामा ने ऑफिस के लिए निकलते हुए कहा- रोहित का ख्याल रखना, वो अभी एक महीने के लिए हमारे घर पर ही है.

कनाडा एक्स एक्स एक्समेरी इकलौती बेटी की शादी और विदाई हो चुकी थी, घर मेहमानों से भरा हुआ था. मेरी आँखों में शरारत थी!यही कहानी लड़की की मधुर आवाज में सुनें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है.

सेकसीबिडीयो

मेरे हाथ अपने आप उसकी छाती पर जा चिपके और मेरी उंगलियाँ उसके निप्पल को सहलाने लगी. मुझे पहले मॉम ने कहा था कि मैं अपनी फ्रेंड के साथ रुक जाऊं, पर मैंने मना कर दिया कि उसके घर पे मेरी पढ़ाई नहीं हो पाएगी. कविता के मम्मे उसने जोर से दबा कर अपने मुख में ले लिए और अपने एक हाथ से उसकी चूत को मसलने लगी.

चाची- मेरी बच्चेदानी भर दी… उईई ईई!फिर उसने मुझे बोली- साला, कितना निकाल रहा है कण्ट्रोल कर!मैंने चाची के कान में कहा- नहीं होता… ईई?वो मुस्कुराने लगी. सुमन भाभी की चुत का रस मेरे पूरे मुँह में भर गया और मैं उनका रस चाट गया. फिर मैंने अपना हाथ उसकी ब्रा में डाल दिया और उसके निप्पल को दबाने लगा.

मैंने तेरी माँ को जब सहारा दिया, जब उसके पास कोई चारा नहीं था और तुझे अच्छे स्कूल में पढ़ाया. जब मेरा वीर्य निकला तो वो सारा ऐसे पी गई जैसे बच्चा दूध पीता है, वो कुतिया आखिरी बूंद भी निचोड़ कर ले गई मेरे लंड से!‘तुम दोनों अब अपनी जगह बदल लो!’ मैंने सन्नी और विकास को कहा. नीचे गिरे हुए वीर्य को भी भाभी ने अपनी उंगली पर लगाया और अपनी उंगली को चाटने लगी.

फिर कुछ दिन बाद उनसे पता चला कि वो किसी कारण से जालंधर अपनी ससुराल आ रही हैं. रात को सबीना यहीं हमारे साथ ही रुक गई और रात को दो बार सबीना एक बार जमीला को चोदा और जमीला, सबीना और रफीक की एक एक बार गांड मारी.

मेरे साथियो, आप मेरी इस बहन की चुदाई की सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें.

थोड़ी देर तक हल्की हल्की किस के बाद उसने मेरा लेफ्ट चूचा पूरा का पूरा अपने मुँह में ले लिया और चूस लिया. सेक्सी एक्स एक्स हिंदीमैंने उनके मम्में चूसने के बाद उनके पेट को चूमते हुए उनकी नाभि को किस किया. नहाती हुई औरत की वीडियोचन्दन ने अपनी सास के एक स्तन का सारा रस पीने के बाद दूसरे स्तन को अपने मुँह में ले लिया और उसे भी चूसने लगा. ऐसे जैसे मुझे बार बार बुला रही है- आओ साड़ी उठा कर चोद दो मुझे यहीं पटक कर!उसकी साड़ी नाभि से बहुत नीचे बंधी थी तो उसके ब्लाउज से लेकर उसकी नाभि का हिस्सा बिल्कुल नंगा था, एकदम दूध से गोरा मन कर रहा था अभी उसे पकड़ कर चूमने लगूँ.

उसने मुझे अपने बाहुपाश में पूरी ताकत से जकड़ लिया साथ में अपनी टाँगें मेरी कमर में लपेट के किसी आक्टोपस की तरह मुझे अपनी गिरफ्त में ले लिया.

उसने देखा उसके बॉस का फोन था, उसको एक मीटिंग के लिए तुरंत बुलाया था. तभी मैंने सोचा ऑफिस वाले इससे मल्लिका कहते हैं, पर ये तो हॉटनैस में मल्लिका को भी पीछे छोड़ रही थी. और ये क्या मरने की रट लगा रखी है?फ्लॉरा- मेरे स्कूल की एक लड़की को ऐसे रिएक्शन हो गया था और वो मर गई थी.

आधे मिनट के किस में उसने तो मेरा सारा बदन नाप दिया।फिर हमें अकेले छोड़ वो चले गए. वो बोली- तुझे क्या मालूम कि मर्द के वीर्य में क्या क्या प्रोटीन और विटामिन रहते हैं. भाभी ने अपना पल्लू ठीक किया और कुछ शर्माते हुए धीरे से बोली- सॉरी!मैंने भाभी से कहा- एक बार मैं भैया को देख आऊं, आप जागती रहना.

मिया khlifa

मैंने उसे अपनी तरफ खींचते हुए अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और चूमने लगा. माँ मेरे मन की बात समझ गईं और फिर से माँ नीचे लेट गई और मैं उनके ऊपर चढ़ कर लंड को चूत के मुँह पर रख कर जोर से पूरा पेल दिया, पूरा लंड माँ के चूत में चला गया. दूसरे दिन घर पे हल्दी उतारने की रस्म होती है जो दुल्हन के मायके में होती है, उस दिन दूल्हा दुल्हन वहाँ गये, मुझे मंडप में काम होने की वजह से मैं नहीं गया.

वो मुस्कुरा कर धन्यवाद देते हुए चली गई और जाते-जाते उन्होंने मुझे फोन करने का भी बोला.

वो मुझसे छूटने की भरपूर कोशिश में थी, पर मैंने नहीं छोड़ा, मैं लंड को मूसल की तरह बुर में ठोके हुए ऐसे ही लेटा रहा.

टीना- देख इसके लिए हमको कोई ऐसी लड़की ढूँढनी होगी जो तेरे पापा के साथ सेक्स करने को मान जाए. यह सोच कर जैसे ही सरिता उठने को हुई तो पैर फिसल गया और गिरने को हुई तो रमेश पकड़ लिया. क्ष वीडियोस हिंदीअब तक की इस जवानी की कहानी में आपने पढ़ा कि सुमन और टीना दोनों कल रात संजय के लंड की गई मस्ती की बातें करते हुए मजा ले रही थीं.

हमारे बॉस का एक दूसरा होटल भी था, तो दो दिन बाद वहाँ मीनल के ऑफिस की मीटिंग थी. फ्लॉरा- मेरे बिल में बहुत गर्मी है, अंकल आपका अजगर उस गर्मी को सह पाएगा क्या? कहीं अन्दर जाते ही पिघल ना जाए, फिर तो मेरी तड़प और ज़्यादा बढ़ जाएगी. अब बता तूने आज करने को क्या सोच रखा है?पूजा- मामू बिस्तर पर तो रोज ही करते हैं.

मैंने साइड पे देखा तो अरमान ने रुचिका की चूत को अपने मुंह में लिया हुआ था, उसे चूस रहा था और रुचिका उसके नीचे पड़ी सिसकार रही थी. पांच मिनट बाद मैंने उसके मुख से हाथ हटाया तो वो मुझे गाली देती हुई कहने लगी- तुम बहुत गंदे हो!मैंने प्यार से उसके मुखड़े को सहलाया, फिर समझाया- पहली बार में सभी को यह तकलीफ होटी है.

वैसे मेरे पति का भी मन है कि मैं किसी और के साथ भी सेक्स का मजा लूँ.

ब्लू फिल्म्स देखने का बहुत शौक है तुम्हें?तो आज उसने निडरता और पूरे आत्मविश्वास से कहा- हाँ कुछ ऐसे ही समझ लो. मैं भी मामा जी की जीभ को अपने अंदर खींचने लगी, मामा जी की खुरदरी जीभ मेरी मुँह में जैसे स्ट्रा-बेरी का अहसास करा रही थी. उसमें कुछ चुदाई की कहानियां थीं एक चुदाई की कहानी में दो लड़कियां एक दूसरे की चूत में उंगली डाल के हस्त मैथुन या लेस्बियन सेक्स कर रही थीं और बाकी सब मर्द और औरत के सेक्स स्टोरी थीं.

सेक्सी नंगी पिक्चरें उनकी पैंटी भी ऊपर से पूरी तरह भीगी हुई थी उनकी चूत के स्वादिष्ट रस से. मुझे उम्मीद है कि मेरी इस कहानी को लड़कियां और भाभियाँ जरूर पसंद करेंगे… और दोस्तों का क्या है वो तो चुत के नाम पर वैसे ही चोदने के लिए लंड खड़ा कर लेते हैं.

इतनी बात बताने के बाद उस आदमी ने हम सभी को एक किनारे खड़ा होने के लिये बोला, जब हम सभी एक किनारे खड़े हो गये तो वही पहलवान टाईप के दिखने वाले आदमियों और उन लड़कियों ने कुर्सियों को बीच से हटाकर साईड पर लगा दिया और फिर हमसे बैठने के लिये बोला गया. उसकी ब्रा में में बाहर निकलने को आतुर मम्मों को देख कर गरम होने लगा और उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर ही किस करके उसकी क्लीवेज पर अपनी जीभ से चाटने लगा. हैलो दोस्तो, मुझे अपने से बड़े उम्र की लड़कियाँ या भाभियाँ बहुत पसंद हैं.

ब्लू फिल्म गंदी

आप क्यों बोल रहे थे चुत फट जाएगी?संजय- अरे पागल अभी इतना समझाया कुछ नहीं फटी. मैंने उसको कहा- ये सब गलत है मानसी और फिर तू मुझसे प्यार भी तो नहीं करती. उसकी चाचा की लड़की रजनी (मुझे उसका नाम बाद में पता चला था) बहुत मस्त सेक्सी मोटे चूचों वाली थी.

उसने मुझे कसके पकड़ लिया और मेरे बालों को सहलाने लगा, जिससे मेरी सिसकारी निकल गई ‘आआहह. फ्लॉरा- यार ये क्या बात हुई, आख़िर तुझे किस बात का डर है?सुमन- व्व.

चाची- नहीं बोला ना, तू जिद ना कर अब जा यहाँ से, नहीं तो खाना बनाने में देर हो जाएगी.

मोना भी कमर हिला कर मज़ा लेने लगी। थोड़ी देर बाद सुधीर ने मोना को घोड़ी बनाया और उसकी चुदाई करने लगा।करीब 15 मिनट की पलंग तोड़ चुदाई के बाद मोना चरम पर पहुँच गई और सुधीर भी झड़ने के करीब ही था।मोना- आह आह फास्ट. एक दिन की बात है, सुबह 9 बजे रमेश आँगन में सिर्फ लुंगी पहन कर नहा रहा था. यह नौकरी एक बहुउपयोगी बिल्डिंग में मिली थी, जिसका मुख्य काम घरेलू और औरतों की सभी चीजें डायरेक्ट उनके घर में सप्लाई करना था.

मुझे समझ में आ गई थी कि आज रात मामा मेरी गांड और चूत दोनों फाड़ देंगे. टीना और सुमन दोनों ने उसको काफ़ी देर तक चुप करवाया तब कहीं वो चुप हुआ. साथियो, मेरी इस सेक्स स्टोरी पर आप मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें.

मैं भी अब माँ को चोदने की ज़रूरत महसूस कर रहा था और मैंने जल्दी से माँ की जाँघों के बीच आया और एक हाथ से अपने खड़े लंड को पकड़ कर माँ की चूत के गुलाबी छेद पर लगा दिया और एक जोरदार झटका दिया.

बीएफ वीडियो बांग्ला बीएफ: मैंने एक गहरी सांस लेकर अपना पायजामा और चड्डी नीचे गिरा दी और अपनी टी-शर्ट भी उतार दी. रात में मैं पेशाब करने उठा तो उसके मम्मी पापा के कमरे की खिड़की से उन दोनों की चुदाई देखी.

अब मेरा पूरा लंड उनकी चूत में चला गया था और वो जोर जोर से अह्ह्ह्हह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्स्स्स… की सिसकारियाँ ले रही थी. उनमें से एक ने आवेश में मेरे होंठ चूमे और कहा- बेबी, तुम इस दुनिया की सबसे गर्म चूत हो!इतना होने तक जो मेरी गांड मार रहा था, वो भी निढाल हो गया. जैसा कि आप सभी को पता है कि मैं घर पर ज्यादा समय नंगी ही रहती हूँ या कभी कभी ब्रा और पैंटी में ही रहती हूँ.

भाभी बोली- यदि आप नहीं होते तो पता नहीं क्या होता?मैंने कहा- भाभी, ये तो मेरा फर्ज था.

अरे आम चूसने की पूछ रही हूँ। फ़्रीज़ में रखे हैं कहो तो ले आऊं?सुधीर- तुम भी यार अजीब हो. और दूसरी बात मैं किसी को कैसे कहूँ कि मेरे साथ चुदाई करो?मीना- मेरी जान. कल दही बड़े बना दूंगी आप ले जाना!” पत्नी जी मुझसे बोलीं और चली गयीं.